नवरात्रि में माता के इस मंत्र को जपने से पूरी होगी सभी मनोकामनाएं, जानें कैसे?

 

नवरात्रि में शक्ति की साधना विभिन्न प्रकार से की जाती है. कोई व्रत रखकर तो कोई माता का भव्य श्रृंगार कराकर तो कोई मां जगदंबे का गुणगान करके करता है. मां दुर्गा की कृपा पाने का एक और महाउपाय है मंत्र जप. मंत्र में असीम शक्ति होती है. जिसके माध्यम से आपकी शक्ति की साधना को शीघ्र ही सफल होती है और देवी दुर्गा की कृपा से दु:ख दूर होते हैं और सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. एक ऐसा ही महामंत्र है नर्वाण मंत्र – “ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे.” नौ अक्षरों वाले इस मंत्र का जाप माता के आशीर्वाद को पाने के लिए विशेष रूप से जाप किया जाता है. आइए जानते हैं नर्वाण मंत्र से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें.

 

मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए

 

यदि आप इस नवरात्रि मां लक्ष्मी की विशेष कृपा को पाना चाहते हैं तो आप माता लक्ष्मी की पूजा का विशेष उपाय करना न भूलें. इसके लिए प्रात:काल स्नान-ध्यान करने के बाद किसी बिल्वपत्र यानि कि बेल के पेड़ की जड़ में बैठकर एक मास तक नवार्ण मंत्र का जप करें. साथ ही साथ ही साथ कमल पुष्प को दूध में डुबोकर हवन करें. इस उपाय को करने से मां लक्ष्मी शीघ्र ही प्रसन्न होकर अपने साधक के घर में धन का भंडार भर देती हैं.

 

सभी संकटों से मुक्ति पाने के लिए

 

यदि आपको हर समय किसी ज्ञात-अज्ञात शत्रुओं से खतरा बना रहता है तो आपके लिए नर्वाण मंत्र का जप अत्यंत ही प्रभावी उपाय है. मान्यता है कि नवरात्रि के पावन पर्व पर यदि आप किसी पवित्र सरोवर या नदी में नाभि तक जल में खड़े होकर नर्वाण मंत्र का दस हजार जप करते या फिर योग्य ब्राह्मणों के द्वारा करवाते हैं तो माता की कृपा से आपके जीवन से जुड़ा बड़ा से बड़ा संकट समय रहते ही दूर हो जाता है.

 

-आयुषी प्रधान

Share