जानिए इस साल गणतंत्र दिवस पर किन-किन देशों की झांकियां देखने को मिलेगी

REPUBLIC DAY TABLEAU

 

-कशिश राजपूत

 

 

देश भर में हर साल गणतंत्र दिवस बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है | पर आप शायद ये सोच रहे होगें की क्या इस बार का गणतंत्र दिवस भी हर बार की तरह मनाया जाएगा। या फिर कोरोना के चलते इसको लेकर कोई पाबंधिया होने वाली हैं।

 

 

26 जनवरी को देश अपना 72वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाने जा रहा है। कोरोना काल के कारण इस बार गणतंत्र दिवस का समारोह कुछ सीमित रहने वाला है।

 

रक्षा विभाग के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि जिन राज्यों की झांकियां होगी उनका मुख्य केंद्र बिंदु और सूची निम्न प्रकार हैं:

1. दिल्ली (शाहजहांनाबाद पुर्नविकास)

2. उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर : अयोध्या)

3. लद्दाख (भविष्य की दृष्टि)

4. गुजरात (सूर्य मंदिर, मोढेरा)

5. असम (चाय की प्रजातियां)

6. तमिलनायडु (शोर मंदिर व पल्लव वंश के अन्य स्मारक)

7. महाराष्ट्र (महाराष्ट्र के संत)

8. उत्तराखंड (केदारनाथ)

9. छत्तीसगढ़ (छत्तीसगढ़ के लोक-संगीत का वाद्य-वैभव)

10. पंजाब (श्री गुरु तेग बहादुर जी का 400 वां प्रकाश वर्ष)

11. त्रिपुरा (पर्यावरण हितेषी आत्म निर्भर)

12. पश्चिम बंगाल, (सबुज साथी योजना)

13. सिक्किम ( पंग लबसोल उत्सव)

14.कर्नाटक (विजयनगर-जीत का शहर)

15. केरल ( नारियल जटा)

16. आंध्र प्रदेश (लेपाक्षी- वास्तुशिल्प अखंड चमत्कार)

17.अरुणाचल प्रदेश (पूर्व पश्चिम से मिलता है)

 

समुद्री लुटेरों ने तुर्की के मालवाहक पोत पर किया कब्जा

 

पहली महिला फाइटर पायलट – 

भारतीय वायुसेना की पहली महिला फाइटर पायलट्स में से एक फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कांत गणतंत्र दिवस परेड में भारतीय वायुसेना की झांकी का हिस्सा होंगी | गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने वाली वह पहली महिला फायटर पायलट होंगी।

 

इस साल गणतंत्र दिवस पर पहली बार देखने को मिलेगी लदाख की झलक

 

पहली बार कोई विदेशी अतीथि नहीं – 

 

55 साल में ऐसा पहली बार होगा जब 26 जनवरी की परेड़ में कोई भी विदेशी अतीथि शामिल नही होगा | आपकों बता दें की इससे पहले यानि साल 2020 की परेड में शामिल होने ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो भारत पहचें थे।

 

तो वहीं पूरे विश्व में फैली कोविड19 महामारी को देखते हुए इस साल 26 जनवरी पर किसी विदेशी मुख्य अतिथि को गणतंत्र दिवस समारोह का हिस्सा नहीं बनाने का फैसला किया गया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *