पाकिस्तान के लाहौर में भाई तरु सिंह जी के ‘शहीदी स्थान’ गुरुद्वारा को मस्जिद बताए जाने और उसे मस्जिद में बदलने के प्रयासों को लेकर भारत ने पाकिस्तान उच्चायोग के सामने कड़ी आपत्ति जताई है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि लाहौर के नौलखा बाजार में स्थित शहीदी स्थान गुरुद्वारे को लेकर पाकिस्तान ने कथित तौर पर दावा किया है कि यह मस्जिद शहीद गंज का हिस्सा है और इसे मस्जिद में बदलने के प्रयास किए गए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने इस संबंध में कहा कि गुरुद्वारा शहीदी स्थान एक एतिहासिक गुरुद्वारा है जहां भाई तरु जी ने साल 1745 में बलिदान दिया था। इस स्थान को सिख समुदाय पवित्र मानता है। पाक में घटी इस घटना को भारत में गंभीर चिंता से देखा जा रहा है।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सिख समुदाय के लिए न्याय की आवाज उठ रही है। श्रीवास्तव ने कहा कि भारत इस मामले में पाकिस्तान से तुरंत जांच की मांग करता है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here