कृषि कानून को लेकर CM केजरीवाल केंद्र सरकार पर बरसे

Spread the love

 

-प्रणय शर्मा, संवाददाता

 

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार द्वारा पास किए कृषि कानूनों के खिलाफ जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने पहुंचे पंजाब के किसानों को संबोधित किया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भाजपा सरकार कृषि कानूनों को पास कर किसानों से उनकी खेती-किसानी छीन कर कंपनियों को देना चाहती है। पंजाब के किसानों ने 24 घंटे धूप में कड़ी मेहनत करके हरित क्रांति को जन्म दिया और देश को अनाज के मामले में आत्मनिर्भर बनाया था, इन कंपनियों ने नहीं बनाया था।

 

केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश में केवल 6 फीसदी फसल एमएसपी पर खरीदी जाती है, जबकि 100 फीसदी फसल की खरीद एमएसपी पर होनी चाहिए। भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव में स्वमीनाथन रिपोर्ट लागू करने का वादा किया था, जिसमें एमएसपी फसल की लागत का डेढ़ गुना होने की बात कही गई है, लेकिन चुनाव जीतने के बाद भाजपा ने एमएसपी खत्म कर दिया। कृषि कानून पास करने से पहले किसानों से नहीं पूछा, किसानों को मरने के लिए छोड़ दिया, उनकी पीठ में छुरा घोंपा है, यह बिल्कुल गलत बात है। केंद्र की भाजपा सरकार की बिल बनाने वाली कमेटी में एक राष्ट्रीय पार्टी का नेता भी मौजूद था, जिसने बिल पास होने पर भाजपा को पहले बधाई दी और बाद में इस्तीफा दे दिया, जनता सब समझ रही है।

 

सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि कम से कम 20 से 25 साल पहले तक देश के अंदर अनाज की भारी कमी होती थी। हमें अनाज बाहर से आयात करना पड़ता था। उस समय यह कंपनियां काम नहीं आई थीं। उस समय पर पंजाब के किसानों ने 24 घंटे धूप में कड़ी मेहनत करके हरित क्रांति को जन्म दिया। इस देश को पंजाब के किसानों ने अनाज के मामले में आत्मनिर्भर बनाया था। इन कंपनियों ने आत्मनिर्भर नहीं बनाया था। आज किसान को मजदूर बनाने की कोशिश की जा रही है। किसान से किसानी छीन कर बड़ी-बड़ी कंपनियों को सौंपने की साजिश की जा रही है, जो बिल्कुल गलत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *