ममता बनर्जी ने किसान नेता राकेश टिकैत के साथ की बैठक

 

– कशिश राजपूत

 

 

विधानसभा चुनाव के बाद ममता बनर्जी और राकेश टिकैत की यह पहली मुलाकात है | टीएमसी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि भारत में कृषि केवल एक पेशा नहीं है | उन्होंने कहा कि कृषि पर आघात रोकना बहुत जरूरी है | उ्नहोंने कहा कि किसानों के साथ-साथ देश हर मामले में पिछड़ रहा है | पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से देश की जनता परेशान है |

 

किसान संगठनों की मांग है कि तीनों कृषि कानूनो को तुरंत रद्द कर दिया जाए | साथ ही एमएसपी को लेकर भी कानून बनाने की बात कही गई है, लेकिन सरकार ऐसा करने के मूड में नहीं दिख रही | किसान नेताओं का कहना है कि जब तक सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है, तब तक वो हर उन राज्यों में जाकर बीजेपी के खिलाफ वोट करने को कहेंगे, जहां चुनाव होने जा रहे हैं |

 

West Bengal: ममता बनर्जी ने किसान नेता राकेश टिकैत के साथ की बैठक, विरोधी दलों को एकजुट करने का किया आह्वान |West Bengal: Mamta Banerjee held a meeting with farmer leader Rakesh

 

बैठक के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए | उन्होंने कहा, “उद्योगों को नुकसान हो रहा है और दवाओं पर जीएसटी लगाया जा रहा है |  पिछले 7 महीनों से, केंद्र सरकार ने किसानों से बात करने की कोशिश भी नहीं की | मेरी मांग है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए”

 

किसानों के साथ बैठक के बाद पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि उद्योगों को नुकसान हो रहा है और दवाओं पर जीएसटी लगाया जा रहा है। पिछले 7 महीनों से उन्होंने (केंद्र सरकार) किसानों से बात करने की जहमत तक नहीं उठाई है। मेरी मांग है कि तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएं।

 

 

 

 

Share