जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं पर पीएम मोदी ने फिर दिया जोर…..मास्क और सामाजिक को लेकर पीएम की खास अपील

Share

रवि श्रीवास्तव 

कोरोना काल में पीएम मोदी ने सातवीं बार देश को संबोधित किया है, और अपने सातवें संबोधन में पीएम ने फिर से एक बात पर जोर दिया और कहा कि जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं, पीएम मोदी ने कोरोना को लेकर देश को सावधान किया और ये समझाने की फिर से कोशिश की, कि अभी देश से लॉकडाउन हटा है, लेकिन वायरस नहीं गया

लापरवाही गति रोक सकती है 

पीएम मोदी ने एक अभिभावक के तौर पर देश को ये समझाने की कोशिश की, और ये समझाया कि लापरवाही आपकी और आपके परिवार के लिए बड़ी मुसीबत बन सकती है..पीएम ने देश के नाम अपने संबोधन में कहा कि थोड़ी सी लापरवाही हमारी गति को रोक सकती है,  हमारी खुशियों को धूमिल कर सकती है। जीवन की ज़िम्मेदारियों को निभाना  और सतर्कता ये दोनो साथ साथ  चलेंगे तभी जीवन में ख़ुशियाँ बनी रहेंगी। दो गज की दूरी,  समय-समय पर साबुन से हाथ धुलना  और  मास्क का ध्यान रखिए

वैक्सीन पर चल रहा है तेजी से काम 

पीएम मोदी ने अपने भाषण में कोरोना काल में हो रही तमाम लापरवाहियों का जिक्र किया और कहा कि जब तक वैक्सीन नहीं आती कोरोना से बचने के लिए सोशल वैक्सीन का ही इस्तेमाल कीजिए, पीएम मोदी ने वैक्सीन को लेकर देश में चल रही तैयारियों पर कहा कि हमारे देश के वैज्ञानिक भी वैक्‍सीन के लिए  जी-जान से जुटे हैं। भारत में अभी कोरोना की कई वैक्सीन्स पर काम चल रहा है। इनमें से कुछ एडवान्स स्टेज पर हैं। कोरोना की vaccine जब भी आएगी,  वो जल्द से जल्द प्रत्येक भारतीय तक कैसे पहुंचे इसके लिए भी सरकार की तैयारी जारी है। एक-एक नागरिक तक vaccine पहुंचे,  इसके लिए तेजी से काम हो रहा है।

पीएम के संबोधन का सार 

पीएम मोदी के संबोधन का लब्बो-लुआब कोरोना और उससे कैसे बचें इस पर ही केंद्रित था, पीएम मोदी के संबोधन की एक एक बातें आपकों सुननी चाहिए और समझनी चाहिए और कोरोना से बचाव के लिए युद्धस्तर पर बचाव करना भी बेहद जरूरी है, मौजूदा वक्त में ये समय की मांग है और इस मांग को पूरा करके ना केवल आप खुद का..बल्कि देश का भला करेंगे, देश हित में काम करने का सबसे अच्छा तरीका फिल्हाल कोरोना से खुद का बचाव ही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *