भारत  ने पूर्वी लद्दाख में टकराव के शेष बिन्दुओं से सैनिकों की पूर्ण वापसी की प्रक्रिया को पूरा करने का एक बार फिर आह्वान किया

 

– कशिश राजपूत

 

 

भारत  ने पूर्वी लद्दाख में टकराव के शेष बिन्दुओं से सैनिकों की पूर्ण वापसी की प्रक्रिया को पूरा करने का एक बार फिर आह्वान किया |  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने सैन्य और राजनयिक वार्ता के पिछले चरणों का उल्लेख करते हुए कहा कि दोनों पक्ष मौजूदा समझौतों और प्रोटोकॉल के अनुरूप लंबित मुद्दों का त्वरित समाधान करने की आवश्यकता पर सहमत हैं |

 

दोनों पक्षों के बीच कमांडर स्तर की 11वें दौर की वार्ता गत 9 अप्रैल को हुई थी, जबकि कार्यकारी सलाह व समन्वय तंत्र (WMCC) के ढांचे के तहत राजनयिक स्तर की पिछले दौर की वार्ता गत 12 मार्च को हुई थी | भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में कई जगहों पर पिछले साल मई के शुरू से सैन्य गतिरोध बरकरार है | दोनों देशों ने कई दौर की सैन्य और राजनयिक स्तर की वार्ता के बाद हालांकि गत फरवरी में पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर के क्षेत्रों से अपने-अपने सैनिकों और अस्त्र-शस्त्रों को पूरी तरह हटा लिया था |

 

 

 

सैनिकों की पूर्ण वापसी दोनों पक्षों के बलों के बीच तनाव कम करने का मार्ग प्रशस्त करेगी-

 

उन्होंने कहा, ‘हमने बार-बार जोर देकर कहा है कि अन्य क्षेत्रों से सैनिकों की पूर्ण वापसी दोनों पक्षों के बलों के बीच तनाव कम करने का मार्ग प्रशस्त करेगी तथा शांति एवं स्थिरता की पूर्ण बहाली सुनिश्चित करेगी और द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति को संभव बनाएगी’ बागची सीमा गतिरोध पर दोनों पक्षों के बीच बातचीत के स्तर से जुड़े एक सवाल का जवाब दे रहे थे |

 

 

 

 

Share