नए भूमि कानून के विरोध के बाद हिरासत में ली गई महबूबा मुफ्ती

mehbooba mufti

-आकृति वर्मा

 

जम्मू कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार द्वारा लाए गए जमीन की खरीद फरोख्त के नए नियमों के खिलाफ पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। जिसको बाद पुलिस ने पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती समेत कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है। बता दें कि पीडीपी कार्यकर्ताओं के द्वारा गुरूवार को स्थित पार्टी मुख्यालय से केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए जमीन की खरीद फरोख्त के नए नियमों विरोध में प्रोटेस्ट रैली का आयोजन किया था। वहीं जैसे ही पार्टी के नेता और कार्यकर्ता इस आयोजन के लिए मुख्यालय पहुंचे उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया। वहीं फिलहाल अभी तक दर्जनों कार्यकर्ताओं और नेताओं को हिरासत में लिया गया है।

 

 

वहीं इसको लेकर पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार के एक्शन को लेकर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ”श्रीनगर में पीडीपी के ऑफिस को जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा सील कर दिया गया है। कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि वो लोग शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे। आपकी नजर में क्या यही ‘सामान्य’ हालात हैं जो आप पूरी दुनिया को दिखा रहे हैं”।

 

 

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘पीडीपी के पारा वाहिद, खुर्शीद आलम, राउफ भट्ट, मोहसिन कय्यूम, ताहिर सईद, यासीन भट्ट और हामिद कोहसिन को गिरफ्तार किया गया है. क्योंकि ये लोग उपनिवेशवादी औपनिवेशिक भूमि कानून का विरोध कर रहे थे. जो प्रदेश की जनता पर लाद दिया गया है. हमलोग एकजुट होकर अपनी आवाज उठाते रहेंगे और डेमोग्राफी बदलने की केंद्र सरकार की कोशिश को बर्दाश्त नहीं करेंगे.’

 

 

दरअसल, केंद्र सरकार ने प्रदेश में लागू किया नया भूमि कानून जिसके तहत कोई भी जम्मू कश्मीर में जमीन खरीद सकेता है, लेकिन फिलहाल, कृषि भूमि की खरीद पर रोक लगाई गई है। वहीं इन नए भूमि कानून का विरोध करने पर पुलिस ने महबूबा मुफ्ती को लिया हिरासत लिया गया है। बता दें कि  हाल ही में महबूबा मुफ्ती केंद्र सरकार की कैद से रिहा हुई थी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.