भारत को फीफा विश्व कप का बहिष्कार करना चाहिए: सैवियो रॉड्रिग्स

फीफा विश्व कप
फीफा विश्व कप

फीफा विश्व कप, 22 नवंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रवक्ता सैवियो रॉड्रिग्स ने केन्द्र सरकार, भारतीय फुटबॉल संघों, कतर के अप्रवासी भारतीयों और मध्य एशिया की यात्रा करने वाले लोगों से अरब देश द्वारा विवादास्पद इस्लामी उपदेशक डॉ जाकिर नाइक को आमंत्रित करने के बाद चल रहे फीफा विश्व कप का बहिष्कार करने की अपील की है। गौरतलब है कि भारतीय भगोड़े जाकिर नाइक को कतर ने कथित रूप से चल रहे कार्यक्रम में इस्लाम पर व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित किया है।

रॉड्रिग्स ने मंगलवार को कहा, “डॉ. जाकिर नाइक भारतीय कानून के तहत एक एक वांछित है। उस पर धन शोधन अपराधों में लिप्त रहने और भडकाऊ भाषण देकर नफरत फैलाने का आरोप है। असल में वह आतंकवादी से कमतर नहीं है। उसने खुले तौर पर आतंकवादी ओसामा बिन लादेन का समर्थन किया है और भारत में इस्लामी कट्टरपंथ और नफरत फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।”

उन्हाेंने कहा कि फीफा विश्व कप एक वैश्विक आयोजन है। पूरी दुनिया के लोग इस शानदार खेल को देखने आते हैं और करोड़ों लोग इसे टीवी और इंटरनेट पर भी देखते हैं। उन्होंने कहा कि “जब पूरी दुनिया वैश्विक आतंकवाद से जूझ रही है, वैसे में इस समय डॉ. जाकिर नाइक को आमंत्रित करने का मतलब एक आतंकवादी को कट्टरता और नफरत फैलाने के लिए एक मंच देना है। न केवल भारतीय लोगों को बल्कि आतंकवाद से पीड़ित अन्य देशों के लोगों को भी आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में एकजुटता दिखाते हुए फीफा विश्व कप का बहिष्कार करना चाहिए।”

भारत ने 2016 में नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (IRF) को गैरकानूनी घोषित कर दिया था, क्योंकि उसने विभिन्न धार्मिक समुदायों और समूहों के बीच दुश्मनी, घृणा और नफरत फैलाने के लिए अपने समूह के लोगों को प्रोत्साहित और समर्थन किया था। भारत से भागने के बाद वह कथित रूप से मलेशिया में रह रहा है।