इस मंदिर में रात में जाने से डरते हैं लोग, यहां रुकने पर पत्थर बन जाता है इंसान

Share

 

-नीलम रावत

 

 

भारत में ऐसे कई मंदिर मौजूद है जो अपने भीतर कई रहस्यों को समेटे हुए है. अक्सर लोग मंदिर में पूजा अर्चना करने आते हैं और भगवान के सामने जाने से भक्तों को कभी संकोच नहीं होता. लेकिन, एक मंदिर ऐसा भी है जहां शाम ढलते ही लोग जाना छोड़ देते हैं. इतना ही नहीं लोगों का मानना है कि अगर उन्होंने अंधेरे में मंदिर में प्रवेश किया तो वो पत्थर में तब्दील हो जाएंगे.

 

 

ये मंदिर स्थित है राजस्थान के बाड़मेर में और इसका नाम है किराडू मंदिर. किराडू के मंदिरों का निर्माण किसने करवाया इसकी कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिलती हालांकि इतिहासकारों का मानना है कि किराडू के मंदिरों का निर्माण 11वीं शताब्दी में हुआ था. इनका निर्माण परमार वंश के राजा दुलशालराज और उनके वंशजों ने किया था.

 

साधु ने दिया था मंदिर को श्राप

 

 

 

  •  मंदिर में रात के समय प्रवेश ना करने के पीछे एक साधु का श्राप माना जाता है

 

  • कहा जाता है कि सालों पहले किराडू में एक तपस्वी आए थे

 

  • एक दिन वे अपने शिष्यों को गांव में छोड़कर भ्रमण पर चले गए

 

  •  इस बीच शिष्यों का स्वास्थ्य खराब हो गया लेकिन गांववालों ने उनकी कोई मदद नहीं की

 

  • जिसके कारण साधु को क्रोध आ गया और तपस्वी साधु ने गांव को श्राप दे दिया कि शाम ढलने के बाद सभी लोग पत्थर बन जाएंगे

 

  • तपस्वी साधु ने शिष्यों की मदद करने वाली बुजुर्ग महिला से शाम ढलने से पहले जगह छोड़कर जाने को कहा

 

  • लेकिन बुजुर्ग महिला अपना घर नहीं छोड़ पाई और वो भी पत्थर में तब्दील हो गई

 

  •  तब से माना जाता है कि जो भी व्यक्ति शाम के बाद इस जगह आता है वो पत्थर बन जाता है

 

किराडू में किसी समय पांच भव्य मंदिरों कि एक श्रृंखला थी. लेकिन 19वीं शताब्दी के शुरूआत में आए भूकंप से इन मंदिरों को बहुत नुकसान पहुंचा और दूसरा सदियों से वीरान रहने के कारण इनका ठीक से रख-रखाव भी नहीं हो पाया. आज इन पांच मंदिरों में से केवल विष्णु मंदिर और सोमेश्वर मंदिर ही ठीक हालत में है. सोमेश्वर मंदिर यहां का सबसे बड़ा मंदिर है.

 

 

सदियों से वीरान पड़े किराडू मंदिर को अब पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है. मंदिर की कलाकृति और वास्तुकला आज भी लोगों को अपनी और आकर्षित करती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *