कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। वे कोरोना वायरस महामारी और भारत-चीन के बीच जारी तनाव को लेकर सरकार को आड़े हाथ लेते रहते हैं। अब रविवार को उन्होंने जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती की रिहाई की मांग की है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘भारत का लोकतंत्र उस समय क्षतिग्रस्त हो गया जब भारत सरकार ने गैरकानूनी रूप से राजनीतिक नेताओं को बंदी बनाया। यह सही समय है जब महबूबा मुफ्ती को रिहा किया जाए।’

 

राहुल गांधी ने यह मांग ऐसे समय की है जब महबूबा मुफ्ती की हिरासत को 3 महीने के लिए बढ़ा दिया गया है। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती पिछले एक साल से हिरासत में हैं ।उनकी हिरासत 31 जुलाई को और तीन महीने के लिए बढ़ा दिया गया।

गौरतलब है कि पिछले साल अगस्त में जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा वाले भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को मोदी सरकार ने निरस्त कर दिया था। केंद्र सरकार के इस फैसले से पहले जम्मू-कश्मीर के दर्जनों नेताओं को हिरासत में लिया गया था ।कुछ ही महीने पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला को छोड़ा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here