संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलो को लेकर केरल सरकार सख्त, नहीं मिलेगा मुफ्त इलाज- हर हफ्ते दिखानी होगी कोरोना रिपोर्ट

 

VISHAL ADLAKHA 

 

देश भर में एक तरफ कोरोना संक्रमण के नए मामलो में तेजी से कमी देखने को मिल रही है, तो वहीं दूसरी तरफ केरल में बढ़ रहे मामलो ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. जिसको देखते हुए अब केरल सरकार भी सख्त तेवर अपना रही है, केरल सरकार की तरफ से जानकारी दी गई है कि जो लोग कोविड की रोकथाम के उपायों में सहयोग नहीं करते हैं, उनको अब कोई मुफ्त इलाज उपलब्ध नहीं होगा.

 

इसके अलावा उन शिक्षकों और कर्मचारियों को अपनी साप्ताहिक कोरोना रिपोर्ट पेश करनी होगी जिन्होंने अभी तक कोरोना वैक्सीन नहीं ली है और इसके बावजूद ऑफिस से काम कर रहे हैं और लोगों से बातचीत कर रहे हैं. उन लोगों को कोरोना टेस्ट के पैसे भी खुद ही देने होंगे.

 

राज्य सरकार ने जारी की गाइडलाइंस 

 

इसके साथ ही केरल सरकार ने राज्य में कोविड रोकथाम को लेकर नई गाइडलाइंस भी जारी की है. स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने सोमवार को बताया था कि ओमीक्रोन के केस वाले “उच्च जोखिम” वाले देशों के अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को केरल पहुंचने पर 14 दिनों आइसोलेशन में रहना होगा. जॉर्ज ने कहा कि जो यात्री संक्रमित पाए जाएंगे, उन्हें केंद्र सरकार के निर्देश पर राज्य सरकार द्वारा बनाए गए मेडिकल सेंटर में ट्रांसफर किया जाएगा.