गुरलाल हत्या मामले में लॉरेंस विश्नोई गैंग ने ली जिम्मेदारी, फेसबुक पर डाली पोस्ट

Gurlal murder case

 

-अक्षत सरोत्री/नवदीप छाबड़ा, चंडीगढ़

 

पिछले कल देर शाम पंजाब के फरीदकोट में हुए गुरलाल पहलवान की ह्त्या (Gurlal murder case) के मामले में नया मोड़ आ गया है। मामले में जानकारी के अनुसार कुख्यात अपराधी सलमान खान को जान से मरने की धमकी देने वाले जोधपुर जेल में बंद लॉरेंस विश्नोई का हाथ सामने आया है। यह पहली बार नहीं है कि लॉरेंस विश्नोई पहले भी कई ऐसे अपराधों में शामिल रह चुका है। चंडीगढ़ के बुड़ैल में भी भाजपा नेता की दिन दहाड़े इसी विश्नोई ने हत्या करवाई थी।

 

श्रीनगर में हुए आतंकी हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद, आतंकी मौके से फरार

 

यूँ किया विश्नोई गैंग ने खुलासा

 

वीरवार की रात को जेल में गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई की फेसबुक आइडी से एक पोस्ट डालकर दावा किया गया है कि हत्या लारेंस बिश्नोई ने (Gurlal murder case) करवाई है। पुलिस जांच कर रही है कि यह आइडी किसकी है और इसे कहां से आपरेट किया गया है। बता दें कि वीरवार शाम 5 बजे दो हमलावरों ने गुरलाल को ताबड़तोड़ गोलियां मारी थी। घटना शहर के जुबली चौक पर हुई थी और मौके से चंद कदम की दूरी पर ही पुलिस का नाका लगा था। चौक पर स्थित एक इमीग्रेशन सेंटर से बाहर निकल कर कार में बैठते समय हमलावरों ने गुरलाल पर पीछे से ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं।

 

 

बाइक पर आए थे हमलावर

 

 

गुरलाल (Gurlal murder case) के जमीन पर गिरने के बाद भी हमलावरों ने छाती पर फिर से गोलियां चलाईं। घटना के बाद हमलावर बाइक पर बैठ कर फरार हो गए। घटना इमीग्रेशन सेंटर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। पुलिस ने फुटेज लेकर हमलावरों की पहचान की कोशिश शुरू कर दी है। उधर, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्विटर पर कहा कि वह गुरलाल की हत्या से स्तब्ध हैं। उन्होंने घटना की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।

 

13 राउंड हुई थी फायरिंग

 

हत्यारों ने कुल 13 राउंड फायरिंग की। माना जा रहा है कि (Gurlal murder case) यह घटना आपसी रंजिश का नतीजा है। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि रंजिश किस बात को लेकर थी। पुलिस ने अज्ञात लोगों पर हत्या का मामला दर्ज किया है। गुरलाल फरीदकोट के विधायक व मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार कुशलदीप सिंह ढिल्लों का बेहद करीबी था। गुरलाल पर भी तीन आपराधिक मामले दर्ज हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *