कंगना रनौत को बॉम्बे हाईकोर्ट की राहत, गिरफ्तारी पर 25 जनवरी तक रोक

Kangana Ranaut

 

 

-अक्षत सरोत्री/ अशोक पांडेय

 

अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) जिन पर एक अभद्र टिपण्णी वाला सन्देश भेजने और मुंबई को पीओके कहने बाले मामले में आज बॉम्बे हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिल गई है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना के खिलाफ पुलिस कारवाई और गिरफ्तारी पर 25 जनवरी तक रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने मुंबई पुलिस से ये भी कहा है कि इस तारीख तक कंगना को बुलाकर फिर से पूछताछ करने की जरुरत नहीं है।

 

 

8 जनवरी को बांद्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाया था बयान

 

Kangana Ranaut

 

 

आपको बता दें कि इस मामले में 8 जनवरी को कंगना (Kangana Ranaut) बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचकर अपना बयान दर्ज कराया था। ये बयान भी कंगना ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज कराया। पुलिस स्टेशन पहुंचने से पहले कंगना ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर कर गुस्सा जाहिर किया। उन्होंने आरोप लगाए कि उनका मेंटली, इमोशनली और फ़िजिकली टॉर्चर किया जा रहा है।

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Kangana Ranaut (@kanganaranaut)

 

 

ट्वीटर पर आपत्तिजनक संदेश भेजने का भी है मामला

 

 

शिकायत के मुताबिक कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल ने अप्रैल में एक समुदाय के खिलाफ ट्विटर पर आपत्तिजनक संदेश साझा किया था, जिसके बाद उनका खाता निलंबित कर दिया गया था। इसके मुताबिक, रनौत ने भी बाद में अपनी बहन के समर्थन में एक वीडियो साझा कर एक समुदाय के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए थे। इस मामले में उनपर राजद्रोह का केस पुलिस ने दर्ज किया। मुंबई पुलिस ने कई बार कंगना को नोटिस जारी कर पुछताछ के लिए बुलाया लेकिन वो नहीं गईं। हाईकोर्ट के कहने पर ही उन्होंने 8 जनवरी को अपना बयान दर्ज कराया।

 

 

 

पंजाब में भी दायर हो चुका है कंगना पर मानहानि का दावा

 

 

कंगना ने बुजुर्ग महिला महिंदर कौर के बारे में ट्वीट कर टिप्पणी की थी कि ऐसी औरतें 100-100 रुपये लेकर प्रदर्शन करने आ जाती हैं। इसको लेकर देशभर में किसानों ने इसका विरोध किया था। इसके अलावा पंजाबी गायक दिलजीत दोसांझ भी इसको लेकर कंगना से भिड़ गए थे। दोनों ने एक-दूसरे के प्रति अपशब्द भी कहे थे।

 

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *