मलेशिया ने पीआईए के विमान को किया जब्त, यात्रियों को भी एयरपोर्ट पर उतारा

PIA

 

-अक्षत सरोत्री

 

 

पाकिस्तान में हालत इस कदर खराब हो चुकी है कि अब पाकिस्तान के ख़ास दोस्तों ने भी साथ छोड़ना शुरू कर दिया है। कुछ दिन पहले साउदी अरब ने अपना दिया कर्ज पाकिस्तान से मांग लिया था। अब एक पाकिस्तान का कारनामा निकल कर सामने आया है। कंगाली की दौर से गुजर रहे पाकिस्‍तान को मलेशिया ने पाकिस्‍तान की सरकारी विमानन कंपनी (PIA) पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाइन्‍स के एक यात्री विमान को जब्‍त कर झटका दिया है।

 

यह है पूरा मामला

 

 

यह विमान लीज पर लिया गया था और पैसा नहीं चुकाने (PIA) पर विमान को जब्‍त कर लिया गया है। क्‍वालालंपुर एयरपोर्ट पर घटना के समय विमान में यात्री और चालक दल सवार था लेकिन उन्‍हें बेइज्‍जत करके उतार द‍िया गया। इन विमानों को विभिन्‍न कंपनियों से समय-समय पर ड्राई लीज पर लिया गया है। बताया जा रहा है कि मलेशिया ने जिस विमान को जब्‍त किया है, वह भी लीज पर था लेकिन लीज की शर्त के तहत पैसा नहीं चुकाने पर इस विमान को क्‍वालालंपुर में जब्‍त कर लिया गया है।

 

किसान आंदोलन: नहीं निकला बातचीत का कोई हल, अब 19 जनवरी का होगा इंतज़ार

 

 

इससे पहले साउदी अरब भी दे चुका है झटका

 

 

इससे पहले सऊदी अरब ने इमरान खान सरकार से अपने 3 अरब डॉलर वापस मांग ल‍िए थे। इमरान सरकार ने चीन से लोन लेकर सऊदी अरब के लोन को चुकाया था। बता दें कि पिछले साल मई महीने में कराची में कर्ज की पहाड़ तले दबे पीआईए (PIA) का एक प्लेन क्रैश हो गया था। यही नहीं देश में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स को लेकर नए-नए खुलासे हो रहे हैं।

 

 

पीआईए पर पहले भी लगे हैं संगीन आरोप

 

देश के उड्डयन मंत्री सरवर खान ने कुछ समय पहले (PIA) आरोप लगाया था कि पीआईए के करीब 40% पायलट फर्जी होते हैं। कराची क्रैश के बाद सरवर खान ने कहा था कि पिछले साल एक जांच में पता चला है कि पाकिस्तान के 860 ऐक्टिव पायलट्स में से 262 पायलट्स के पास या तो फर्जी लाइसेंस थे या उन्होंने अपने एग्जाम में चीटिंग की थी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *