Login to your account

Username *
Password *
Remember Me
News Desk

News Desk

अमिताभ बच्चन की समधन ऋतु नंदा का 14 जनवरी को निधन हो गया था। उनके निधन के बाद नई दिल्ली में प्रार्थना सभा आयोजित की गई। प्रार्थना सभा में अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, अभिषेक बच्चन, श्वेता नंदा, ऋषि कपूर, रणधीर कपूर, बबिता कपूर, राजीव कपूर, रीमा जैन, मनोज जैन और नव्या नंदा भी मौजूद थे। ऋतु नंदा की प्रार्थना सभा से जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें अमिताभ बच्चन उन्हें याद कर भावुक हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान अमिताभ बच्चन ने भावुक स्पीच भी दी, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

इस वीडियो की शुरुआत अमिताभ बच्चन की स्पीच से शुरु होता है। इस वीडियो में अमिताभ बच्चन ऋतु नंदा को याद कर कहते हैं, "एक आदर्श बेटी, एक आदर्श बहन, एक आदर्श पत्नी, एक आदर्श मां ऋतु।" अमिताभ बच्चन की स्पीच के बाद प्रार्थना सभा में राज कपूर की फिल्म मेरा नाम जोकर का गाना जीना यहां और मरना यहां गाया जाता है। इस वीडियो में बबीता कपूर, नीतू कपूर, रणधीर कपूर, ऋषि कपूर, श्वेता बच्चन, जया बच्चन, नव्या नवेली नंदा और परिवार के बाकी सदस्य मौजूद नजर आ रहे हैं।

वहीं, जया बच्चन और श्वेता नंदा भी खुद को नहीं रोक पाईं और उनकी आंखों में आंसू आ गए। अपनी बहन को खोने का दुख ऋषि कपूर के चेहरे पर साफ दिख रहा था। वो सभा में सिर झुकाए बैठे रहे। विरल भयानी ने अपने इंस्टाग्राम से इस प्रार्थन सभा के दो वीडियो शेयर किए हैं।

 

बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन की फिल्म झुंड का पहला पोस्टर रिलीज हो चुका है। फिल्म में अमिताभ बच्चन एक प्रोफेसर की भूमिका निभा रहे हैं, जो गली में खेलने वाले बच्चों को एक फुटबॉल टीम बनाने के लिए प्रेरित करते हैं। इस पोस्टर को एक्टर ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है। ये फिल्म स्लम सॉकर के संस्थापक विजय बरसे के जीवन पर आधारित है। इस पोस्टर में बिग बी का चेहरा नहीं दिखाया है बल्कि उनकी पीठ दिखाई गई है। पोस्टर में अमिताभ के सामने एक बस्ती है जिसकी दीवार के पास एक फुटबॉल पड़ी है और एक खटारा सी वैन खड़ी है जिसे बिग बी देख रहे हैं।

इस फिल्म में बिग बी एक फुटबॉल कोच की भूमिका में नजर आएंगे जो गरीब बच्चों को प्रेरित कर एक फुटबॉल टीम की शुरुआत करते हैं। इस फिल्म का निर्देशन मराठी फिल्मकार नागराज मंजुले कर रहे हैं। इस फिल्म की पूरी शूटिंग नागपुर में हुई है। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान अमिताभ सोशल मीडिया पर तस्वीरें और वीडियोज शेयर करते रहे हैं। इस फिल्म की रिलीज डेट अभी घोषित नहीं की गई है।

'झुंड' के अलावा अमिताभ 'ब्रह्रास्त्र' में भी अहम भूमिका निभाते नजर आएंगे। इस फिल्म को अयान मुखर्जी डायरेक्ट कर रहे हैं जिसमें रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की भी अहम भूमिका है। इसके अलावा अमिताभ 'चेहरे' में भी नजर आएंगे। चेहरे में अमिताभ के साथ इमरान हाश्मी लीड रोल में होंगे। इस फिल्म का पोस्टर भी रिलीज़ कर दिया गया है। फिल्म 24 अप्रेल 2020 को रिलीज़ होगी।

बता दें कि अमिताभ बच्चन की बायोग्राफिकल स्पोर्ट्स ड्रामा झुंड को भूषण कुमार, कृष्ण कुमार, राज हिरेमथ, सविता राज हिरेमथ, नागराज मंजुले, गार्गी कुलकर्णी और मीनू अरोरा प्रोड्यूस कर रहे हैं और ये फिल्म टी सीरीज, तांडव फिल्म एंटरटेनमेंट और अटपट के बैनर तले बन रही है।

 

अजय देवगन की फिल्म 'तानाजी: द अनसंग वॉरियर' बॉक्स ऑफिस पर जमकर धमाल मचा रही है। खास बात ये है कि फिल्म ने 150 करोड़ रुपये के आंकड़े को भी पार कर लिया है। फिल्म के कलेक्शन की बात करें तो दूसरे सोमवार को तानाजी ने लगभग 8 करोड़ का कलेक्शन किया है। अंतिम आंकड़ों में यह राशि घट या बढ़ सकती है। इसके साथ तानाजी का 11 दिनों का नेट कलेक्शन 175 करोड़ के आस-पास हो गया है। ज़ाहिर है कि तानाजी 200 करोड़ के माइल स्टोन से महज़ 25 करोड़ की दूरी पर है। अगर फ़िल्म इसी रफ़्तार से चलती रही तो इस हफ़्ते में इस पड़ाव को पार कर लेगी। तानाजी को लेकर ट्रेड जानकार भी हैरान हैं, क्योंकि फ़िल्म की रिलीज़ से पहले माना जा रहा था कि अजय देवगन की यह फ़िल्म 100 करोड़ का बिज़नेस आसानी से करेगी, मगर 200 करोड़ का अनुमान किसी ने नहीं लगाया था।

अजय ने किया फैंस को शुक्रिया

उधर, अजय देवगन ने फैंस का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा, ''सभी फैंस का शुक्रिया आपके साथ और प्यार की वजह से ही ये मुमकिन हो पाया है। मैं आपके प्यार, सपोर्ट और प्रोत्साहन के लिए शुक्रिया अदा करता हूं।''
इतना ही नहीं फिल्म को कई राज्यों में टैक्स फ्री भी कर दिया गया है। फिल्म को हरियाणा में टैक्स फ्री कर दिया गया है। यह जानकारी मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के कार्यालय ने दी। इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने फिल्म को राज्य में टैक्स फ्री करने की घोषणा कर दी थी।

बता दें अजय देवगन की 'तानाजी' ने दूसरे हफ्ते भी रिकॉर्डतोड़ कलेक्शन का सिलसिला जारी रखा है। फिल्म दूसरे शुक्रवार को 10.06 करोड़, शनिवार को 16.36 करोड़, रविवार को 22.12 करोड़ और सोमवार को आठ करोड़ का कारोबार करने में कामयाब रही है। फिल्म ने अभी तक कुल 175.45 करोड़ का कलेक्शन किया है।

दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक को दर्शकों का काफी प्यार मिल रहा है, लेकिन इसके बावजूद फिल्म का कलेक्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं जा रहा है। फिल्म ने 11वें दिन भी शानदार प्रदर्शन करने की पूरी कोशिश की है। हालांकि, 11 दिनों में भी फिल्म 40 करोड़ का आंकड़ा पार नहीं कर पाई है। हालांकि जब फिल्म तानाजी के साथ रिलीज हो रही थी तो ऐसा माना जा रहा था कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर इसे टक्कर दे सकती है मगर ऐसा देखने को नहीं मिला।

फिल्म ‘छपाक’ ने कमाए इतने करोड़

फिल्म समीक्षक तरण आदर्श के मुताबिक दीपिका पादुकोण की 'छपाक' विदेशों में भी अपना जलवा दिखाने की पूरी कोशिश कर रही है। हालांकि, रिलीज से लेकर अब तक छपाक ने विदेशों में केवल 13 करोड़ रुपये की कमाई की है। ऐसा माना जा रहा है कि फिल्म का दूसरा हफ्ता भी कमाई के लिए काफी मुश्किल रहने वाला है। 'छपाक' ने पहले दिन 4.77 करोड़, दूसरे दिन 6.90 करोड़, तीसरे दिन 7.35 करोड़, चौथे दिन 2.35 करोड़, पांचवें दिन 2.55 करोड़, छठे दिन 1.85 करोड़ रुपये, सातवें दिन 1.50 करोड़ रुपये, आठवें 95 लाख, नौंवें दिन 1.40 करोड़ और दसवें दिन 1.75 करोड़ का कलेक्शन किया। दीपिका पादुकोण की 'छपाक' का बजट लगभग 35 करोड़ रुपये बताया जा रहा है।

फिल्म में दीपिका पादुकोण और विक्रांत मेसी की मुख्य भूमिका है। मेघना गुलजार ने इसका निर्देशन किया है। फिल्म को फॉक्स स्टार स्टूडियोज, दीपिका और मेघना ने मिलकर प्रोड्यूस किया है। एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी से प्रेरित 'छपाक' अभी भी अपने बजट निकालने से काफी दूर है। फिल्म की लागत 35 करोड़ है जबकि इसके प्रचार और प्रिंट्स पर 10 करोड़ खर्च हुए हैं। इस तरह इसका कुल बजट 45 करोड़ है। 'छपाक' को भारत में 1,700 स्क्रीन्स और विदेश में 460 स्क्रीन्स मिले हैं।

बिहार में जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन के खिलाफ रविवार को विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला बनाई गई। पूर्वाह्न 11.30 बजे से दोपहर 12 बजे तक आधे घंटे तक जब 4.27 करोड़ से अधिक लोग एक-दूसरे का हाथ थामेे खड़े हुए तो विश्‍व रिकार्ड तो बनना ही था। एक-दूसरे के हाथ थामे इन लोगों की संख्या कानाडा व आस्‍ट्रेलिया सहित विश्‍व के 192 देशों की आबादी से बड़ी थी। मानव श्रृंखला का मुख्‍य कार्यक्रम पटना के गांधी मैदान में हुआ, जहां मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में इसका आरंभ किया गया।

अब राज्य सरकार मानव श्रृंखला का डाक्यूमेंटेशन करा प्रमाण स्वरूप वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज कराने वाली अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों को सौंपेेेगी। इसके लिए 15 हेलीकॉप्टर एरियल फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी में लगाए गए। मानव श्रृंखला के अवलोकन के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स के  प्रतिनिधि  भी आमंत्रित किए गए।

बिहार ने तोड़े अपने ही पुराने वर्ल्‍ड रिकार्ड

इसके साथ बिहार ने 2018 का अपना ही पुराना विश्‍व रिकार्ड तोड़ दिया है। इसके पहले 2017 में शराबबंदी अभियान को सफल बनाने के लिए बिहार में 11292 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाई गई थी, जिसके रिकार्ड को बिहार वासियों ने दहेज प्रथा एवं बाल विवाह के खिलाफ 13654 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाकर तोड़ा था।

साईं बाबा के समर्थकों ने महाराष्ट्र सरकार के एक फैसले के खिलाफ जंग छेड़ दी है. मुद्दा साईं बाबा के जन्म स्थान को लेकर है और साईं समर्थक इसे आस्था का सवाल मानकर लड़ाई लड़ने को तैयार हो गए हैं. सवाल उठ रहे हैं कि क्या रोजाना शिरडी पहुंचने वाले हजारों श्रद्धालुओं को पिसना पड़ेगा या आस्था के आगे उद्धव सरकार को झुकना पड़ेगा.

दरअसल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अपील के बावजूद शिरडी ग्राम सभा ने रविवार को बंद करने का फैसला किया है. सीएम की ओर से साई जन्मभूमि पाथरी शहर के लिए विकास निधि के ऐलान के बाद उठा विवाद शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. मुख्यमंत्री के बयान से शिरडी के लोग नाराज हैं.

19 जनवरी से शिरडी में अनिश्चितकालीन बंद बुलाया गया है. साईं भक्तों का आरोप है कि महाराष्ट्र सरकार आस्था से खिलवाड़ कर रही है. शिरडी में ग्रामीणों और ट्रस्ट से जुड़े लोगों के बीच कई दौर की बैठकों के बाद ये फैसला किया गया है कि रविवार यानि 19 जनवरी से अनिश्चितकालीन बंद किया जाएगा.

पैकेज का ऐलान

साईं के जन्म स्थान को लेकर पहले भी कई बार चर्चा हो चुकी है, लेकिन बीती 9 जनवरी को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परभणी जिले के पाथरी को साईं के जन्म स्थान की हैसियत से विकसित करने के लिए 100 करोड़ के पैकेज का ऐलान कर दिया. इसके बाद से ही ये विवाद भड़क गया है.

 उद्धव से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी पाथरी को लेकर ऐसा ही ऐलान किया था. 2018 में साईं समाधि शताब्दी समारोह का उद्घाटन करने पहुंचे राष्ट्रपति ने कहा था, 'पाथरी साईं बाबा का जन्म स्थान है. मैं पाथरी के विकास के लिए काम करूंगा.'

 

गुजरात का नाम जब कभी भी ज़ुबान पर आता हैं, तो सबसे पहले देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की छवि सहसा सामने आ जाती हैं। यहीं नहीं गुजरात की पहचान अब विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति STATUE OF UNITY  के रुप में भी जानी जाती हैं, जिसकी ऊंचाई 182 मीटर हैं।

जहां इन शख्शियतों के कारण देश-विदेश में गुजरात की एक अलग पहचान हैं, तो दूसरी ओर गुजरात ने अपने यहां शराब को पूर्ण रुप से प्रतिबन्धित किया हुआ हैं। गुजरात देश का पहला राज्य हैं, जिसने सर्वप्रथम शराब पर पूरी तरह से बैन लगाया हुआ हैं। गुजरात में शराब उसके महाराष्ट्र से अलग होने पर और एक नया राज्य 1960 में बनने से ही लागू हैं।

अंबाजी गुजरात का सबसे बड़ा शक्तिपीठ है, इस शहर में मातारानी के भक्त को तांता हमेशा लगा ही रहता हैं। माता के दरबार में क्या नेता क्या पुलिस ऑफिसर सभी यहां अपनी हाजिरी लगाने आते हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय भाई रुपाणी भी माता के दरबार में आते ही रहते हैं, लेकिन इतने पवित्र स्थान पर शराब को यूं खुले-आम बेचने का वीडियो जब से वायरल हुआ है, पुलिस के आला-अधिकारी सकते में आ गये हैं और सरकार के पास कहने के लिए कुछ बन नहीं पा रहा हैं। लोगों का ये आरोप हैं, पुलिस की मिली-भगत के कारण ही ये हो सका है। 

गुजरात के पड़ोसी राज्य राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कुछ समय पहले कहा था की  गुजरात के गांव-गांव में शराब पी जाती है ,इसी बयान  के बाद बड़ी खेप में शराब तस्करी को पकड़ा गया था। आज अंबाजी में शराब माफिया का वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है।

फिल्म "छपाक" इसी साल 10 जनवरी को रिलीज हुई है। ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई कर रही है। तेजाब हमले की पीड़ित जिन लक्ष्मी अग्रवाल के संघर्ष की कहानी दीपिका पादुकोण ने फिल्म छपाक में दिखाई है, उनकी बेटी पिहु दीपिका से भी सुंदर है। हाल ही में, एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल ने अपनी बेटी पीहू के साथ यह फिल्म देखी है।

लक्ष्मी देखना चाहती थीं कि फिल्म देखकर बेटी कैसा रिएक्शन देगी। पिहु ने आराम से पूरी फिल्म देखी। पिहु ने भी एक-एक कर अपने सभी सवाल पूछे जिसके बारे में लक्ष्मी ने बताया। लक्ष्मी ने कहा, फिल्म के बाद उसने मुझे बहुत सारा प्यार किया और दीपिका को भी गले लगाया। पिहु, लक्ष्मी पर किए गए अपराध को समझने के लिए काफी मैच्योर थी और समझ गई थी कि उसकी मां किस स्थिति से गुजर चुकी है जो फिल्म की शुरुआत में लक्ष्मी के लिए चिंता का विषय था।

फिल्म के प्रभाव को देखते हुए इसे राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्यों में टैक्स फ्री कर दिया गया है। योजनाओं की घोषणा की जा रही है और लोग फिल्म के हर पहलू और दीपिका की परफॉर्मेंस को पसंद कर रहे हैं। उत्तराखंड सरकार द्वारा एसिड अटैक सर्वाइवर्स को योगदान दिया जा रहा है जिन्होंने अब एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए 6,000/- रुपये मासिक पेंशन की शुरुआत की है। बता दें मेघना गुलजार द्वारा निर्देशित और केए प्रोडक्शंस व फॉक्स स्टार स्टूडियोज द्वारा निर्मित 'छपाक' में दीपिका पादुकोण और विक्रांत मैसी लीड रोल में हैं।

 

शिवसेना सांसद संजय राउत का एक बड़ा बयान सामने आया है। दरअसल, संजय राउत ने दावा किया कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से मुंबई में मिलती थीं। दरअसल, संजय राउत पुणे में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। जहां उन्होंने कहा कि मुंबई का अंडरवर्ल्ड एक समय शिकागो के अंडरवर्ल्ड से भी ज्यादा खतरनाक था। दाऊद इब्राहिम, छोटा शकील और शरद शेट्टी जैसे डॉन की मुंबई एवं उसके आसपास के क्षेत्रों पर अच्छी पकड़ हुआ करती थी। अंडरवर्ल्ड तय करता था कि मुंबई का पुलिस आयुक्त कौन होगा या मंत्रालय में कौन बैठना चाहिए। डॉन हाजी मस्तान जब मंत्रालय जाता था तो उसे देखने के लिए पूरा मंत्रालय नीचे उतर आता था। यहां तक कि खुद इंदिरा गांधी भी तब के अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से मिलने उसके इलाके पायधुनी में जाया करती थीं।

शिवसेना सांसद संजय राउत का यह बयान उस समय सामने आया है, जब डी-कंपनी के सरगना अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का करीबी रहा गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला ने पुलिस की पूछताछ में सनसनीखेज खुलासे किए हैं। बुधवार को एजाज ने पुलिस को पूछताछ में दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान में मौजूद दो ठिकानों के पते के बारे में भी बताया है।

कौन था करीम लाला

अंडरवर्ल्ड की दुनिया को जानने वाले बताते हैं कि भले ही हाजी मस्तान को मुंबई में अंडरवर्ल्ड का पहला डॉन माना जाता है लेकिन मुंबई का पहला माफिया डॉन करीम लाला ही था। करीम लाला का असली नाम अब्दुल करीम शेर खान था। वह अफगानिस्तान में पैदा हुआ था और पश्तून समुदाय से ताल्लुक रखता था। करीब 21 साल की आयु में वह भारत आया था। पेशावर के रास्ते मुंबई पहुंचकर उसने कारोबार में हाथ आजमाया। इसी दौरान वह मुंबई डॉक से हीरे-जवाहरात की तस्करी करने लगा। तस्करी के काले कारोबार में धीरे-धीरे उसने अपनी पकड़ बना ली।

ओडिशा के कटक में घने कोहरे के कारण भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस हादसे का शिकार हो गई। हादसे के बाद ट्रेन के 8 डिब्बे पटरी से उतर गए। इसमें 20 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए, जबकि 6 लोगों की हालत गंभीर रुप से घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया। ये हादसा कटक के नरगुंडी रेलवे स्टेशन के पास हुआ है।

दरअसल, कटक के पास नरगुंडी रेलवे स्टेशन पर सुबह-सुबह मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक ने एक मालगाड़ी में टक्कर मार दी। घना कोहरा था और पीछे एक मालगाड़ी आ रही थी। इसी दौरान सुबह सात बजे मालगाड़ी का गार्ड वाला डब्बा खड़ी हुई ट्रेन से टकरा गई, इसी वजह से मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस के 8 डब्बे पटरी से उतर गए।

ईस्ट कोस्ट रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि ये टक्कर कोहरे की वजह से हुई है, हालांकि ट्रेन के कोच उत्तम क्वालिटी के थे इसलिये हादसे में ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। ये ट्रेन मुंबई से ओडिशा के भुवनेश्वर जा रही थी। घायलों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवा दिया गया है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची टीम ने राहत-बचाव का काम शुरू कर दिया है। हादसे के बाद रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। ये नंबर हैं 0674-1072 और 0671-1072। रेलवे के मुताबिक यात्रियों को मदद के लिए हर संभव कोशिशें की जा रही है।

गौरतलब है कि उत्तर भारत से लेकर पूर्वी भारत तक कोहरे का कहर जारी है। उत्तर भारत में लगातार कोहरे की वजह से ट्रेनें रद्द हो रही हैं इसके अलावा कुछ लेट भी चल रही हैं। कोहरे की वजह से दिल्ली में फ्लाइट पर भी असर पड़ रहा है। रेलवे ने 16 जनवरी को अलग-अलग कारणों से कई ट्रेनें कैंसिल की हैं। इनमें ज्यादातर गाड़ियों को गुरुवार के लिए पूरी तरह रद्द किया गया है, जबकि कुछ गांड़ियों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है।

 

 

कश्मीर मसले पर पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र में एक बार अपमान सहना पड़ा। दरअसल, पाकिस्तान के दोस्त चीन ने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् की बंद कमरे में हुई बैठक में एक बार फिर कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की, लेकिन उसकी यह कोशिश नाकाम हो गई क्योंकि परिषद् के अन्य सभी देशों ने इसका विरोध किया। बता दें कि चीन ने यूएनएससी में एओबी (एनी अदर बिजनेस) के तहत कश्मीर मसले पर क्लोज डोर मीटिंग का प्रस्ताव रखा। चीन ने यह प्रस्ताव पाकिस्तान की अपील पर रखा था, जिसके लिए 24 दिसंबर, 2019 की तारीख तय की गई थी, लेकिन नहीं हो पाई थी।

सुरक्षा परिषद में भारत ने स्पष्ट किया कि द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य करने के लिए पाकिस्तान को कुछ अहम मसलों पर फोकस करना होगा। वहीं, यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, एक बार फिर हमने देखा कि एक सदस्य ने यह मुद्दा उठाने की कोशिश की, जिसे अन्य किसी का समर्थन नहीं मिला। हमें खुशी है कि इस मामले में पाकिस्तानी के किसी अनर्गल आरोप को सुरक्षा परिषद ने चर्चा योग्य नहीं पाया।

पिछली बैठक में पाकिस्तान को निराशा हाथ लगी

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान के सहयोगी चीन ने इस बैठक के लिए दवाब बनाया। अगस्त में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद भी चीन ने इस मुद्दे पर यूएनएससी की बैठक बुलाई थी। हालांकि तब चीन और पाकिस्तान को इससे कुछ भी हासिल नहीं हुआ, क्योंकि सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने इसे भारत का आंतरिक मुद्दा करार देते हुए कार्रवाई से इनकार कर दिया था। इसके बाद दिसंबर में भी चीन ने कश्मीर पर चर्चा कराने के लिए बैठक का आग्रह किया था, लेकिन तब बैठक नहीं हुई।

 

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में 5 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा ने राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत की है। कोमल शर्मा ने शिकायत की है कि इस पूरे मामले में उसका नाम बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। उनकी शिकायत के बाद महिला आयोग ने दिल्‍ली पुलिस को चिट्ठी लिखकर इस मामले की पड़ताल करने को कहा है। कोमल शर्मा ने कहा है कि वीडियो और तस्वीरों में हाथ में डंडे लेकर दिखाई देने वाली लड़की वो नहीं है।

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कुछ दिनों पहले कहा था कि नकाब पहने चेक शर्ट में हिंसा करने पहुंची छात्रा की पहचान कर ली गई है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि वह लड़की को नोटिस जारी करेंगे और दो अन्य नकाबपोश लड़कों की पहचान के लिए जांच में शामिल होने के लिए कहेंगे। 

इसके साथ ही कोमल ने मीडिया संस्थानों और दिल्ली पुलिस को भी खत लिखकर इस मामले में ध्यान रखने को कहा है। उनका कहना है कि उन्हें जिस तरह से इस पूरे मामले में बदनाम किया जा रहा है वह ठीक नहीं है।

बता दें कि इसके अलावा, जेएनयू हिंसा की जांच कर रहे दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सात और लोगों की पहचान की है। इन नए लोगों के साथ ही पुलिस अबतक 55 लोगों की पहचान कर चुकी है, जो जांच की जद में हैं। इन्हें जांच में शामिल होने के लिए नोटिस जारी किया गया है। जांच में जुटी टीम इससे पहले पक्ष रखने के लिए जेएनयू अध्यक्ष को बुला चुकी है, जिन्होंने पुलिस के सामने अपनी बात और शिकायत रखी थी।

 

 

10 जनवरी को बॉक्स ऑफिस पर दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' और अजय देवगन की फिल्म 'तानाजी' ने दस्तक दी। फिल्म 'तानाजी' रिलीज के बाद से ही धमाकेदार प्रदर्शन कर रही है। सोमवार को भी अजय देवगन की फिल्म का जलवा बॉक्स ऑफिस पर कायम रहा तो वहीं मंगलवार को फिल्म के कलेक्शन में भारी उछाल हुआ। बॉक्स ऑफिस इंडिया डॉट कॉम वेबसाइट के मुताबिक अजय देवगन, काजोल और सैफ अली खान की फिल्म ने पांचवें दिन धांसू कमाई करते हुए 16 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया है। इस हिसाब से फिल्म ने पांच दिनों में 89 से 90 करोड़ रुपये का कलेक्शन कर लिया है।

उधर,फिल्म छपाक की बात करें तो फिल्म छपाक ने पांचवें दिन दो से सवा दो करोड़ का कलेक्शन किया। फिल्म ने शुक्रवार को 4.77 करोड़, शनिवार को 6.90 करोड़, रविवार को 7.35 करोड़ और सोमवार को 2.35 करोड़ की कमाई की थी। इस तरह फिल्म ने पांच दिन में करीब 23.50 करोड़ का बिजनेस कर लिया है। मेघना गुलजार के निर्देशन में बनी इस फिल्म में दीपिका के साथ अभिनेता विक्रांत मेसी की मुख्य भूमिका है। ये फिल्म एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी से प्रेरित है। फिल्म के प्रचार और लागत को मिला दें तो इसका कुल बजट 45 करोड़ है। फिल्म को हिट होने के लिए 60 करोड़ की कमाई करनी होगी। छपाक को कुल 2,160 स्क्रीन्स मिले हैं। इनमें भारत में 1,700 स्क्रीन्स और विदेश में 460 स्क्रीन्स हैं।

अजय देवगन की फिल्म तानाजी को टक्कर दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक दे रही हैं। फिलहाल, दोनों फिल्में अच्छी कमाई कर रही हैं। अजय देवगन ने इस फिल्म से एक बार फिर बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचा दिया है।

 

मध्यप्रदेश के शहडोल स्थित शासकीय कुशाभाऊ ठाकरे जिला अस्पताल में 12 घंटे के अंदर छह नवजात बच्चों की मौत हो गई। जिन बच्चों की मौत हुई है, उनमें से 2 बच्चे वॉर्ड और 4 एसएनसीयू में भर्ती थे। बताया गया है कि सभी बच्चों को निमोनिया हुआ था। वहीं, अस्पताल में एक साथ छह बच्चों की मौत से हड़कंप मच गया है। इस मामले ने राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं को सवालों के घेरे में ला दिया है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने इस मामले में जांच के आदेश दिये हैं। जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पांडे ने मंगलवार को बताया कि खरेला गांव की निवासी चेत कुमारी पाव और भटगंवा गांव की निवासी फूलमती के नवजात बच्चों और श्याम नारायण कोल, सूरज बैगा, अंजलि बैगा, और सुभाष बैगा को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सभी छह बच्चों की 13 और 14 जनवरी की दरमियानी रात मौत हो गई।

दूसरी ओर बच्चों की मौत की सूचना मिलते ही पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल छह बच्चों की मौत के बाद मंगलवार को सुबह शहडोल जिला चिकित्सालय पहुंचे। उन्होंने बच्चों के परिजनों से मुलाकात की और परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की। साथ ही घटना के जांच के आदेश दिए।

प्रारंभिक रूप से लापरवाही प्रतीत हो रही है- सीएमएचओ

वहीं, सीएमएचओ डॉ राजेश पांडेय ने इस मामले में पत्रकारों को बताया कि छह में से दो बच्चे वेंटीलेटर पर थे और एक गंभीर था, जिन्हे बचाने का प्रयास किया जा रहा था, लेकिन बचा नहीं सके। उन्होंने तीन अन्य बच्चों को निमोनिया से पीड़ित होना बताया, जो उमरिया से रेफर होकर यहां आए थे, जिनकी जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी है। उन्होंने कहा कि शुरूआती जांच में लापरवाही प्रतीत हो रही है, जांच के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

 

बसपा सुप्रीमो मायावती का आज 64वां जन्मदिन है। आज अपने जन्मदिन को मायावती 'जनकल्याणकारी दिवस' के रूप में मना रही हैं। मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं से जनकल्याणकारी दिवस के रूप में अपना जन्मदिन मनाने का आह्लान किया। इस दौरान मॉल एवेन्यू स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने भाजपा की केंद्र सरकार और कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि देश की स्थिति कांग्रेस काल से भी ज्यादा खराब हो गई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस की सरकारों ने काम किया अब उसी राह पर केंद्र की बीजेपी सरकार चल रही है। भाजपा तो कांग्रेस से दो कदम आगे है। देश की अर्थव्यवस्था खराब हो गई है, तनाव और भय का माहौल है।

मायावती ने सीएए को लेकर कहा कि यहां से जो मुसलमान पाकिस्तान गए हैं, वे भी जुल्म और ज्यादती के शिकार हैं, उन्हें भी यहां लाना चाहिए। मायावती ने पुलिस कमिश्नर प्रणाली का स्वागत तो किया, लेकिन यह भी कहा कि सिर्फ नीतियां बनाने से कुछ नहीं होगा। जब तक कानून-व्यवस्था को लेकर सख्ती नहीं होगी, तब ऐसी ही हालत रहेगी।

इस मौके पर उन्होंने लखनऊ पार्टी कार्यालय पर ब्लू बुक 'मेरे संघर्षमय जीवन एवं बसपा मूवमेंट का सफरनामा भाग-15' का विमोचन किया।मायावती का जन्मदिन प्रदेश के सभी जिलों में मनाया जा रहा है। बसपा कार्यकर्ता इस दिन गरीबों और निराश्रितों को मदद भी करेंगे।

गौरतलब है कि मायावती का जनाधार लगातार गिरता जा रहा है। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी वह 'जीरो' सीट पाई थी। जबकि 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्हें 19 सीट पर संतोष करना पड़ा था। इसके अलावा, लोकसभा चुनाव 2019 में बसपा ने सपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा और 10 सीटें जीती लेकिन यह गठबंधन चुनाव के बाद ही टूट गया। मायावती इस समय मिशन 2022 की तैयारियों में जुटी हुई हैं। उनका सारा ध्यान उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव पर है। इसी उद्देश्य से संगठन को मजबूत करने और जातिगत समीकरण साधने में लगी हुई हैं।

अभिनेता ऋषि कपूर की बहन और अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन की सास ऋतु नंदा का कैंसर से निधन हो गया है। ऋषि कपूर की बेटी रिद्धिमा कपूर ने अपनी बुआ के गुजर जाने की खबर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से शेयर की है। रिद्धिमा ने अपनी बुआ की फोटो शेयर करते हुए लिखा, मैं अपनी जिंदगी में इनसे ज्यादा विनम्र और सभ्य व्यक्ति से आजतक नहीं मिली थी। बुआ आप हमेशा याद आएंगी। RIP। इस खबर से कपूर और बच्चन परिवार में शोक की लहर है। बता दें ऋतु 71 साल की थीं।

उनके पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार दिल्ली में होगा। सभी सेलेब्रिटीज दिल्ली पहुंचना शुरू हो गए हैं ।
श्वेता के पिता यानी अमिताभ बच्चन ने अपनी समधन के निधन की जानकारी अपने ब्लॉग पर भी दी है। अमिताभ ने अपने ब्लॉग में लिखा मेरी समधन रितु नंदा, श्वेता बच्चन की सास का रात 1:15 बजे अचानक निधन हो गया। वहीं, ऋषि कपूर की पत्नी बॉलीवुड एक्ट्रेस नीतू सिंह ने अभी अपने इंस्टाग्राम पर रितु के साथ एक फोटो शेयर करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। नीतू ने लिखा, 'मेरी सबसे प्यारी... भगवान आपकी आत्मा को शांति दे'।

उधर, एक मीडिया पोर्टल से बात करते हुए रणधीर ने कहा, देर रात रितु नंदा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। वो लंबे समय से कैंसर से जूझ रही थीं। हम दिल्ली में हैं, और उनका अंतिम संस्कार भी आज ही किया जाएगा।

ऋतु नंदा के बारे में बात करें तो 80 के दशक में भारतीय जीवन निगम के एजेंट के तौर पर भी काम किया था। वह काफी समय तक इससे जुड़ीं रहीं। बाद में उन्होंने अपनी खुद की एक निजी बीमा कंपनी की भी शुरुआत की थी। ऋतु नंदा ने 1969 में प्रतिष्ठित सुरक्षा एजेंसी एस्कॉट ग्रुप के मालिक राजन नंदा से शादी की थी। ऋतु की बेटे निखिल नंदा ने अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन से 1997 में शादी की थी और उनके दो बच्चे अगस्त्य नंदा और नव्या नवेली नंदा हैं।

 

दिल्ली हाई कोर्ट ने CAA के खिलाफ जारी प्रदर्शन के चलते पिछले 27 दिनों से बंद कालिंदी कुंज-शाहीन बाग मार्ग को खोलने की जनहित याचिका पर सुनवाई की। शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन को समाप्त करवाने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट ने गेंद पुलिस और केंद्र के पाले में डाल दी है। दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया कि जनहित का ध्यान रखें और कानून-व्यवस्था कायम करें। अदालत ने कहा कि दिल्ली पुलिस और संबंधित विभाग जैसे ट्रैफिक पुलिस, दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार जो भी ठीक कदम हो वो उठाएं और रास्ता खुलवाएं। हालांकि अदालत ने अपने इस फैसले में प्रदर्शनकारियों के बारे में कुछ नहीं कहा है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट में ये भी बताया गया कि किस तरह से छोटे-छोटे बच्चों को दो-दो घंटे पहले स्कूल के लिए निकलना पड़ता है, क्योंकि जाम ज्यादा होता है। वहीं दफ्तर जाने व नोएडा से दिल्ली आने-जाने वाले लोगों की परेशानी के बारे में भी अदालत को बताया गया। इन सभी बातों पर गौर करने के बाद ही हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है।

याचिका में क्या कहा गया

जनहित याचिका में कहा गया है कि कालिंदी कुंज का इलाका दिल्ली, फरीदाबाद और नोएडा को जोड़ने की वजह से बहुत महत्व रखता है। यहां से निकलने वाले मार्गों का इस्तेमाल करने वाले लोगों को डीएनडी एवं अन्य वैकल्पिक रास्तों का इस्तेमाल करना पड़ रहा है जिससे भारी यातायात जाम की स्थिति बन रही है और साथ ही समय तथा ईंधन की बर्बादी भी हो रही है। पीआईएल में दावा किया गया कि अधिकारी इलाके के निवासियों और दिल्ली, उत्तर प्रदेश एवं हरियाणा के लाखों लोगों को राहत देने के लिए उचित कार्रवाई नहीं कर पाए हैं। साहनी ने कहा कि उन्होंने तीन जनवरी को अधिकारियों को ज्ञापन दिया लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के द्वारा लागू किए गए नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शाहीन बाग पर 15 दिसंबर से प्रदर्शन हो रहा है। यहां पर हजारों की संख्या में महिलाएं, स्टूडेंट और अन्य प्रदर्शनकारी लगातार डटे हुए हैं। यहां बीते दिनों से कुछ नेता भी लगातार प्रदर्शनकारियों के पास जाकर वहां पर संबोधन कर रहे थे।

 

उत्तरी कश्मीर में लगातार हो रही बर्फबारी जानलेवा साबित हो रही है। दरअसल, जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के मचैल सेक्टर में रिंगबाला इलाके में हिमस्खलन के कारण 3 जवान शहीद हो गए हैं, वहीं एक जवान अभी भी लापता है। लापता जवानों की तलाश के लिए राहत और बचाव अभियान जारी है। बताया जा रहा है कि हिमस्‍खलन में कई जवान फंस गए थे जिन्‍हें राहत और बचाव दल ने बचा लिया है। इलाके में बर्फबारी का दौर जारी है। उधर, सेना के सूत्रों के मुताबिक रामपुर और गुरेज सेक्टर में हिमस्खलन की कई घटनाओं की सूचना है।

उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले में भी सोमवार को हिमस्खलन की घटना हुई थी, जिसके कारण कुछ मकानों को नुकसान हुआ था। ऐवलॉन्च की घटना में फंसे 5 लोगों को सेना और प्रशासन की टीमों ने रेस्क्यू किया था। इससे पहले लेह में जांस्कर नदी पर बर्फ के ऊपर पानी बहने के बाद, चादर ट्रेक पर 41 ट्रेकर फंस गए थे जिन्‍हें बचा लिया गया था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ने भी खराब मौसम के कारण अगले दो दिनों के लिए चादर ट्रेक को अस्थायी रूप से बंद किए जाने की घोषणा की है।

48 घंटों में कई जगह हुआ हिमस्खलन

सेना के सूत्रों के मुताबिक, पिछले 48 घंटों में हुई भारी बर्फबारी के कारण, उत्तरी कश्मीर में कई जगह हिमस्खलन की घटनाएं सामने आई हैं। इनमें 3 सैनिकों ने अपनी जान गंवाई है जबकि एक अभी भी लापता है। सेना के सूत्रों के मुताबिक, हिमस्खलन में फंसे कई जवानों को बचाया भी गया है।

वहीं कड़ाके की सर्दी से जूझ रहे जम्मू-कश्मीर में हुई बारिश और बर्फबारी ने लोगों की दुश्वारियां और बढ़ा दी। इस दौरान बारामुला, बांदीपोरा और गांदबरबल में हिमस्खलन में कई मकान दब गए हैं, जबकि भूस्खलन की चपेट में आकर रामबन में एक युवक की मौत हो गई। रियासी के खरोड़ी करूर इलाके में भूस्खलन की चपेट से एक वैन नदीं में गिर गई। इसमें चालक की मौत हो गई, जबकि तीन को अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं भूस्खलन के चलते प्रदेश में सौ से अधिक संपर्क मार्ग बंद हो गए हैं।

नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर और यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा पर दिल्ली में विपक्षी दलों की बैठक बुलाई गई है। बताया गया है कि बैठक के जरिए इस मसले को लेकर विपक्षी एकता का संदेश दिया जाएगा। हालांकि सीएए और एनआरसी के विरोध में विपक्ष की एकजुटता में फूट पड़ गई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने विपक्ष की बैठक में भाग नहीं लेने का फैसला किया है।

इस बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), द्रविड़ा मुनेत्र कजगम (डीएमके), इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, लेफ्ट, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), समाजवादी पार्टी (एसपी) समेत कई पार्टियों शामिल होंगी। पार्लियामेंट एनेक्सी में दोपहर 2 बजे होने वाली इस बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रह सकते हैं।

वहीं, बसपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी संभवत: बैठक में किसी प्रतिनिधि को नहीं भेजेगी। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस के साथ बसपा के मतभेद को इस कदम का कारण बताया जा रहा है। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहले ही इस बैठक में आने से स्पष्ट इनकार कर चुकी हैं। सीएए के खिलाफ जब विपक्षी दल राष्ट्रपति के पास गए थे, उस वक्त भी बसपा उनके साथ नहीं थी। हालांकि पार्टी ने बाद में इस मुद्दे को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भेंट की थी।

उधर, ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और वाम दल गंदी राजनीति कर रहे हैं और अब वह सीएए और एनआरसी का विरोध अकेले अपने दम पर करेंगी। बता दें कि ममता बनर्जी ने पिछले हफ्ते गुरुवार को ही विधानसभा में कहा था कि अगर जरूरत पड़ी तो वह अकेले लड़ेंगी। सदन में ही उन्होंने विश्वविद्यालय परिसरों में हिंसा और सीएए के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा 13 जनवरी को बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक के बहिष्कार की घोषणा कर दी थी।

बैठक में आम आदमी पार्टी भी नहीं होगी शामिल

नागरिकता कानून और सीएए पर बुलाई गई विपक्ष की बैठक से आम आदमी पार्टी ने भी किनारा कर लिया है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, कोई भी नेता इस बैठक में हिस्सा नहीं लेगा।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा में जुटी दिल्ली पुलिस ने नकाब पहने हिंसा करने पहुंची छात्रा की पहचान कर ली है। दरअसल, 5 जनवरी को जेएनयू के पेरियर हॉस्टल में तोड़फोड़ हुई थी। लड़की एक वीडियो में जेएनयू में हिंसा करती हुई दिखाई दी थी। विश्वविद्यालय में कैंपस में हुई हिंसा और मारपीट के बाद मिले सीसीटीवी फुटेज और वायरल वीडियों में यह लड़की हाथ में डंड लिए दिखाई दी थी। छात्रा ने चेहरे पर नकाब लगा रखा था। इसके साथ दो अन्य लड़के भी नकाब में दिखे थे, जिसकी पहचान पुलिस अभी तक नहीं कर पाई है। यह जानकारी एसआईटी को हेड कर रहे डिप्टी पुलिस कमिश्नर जॉय टिरकी ने दी है। जेएनयू के छात्र और शिक्षक आरोप लगाते रहे हैं कि यह लड़की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की सदस्य है, मगर एसआईटी अधिकारियों ने उसके राजनीतिक संबंध पर कमेंट करने से इनकार कर दिया है।

आपको बता दें कि जेएनयू हिंसा की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एसआईटी की जांच में खुलासा हुआ है कि हिंसा के दौरान दो प्रोफेसरों की इसलिए पिटाई की गई थी कि वे बवाल का वीडियो बना रहे थे। अब ये प्रोफेसर इस कदर डरे हुए हैं कि कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। एसआईटी की पूछताछ में इन प्रोफेसरों ने केवल इतना माना है कि ये लोग कैंपस से बाहर के थे। इससे आगे वे कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं। अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जेएनयू हिंसा के समय पेरियर हॉस्टल के पास एक प्रोफेसर साइकलिंग कर रहे थे।

ग्रुप के 44 लोग पहचाने

जांच में जुटी एसआईटी ने कथित रूप से हिंसा की साजिश के लिए बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट के 60 में से 44 लोगों की पहचान कर ली है। क्राइम ब्रांच ने इन सभी को नोटिस भेजकर जांच के लिए बुलाया है। स्टिंग में दिखाई देने वाले जेएनयू के छात्र अक्षत अवस्थी के अलावा छात्र रोहित शाह को भी जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है। अक्षत अवस्थी के हमले का हिस्सा होने की बात का खुलासा हुआ था।

बगदाद में स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर 8 रॉकेट से हमला किया गया। इस हमले में चार इराकी पायलट घायल हुए हैं। इस एयरबेस पर अमेरिकी सैनिकों का ठिकाना है, लेकिन वे ईरान और अमेरिका के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए पहले ही इस एयरबेस से जा चुके थे। अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर यह 6 दिन में तीसरा हमला है। सेना ने एक बयान में कहा कि बगदाद से लगभग 70 किलोमीटर उत्तर में स्थित अल-बलाड एयरबेस पर कत्यूशा श्रेणी के आठ रॉकेट गिरे। इस हमले के बाद अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि वे काफी गुस्से में हैं। उन्होंने ट्वीट में लिखा, इराक सरकार के दुश्मन लगातार उसकी स्वायत्ता का उल्लंघन कर रहे हैं, यह अब बंद होना चाहिए।

अल-बलाड अड्डा इराक में अमेरिकी वायु सेना का प्रमुख अड्डा है। इराक अपने एफ-16 लड़ाकू विमानों को भी यहीं रखता है। इस हमले में अमेरिकी सैनिकों को किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। वैसे भी पिछले दो हफ्ते के दौरान ईरान के साथ तनाव बढ़ने के बाद यहां से ज्यादातर अमेरिकी सैनिक चले गए हैं। अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि रॉकेट कहां से दागे गए थे।

9 जनवरी को ग्रीन जोन में मिसाइलें दागी गईं

बगदाद के अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र, जहां कई विदेशी दूतावास हैं। वहां गुरुवार को मिसाइलें दागी गईं। यहां दो बड़े धमाके हुए थे। अमेरिकी अधिकारियों ने इसके पीछे इराक में स्थित ईरान समर्थित शिया विद्रोही संगठन- ‘हाशेद’ पर शक जताया था।

बता दें कि ईरान ने अपने शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद पिछले हफ्ते इसी सैन्य अड्डे पर मिसाइल से हमला किया था। अमेरिका ने इराक में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर क्रूज मिसाइल से हमला कर सुलेमानी को मार गिराया था। उसके बाद से ईरान और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ा हुआ है। हाल के दिनों में इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हमले की घटनाएं तेज हुई हैं। हालांकि, ज्यादातर हमले में इराकी सैनिक ही घायल होते हैं। इसी तरह के एक हमले में एक अमेरिकी कांट्रैक्टर की मौत हुई थी।

 

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में सपा नेता बिजली यादव की रविवार सुबह बदमाशों ने गोली मारकर हत्या दी। वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पुलिस व परिजन मौके पर पहुंचे। साथ ही पुलिस ने मामले में जांच शुरु कर दी है। बिजली यादव सपा के सक्रिय नेता भी थे। वारदात इस वक्त हुई जब वह घर से टहलने के लिए निकले थे। हमलावरों ने गांव से बाहर उन्‍हें गोली। घटना के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। इस साल के आखिर में यूपी में पंचायत चुनाव है जिसकी तैयारी में बिजली यादव लगे थे। लोगों का कहना है कि चुनावी रंजिश हत्या की एक वजह हो सकती है। बिजली यादव मोहम्मदाबाद गोहना कोतवाली के कोपागंज ब्लॉक क्षेत्र के बरजला शेखवलिया गांव के निवासी थे। वे सपा नेता और पूर्व प्रधान भी थे।

'किसी से नहीं थी दुश्‍मनी'

वहीं, सपा एमएलसी राम जतन राजभर ने बताया कि मृतक बिजली यादव साफ छवि के मिलनसार व्यक्ति थे। उनकी किसी से भी कोई दुश्मनी नहीं थी। एसपी अनुराग यादन ने उनके हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है। वहीं, पुलिस अधीक्षक अनुराग ने बताया कि सूचना मिली की आज सुबह एक पूर्व प्रधान की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। डॉग स्‍क्‍वॉड सहित तमाम टीमों को जांच पड़ताल के लिए लगा दिया गया है। मृतक की पत्नी के तहरीर पर केस दर्ज किया जा रहा है। घटना को अंजाम देने वालों को जल्द गिरफ्तार कर सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' ने बॉक्स ऑफिस पर दूसरे दिन पहले दिन के मुकाबले काफी शानदार प्रदर्शन किया है। फिल्म ने पहले दिन साढ़े 4.77 करोड़ की कमाई की थी। दूसरे दिन फिल्म की कमाई में 30-40 प्रतिशत का ग्रोथ दिया। दूसरे दिन फिल्म ने लगभग सात करोड़ का कलेक्शन कर लिया है। इस हिसाब से दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' ने दो दिनों में करीब 11 करोड़ रुपये की कमाई कर ली है।

वहीं 10 जनवरी को अजय देवगन की 'तानाजी: द अनसंग वॉरियर' भी रिलीज हुई है। माना जा रहा है कि अजय अैर दीपिका की फिल्म के बीच कलेक्शन को लेकर जमकर टक्कर हो सकती है। पहले दिन इसकी एक झलक देखने को भी मिली जहां 'तानाजी' ने पहले दिन 15 करोड़ का बिजनेस किया तो वहीं 'छपाक' ने 4.77 करोड़ का बिजनेस किया। हालांकि स्क्रीन्स के मामले में जहां तानाजी को 4540 स्क्रीन्स मिले, वहीं छपाक को भारत में 1700 और विदेश में 460 स्क्रीन्स मिले हैं। कुल स्क्रीन्स की बात करें तो 'छपाक' को कुल 2160 स्क्रीन्स मिले हैं।

दीपिका पादुकोण की 'छपाक' का बजट लगभग 35 करोड़ रुपये बताया जाता है। छपाक की कहानी मालती यानी दीपिका पादुकोण की है। जो एसिड अटैक सरवाइवर है और इस घटना के बावजूद अपनी जिंदगी की जंग को पूरी ताकत और हिम्मत के साथ लड़ रही है। मालती की इस जंग में उसके साथी हैं अमोल और उनकी वकील। इस तरह फिल्म की कहानी कहीं भी अत्यधिक नाटकीय नहीं होती और मालती के संघर्ष और इच्छाशक्ति की ओर इशारा करती है। इस तरह मेघना गुलजार ने पूरी कहानी को कहीं भी उपदेशात्मक नहीं होने दिया है। यही बात 'छपाक' की खासियत भी बनकर उभरती है।

उत्‍तर भारत के पहाड़ी इलाकों में एक बार फिर से बारिश दस्तक दे सकती है। सोमवार को भारी बारिश और बर्फबारी का ऑरेंज अलर्ट है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 13 और 16 जनवरी के लिए चेतावनी जारी की है। 17 जनवरी तक मौसम खराब बना रहेगा। इससे तापमान में गिरावट के साथ ठंड में वृद्धि हो सकती है। स्काईमेट की मानें तो अफगानिस्तान और आसपास के क्षेत्रों में पश्चिमी विक्षोभ की स्थिति बनी हुई है। इसके चलते उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में रुक-रुक कर बारिश और बर्फबारी हो सकती है। वहीं, हिमाचल प्रदेश के दक्षिणी इलाकों में ओलावृष्टि का भी पूर्वानुमान है। हिमस्खलन की आशंका भी जताई गई है।

