Karva Chauth Special : कैसे करें पत्नी को खुश, दांपत्य रिश्तों में मिठास के लिए कीजिए बस एक क्लिक

Share

रवि श्रीवास्तव

पति-पत्नी के अटूट रिश्तों का सबसे पावन पर्व है करवा चौथ, कहते हैं पति-पत्नी का रिश्ता जन्म-जन्मांतर का होता है, इसलिए अपने सुहाग को अमर बनाने के लिए पत्नियां निर्जला व्रत रखती है। वैसे तो करवा चौथ के बारे में दशकों से हम सुनते और देखते आए हैं, लेकिन अगर ये आपका पहले करवा चौथ हैं तो आज इस आर्टिकल में हम आपकों कुछ अलग बातें बताएंगे जो आपके बड़ा काम आएगा, दरअसल करवा चौथ के दिन हर पत्नी को बड़े ही कठिन दिन से गुजरना पड़ता है ऐसे में आपकी जिम्मेदारी है कि आप उस कठिन दिन को सरल बनाकर पत्नी को ये विश्वास दिलाएं कि जितना वो आपके लिए कर रही है, उससे ज्यादा या उसके बराबर आप भी समय आने पर करेंगे

 

करवा चौथ के दिन पति करें ये काम

 

हो सके तो पत्नी संग व्रत करें, ऐसे करके आप उनके परिश्रम को ना केवल समझ पाएंगे, बल्कि इसके साथ ही ये आपके रिश्तों में मिठास लाएगा, ऐसे करके आप अपनी पत्नी के प्रति प्रेम और केयर को भी उजागर कर सकते हैं

 

हो सके तो साल में आने वाले इस त्योहार पर दफ्तर से छुट्टी ले लें, और अगर छुट्टी ना मिलें तो जितने जरूरी काम हैं कम से कम उन्हें टाल दें, ताकि आपपर इस दिन स्ट्रैस ना हो और पत्नी को भरपूर प्यार दें पाएं

 

पत्नी संग रोमोंटिक स्पेस लें, ताकि आपकी पत्नी जिसने आपकी लंबी उम्र के लिए व्रत किया हुआ है, वो भूख और प्यास को भुला पाए

 

कोशिश करें इस दिन पत्नी को कोई अच्छा सा गिप्ट दें, अगर ये गिप्ट सजने और सवंरने से ताल्लुक रखता है तो सोने पर सुहागा होगा, आप कोई ज्वैलरी या साड़ी भी गिप्ट कर सकते हैं

 

पत्नी से इस दिन घर का कोई काम ना कराएं, जितना हो सके खुद ही झाडू-पोछा या बर्तन करें, अगर इसके लिए मेड भी आती है तो उसे छुट्टी दे, ऐसा करके आप पत्नी को स्पेशल फील करा सकते हैं

 

पत्नी संग समय बिताने के लिए गेम खेल सकते हैं, ऐसा गेम खेले जिसमें पत्नी को मेहनत ना करनी पड़े वरना वो थक जाएंगी और उन्हें भूख प्यास बैचेन कर सकता है

 

कूकिंग आती है तो रात के लिए खाना खुद बनाए और अपने हाथों से ही उन्हें खिलाए और ये यकीन भी दिलाएं कि उन्होंने व्रत रखकर जितना प्यार जताया है उसी तरह आप भी प्यार निभाएंगे, जिंदगी उन संग ही बिताएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *