Manish Gupta death case : CBI की चार्जशीट में 6 पुलिसकर्मियों के नाम

Manish Gupta death case
Manish Gupta death case (CBI Investigation)

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की मौत में कथित भूमिका के लिए अपनी चार्जशीट में छह पुलिसकर्मियों को नामजद किया है।

पिछले साल 28 सितंबर की देर रात छापेमारी के दौरान गोरखपुर के एक होटल में प्रॉपर्टी डीलर और कानपुर निवासी गुप्ता की पुलिस ने कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

यह भी पढ़ें : 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा दोपहर 3.30 बजे करेगा चुनाव आयोग

नामजद आरोपित पुलिसकर्मियों की पहचान

आरोप पत्र में नामजद आरोपित पुलिसकर्मियों की पहचान SHO जगत नारायण सिंह, SI अक्षय कुमार मिश्रा, SI विजय यादव, SI राहुल दुबे, हेड कांस्टेबल कमलेश सिंह यादव और कांस्टेबल प्रशांत कुमार के रूप में हुई है।

सीबीआई ने शुक्रवार को विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट, लखनऊ की अदालत में अपना आरोप पत्र पेश किया।

सीबीआई ने पिछले साल 2 नवंबर को इस मामले को अपने हाथ में लिया था। मनीष गुप्ता की पत्नी की शिकायत पर गोरखपुर के रामगढ़ ताल थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें : UP Election Survey 2022 : उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले राज्य में किस पार्टी को मिली कितनी सीटें

मनीष गुप्ता के साथ बदसलूकी

सीबीआई ने बताया कि मनीष गुप्ता ने 27 सितंबर 2021 को गोरखपुर के एक होटल के कमरे में चेक इन किया था। चार्जशीट में आगे कहा गया है कि 27 और 28 सितंबर की दरम्यानी रात करीब 12 बजे एसएचओ ने दो सब इंस्पेक्टर के साथ-इंस्पेक्टर और तीन अन्य पुलिस कर्मी उक्त होटल के कमरे में घुसे और मनीष गुप्ता के साथ बदसलूकी करने लगे।

आरोप है कि मनीष गुप्ता के विरोध पर पुलिस अधिकारियों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी, जिससे उन्हें गंभीर चोटें आईं, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। फिर, भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और अन्य आरोपों के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई।

यह भी पढ़ें : UP Election Survey 2022 : सर्वे के मुताबिक़ जानिए क्या होना चाहिए उत्तर प्रदेश का चुनावी एजेंडा ?