भारत- चीन गतिरोध के बीच 17 नवंबर को पीएम मोदी और शी जिनपिंग होंगे आमने- सामने

Spread the love

भारत-चीन में तनातनी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग 17 नवंबर को ब्रिक्स की बैठक में आमने-सामने हो सकते हैं. 17 नवंबर को ब्रिक्स देशों की वर्चुअल बैठक होगी. BRICS देशों में ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका हैं.

 

बता दें कि भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में पांच महीने से गतिरोध बना हुआ है जिससे दोनों के रिश्तों में महत्वपूर्ण रूप से तनाव आया है. विवाद के हल के लिये दोनों पक्षों ने कई दौर की कूटनीतिक और सैन्य वार्ता की हैं. हालांकि गतिरोध को दूर करने में कोई कामयाबी नहीं मिली.

 

बता दे कि ब्रिक्स की इस मीटिंग में पीएम मोदी और शी जिनपिंग के अलावा रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और ब्राजील और साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति भी होंगे. LAC पर जारी गतिरोध के बीच पहला मौका होगा कि जब मोदी-जिनपिंग आमने-सामने सीधी बातचीत करते नजर आएंगे.

ब्रिक्स द्वारा दिए गए आधिकारिक बयान के अनुसार, ब्रिक्स देशों के नेताओं की बैठक का विषय ”वैश्विक स्थिरता (lobal Stability), साझा सुरक्षा (Shared Security), और अभिनव विकास ( Innovative Growth) है.”  2020 में रूस के ब्रिक्स की अध्यक्षता का मुख्य उद्देश्य, ब्रिक्स देशों के बीच बहुपक्षीय सहयोग है. लोगों के जीवन स्तर और जीवन स्तर को बढ़ाने में योगदान करना है. ब्रिक्स के बयान में कहा है कि ”इस साल 5 देशों ने तीन बड़े स्तंभों शांति और सुरक्षा, अर्थव्यवस्था और वित्त, सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के बीच आदान-प्रदान पर अपनी गहरी रणनीतिक साझेदारी जारी रखी है.”

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *