भारत-डेनमार्क वर्चुअल द्विपक्षीय सम्मेलन में PM मोदी बोले-Virtual Summit संबंधों के लिए उपयोगी सिद्ध होगी

Spread the love

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भारत-डेनमार्क डिजिटल शिखर सम्मेलन के तहत डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फेडरिक्सेन के साथ बातचीत की. भारत-डेनमार्क द्विपक्षीय सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले कई महीनों की घटनाओं ने यह स्पष्ट कर दिया है कि हमारे जैसे समान विचार वाले देशों के लिए जो एक नियम-आधारित, पारदर्शी, मानवीय और लोकतांत्रिक मूल्य-प्रणाली साझा करते हैं, साथ काम करना कितना महत्वपूर्ण है.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सम्मेलन की शुरुआत में कोविड-19 (Covid-19) के चलते डेनमार्क में हुई क्षति के लिए संवेदनाएं व्यक्त कीं. पीएम मोदी ने इस संकट से निपटने के लिए डेनमार्क की प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व का अभिनंदन भी किया. प्रधानमंत्री मोदी ने डेनमार्क की प्रधानमंत्री से कहा कि इस वार्तालाप के लिए उन्होंने समय निकाला, ये हमारे आपसी रिश्तों के प्रति उनके फोकस और प्रतिबद्धता को दिखाता है.

 

डेनमार्क की प्रधानमंत्री से बात करते समय पीएम मोदी ने उन्हें विवाह की शुभकामनाएं दीं. मोदी ने कहा, ‘मैं आपको आपके विवाह के लिए शुभकामनाएं देता हूं. मैं उम्मीद करता हूं कि कोविड-19 की स्थिति सामान्य होने के बाद हमें आपका और आपके परिवार का भारत में स्वागत करने का मौका मिलेगा.’

 

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, ‘मुझे विश्वास है कि आपकी बेटी दोबारा भारत आने के लिए उत्साहित होगी.’ इसके जवाब में डेनमार्क की प्रधानमंत्री फेडरिक्सेन ने कहा, ‘शुभकामनाओं के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद. मेरी बेटी दोबारा भारत आना बिल्कुल पसंद करेगी.

 

पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन डेवलपमेंट में भी समान विचार वाले देशों के एकजुट होकर काम करने से इस वैश्विक महामारी से निपटने में मदद मिलेगी.वही डेनमार्क की प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कहा कि डेनमार्क के लिए आज का शिखर सम्मेलन हमारे द्विपक्षीय संबंधों पर एक मील का पत्थर है,और हरित रणनीतिक साझेदारी पर हमारा दूरदर्शी समझौता है. हमें गर्व है कि भारत जलवायु परिवर्तन की बात करते हुए डेनमार्क को देखता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *