भारत में सबसे अधिक आबादी वाले उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी का कहना है कि शुक्रवार की रात से सोमवार सुबह तक प्रदेश में लागू किए जाने वाला प्रतिबंध ‘लॉकडाउन’ नहीं है.

उनके अनुसार ये ‘सिर्फ़ रेस्ट्रिक्शन’ हैं या यूँ कहा जाये कि एहतियात के तौर पर उठाया गया क़दम हैं, जिससे ना सिर्फ़ कोरोना वायरस, बल्कि डेंगू, कालाज़ार, इन्सेफ़ेलाइटिस और मलेरिया जैसे रोगों के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकेगा.

शुक्रवार की रात 10 बजे से लेकर सोमवार सुबह 5 बजे तक हर ग़ैर-ज़रूरी काम पर रोक रहेगी.

इस संबंध में मुख्य सचिव के कार्यालय ने सभी ज़िला अधिकारियों को सूचित कर दिया है.

इस दौरान आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी दूसरे प्रतिष्ठानों को बंद रखने को कहा गया है, जिनमें दफ़्तर, दुकानें और अनाज-सब्ज़ी की मंडियों के अलावा यातायात भी शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here