नवरात्र पर अखंड जोत को करें प्रजव्वलित, इन कामों को करने से दूर हो जाएंगे संकट

Spread the love

 -नीलम रावत, संवाददाता

 

17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र की शुरूआत हो रही है. नवरात्र के मौके पर नौ दिन तक मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है. नवरात्र के मौके पर भक्त अखंड जोत जलाते हैं. नवरात्रि के दौरान जलाए जाने वाले दीपक यानि अखंड ज्योति को जलाने के कुछ नियम हैं.

 

जब भी भक्त इस अखंड जोत को जलाते हैं तो उन्हें कुछ बातों का खासतौर पर ध्यान रखना होता है.

 

अखंड ज्योति जलाते समय रखें ध्यान

 

 

  • अखंड ज्योति को आप जमीन की बजाय किसी लकड़ी की चौकी पर रखकर जलाएं

 

  • अखंड ज्योति को कभी भी गंदे हाथों से बिल्कुल भी छूना नहीं चाहिए

 

  • अखंड ज्योति को कभी अकेले या पीठ दिखाकर नहीं जाना चाहिए

 

  • अखंड ज्योति के लिए रूई की जगह कलावे का इस्तेमाल करना चाहिए

 

  • कलावे की लंबाई इतनी रखें कि ज्योति नौ दिनों तक जलती रहे

 

  • अखंड ज्योति को शुभ मुहूर्त देखकर ही प्रज्वलित करना चाहिए

 

  • इसे प्रज्वलित करने से पहले इसमें आप बहुत थोड़े से चावल भी डाल सकते हैं

 

  • अखंड ज्योति को देवी मां के दाईं ओर रखा जाना चाहिए

 

  • नवरात्रि समाप्त होने पर ही इसे स्वंय ही समाप्त होने देना चाहिए

 

इन कामों को करने से संकट होंगे दूर

 

 

 

  • नवरात्रि में देवी को ताजे फूल चढ़ाना चाहिए और पूजा घर की सफाई का विशेष ध्यान देना चाहिए

 

  • पुराने फूलों की कभी भी कूड़ेदान में नहीं फेंकना चाहिए बल्कि किसी नदी और कुएं में प्रवाहित करना चाहिए

 

  • अष्टमी और शुक्रवार के दिन झाडू जरूर खरीदकर घर लाना चाहिए

 

  • ऐसे करने से आपके ऊपर और परिवार के बाकी सदस्यों पर माता लक्ष्मी की कृपा होगी

 

  • नवरात्रि पर हर रोज दुर्गा सप्तशती का पाठ करना चाहिए

 

  • दुर्गा सप्तशी का पाठ करने से आपके सभी तरह के बिगड़े हुए काम पूरे होने लगते हैं

 

  • अपने हर काम में सफल होने के लिए नवरात्रि की अष्टमी के दिन माता महागौरी को कमल गट्टा जरूर चढ़ाएं

 

  • कमल गट्टे के साथ माता का सबसे प्रिय लाल गुड़हल का फूल भी चढ़ाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *