महाराष्ट्र में कोरोना का कहर बरकरार, एक दिन में 12 हजार का आंकड़ा पार

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर बरक़रार

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी है. इसके अलावा ओमिक्रॉन की आफ़त भी भारी है. सोमवार को महाराष्ट्र में 12 हजार 160 कोरोना के केस सामने आए. इसके अलावा 68 ओमिक्रॉन संक्रमित मरीज भी पाए गए. इसके अलावा सोमवार को कोरोना से 11 लोगों की मौत भी हो गई.

रविवार को भी कोरोना के लगभग 12 हजार केस (11 हजार 877) केस सामने आए थे . यानी लगातार दूसरे दिन 12 हजार के करीब का आंकड़ा सामना आया है. रविवार को 9 लोगों की मौत हो गई थी. यह आंकड़ा एक बार फिर बड़े खतरे की ओर संकेत कर रहा है. महाराष्ट्र में कोरोना सरकार से जुड़े सदस्यों को भी तेजी से संक्रमित कर रहा है. चार और विधायक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इस तरह राज्य में अब 10 मंत्रियों के अलावा 25 विधायक कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं.

मुंबई में लगातार दूसरे दिन कोरोना के 8000 से ज्यादा केस

कोरोना के बारह हजार से ज्यादा केस में अकेले मुंबई से 8 हजार 82 केस सामने आए हैं.  ओमिक्रॉन केस की बात करें तो कुल अड़सठ केस में से मुंबई में ही 40 लोग ओमिक्रॉन पॉजिटिव पाए गए हैं. महाराष्ट्र के कोरोना-ओमिक्रॉन संक्रमण का आधा से भी ज्यादा बड़ा हिस्सा अकेले मुंबई से सामने आ रहा है. रविवार को भी मुंबई में आठ हजार से ज्यादा केस (8 हजार 63) सामने आए थे.

यह भी पढ़ें- प्रियंका गांधी के परिवार का एक सदस्य कोरोना पॉजिटिव

ओमिक्रॉन की आफत से जूझ रहा महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन संकट की बात करें तो मुंबई में 40 केस पाए जाने के साथ ही पुणे में भी 14 केस सामने आए हैं. नागपुर में 4 ओमिक्रॉन संक्रमित मरीज मिले हैं. पुणे ग्रामीण और पनवेल में ओमिक्रॉन के 3-3 केस सामने आए हैं. कोल्हापुर, नवी मुंबई, सातारा,रायगढ़ से 1-1 केस सामने आए हैं. राज्य में अब तक 578 ओमिक्रॉन के मरीज सामने आ चुके हैं. इनमें से 259 लोग ओमिक्रॉन मुक्त भी हो चुके हैं.

मुंबई, ठाणे, नवी मुंबई में स्कूल बंद किए गए

कोरोना और ओमिक्रॉन के बढ़ते हुए खतरों को देख कर मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई की महानगरपाालिकाओं ने नौवीं क्लास तक और ग्यारहवी क्लास तक स्कूल बंद करने का फैसला किया है. यानी सिर्फ दसवीं और बारहवीं क्लास के लिए स्कूल खुले रहेंगे. बाकी क्लास के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन क्लासेस शुरू रहेंगे. यह आदेश फिलहाल 31 जनवरी तक के लिए दिया गया है. कल तक पुणे के स्कूलों को बंद करने का फैसला भो होने की उम्मीद जताई जा रही है. पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल ने पुणे के संरक्षक मंत्री (जो राज्य के उप मुख्यमंत्री भी हैं) अजित पवार से बात कर फैसला लेने की बात कही है. इसके अलावा पालघर के जिलाधिकारी ने भी बालवाड़ी और नर्सरी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद करवा दिया है.

यह भी पढ़ें- श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में एक और अतंकवादी ढेर