शुष्क रह सकता है मौसाम का मिजाज

स्काईमेट के मौसम पूर्वानुमान में पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में वेदर के शुष्क रहने का अनुमान जताया गया है। साथ ही ज्यादातर क्षेत्रों में आसमान साफ रहेगा। झारखंड में तापमान में गिरावट होने से गलन वाली सर्दी फिर से पड़ सकती है। कहा जा रहा है कि झारखंड में कोहरा भी छा सकता है। हालांकि, उत्तर-पूर्वी राज्यों में इसी तरह का मौसम देखने को मिलेगा, लेकिन आसमान में धूप छाई रहेगी।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में आज से मौसम एक बार फिर करवट बदलेगा। पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और कई मैदानी इलाकों में बारिश होगी। वहीं, लेह, पहलगाम और गुलमर्ग में शरीर को जमा देने वाली ठंड से जनजीवन अस्त व्यस्त है। कश्मीर के हर जिले में न्यूनतम तापमान माइनस से कई डिग्री कम रिकॉर्ड हुआ है। वहीं, उत्तराखंड के गढ़वाल में दोपहर बाद मौसम ने अचानक करवट ली।

हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी के बाद मौसम साफ है। बर्फबारी को देख रिज, कुफरी, नारकंडा, मनाली, डलहौजी, मैक्लोडगंज में पर्यटकों की आवक बढ़ गई है। प्रदेश में पर्यटन विकास निगम के तहत 55 होटल संचालित हैं जिनमें 80 फीसद तक ऑक्यूपेंसी है। निजी होटलों में 90 फीसद ऑक्यूपेंसी चल रही है। आने वाले दिनों में ज्‍यादा पर्यटकों के आने की संभावना है। हालांकि मौसम विभाग ने फिर पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने का अनुमान जताया है जिससे राज्‍य के ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश बर्फबारी का दौर देखा जा सकता है।

 

गुजरात के वडोदरा में एक निजी कंपनी में ब्लास्ट से 6 कर्मचारियों की मौत हो गई, जबकि 10 कर्मचारी घायल हो गए। हालांकि, कंपनी ने आधिकारिक तौर पर घायलों और घायलों के बारे में जानकारी नहीं दी है। बताया गया है कि जिस कंपनी में धमाका हुआ है उसका नाम एम्स ऑक्सीजन कंपनी है। हालांकि ब्लास्ट की वजह का खुलासा नहीं हो सका है। धमाके में घायल लोगों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। कंपनी में काम करने वाले अन्य कर्मचारियों के मुताबिक यह धमाका बेहद जोरदार था, इसलिए मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। साथ ही उनका कहना है कि ब्लास्ट इतना तेज था कि 3 किमी दूर तक इसका कंपन महसूस किया गया।

कर्मचारियों को सुरक्षा किट नहीं दी गई थी

अधिकारियों ने जांच में पाया कि ऑक्सीजन सिलेंडर बनाने वाली फैक्ट्री में फायर सेफ्टी के साधन मौजूद नहीं थे। वहीं कंपनी ने कर्मचारियों को सुरक्षा किट नहीं दी थी। इसके चलते, विस्फोट में कर्मचारियों के शरीर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं, वडोदरा ग्रामीण एसपी सुधीर देसाई ने बताया कि हादसे के बाद भी कंपनी के जवाबदार अधिकारी घटनास्थल पर नहीं पहुंचे। मामले की जांच के बाद अपराध दर्ज कर दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

 

भारतीय सेना के अध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने शनिवार को दिल्ली में पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में सेना में गुणवत्ता पर ध्यान दिया जाएगा न कि तादाद पर। फिर चाहे सेना के लिए उपकरण खरीदने हो या फिर जवानों की भर्ती। उन्होंने कहा कि हमें भविष्य के लिए जवानों को प्रशिक्षण देकर तैयार करना होगा। पहले की तुलना में आज सेना बेहतर तैयार है। साथ ही उन्होंने कहा है कि एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा है। यदि संसद यह चाहती है, तो उस क्षेत्र को भी भारत में होना चाहिए। जब हमें इस बारे में कोई आदेश मिलेंगे, तो हम उचित कार्रवाई करेंगे।

देश के नए आर्मी चीफ जनरल मुकुंद नरवणे ने कहा कि सियाचिन हमारे लिए बहुत अहम है। उन्होंने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विश्वास भरा पैगाम देते हुए कहा कि सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है, सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता। आर्मी चीफ ने कहा कि सीडीएस का बनना महत्वपूर्ण कदम है, सीडीएस के गठन से सेना को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि तीनों सेनाओं के बीच तालमेल जरूरी है, हम भविष्य की चुनौतियों और खतरों को ध्यान में रखकर प्लानिंग करेंगे और प्राथमिकता के हिसाब से बजट का इस्तेमाल किया जाएगा।

शुरु हुई महिलाओं के पहले बैच की ट्रेनिंग

वहीं, सेना में महिला जवानों को शामिल करने पर उन्होंने कहा कि 6 जनवरी से 100 महिला जवानों के पहले बैच का प्रशिक्षण शुरु कर दिया गया है। कश्मीर घाटी में तैनात सेना के अधिकारियों के खिलाफ शिकायतों पर उन्होंने कहा कि कमांडर के फैसले का सम्मान करना होगा। जो भी शिकायतें दर्ज हुई हैं, वे निराधार साबित हुई हैं। पाकिस्तान और चीन सीमा पर सेना को संतुलित करने की आवश्यकता पर नरवाणे ने कहा कि संतुलन की आवश्यकता है क्योंकि उत्तरी और पश्चिमी दोनों सीमाओं पर समान ध्यान देने की आवश्यकता है।

 

 

 

यूपी सरकार लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी प्रणाली लागू करने की योजना पर विचार कर रही है। ऐसे में इन दोनों जिलों में एडीजी या आईजी स्तर के आईपीएस अफसर की तैनाती पर विचार चल रहा है। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में प्रस्ताव पर मुहर लग गई है। सूत्रों के अनुसार डीजीपी ओपी सिंह और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी के साथ एक घंटे से अधिक चली बैठक में मुंबई और गुड़गांव में लागू पुलिस कमिश्नर प्रणाली के मॉडल पर चर्चा की गई। कहा जा रहा है कि 14 जनवरी को कैबेनेट की होने वाली मीटिंग में इस संबंध में प्रस्ताव पास किया जाएगा।

दरअसल, मुंबई में शस्त्र लाइसेंस और आबकारी की दुकानों के लाइसेंस जारी करने का अधिकार पुलिस कमिश्नर को ही दिया गया है, जबकि गुड़गांव में पुलिस को यह अधिकार नहीं है। हालांकि तय नहीं हो पाया है कि कौन-सा मॉडल यहां लागू किया जाएगा।

क्या कुछ बदलेगा अगर लागू हो जाएगा ये सिस्टम

पुलिस कमिश्नरी में कानून व्यवस्था से जुड़े मामलों में कमांड एक ही अफसर के पास होती है। ऐसा न होने से दंगे जैसे हालातों में कोई एक्शन जैसे लाठीचार्ज या फायरिंग के लिए पुलिस को मजिस्ट्रेट से इजाजत लेनी पड़ती है। किसी अपराधी को जिला बदर करना हो, गैंगस्टर लगाना हो, जुलूस, धरना-प्रदर्शन की इजाजत देना हो। पार्किंग यहां तक कि बार, असलहे के लाइसेंस से जुड़े मामलों में भी इजाजत देने और मामले के निपटारे के अधिकार भी जो मजिस्ट्रेट के पास होते हैं। वहीं कानून-व्यवस्था की पाबंदी से जुड़ी धाराओं जैसे धारा-144 और शांति भंग जैसी धाराओं को लगाने का अधिकार भी जो मजिस्ट्रेट के पास होता है, वो पुलिस के पास आ जाएगा। आम तौर पर ऐसे मामलों से जुड़े विवादों को निपटाने में पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ती है। यदि पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू हो जाता है तो ऐसे कई अधिकार पुलिस के पास आ जायेंगे।

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव की वजह से 176 बेकसूर लोगों की जान चली गई। दरअसल, ईरान की ओर से इराक में अमेरिकी ठिकानों पर मिसाइल अटैक के कुछ घंटे बाद बुधवार को एक बोइंग प्लेन ईरान में क्रैश हो गया था। तेहरान में दुर्घटनागस्त हुए यूक्रेन के विमान को गलती से मार गिराए जाने की बात ईरान ने कबूल कर ली है। ईरान का कहना है कि मानवीय भूल की वजह से उसने अपने ही विमान को मार गिराया। इससे पहले ईरान ने कहा था कि विमान में खराबी की वजह से हादसा हुआ। अमेरिका, यूके और कनाडा ने शक जाहिर किया था कि प्लेन क्रैश होने की घटना टेक्निकल नहीं थी बल्कि ईरान ने उसे मार गिराया था। इन देशों का शक सही निकला और अब ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने माना है कि मानवीय गलती की वजह से यह चूक हुई थी। उन्होंने इस बारे में एक ट्वीट कर खेद व्यक्त किया है।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने सेना के कबूलनामे के बाद ट्वीट में कहा कि सेना की आतंरिक जांच में सामने आया है कि मानवीय भूल के चलते मिसाइल हमले में यूक्रेन का विमान क्रैश हुआ और 176 लोगों की मौत हुई। इस बड़ी त्रासदी और अक्षम्य घटना के जिम्मेदारों की पहचान और उन पर कार्रवाई के लिए जांच जारी रहेगी। ईरान इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर गहरा दुख व्यक्त करता है। मृतकों के परिजनों के प्रति मेरी संवेदना।

अमेरिका ने भी किया था दावा

हादसे के बाद से ही अमरीकी मीडिया में इस बात का अंदेशा लगाया जा रहा है कि यूक्रेन के विमान को ईरान ने फाइटर विमान समझकर मार गिराया होगा। वही ईरान ने हादसे की जांच में हर संभव मदद करने का भरोसा दिया था। हालांकि, हादसे के बाद मलबे साफ करने की जो तस्वीरें सामने आई उनसे चिंता जताई जा रही थी कि अहम सबूतों के मिटाया जा सकता है।

दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' 10 जनवरी को रिलीज होने जा रही है। यह फिल्म एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल पर है। फिल्म की रिलीज से पहले इसपर हो रहे विवाद का पटियाला हाउस कोर्ट ने पटाक्षेप कर दिया है। वकील अपर्णा भट्ट ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में फिल्म पर रोक लगाए जाने की याचिका दायर की थी, जिसपर अब कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। वकील अपर्णा भट्ट की याचिका पर अदालत ने फैसला सुनाते हुए कहा कि फिल्म की रिलीज पर रोक नहीं लगेगी। कोर्ट ने फिल्म की डायरेक्टर, प्रोड्यूसर, फॉक्स प्रोडक्शन और सभी पक्षों को आदेश दिया है कि फिल्म की रिलीज से पहले अपर्णा भट्ट को क्रेडिट दिया जाए।

दरअसल, अपर्णा ने इस याचिका में कहा था कि उन्होंने कई सालों तक लक्ष्मी अग्रवाल के लिए केस लड़ा लेकिन उन्हें फिल्म में कोई क्रेडिट नहीं दिया गया है। अपर्णा भट्ट ने बताया कि वह 16 से 19 दिसंबर तक फिल्म की डायरेक्टर मेघना गुलजार के संपर्क में भी थीं। उन्हें कहा गया था कि फिल्म की रिलीज के समय उन्हें क्रेडिट दिया जाएगा लेकिन 7 जनवरी को प्रीमियर के समय उन्हें जानकारी मिली कि फिल्म में उन्हें क्रेडिट नहीं दिया गया है। इस वजह से वो चाहती हैं कि फिल्म की रिलीज पर रोक लग जाए। ऐसे में अब कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए फिल्म के मेकर्स को अपर्णा का नाम फिल्म में शामिल करने का आदेश दिया है।

बता दें पिछले दिनों दीपिका जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय पहुंची थीं। जेएनयू कैंपस में कुछ दिन पहले ही हिंसा हुई थी। इसमें कई छात्र-छात्राएं और शिक्षक घायल हो गए थे। दीपिका यहां घायलों से मिलीं। साथ ही हिंसा के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन का हिस्सा भी बनीं। दीपिका के इस कदम की कुछ लोग तारीफ कर रहे हैं तो वहीं कुछ उनकी फिल्म 'छपाक' का बहिष्कार करने की बात कर रहे हैं।

मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अंडरवर्ल्ड डॉन एजाज लकड़ावाला को गिरफ्तार कर लिया है। उसे पटना के जक्कनपुर थाना इलाके से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के बाद उसे मुंबई लाया गया। पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया, जहां से उसे 21 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेजा गया है। उसके ऊपर 25 मुकदमे दर्ज हैं। वह अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का करीबी है। इससे पहले मुंबई क्राइम ब्रांच की एंटी एक्सटॉर्शन सेल ने एजाज लकड़वाला की बेटी सोनिया लकड़वाला को जबरन वसूली के दूसरे मामले में गिरफ्तार किया गया था। वह अपने पिता के कहने पर बांद्रा के एक बिल्डर से रंगदारी वसूलने के लिए धमकी दे रही था।

मुंबई पुलिस कमिश्नर संजय बर्वे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उन्होंने बिहार एसटीएफ के सहयोग से बुधवार को लकड़ावाला को गिरफ्तारी किया। इसके बाद पुलिस उसे लेकर मुंबई पहुंची। यहां लकड़ावाला को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे 21 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर भेजा है।

जानकारी के अनुसार, मुंबई पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी एजाज नेपाल के पोखरा से पटना के मीठापुर बस अड्डा आने वाला है। इसके बाद मुंबई पुलिस की टीम पटना पहुंची। मुंबई पुलिस के साथ बिहार एसटीएफ ने मीठापुर बस स्टैंड की घेराबंदी कर दी। एजाज की तस्वीर के साथ सादी वर्दी में पुलिसकर्मी उसकी खोज करने लगे। बताया जाता है कि स्कॉर्पियो में सवार एजाज लकड़ावाला जैसे ही बाईपास से मीठापुर बस स्टैंड की ओर मुड़ा, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में मालूम चला कि वह यहां से दरभंगा भागने की फिराक में था। दोपहर डेढ़ बजे की फ्लाइट से मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम उसे लेकर मुंबई लौट गई।

महाराष्ट्र का मोस्ट वॉन्टेड है एजाज

एजाज लकड़वाला महाराष्ट्र पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी है। कभी किसी दौर में वह छोटा राजन गैंग का मेंबर था। उसके खिलाफ मुंबई और राजधानी दिल्ली में दो दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं। जिनमें रंगदारी, वसूली, हत्या और फिरौती वसूलने के मामले शामिल हैं।

निर्भया गैंगरेप मामले में दोषी विनय शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की है। इसके साथ ही उसने अपने खिलाफ जारी हुए डेथ वारंट पर रोक लगाने की अर्जी भी लगाई है। विनय शर्मा का कहना है कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने फांसी की सजा देने के लिए 22 जनवरी की तारीख तय करने वाला जो फैसला दिया है, उसमें कई खामिया हैं। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि विनय शर्मा की याचिका पर सुनवाई कब होगी। बता दें, दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को ही चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी कर दिया था। चारों दोषियों को 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी दी जाएगी। दोषियों के खिलाफ मृत्यु वारंट जारी करने वाले अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा ने फांसी देने के आदेश की घोषणा की। मामले में मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय सिंह और पवन गुप्ता को फांसी दी जानी है।

पटियाला हाउस कोर्ट के फैसले के बाद दोषियों के वकील ओपी सिंह ने कहा था कि वे सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे। वहीं निर्भया के परिवार के वकीलों की दलील थी कि सभी दोषी तिहाड़ जेल प्रशासन के सामने कह चुके हैं कि वे दया याचिका दायर करना नहीं चाहते हैं। बहरहाल, जानकारों का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट याचिका पर सुनवाई करता है या नहीं, यह सबसे अहम है। यदि सुप्रीम कोर्ट याचिका खारिज करता है तो 22 तारीख को सुबह 7 बजे फांसी देने के आदेश का पालन किया जाएगा। वहीं यदि सुप्रीम कोर्ट याचिका स्वीकार कर लेता है तो फांस टल भी सकती है।

क्या होता है क्यूरेटिव पिटीशन?

क्यूरेटिव पिटीशन दोषियों को कानून की तरफ से मिलने वाला एक अधिकार है। इस पिटीशन को तब दाखिल किया जाता है जब किसी दोषी की राष्ट्रपति के पास भेजी गई दया याचिका और सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी जाती है। ऐसे में क्यूरेटिव पिटीशन दोषी के पास मौजूद अंतिम मौका होता है जिसके द्वारा वह अपने लिए निर्धारित की गई सजा में नरमी की गुहार लगा सकता या सकती है। क्यूरेटिव पिटीशन किसी भी मामले में कोर्ट में सुनवाई का अंतिम चरण होता है। इसमें फैसला आने के बाद दोषी किसी भी प्रकार की कानूनी सहायता नहीं ले सकता है।

उत्तर प्रदेश में बाराबंकी के जहांगीराबाद क्षेत्र में एक दुष्कर्म पीड़िता ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इस मामले में छात्रा के परिजनों का आरोप है कि दुष्कर्म के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई न होने से छात्रा परेशान थी। इस मामले में 2 सितंबर को केस दर्ज किया गया था, लेकिन अभी तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे परेशान होकर दुष्कर्म पीड़िता ने फांसी लगाकर जान दे दी। इस घटना के बाद पुलिस अधीक्षक ने जांच के आदेश दिए हैं।

दरअसल, 22 साल की एलएलबी छात्रा जहांगीराबाद में अपने मौसी के घर पर रहकर पढ़ाई कर रही थी। बुधवार सुबह जब घरवालों ने उसे जगाने के लिए दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। शक होने पर घर वालों ने किसी तरह दरवाजा खोला तो उनके होश उड़ गए। घरवालों ने युवती का शव फंदे से लटका पाया। उसने दुपट्टे को फंदा बनाकर फांसी लगा ली थी। कमरे में से युवती का मोबाइल फोन बरामद हुआ है। पुलिस ने शिकायत दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है।

पिछले महीने उन्नाव में एसपी कार्यालय के बाहर एक 23 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता ने खुद को आग लगा ली थी। बाद में इलाज के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। महिला ने कथित तौर पर आरोप लगाया था कि पुलिस उसकी शिकायत पर दुष्कर्म के आरोपी अवधेश सिंह के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है।

 

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा का कई बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ विरोध कर चुके हैं। ऐसे में दीपिका पादुकोण ने जेएनयू स्टूडेंट्स का समर्थन किया है। दीपिका मंगलवार शाम को जेएनयू पहुंची। JNU छात्रों के साथ दीपिका पादुकोण की इस मुलाकात के बाद सोशल मीडिया पर लोग 2 गुट में बंट गए। एक तरफ जहां कुछ लोग दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक को बॉयकाट करने की बात कहते दिखाई दिए तो वहीं कुछ लोग दीपिका पादुकोण को सपोर्ट करते नजर आ रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर के बाद दीपिका पादुकोण का भी समर्थन मिल गया है।

इस फेहरिस्त में सबसे पहले डायरेक्टर अनुराग कश्यप का नाम शामिल है। उन्होंने दीपिका के सपोर्ट में ट्वीट कर लिखा- किसी भी प्रजाति में फीमेल हमेशा से ही ताकतवर थी, है और रहेगी। छपाक का पहला दिन सारे शो। वो सभी लोग जो हिंसा के खिलाफ खड़े हैं उन्हें बुक माई शो पर जाना चाहिए और इन लोगों को दिखा देना चाहिए। एक साइलेंट बयान देने का समय आ गया है जो सबसे ज्यादा मारक साबित होगा। अनुराग ने दूसरे ट्वीट में लिखा ये नहीं भूलना चाहिए कि दीपिका इस फिल्म की प्रोड्यूसर्स में से भी हैं। उन्होंने ज्यादा रिस्क उठाया है। मेरे दिल में दीपिका के लिए बेहद इज्जत है।

सिंगर विशाल डडलानी ने दीपिका का पूरा समर्थन देते हुए उनके इस कदम को साहसी बताया है। उन्होंने लिखा दीपिका का ऐसी हिम्मत दिखाने के लिए शुक्रिया, ऐसा काम बॉलीवुड के बहुत से लोग नहीं कर पाते। जो लोग छपाक को डाउन ट्रेंड करने की कोशिश कर रहे हैं, वो पहले ही हार चुके हैं। आपकी घृणा बहादुर महिलाओं को रोक नहीं सकती है। #ChapaakIsABLOCKBUSTER! मेरी बातों को याद रखें और इसे ट्रेंड करें।

बता दें कि दीपिका की फ़िल्म छपाक भी इसी हफ़्ते रिलीज़ हो रही है। मेघना गुलज़ार निर्देशित फ़िल्म एक संवेदनशील कहानी है। छपाक एसिड अटैक सर्वायवर लक्ष्मी अग्रवाल की बायोपिक है और उनके संघर्षों को दर्शाती है। फ़िल्म में विक्रांत मैसी भी अहम भूमिका में दिखेंगे।

 

 

ईरान की राजधानी तेहरान स्थित इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास बड़ा विमान हादसा हो गया है। दरअसल, बोईंग 737 जेट एक तकनीकी समस्या के कारण उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया। कहा जा रहा है कि ये विमान युक्रेन का था। इस विमान में 180 यात्री सवार थे। अभी तक यह साफ नहीं है कि हादसे में कितने लोग मारे गए या घायल हुए। ईरान में राहत-बचाव कार्यों में जुटी संस्था रेड क्रीसेंट का कहना है कि हादसे में किसी के बचने की उम्मीद न के बराबर है। उड्डयन विभाग की एक टीम घटनास्थल पर जांच के लिए पहुंच गई। फिलहाल, राहत और बचाव कार्य जारी है।

बताया जा रहा है कि फ्लाइट नंबर पीएस 752 विमान जिस समय हादसे का शिकार हुआ उस समय वह 7900 फीट की ऊंचाई पर था। फ्लाइट रडार 24 वेबसाइट ने एयरपोर्ट के डेटा के आधार पर बताया कि यूक्रेन के बोइंग 737-800 विमान को स्थानीय समयानुसार सुबह 5:15 पर उड़ान भरनी थी। हालांकि, इसे 6:12 पर रवाना किया गया। उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद ही फ्लाइट ने डेटा भेजना बंद कर दिया। एयरलाइन ने इस मामले में अब तक बयान जारी नहीं किया है।

ईरान में महसूस किए गए भूकंप के झटके

विमान हादसे की दर्दनाक घटना के बाद थोड़ी ही देर बाद ईरान के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र के बुशहर स्थित न्यूक्लियर पावर प्लांट के पास भूकंप के झटके महसूस किए गए। हालांकि भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता 4.9 मापी गई। बुशहर स्थित न्यूक्लियर पावर प्लांट कुवैत के नजदीक है और वहां पर पिछले महीने 26 दिसंबर को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

बता दें कि आज सुबह से ही ईरान की घटनाएं मीडिया में छाई हुई हैं। ईरान ने सुबह ही इराक के बगदाद में अमेरिका के दो सैन्य ठिकानों पर मिसाइल अटैक किए हैं। उसके कुछ घंटे बाद ही यूक्रेन का यात्री विमान बोइंग 737 तेहरान एयरपोर्ट के नजदीक क्रैश हो गया। इसके कुछ देर बाद ही ईरान में भूकंप के दो झटके महसूस किए गए।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा को लेकर कुछ सितारों ने सोशल मीडिया पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। अनिल कपूर, आलिया भट्ट, राजकुमार राव, ट्विंकल खन्ना, अनुराग कश्यप और सोनम कपूर आहूजा जैसी फिल्म इंडस्ट्री की बड़ी हस्तियों ने इस घटना को डरावना, दुखद और निर्दयी बताया है। अभिनेत्री आलिया भट्ट ने इंस्टाग्राम पर स्टोरी पर कई पोस्ट किए। आलिया ने इंस्टा स्टोरी पर लिखा- हर दिन परेशान करने वाला है। हो क्या रहा है? जब छात्र, अध्यापक और शांति से रहने वाले नागरिकों पर आए दिन शारीरिक हमला होने लगे तो यह दिखाने की कोशिश बंद कर देनी चाहिए कि सब कुछ ठीक है। हमें सच्चाई से आंखें मिलाना चाहिए।

अनिल कपूर ने कहा, जेएनयू हमले निंदा की जानी चाहिए। मैंने जो देखा वह दुखद, चौंकानेवाला था। वह परेशान करने वाला था। मैं (घटना के बारे में) सोचते हुए पूरी रात नहीं सो पाया। उसकी निंदा की जानी चाहिए। हिंसा से कुछ नहीं मिलने वाला। जिन्होंने भी यह किया है, उन्हें सजा मिलनी चाहिए। साथ ही सोनम कपूर ने ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा घृणित और कायरतापूर्ण चौंकाने वाला। जब आप मासूमों पर हमला करना चाहते हैं तो कम से कम अपना चेहरा दिखाएं। इस सितारों के अलावा तपसी पन्नू, स्वरा भास्कर, निर्देशक अनुभव सिन्हा,अनुराग बसु, ट्विंकल खन्ना, हुमा कुरैशी के अलावा कई सितारों ने ट्वीट करके अपनी प्रतिक्रिया दे चुके हैं।

अनुपम खेर ने अपने ट्वीट में जेएनयू पर हुए हमले को लेकर कहा, उन गुंडों को जल्द से जल्द पकड़ों जिन्होंने जेएनयू में हिंसा फैलाई है। विश्वविद्यालय परिसर में कोई रक्तपात नहीं हो सकता। उन नकाबपोश लोगों की पहचान जल्द से जल्द हो। इस तरह के भयानक घटनाओं के दौरान सामान्य संदिग्धों की अपील को कैमरे के सामने रखने से बचें। वो लोग छात्रों का इस्तेमाल कर रहे हैं। अनुपम खेर का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

बता दें सोमवार की रात बॉलीवुड सि‍तारों तापसी पन्नू, ऋचा, अनुराग कश्यप, अली फजल ने मुंबई गेटवे ऑफ इंडिया पर शांति पूर्ण प्रदर्शन करते हुए JNU हिंसा पर विरोध दर्ज किया। साथ ही जल्द आरोपियों पर जांच की मांग की।

 

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने जेएनयू की छात्रसंघ अध्यक्ष आईशी घोष और 19 अन्य छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। आइशी पर गार्ड के साथ मारपीट और सर्वर रूम में तोड़फोड़ के मामले दर्ज किए गए। ये दोनों ही घटनाएं कैंपस में तोड़फोड़ और मारपीट से दो दिन पहले की थीं। पुलिस ने ये एफआईआर 4 जनवरी को दर्ज की है। पुलिस ने ये एफआईआर जेएनयू प्रशासन की शिकायत पर दर्ज की है। बता दें कि 5 जनवरी को जो JNU में हिंसा हुई उसमें आइशी घोष घायल हो गई थीं। आइशी ने इस हिंसा के लिए एबीवीपी पर आरोप लगाया था।

जेएनयू में हॉस्टल फीस बढ़ोतरी का विरोध कर रहे छात्रों ने शुक्रवार को विश्वविद्यालय का सर्वर बंद कर दिया था। सर्वर बंद होने से विश्वविद्यालय के कामकाज के साथ विंटर सेमेस्टर का रजिस्ट्रेशन भी रुक गया। उधर, विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा कि वह सर्वर बंद करने वाले छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करेगा। जेएनयू प्रशासन के मुताबिक शुक्रवार को दोपहर करीब एक बजे छात्रों का एक गुट चेहरे पर कपड़ा और मास्क लगाकर सेंटर फॉर इन्फॉर्मेशन सिस्टम के कमरे में गया और पावर सप्लाई बंद कर दी। इसके साथ ही सर्वर भी बंद कर दिया। सर्वर बंद होने से रेजिस्ट्रेशन का काम रुक गया। विंटर सेमेस्टर के तहत सभी छात्रों को दोबारा रेजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य है। इसके लिए पांच जनवरी तक आखिरी मौका है। रजिस्ट्रेशन न करने वाले छात्रों का दाखिला रद्द हो जाता है।

बता दें जेएनयू प्रशासन ने 3 जनवरी और 4 जनवरी को वसंत कुंज पुलिस स्टेशन को दो शिकायतें दी थीं। इनमें जबरन सर्वर रूम में घुसने और सुरक्षाकर्मियों को उनकी ड्यूटी से रोकने और बदसलूकी का आरोप लगाया था। इसी शिकायत के आधार पर आइशी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। लेकिन हैरानी की बात ये है कि ये दोनों एफआईआर महज 5 मिनट के अंदर दर्ज की गईं।

 

 

निर्भया के गुनहगारों की फांसी को लेकर पटियाला हाउस कोर्ट में आज सुनवाई होने जा रही है। इन आरोपियों के लिए तिहाड़ में फांसी का फंदा तैयार है। इंतजार है तो अब सिर्फ फांसी की तारीख का जो आज तय हो सकती है। निर्भया की मां ने दोषियों को जल्द फांसी देने की मांग की है। बता दें कि पटियाला हाउस कोर्ट में निर्भया की मां की याचिका पर सुनवाई हो रही है। याचिका में उन्होंने दोषियों को जल्द फांसी देने की गुहार लगाई है। कोर्ट डेथ वारंट को लेकर निर्देश भी जारी कर सकता है।

आज पटियाला हाउस कोर्ट में होने वाली सुनवाई में तिहाड़ जेल प्रशासन रिपोर्ट दाखिल करेगा। पिछली सुनवाई में कोर्ट से मिले निर्देश पर जेल प्रशासन ने दोषियों को सात दिन का वक्त दिया था, ताकि वे मौत की सजा के खिलाफ दया याचिका दाखिल कर सकें। जेल प्रशासन ने नोटिस दिल्ली जेल नियमावली 2018 के नियम 837 के तहत जारी किया था। प्रशासन ने कहा था यदि आपने दया याचिका दाखिल नहीं की है तो सात दिन के भीतर राष्ट्रपति के समक्ष दायर कर सकते हैं। जेल प्रशासन के अनुसार, चारों दोषियों की ओर से जेल प्रशासन को जवाब मिल चुका है। मुकेश की ओर से सबसे अंत में जवाब मिला।

सुनवाई की लंबी तारीख दिए जाने के बाद पीड़िता की मां आशा देवी निराश हो गईं थी। जज ने आशा से कहा था कि मुझे आपके साथ पूरी सहानुभूति है। मैं जानता हूं कि किसी की मृत्यु हो गई है, लेकिन उनके अधिकार भी हैं। हम यहां आपकी बात सुनने के लिए हैं, लेकिन कानून से भी बंधे हैं। सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष ने दोषियों के खिलाफ मौत के वारंट जारी करने के लिए एक आवेदन दायर किया।

बता दें निर्भया मामले में गवाह पर केस दर्ज करने की मांग वाली अर्जी को पटियाला हाउस अदालत ने खारिज कर दिया। अदालत ने कहा इस अर्जी में ऐसा कुछ नहीं है, जिस पर केस दर्ज करने का आदेश दिया जा सके। अदालत में दोषी पवन गुप्ता के पिता हीरा लाल ने अर्जी दायर कर मांग की थी कि इस मामले में गवाह पर केस दर्ज किया जाए, क्योंकि उसने गलत बयानबाजी की है। अर्जी पर सुनवाई करते हुए अदालत ने कहा कि एक गवाह की विश्वसनीयता का अंदाजा इस बात से नहीं लगाया जा सकता कि वह अदालत के बाहर क्या कहता है। किसी भी गवाह को अदालत में शपथ दिलाकर बयान लिया जाता है। गवाह अदालत के बाहर क्या कहता है, इस पर अदालत उसकी विश्वसनीयता पर सवाल नहीं उठा सकती।

 

टाटा मोटर्स की नैनो कार का उत्पादन पूरी तरह से बंद हो गया है। बीते साल में सिर्फ फरवरी के महीने में कंपनी सिर्फ एक नैनो कार बेच पाई। एक साल पहले यानी 2018 के दिसंबर महीने में टाटा मोटर्स ने 82 नैनो कार का प्रोडक्‍शन किया था जबकि 88 नैनो कार बिकी थीं। रतन टाटा का सपना कही जाने वाली नैनो को कंपनी ने अभी औपचारिक रूप से मार्केट से नहीं हटाया है। टाटा ने इस कार को आम आदमी की सपनों की कार बनाकर लॉन्च किया था और कहा था कि सिर्फ 1 लाख की यह कार हर शख्स खरीद सकेगा। लेकिन ऐसा हो नहीं पाया और लाख कोशिशों के बाद इस कार के प्रति लोगों को रुझान खत्म होता गया।

Tata Motors लगातार कहती रही है कि नैनो कार के प्रॉडक्शन और भविष्य को लेकर अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है। हालांकि, कंपनी ने स्वीकार किया है कि Nano का मौजूदा रूप नए सुरक्षा नियमन और BS6 उत्सर्जन मानकों को पूरा नहीं कर पाएगा।

2009 में हुई थी लॉन्चिंग

साल 2009 में रतन टाटा ने टाटा मोटर्स के ''नैनो'' कार को लॉन्‍च किया था। इससे पहले 2008 में कार को ऑटो एक्‍सपो में प्रदर्शित किया गया। इस कार के जरिए रतन टाटा आम लोगों के कार के सपने को पूरा करना चाहते थे। यही वजह है कि रतन टाटा ने लॉन्चिंग के वक्‍त इसे ‘लोगों की कार’ कहा था। इस कार की शुरुआती कीमत 1 लाख रुपये के आसपास थी। इस लखटकिया कार को जोर-शोर से बाजार में उतार गया। टाटा मोटर्स लगातार कहती रही है कि नैनो के भविष्य के बारे में अभी अंतिम फैसला नहीं किया गया है। हालांकि, कंपनी ने स्वीकार किया है कि मौजूदा रूप में नैनो नए सुरक्षा नियमनों और बीएस-छह उत्सर्जन मानकों पर खरी नहीं उतरेगी।

 

 

 

टीवी एक्ट्रेस नेहा पेंडसे ने 5 जनवरी को शार्दुल बयास के साथ शादी कर ली है। उनकी शादी मराठी रीति-रिवाजों से हुई। शादी के दौरान मराठी दुल्हन के रूप में नेहा का पहला लुक सामने आया है। जिसमें वे बेहद खूबसूरत नजर आ रही हैं। शादी से एक दिन पहले नेहा की सगाई हुई। वहीं संगीत सेरेमनी में भी नेहा और शार्दुल ने मस्ती की। इन दोनों फंक्शन की तस्वीरें नेहा ने इंस्टाग्राम पर भी शेयर की हैं। तस्वीरों में नेहा के माता-पिता पूजा करते दिखे थे। नेहा के पति शार्दुल महाराष्ट्र के एक पॉलिटिकल परिवार से ताल्लुक रखते हैं। जब नेहा ने अपनी सगाई की बात इंस्टाग्राम पर साझा की थी तो सभी हैरान रह गए थे। बात अगर नेहा के अपकमिंग प्रोजेक्ट्स की करें तो वे मराठी फिल्म 'जून' में सिद्धार्थ मेनन के साथ नज़र आएंगी।

शादी में नेहा ने पेस्टल पिंक कलर की नऊवारी साड़ी पहनी थी। ट्रैडिशनल नोज रिंग, चंद्राकार टिकली, हरी चूड़ियां और बालों में गजरे के साथ वे दुल्हन के लुक में जंच रही थीं। शार्दुल ने भी लाइट पिंक आउटफिट के साथ पिंक टर्बन पहना था। हर तस्वीर में वे नेहा के साथ बेहद खुश नजर आ रहे हैं।

इससे पहले अपनी शादी के बारे में बात करते हुए नेहा ने कहा था, मैं खुश हूं कि मेरी जिंदगी में ये पड़ाव भी आया। मैं अपने सपनों के राजकुमार के साथ शादी करने जा रही हूं और एक नए परिवार से जुडूंगी। वो लोग बहुत अच्छे हैं और मैं अपनी नई जिंदगी शुरू करने के लिए बहुत उत्सुक हूं। ये मेरी जिंदगी की सबसे अच्छी फीलिंग है। मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करती हूं जो मेरे साथ मेरी खुशियों में शामिल हैं। हनीमून के बारे में नेहा ने बताया था, शार्दुल ने मुझे अंटार्कटिका क्रूज की कुछ तस्वीरें दिखाई हैं। मुझे वो पसंद आया। हो सकता है हम वहीं जाएं।

 

उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के चलते ठंड फिर से बढ़ गई है। इसके चलते मैदानी क्षेत्र में भी ठंड बढ़ने लगी है। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार मंगलवार और बुधवार को आंधी के साथ बारिश होने की संभावना है। बारिश के बाद दिल्ली में धुंध छाए रहने का अनुमान है। साथ ही हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में अगले कुछ दिन तक ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी की भी संभावना जताई, जिससे हवा की ठंडक में ओर ज्यादा बढ़ोतरी होगी। हिमाचल में अगले दो दिन के लिए भारी बारिश और बर्फबारी की नारंगी व पीली चेतावनी जारी की गई है।

राजधानी दिल्‍ली सहित पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान कई स्‍थानों पर मध्‍यम बारिश का अनुमान है। इन राज्‍यों में 6 और 8 जनवरी को बारिश और गरज-चमक के साथ तेज हवाएं चलने के आसार हैं। अगले 24 से 48 घंटों के दौरान आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में हल्की बारिश और गरज के साथ बारिश होने की संभावना है। इस दौरान तेलंगाना का मौसम तकरीबन साफ व सूखा रहेगा।

पहाड़ों में बर्फबारी से बढ़ी ठंड

हिमाचल में मौसम को देखते हुए छह जिलों के लिए सोमवार को आरेंज अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में बर्फबारी के कारण कई मार्ग अब भी बंद हैं। बता दें कि रविवार को प्रदेश में सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा। प्रदेश में एक ही दिन में चार से पांच डिग्री तक तापमान में गिरावट आई है। कुल्लू में शनिवार को हुई बर्फबारी के बाद 10500 फीट की ऊंचाई पर स्थित सरयोलसर झील जम चुकी है।

उत्तर भारत में कोहरे के कारण 26 ट्रेनें लेट

उत्तर रेलवे क्षेत्र में दिल्ली आ रहीं कम से कम 26 ट्रेन रविवार को विभिन्न स्थानों पर घने कोहरे के कारण कम दृश्यता होने से 2 से 5 घंटे देरी के साथ पहुंचीं। उत्तर रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, हैदराबाद-निजामुद्दीन दक्षिण एक्सप्रेस और मुंबई-अमृतसर दादर एक्सप्रेस तय समय से 5 घंटे, पुरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस 4.45 घंटे, कटिहार-अमृतसर एक्सप्रेस 4.15 घंटे, हैदराबाद-नई दिल्ली तेलंगाना एक्सप्रेस और छिंदवाड़ा-दिल्ली सराय रोहिल्ला एक्सप्रेस 4 घंटे की देरी से चल रही थी।

 

हिमाचल प्रदेश के शिमला में आज सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.6 आंकी गई है। हालांकि इससे किसी के हताहत होने या संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की कोई सूचना नहीं है। कम तीव्रता होने से अधिकांश लोगों को भूकंप का एहसास नहीं हुआ। भूकंप का केंद्र शिमला जिले में उत्तर-पूर्व में 10 किमी की गहराई पर था, विभाग ने कहा कि सुबह 5 बजकर 18 मिनट पर जिले के भीतर और आसपास झटके महसूस किए गए।

चार दिन में तीसरी बार भूंकप के झटके

हिमाचल प्रदेश में चार दिन में तीसरी बार भूंकप के झटके लगे हैं। इससे पहले 2 और तीन जनवरी को गुरुवार रात के बाद शुक्रवार सुबह हिमाचल में धरती डोली थी। दोनों ही बार जनजातीय जिले लाहौल स्पीति में भूकंप आया था। बीते शुक्रवार सुबह 10 बजकर 46 मिनट पर लाहौल स्पीति में भूकंप आया था, जिसका रिक्टर स्केल पर पैमाना 3.4 रहा था। वहीं, गुरुवार रात को 7 बजकर 38 मिनट पर लाहौल स्पीति में 3.7 रिक्टर स्केल पर भूकंप आया था। दोनों बार किसी तरह के जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है।

20 दिसंबर को कांगड़ा में आया था भूकंप

हिमाचल के कांगड़ा में 20 दिसंबर शाम 5 बजकर 09 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किये गये थे। इससे पहले कांगड़ा में 17 दिसंबर को भी भूकंप आया था। कांगड़ा में आये भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.0 मापी गयी थी। इसका केंद्र जमीन से 10 किमी. पर था। हालांकि इन झटकों से किसी भी प्रकार के नुकसान या किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

बता दें हिमाचल में यदि वर्ष 1905 की तीव्रता वाला भूकंप आता है तो शिमला, कांगड़ा और मंडी जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान होगा। 114 साल पहले, अप्रैल 1905 में कांगड़ा में भीषण भूकंप आया था। जिसमें बहुत से लोगों की जान चली गयी थीं और कई इमारतें भी ध्वस्त हो गयी थी। इसमें कांगड़ा, नूरपुर, नेरटी जैसे राजाओं के किले और कई ऐतिहासिक प्राचीन इमारतें भी शामिल थीं। चारों तरफ बस भूकंप के कारण हो रही तबाही के निशान दिख रहे थे। कांगड़ा से लाहौर तक आई इस भयंकर त्रासदी में करीब 28 हजार लोगों की मौत हो गयी थी।

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में छात्रों पर हुए हमले की हर तरफ निंदा की जा रही है। इस हिंसा के बाद बॉलीवुड से भी रिएक्शन आने शुरु हुए हैं। जेएनयू हिंसा की इस घटना पर स्वरा भास्कर, तापसी पन्नू, अनुराग कश्यप, शबाना आजमी, रितेश देशमुख, कृति सैनन, अनुभव सिन्हा, अपर्णा सेन, विशाल ददलानी, विशाल भारद्वाज, नेहा धूपिया, कोंकणा सेन शर्मा और आर माधवन जैसे बॉलिवुड सितारों ने अपनी चिंताएं जताई हैं। बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने इस हिंसा को लेकर एक इमोशनल वीडियो पोस्ट किया। स्वरा ने सोशल मीडिया में एक अर्जेंट अपील करके वीडियो शेयर किया है।

स्वरा भास्कर ने इस मामले में हिंसा का आरोप एबीवीपी पर लगाया है। स्वरा ने ट्वीट करते हुए लिखा था-अर्जेंट अपील। सभी दिल्लीवासी, बाबा गंगनाथ मार्ग पर जेएनयू कैंपस के मेन गेट के बाहर बड़ी संख्या में पहुंचे ताकि सरकार और दिल्ली पुलिस पर एक्शन लेने के लिए दबाव बनाया जा सके और एबीवीपी के मास्क वाले गुंडों को जेएनयू कैंपस में तोड़फोड़ और हिंसा से रोका जा सके। स्वरा ने वीडियो में बताया कि उनके पेरेंट्स भी जेएनयू में ही रहते हैं और वे इस खबर को पाकर बेहद शॉक में हैं। स्वरा ने इसके अलावा एक ट्वीट में ये भी बताया कि उनकी मां ने उन्हें एसएमएस पर बताया है कि नॉर्थ गेट के बाहर लोग 'देश के गद्दारों को गोली मारो सालों को' नारे लगा रहे हैं।

उधर, तापसी ने अपने ट्वीट में लिखा, जहां बच्चों का भविष्य संवारा जाता है, उस जगह की ऐसी हालत कर दी गई है। ये हमेशा के लिए गहरा जख्म दे जाएगा। ये कभी ना ठीक हो पाने वाला डैमेज है। ये बेहद दुखदायी है। दिल और दिमाग की रेस में सिर्फ 6 मिनट का अंतर है। दिल अगर पहले काम करना बंद करता है तो उसके रुकने के बाद दिमाग के पास भी सिर्फ 6 ही मिनट हैं, खत्म तो वो भी होगा। हम शायद इस वक्त उस मध्यांतर में हैं।

बता दें कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में रविवार रात को उस वक्त हिंसा भड़क गई जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला किया, परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जिसके बाद प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा। हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष सहित कम से कम 18 लोग घायल हो गये जिन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है।

पहले राजस्थान और अब गुजरात, ये दो ऐसे राज्य जहां इन दिनों सिर्फ चीख पुकारें सुनाई दे रही हैं। इन दो राज्यों में सैकड़ों माँओं की गोद सूनी हो गई है। अभी राजस्थान के कोटा, बूंदी और जोधपुर में बच्चों की मौत का सिलसिला थमा भी नहीं था कि गुजरात के राजकोट में बच्चों के मौत की खबर सामने आई है।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राजकोट के एक सरकारी अस्पताल में पिछले एक महीने में 111 बच्चों की मौत हो चुकी है। यहां के सिविल अस्पताल के चिल्ड्रन हॉस्पिटल की हालत इतनी खराब है कि मरने वाले सभी बच्चे नवजात थे। 111 बच्चों में से 96 प्री-मैच्योर डिलीवरी से हुए थे और कम वजन वाले थे। इनमें से 77 का वजन तो डेढ़ किलो से भी कम था। हॉस्पिटल के एनआईसीयू में ढाई किलो से कम वजन वाले बच्चों को बचाने की व्यवस्थाएं और क्षमता ही नहीं है।
अगर राजकोट के इस अस्पताल में सिर्फ पिछले एक सालों (2019) की बात करें तो यहां 2019 में 4071 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें 1278 बच्चों की मौत हो गई थी।

 

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की तरफ से प्रस्तावित विभागों के बंटवारे की सूची पर अपनी अंतिम मंजूरी दे दी है। इस कड़ी में डिप्टी सीएम अजित पवार को वित्त मंत्रालय सौंपा गया है। इसके अलावा एनसीपी के अनिल देशमुख को गृह मंत्री बनाया गया है। उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को पर्यटन और पर्यावरण विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। कांग्रेस नेता बाला साहेब थोराट को राजस्व विभाग और अशोक चव्हाण को पीडब्ल्यूडी मंत्री बनाया गया है। इसके अलावा शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे को शहरी विकास मंत्रालय मिला है।

एनसीपी को मिले ये विभाग

अजित पवार- वित्त और योजना मंत्रालय, मराठी भाषा का मंत्रालय
छगन भुजबल- खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति
जीतेंद आव्हाद- आवास
राजेश टोपे- स्वास्थ्य
धनंजय मुंडे- सामाजिक न्याय
अनिल देशमुख- गृह विभाग
दिलीप वल्से पाटिल- आबकारी और श्रम मंत्रालय
राजेंद्र शिंगणे- खाद्य एवं औषधि प्रशासन
जयंत पाटिल- सिंचाई विभाग

शिवसेना के मंत्री और उनके विभाग

आदित्य ठाकरे - पर्यावरण, पर्यटन
एकनाथ शिंदे - नगरविकास
सुभाष देसाई - उद्योग
अनिल परब - परिवहन,संसदीय कार्य
शंकरराव गडाख - जल संरक्षण
गुलाब राव पाटिल – जलापूर्ति
संजय राठोड़ - वन
संदीपान भुमरे - रोजगार हमी
उदय सामंत - उच्च व तकनीकी शिक्षा
दादा भुसे - कृषि

कांग्रेस के पास आए ये विभाग

नितिन राउत- ऊर्जा
यशोमति ठाकुर- महिला और बाल कल्याण
विजय वड्डेटीवार- ओबीसी कल्याण
असलम शेख- कपड़ा, बंदरगाह
अशोक चव्हाण- लोक निर्माण मंत्रालय (सार्वजनिक उपक्रमों को छोड़कर)
नवाब मलिक- अल्पसंख्यक विकास और औकफ, कौशल विकास और उद्यमिता
बालासाहेब थोराट- राजस्व
सुनील केदार- डेयरी विकास व पशुसंवर्धन
अमित देशमुख- स्वास्थ्य, शिक्षा और संस्कृति
वर्षा गायकवाड़- स्कूली शिक्षा
केसी पाडवी - आदिवासी विकास

 

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दरअसल, कैलाश विजयवर्गीय सहित 350 लोगों के खिलाफ मध्य प्रदेश के इंदौर में धारा 144 तोड़ने के मामले में केस दर्ज किया गया है। बता दें कि इससे पहले इंदौर में विरोध प्रदर्शन के दौरान बीजेपी नेता का एक विडियो सामने आया था, जिसमें वह अधिकारियों को धमकाते नजर आ रहे थे। विडियों में विजयवर्गीय यह कहते सुनाई दिए कि संघ के पदाधिकारी यहां हैं नहीं तो वह शहर में आग लगा देते। इस बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी विजयवर्गीय पर निशाना साधा है। दिग्विजय सिंह ने विजयवर्गीय पर तंज कसते हुए कहा कि कलाकारजी हताश और भटके हुए हैं। बचपन से ही उन्होंने हिंसा और नफरत का रास्ता सीखा है। जिसकी वह राजनीति करते हैं। जिस किसी ने कानून के खिलाफ कहा है उसपर कार्रवाई होनी चाहिए।

शनिवार को विधायक संजय शुक्ला, कार्यकारी शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपा। कांग्रेस का कहना है कि विजयवर्गीय राज्य की शांति को भंग करना चाहते हैं। वे उत्तेजना फैलाकर प्रदेश शासन के खिलाफ विध्वंस की स्थिति पैदा करना चाह रहे हैं। इसके अलावा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इंदौर में शनिवार को माचिस बांटी। जिसपर कैलाश विजयवर्गीय की फोटो छापकर लिखा गया था कि यह शहर में आग लगाने के काम आती है।

पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर पर भाजपा आग बबूला हो गई है। नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा ने कहा कि पहले से पत्र दिया गया था, जिसमें साफ लिखा था कि कार्यकर्ताओं के साथ प्रमुख नेता मिलने आना चाहते हैं। जानकारी लगी थी कि संभागायुक्त घर पर ही हैं, इसलिए वहां गए। कुछ देर में वापस भी लौट गए। कांग्रेस के दबाव में प्रशासन ठीक नहीं कर रहा।इस तरह की कार्रवाई करेंगे तो शासन-प्रशासन को परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए। सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि अगर जनता और कार्यकर्ताओं की बात रखने पर भी एफआईआर होने लगी तो फिर क्या कह सकते हैं। प्रशासन का यह तरीका गलत है। विधायक रमेश मेंदोला ने कहा कि ये प्रजातांत्रिक अधिकारों का हनन है। लोकतंत्र का गला दबाने का प्रयास किया जा रहा है। अधिकारियों से मिलना जनप्रतिनिधियों को अधिकार है।

 

ईरान ने कुद्स फोर्स के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद युद्ध का ऐलान कर दिया है। ईरान के क़ौम स्थित प्रमुख मस्जिद पर लाल रंग का झंडा फहराया गया है। बता दें कि इस तरीके के हालात में झंडा फहराना का मतलब होता है कि युद्ध के लिए तैयार रहें या युद्ध आरंभ हो चुका है। रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसा पहली बार नहीं है कि ईरान ने इस तरह से मस्जिद पर लाल झंडा फहराया है।
यहां कौम में मस्जिद पर लाल झंडा फहराने के साथ लाउडस्पीकर पर दुआ मांगते सुना गया, 'या अल्लाह, अपने रखवाले को फिर से दुनिया पर भेजो।' इसे पैगंबर मेहदी के दोबारा प्रकट होने की दुआ के रूप से देखा जा रहा है, जिनके बारे में इस्लामी मान्यता है कि आखिरी समय में वह धरती से बुराई के अंत के लिए दोबारा प्रकट होंगे। बता दें शनिवार को ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला अली खामेनेई ने सुलेमानी के परिवारवालों से मुलाकात की थी। इसी दौरान उन्होंने उनके परिवार को भरोसा दिलाया कि जल्द ही सुलेमानी की मौत का बदला लिया जाएगा।

सुरक्षा बलों को सचेत किया

उधर, इराक में हशद अल शाबी सैन्य नेटवर्क का एक कट्टर ईरान समर्थक धड़ा काताएब हिजबुल्ला ने इराकी सुरक्षा बलों को सचेत किया है कि वे सैन्य ठिकानों में अमेरिकी बलों से दूर रहें। समूह ने कहा कि हम देश में सुरक्षा बलों से कहते हैं कि वे रविवार को शाम पांच बजे से अमेरिकी ठिकानों से कम से कम 1000 मीटर दूरी पर रहें। समूह के यह बयान देने से पहले शनिवार को अमेरिकी दूतावास के निकट और अमेरिकी बलों की तैनाती वाले एक ठिकाने पर मोर्टार के गोले और रॉकेट दागे गए थे।

बगदाद में हमला

बता दें कि शनिवार रात बगदाद में अमेरिकी दूतावास के बाहर रॉकेट से हमला किया गया। माना जा रहा है कि ये हमला ईरान की ओर से किया गया। ये हमला अमेरिकी दूतावास के नजदीक और अमेरिकी एयरबेस पर पर हुआ। दो रॉकेट दूतावास के नजदीक गिरे।

 

 

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। दरअसल, क्रिसमस के मौके पर सपना चौधरी की कार का एक्सीडेंट हो गया था। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए केस दर्ज कर लिया है। सपना की ओर से पहले नोटिस का जवाब नहीं देने पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने बताया कि दुर्घटना में सपना चौधरी का वाहन भी शामिल था। सपना चौधरी के एसयूवी वाहन ने 25 और 26 दिसंबर की दरम्यानी रात को हीरो हौंडा चौक फ्लाईओवर के नीचे एक मिनी ट्रक को गलत तरीके से ओवरटेक किया था। जिसके बाद ट्रक ने सपना चौधरी के वाहन को पीछे से टक्कर मारी थी।

कार एक्सीडेंट मामले में जब सपना की कार का उस जगह होने की पुष्टी हुई तब पुसिल सपना को नाटिस भेजा। इसके बाद जब सपना की तरफ से उस नोटिस का जवाब नहीं आया तब उनपर नोटिस का जवाब नहीं देने पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। सपना ने अपने एक बयान में कहा था कि एक्‍सीडेंट के वक्‍त वह गाड़ी में नहीं थीं और वह इस मामले में किसी तरह की FIR नहीं चाह रही हैं। पहले इस हादसे में सपना चौधरी के बाल-बाल बचने की बात कही गई थी। सपना ने ये बयान दिया था कि एक्सीडेंट के वक्त वह गाड़ी में नहीं थीं और वह इस मामले में किसी तरह की FIR नहीं चाह रही थीं। हादसे के वक्त कार में एक चालक व अन्य युवक था जिन्होंने हादसे की शिकायत पुलिस को नहीं दी थी।

वर्क फ्रंट की बात करें तो सपना इन दिनों लगातार डांस परफॉर्मेंस दे रही हैं। सोमवार को सपना ने बढ़ापुर के भाजपा विधायक कुंवर सुशांत सिंह के पुत्र कुंवर शिवादित्य सिंह के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में शिरक्त की थी। सपना को मंच पर देखते ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई थी। जब लोगों को इसके बारे में पता चला कि उनके इलाके में सपना आ रही हैं तो काफी संख्या में उनके प्रशंसक यहां पहुंचे थे।

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मध्य प्रदेश के इंदौर को आग के हवाले करने की धमकी दी है। दरअसल, बीजेपी नेता इंदौर के डिविजनल कमिश्नर आकाश त्रिपाठी से मिलना चाहते थे, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। जिसके बाद कैलाश विजयवर्गीय आपा खो बैठे और इंदौर को आग के हवाले करने की धमकी दे डाली। इस बयान के बाद कांग्रेस ने उनपर निशाना साधा है। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर पूछा कि क्या इंदौर इनकी जागीर है। कांग्रेस ने भाजपा को भारत जलाओ पार्टी बताया।

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा कि भारत जलाओ पार्टी —क्या इंदौर इनकी जागीर है, जो ये पूरे शहर को आग लगा देंगे..! लगता है माफियामुक्त मप्र अभियान से इनकी भी आमदनी प्रभावित हुई है..! कैलाश जी,जब कभी इस तरह की उपद्रवी सोच या शहर जलाने का इरादा मन में आये तो कमलनाथ जी का ध्यान किया करिये, कईयों के भूत उतर गये हैं।

कांग्रेस ने कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश का निगमकर्मी को बल्ला मारते हुए वीडियो पोस्ट किया और लिखा कि कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र निगम अधिकारी को बल्ले से पीटते हुये। बेटे की पिक्चर पहले रिलीज़ हुई थी, बाप का डायलॉग कल जारी हुआ है। आखिर कौन हैं ये लोग, किस घमंड-अभिमान में जी रहे हैं, लोकतंत्र की आड़ में छिपे इन नकाबपोशों से जनता का भला कैसे मुमकिन है...? कभी सोचना जरूर..!

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय की गिनती बीजेपी के बड़े नेताओं में होती है। उनके बेटे आकाश विजयवर्गीय भी अधिकारी को मारने के बाद चर्चा में आए थे। इंदौर में एक जर्जर इमारत को गिराने पहुंची निगम की टीम के अधिकारी पर आकाश विजयवर्गीय ने बैट चला दिया था। घटना के बाद आकाश विजयवर्गीय को पुलिस ने ना केवल गिरफ्तार किया था बल्कि करीब 5 दिनों तक जेल में रहना पड़ा था। इसके बाद भोपाल की विशेष अदालत से आकाश विजयवर्गीय की जमानत हुई थी।

 

अमेरिका ने इराक में लगातार दूसरे दिन एयर स्ट्राइक की है। उत्तरी बगदाद में ताजी रोड के पास किए गए इस हमले में अब तक 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन अन्‍य घायल हो गए हैं। यह सड़क उस तरफ जाती है जहां पर गैर अमेरिकी सेनाओं का बेस है। अमेरिका ने इराक में अपनी दूसरी एयर स्‍ट्राइक में फिर एक हश्‍द कमांडर को मार गिराया है। ताजा अमेरिकी एयर स्‍ट्राइक में मारे गए लोग ईरान समर्थक मिलिशिया हश्‍द अल-शाबी के बताए जा रहे हैं। इराक के सरकारी अधिकारियों का कहना है कि हवाई हमलों में उन दो कारों को निशाना बनाया गया जिसमें ईरान समर्थित लड़ाके सवार थे। अधिकारियों के अनुसार इस हमले में हशद-अल-साबी के छह लड़ाके मारे गए हैं। फिलहाल हमले में मारे गए लड़ाकों की पहचान नहीं हुई है। रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका ने इस हमले को इराक के हशद-अल-साबी के कमांडर के काफिले को निशाना बनाकर किया था।

हशद-अल-साबी जिसे पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्स (PMF) के नाम से भी जाना जाता है ने कहा है कि जिस काफिले को निशाना बनाया गया है उसमें उसका कोई सीनियर कमांडर मौजूद नहीं था। इस संगठन ने कहा है कि इस हमले में कुछ डॉक्टर मारे गए हैं। वहीं रॉयटर्स ने कहा है कि हमले में तीन लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं। जिस ताजी रोड के पास हमला हुआ है वो सड़क जिस ओर जाती है उसके कुछ ही दूर पर ब्रिटेन और इटली की सेनाओं का डेरा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार देर रात ईरानी जनरल के खिलाफ कार्रवाई पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि जनरल कासिम सुलेमानी को मारने का फैसला ईरान और अमेरिका के बीच संभावित युद्ध रोकने के लिए लिया गया, न कि शुरू करने के लिए। उन्होंने कहा कि अमेरिकी सेना के अचूक हमले से दुनिया के नंबर एक आतंकी जनरल सुलेमानी की मौत हो गई। इसके साथ ही क्षेत्र में आतंक का राज खत्म हो गया। उन्होंने कहा कि ईरानी जनरल अमेरिकी राजनयिकों और सैन्यकर्मियों पर हमलों की साजिश रच रहा था, लेकिन हमने उसे पकड़ लिया और मार गिराया।

 

 

अमेरिका ने बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक की। इस एयर स्ट्राइक में इलाइट कुड्स फोर्स के हेड ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी समेत 9 लोगों की मौत हो गई है। रिपोर्टों में कहा गया है कि सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था तभी एक रॉकेट हमले की जद में आ गया। हमले में ईरान समर्थित मिलिशिया पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्स के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस की भी मौत हो गई। ईरान समर्थित मिलिशिया के प्रवक्ता अहमद अल-असदी ने कहा, 'मुजाहिदीन अबू महदी अल-मुहांडिस और कासेम सोलेमानी को मारने के लिए अमेरिकी और इजरायली दुश्मन जिम्मेदार हैं।

अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विदेश में अमेरिकी कर्मियों की सुरक्षा के लिए स्पष्ट रक्षात्मक कार्रवाई करते हुए ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर कासिम सुलेमानी को मारने का आदेश दिया था। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, जनरल सुलेमानी सक्रिय रूप से इराक में अमेरिकी राजनयिकों और सैन्य कर्मियों पर हमले की सक्रिय रूप से योजना बना रहा था। जनरल सुलेमानी और उसका कुद्स फोर्स सैकड़ों अमेरिकियों और अन्य गठबंधन सहयोगियों के सदस्यों की मौत और हजारों को जख्मी करने के लिए जिम्मेदार हैं। सुलेमानी की मौत के बाद ट्रंप ने बिना किसी विस्तृत जानकारी के अमेरिकी झंडा ट्वीट किया।

ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने भी चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका को उसके दुस्साहस की परिणीतियों का सामना करना होगा। जरीफ ने अमेरिकी कार्रवाई को अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद की संज्ञा दी। वहीं, ईरान ने स्विट्जरलैंड के राजदूत को तलब कर लिया जो इस मामले में ईरान में अमेरिका का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। जरीफ ने ट्वीट किया अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद की अमेरिकी कार्रवाई बेहद खतरनाक और मूखर्तापूर्ण उकसावा भरी है। उसने दाएश, अल नुसरा, अल कायदा एवं अन्य संगठनों से लड़ने वाली सबसे प्रभावी ताकत जनरल सुलेमानी को निशाना बनाकर और उनकी हत्या कर दी। उन्होंने आगे लिखा अमेरिका अपने दुस्साहस के परिमाणों के लिए खुद जिम्मेदार होगा।

नागरिकता संशोधन कानून और नेशनल रजिस्टर फोर सिटीजन के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिये केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज जोधपुर में एक रैली को संबोंधित करेंगे। प्रदेश में कांग्रेस के शांति मार्च को गहलोत के गढ़ जोधपुर में अमित शाह की रैली के जरिए करारे जवाब के रूप में देखा जा रहा है। वहीं, मुख्यमंत्री गहलोत भी शाह की चुनौती का मुकाबला करने जोधपुर आ रहे हैं। पूरे दिन उनका शहर में व्यस्त कार्यक्रम है। ऐसे में कड़ाके की सर्दी के बीच जोधपुर में राजनैतिक गरमाहट भरा माहौल देखने को मिलेगा।

राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा कि जन जागरण अभियान के तहत भाजपा अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह एक बड़ी रैली को संबोंधित करेंगे। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में 50 हजार से भी ज्यादा लोग शिरकत करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी ने शाह की रैली के लिए जोधपुर को इसलिए चुना है क्योंकि जोधपुर और उसके आसपास पाकिस्तान से आए बडी संख्या में हिन्दू विस्थापित रहते है और वे CAA के समर्थन के लिए इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

दोपहर 12 बजे पहुंचेंगे शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दोपहर 12 बजे तक जोधपुर पहुंचेंगे। शाह यहां प्रताप नगर स्थित आदर्श विद्या स्कूल में आमसभा को संबोधित करेंगे। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी यहां मौजूद रहेंगे। इस आम सभा में पाक हिंदू विस्थापितों का जमावड़ा रहेगा।

बता दें, इससे पहले अमित शाह ने CAA के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों को ज्यादातर राजनीतिक करार दिया था। उन्होंने कहा था कि कोई भी भारतीय इस नए कानून के चलते अपनी नागरिकता नहीं गंवाएगा। इसके साथ ही अमित शाह ने कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को CAA में एक भी ऐसा प्रावधान दिखाने की चुनौती दी थी जिसके तहत किसी की भारतीय नागरिकता जा रही हो। उन्होंने कहा मैं इस बात से सहमत हूं कि ज्यादातर राजनीतिक प्रदर्शन हैं। कुछ लोग गुमराह हैं, लेकिन हम उन्हें समझाने का प्रयास कर रहे हैं। गृह मंत्री ने कहा कि CAA के तहत सरकार पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के उत्पीड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देना चाहती है।

अमेरिका ने अपनी एयर लाइंसों को एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी में सभी अमेरिकी निजी, व्यावसायिक और सरकारी एयरलाइन कंपनियों और विमानों के पायलटों को चेताया है कि वे पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल करने से बचे। अमेरिका ने कहा कि पाकिस्तान चरमपंथियों और आतंकवादी समूहों द्वारा हमारी एयरलाइंस पर हमला हो सकता है। यह परामर्श एक जनवरी, 2021 तक के लिए वैध रहेगा। यह एडवाइजरी तब जारी हुई है जब दो दिन पहले इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर कई प्रदर्शनकारियों ने हमला कर दिया था।

विशेष सावधानी बरतने को कहा

प्रशासन ने परामर्श में कहा कि किसी आकस्मिक स्थिति या भूलवश अगर इस्तेमाल करते भी हैं तो विशेष सावधानियां बरतें। पाकिस्तान के हवाई अड्डों पर न रूके और वहां के हवाई क्षेत्र में कम ऊंचाई पर उड़ान न भरे। कम ऊंचाई पर उड़ान के दौरान विमानों को आतंकी हमले और अपहरण का खतरा है।

पुरानी घटनाओं का हवाला दिया

परामर्श में पिछले वर्षों की कईं घटनाओं का उल्लेख किया गया है। परामर्श में 2014 से लेकर 2019 के बीच पाकिस्तान में सिविल एविएशन को निशाना बनाने की आतंकियों की कोशिशों का भी जिक्र किया गया है। बता दें कि 2019 में इस्लामाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे, और 2015 में बलूचिस्तान और पेशावर में पाकिस्तानी वायुसेना के अड्डों पर आतंकी हमलों का भी जिक्र किया गया है।

डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को ठहराया था जिम्मेदार

बगदाद में दूतावास पर हमले के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इराक में अमेरिकी दूतावास पर ईरान हमले करवा रहा है। बता दें कि पिछले साल फरवरी में बालाकोट में भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान का एयरस्पेस सुर्खियों में था। पाकिस्तान ने 16 जुलाई को करीब 5 महीने बाद अपना एयरस्पेस भारत के लिए खोला था। बालाकोट में भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने बौखलाहट में अपना एयरस्पेस पिछले साल 26 फरवरी को बंद कर दिया था। पाकिस्तान ने पिछले साल अक्टूबर में पीएम मोदी को सऊदी अरब जाने के लिए भी अपना एयरस्पेस इस्तेमाल करने से मना कर दिया था।

 

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या ने एक्ट्रेस नताशा स्टेनकोविक से सगाई कर ली है। हार्दिक ने इंस्टाग्राम पर रोमांटिक पोस्ट किया और सगाई की खबर सभी प्रशंसकों को दी। हार्दिक ने नताशा को अंगूठी पहनाते हुए एक वीडियो भी शेयर किया है। इस वीडियो को शेयर करते हुए हार्दिक ने लिखा, 'मैं तेरा-तू मेरी, जाने सारा हिंदुस्तान'। साथ ही अपनी सगाई की तारीख 01-01-2020 भी लिखी। हार्दिक के इस पोस्ट पर कई सेलेब्रिटीज ने कमेंट कर उन्हें बधाई दी है। इनमें क्रिकेटर श्रेयस अय्यर, कुलदीप यादव और यजुवेंद्र चहल शामिल हैं।

हार्दिक पंड्या और नताशा स्टानोविक को कई बार साथ में देखा गया है। दोनों एक दूसरे को अच्छा दोस्त बताते थे। अब दोनों सगाई कर चुके है। नताशा ने प्रकाश झा की फिल्म 'सत्याग्रह' से डेब्यू किया था । इसके अलावा साल 2014 में नताशा बिग बॉस 8 की कंटेस्टेंट भी रह चुकी हैं। नताशा करीब 1 महीने तक बिग बॉस के घर में रही थीं। साल 2012 में नताशा ने एक्टिंग में अपना करियर शुरू किया था। शुरू में नताशा ने कई ब्रांड्स के लिए ऐड शूट किए।

हॉर्दिक के साथ जिंदगी बिताना का वादा कर चुकीं नताशा बीते दिनों 'नच बलिए 9' के दौरान चर्चा में रही थीं। नताशा इस रियलिटी शो में एक्स ब्वॉयफ्रेंड अली गोनी के साथ आई थीं। शो के दौरान इन दोनों ने एक साथ डांस किया और अपनी दमदार केमिस्ट्री से दर्शकों के दिलों पर भी राज किया। शो के दौरान इन दोनों ने अपने रिश्ते के बारे में भी खुलकर बात की थी। अली गोनी एकता कपूर के मशहूर सीरियल 'ये हैं मोहब्बतें' में रमन भल्ला के छोटे भाई रोमी का किरदार निभा चुके हैं। इस बार 'नच बलिए सीजन 9' की थीम एक्स कपल या फिर कपल थीम थी। इसी वजह से नताशा और अली ने इस शो में बतौर एक्स कपल हिस्सा लिया था। बॉलीवुड शादी डॉट कॉम के अनुसार अली गोनी और नताशा ने एक दूसरे को कई साल तक डेट किया। इसके बाद साल 2015 में अलग हो गए।

 

 

दिल्ली के पीरागढ़ी इलाके में एक फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। आग लगने के कारण पूरी इमारत ढह गई। जिसमें कई लोगों के दबने की खबर सामने आ रही है। इसके अलावा कुछ दमकलकर्मी भी इसमें घायल हुए हैं। आग की सूचना पाकर मौके पर फायर ब्रिगेड की 35 गाड़ियां पहुंची हैं। इसके अलावा NDRF की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी है। फिलहाल ये दोनों आग पर काबू पाने में जुटी हैं।

दिल्ली फायर सर्विस के डायरेक्टर अतुल गर्ग ने बताया कि सुबह चार बजकर 23 मिनट पर पीरागढ़ी के उद्योग विहार की फैक्ट्री में आग लगने की सूचना मिली। इसके बाद दमकल की सात गाड़ियां मौके पर पहुंची। इस दौरान एक ब्लास्ट हुआ और इमारत गिर गई।

वर्ष 2019 में दिल्ली में आग की तकरीबन दर्जनभर घटनाएं सामने आई थीं, जिसमें 100 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। बड़ी आग की कड़ी में अनाज मंडी में लगी आग में 40 से अधिक तो 12 फरवरी 2019 को करोलबाग इलाके में गुरुद्वारा रोड स्थित होटल अर्पित पैलेस में लगी आग में 17 लोगों की जान चली गई थी।

 

पाकिस्तान अपनी कायराना हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। एक बार फिर से पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम का उल्लंघन किया। पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तानी फौज ने फायरिंग की और मोर्टार भी दागे। भारतीय सेना भी पाक सेना को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। बुधवार रात से ही दोनों ओर से गोलीबारी जारी है। बता दें पुंछ जिले में बुधवार को पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई, जिसमें बीएसएफ का एक जवान घायल हो गया। इससे पहले जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के नौशेरा में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान सेना के दो जवान शहीद हो गए।

गांदरबल में लश्कर का ओजीडब्ल्यू पकड़ा

जानकारी के अनुसार उधर, पुलिस ने बुधवार को गांदरबल में सक्रिय लश्कर-ए-ताईबा के एक ओवरग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार किया है। वर्ष 2020 में वादी में किसी आतंकी या उसके किसी सहयोगी के पकड़े जाने की यह पहली घटना है। एसएसपी गांदरबल खलील पोसवाल ने बताया कि पकड़ा गया ओवरग्राउंड वर्कर गुंड-गांदरबल का रहने वाला रईस अहमद लोन है। वह गांदरबल में सक्रिय लश्कर के आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकानों, पैसे और सिम कार्ड का बंदोबस्त करता था। वह आतंकियों के लिए मुखबिरी के अलावा उन्हें हथियारों संग एक जगह से दूसरी जगह सुरक्षित पहुंचाने का काम भी करता था। गत नवंबर में कुल्लन गांदरबल में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए गए पाकिस्तानी आतंकी से वह लगातार संपर्क में था।

बता दें पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में लगातार अशांति फैलाने की कोशिश कर रहा है। जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद से ही पाकिस्तान फौज में बेचैनी है। यही वजह है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज से कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। जहां वह श्री श्री शिवकुमार स्वामीजी के एक स्मारक संग्रहालय की आधारशिला रखने के क्रम में एक पट्टिका का अनावरण भी करेंगे। साथ ही इस यात्रा के दौरान प्रार्थना में शामिल होने के साथ-साथ इस मठ में पौधारोपण भी करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस बात की जानकारी दी है। इस दौरान कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और सिद्धलिंगेश्वर स्वामी समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित भी करेंगे।

किसानों को नए साल का तोहफा

इसके अलावा प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की तीसरी किस्त भी किसानों को दी जाएगी। इससे लगभग 6 करोड़ लाभार्थी लाभान्वित होंगे। प्रधानमंत्री विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से पीएम किसान के तहत लाभार्थियों को प्रमाण पत्र भी सौंपेंगे। बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने इस योजना की शुरुआत की थी, जिसके जरिए किसानों को छह हजार रुपये सालाना की मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री मोदी आज लगभग 12 हजार करोड़ रुपये की धनराशि को जारी करेंगे।

यहां वह तमिलनाडु के चुनिंदा किसानों को गहरे समुद्र में मछली पकड़ने के लिए जहाज और उसका ट्रांसपोंडर सौंपेंगे। ट्रांसपोंडर को मछली पकड़ने वाले जहाजों में लगाया जाता है। इसके जरिये नियत फ्रिक्वेंसी पर संवाद किया जा सकता है। वह कर्नाटक के चुनिंदा किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) भी सौंपेंगे।

डीआरडीओ युवा वैज्ञानिक लेबोरेटरी का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

पीएम मोदी तुमकुर में एक सार्वजनिक सभा में कृषि कर्मण पुरस्कार वितरित करेंगे। प्रधानमंत्री प्रगतिशील किसानों के लिए कृषि मंत्री के कृषि कर्मण पुरस्कार भी देंगे। साथ ही रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी अनुसंधान क्षमताओं को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच डीआरडीओ युवा वैज्ञानिक लेबोरेटरी का उद्घाटन करेंगे। पीएम मोदी पांच डीआरडीओ युवा वैज्ञानिक प्रयोगशालाएं राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

 

नये साल पर भारतीय रेलवे ने किराए में बढ़ोतरी कर लोगों को तगड़ा झटका दिया है. नया रेल किराया आज से लागू होगा. लंबी दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों पर यात्री किराये में बढ़ोतरी का बड़ा असर होगा.रेलवे ने 4 पैसे प्रति किलोमीटर तक यात्री किराए में बढ़ोतरी की है.रेलवे ने मेल और एक्सप्रेस ट्रेन के लिए 2 पैसे प्रति किलोमीटर और एसी ट्रेन के किराए में 4 पैसे प्रति किमी की बढ़ोतरी की है. नए साल की पूर्व संध्या पर रेल यात्री किराया बढ़ाए जाने को लेकर सीपीआई नेता सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है.उन्होंने ट्वीट कर सरकार के इस फैसले की आलोचना की और कहा कि यह सरकार का लोगों को न्यू ईयर गिफ्ट है

जम्मू कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान दो जवान शहीद होने की खबर है। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने घात लगाकर जवानों पर हमला बोला। फिलहाल पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली गई है और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। दरअसल, अधिकारियों ने बताया कि घुसपैठियों को खारी थरयाट जंगल में उस समय रोका गया जब वे पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से भारत में घुसने की कोशिश कर रहे थे।

सूत्रों के मुताबिक, मुठभेड़ स्थल पर 3 आतंकियों की मौजूदगी है। कुछ दिनों पहले लाइन ऑफ कंट्रोल के जरिए आतंकवादियों ने घुसपैठ की होगी। मंगलवार को कुछ स्थानीय लोगों ने क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधि देखा था। स्थानीय लोगों की सूचना पर सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान शुरू किया। इस दौरान सुरक्षा बलों पर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। अभी भी रूक-रूक कर फायरिंग हो रही है। गौरतलब है कि एलओसी पर कलाल से सटे दराट/मंगलादेई क्षेत्र में तीन संदिग्ध देखे जाने पर भारतीय सेना और पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया।

जम्मू में भारतीय सेना के जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने एक बयान में बताया, ‘‘नौशेरा सेक्टर में घेराबंदी और तलाश अभियान के दौरान सेना के दो सैनिक शहीद हो गए। अभियान अब भी चल रहा है और विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।’’ अधिकारियों ने बताया कि संदिग्ध आतंकवादियों की गतिविधि की सूचना मिलने के बाद तलाशी अभियान शुरू किया गया। उन्होंने बताया कि घुसपैठियों ने सैनिकों पर गोलीबारी शुरू कर दी और भीषण मुठभेड़ के दौरान दो जवान शहीद हो गए। अधिकारियों ने बताया कि इलाके में बड़ा अभियान चलाया जा रहा है।

 

 

 

 

जनरल बिपिन रावत ने देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के तौर पर पदभार ग्रहण कर लिया है। इससे पहले सेना ने आज रक्षा मंत्रालय (साउथ ब्लॉक) में उनको गार्ड ऑफ आनर दिया। उन्होंने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हम तीनों सेनाओं को एकजुट करने का प्रयास करेंगे। तीनों सेनाएं एक टीम की तरह काम करेंगे। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को दिए गए कार्य के अनुसार हमें एकीकरण को बढ़ाकर बेहतर संसाधन प्रबंधन करना होगा। सेना राजनीति से दूर रहती है। सेना सरकार के आदेश के तहत काम करती है। तीनों सेनाओं के लिए मेरा व्यवहार एक जैसा होगा।

स्पेशल कोर्ट ने भारतीय स्टेट बैंक और कई अन्य बैंकों को विजय माल्या की जब्त संपत्ति को बेचकर कर्ज वसूली करने की इजाजत दे दी है। विजय माल्या के वकीलों ने आपत्ति की थी कि यह केवल डेट रिकवरी ट्रिब्यूनल ही तय कर सकता है। गौरतलब है कि इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने कहा था कि उसे आरोपी के खिलाफ की जाने वाली वसूली में कोई आपत्ति नहीं है। आपको बता दें कि शराब कारोबारी विजय माल्या पर ब्रिटेन में बैंकों के 9000 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुकाने का मामला चल रहा है। इसके अलावा माल्या पर जालसाजी और मनी लॉन्ड्र‍िंग का आरोप भी है।

लंदन में माल्या पर आना है फैसला

गौरतलब है कि दिसंबर महीने में विजय माल्या मामले में लंदन कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। कोर्ट जनवरी में विजय माल्या पर फैसला सुना सकता है। वहीं, विजय माल्या पर दायर दिवालिया घोषित होने की याचिका खारिज भी हो सकती है या यह याचिका रद्द की जा सकती है या जब तक भारतीय सुप्रीम कोर्ट में माल्या के सेटेलमेंट ऑफर पर सहमति नहीं बन जाती तब तक यह याचिका स्थगित भी की जा सकती है। इस मामले में यूके कोर्ट भारतीय नियमों की प्रासंगिकता पर विचार कर सकता है।

कहां है माल्या

भारत के बैंकों से धोखाधड़ी के मामले में आरोपी विजय माल्या जांच के दौरान ही मार्च 2016 में लंदन भाग गया था। विजय माल्या को वापस लाने के लिए केंद्र सरकार और भारतीय जांच एजेंसियां लगातार प्रयास कर रही हैं, लेकिन अभी तक सफल नहीं हो पाईं।

 

साल 2020 आने के साथ ही कुछ स्मार्टफोन्स में WhatsApp काम करना बंद कर देगा। फेसबुक के स्वामित्व वाले मेसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने अपने FAQ सेक्शन में इस बारे में जानकारी दी है। अगर आप भी इन पुराने स्मार्टफोन में से यूज करते हैं तो आप अपग्रेड कर सकते हैं। इसमें बताया गया है कि वॉट्सऐप 31 दिसंबर 2019 के बाद विंडोज मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाले किसी भी फोन को सपॉर्ट नहीं करेगा। इसके अलावा कुछ ऐंड्रॉयड और iOS डिवाइस भी हैं, जिनपर यह 1 फरवरी 2020 के बाद काम नहीं करेगा।

साथ ही Windows ऑपरेटिंग सिस्टम वाले स्मार्टफोन से 31 दिसंबर 2019 से वॉट्सऐप का सपोर्ट खत्म कर दिया जाएगा। माइक्रोसॉफ्ट ने खुद अपने Windows 10 मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम का सपोर्ट बंद कर दिया है। वॉट्सऐप का कहना है कि इन पुराने फोन्स को इस्तेमाल करने वाले लोग न तो नया अकाउंट क्रिएट कर पाएंगे और न ही मौजूदा अकाउंट को रीवैरिफाई कर पाएंगे।

इन वर्जन के ऑपरेटिंग सिस्टम वाले स्मार्टफोन्स में WhatsApp का सपोर्ट बंद किया जा रहा है।
Windows ऑपरेटिंग सिस्टम वाले सभी स्मार्टफोन्स
iOS 8 या इससे नीचे के वर्जन वाले आईफओन या आईपैड
Android version 2.3.7 या इससे नीचे के वर्जन

क्या करें इन स्मार्टफोन के यूजर्स

अगर आपके पास कोई भी विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम, ऐंड्रॉयड वर्जन 2.3.7 या इससे पुराने OS या iOS8 या इससे OS वाला स्मार्टफोन है तो आपको अपनी वॉट्सऐप चैट का बैकअप ले लेना चाहिए। यहां हम आपको वॉट्सऐप चैट का बैकअप लेने का तरीका बता रहे हैं।

देशभर में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके समर्थन में सोशल मीडिया कैम्पेन लॉन्च किया है। #IndiaSupportsCAA हैशटैग का प्रयोग करते हुए पीएम मोदी ने लोगों से इस अभियान का समर्थन करने की अपील की है। साथ ही पीएम मोदी ने लिखा कि भारत सीएए का समर्थन करता है, क्योंकि सीएए सताए गए शरणार्थियों को नागरिकता देने के बारे में है। यह किसी की नागरिकता लेने के बारे में नहीं है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि नमो ऐप के वॉलिंटियर मॉड्यूल के वाइस सेक्शन में मजेदार कंटेंट, ग्रॉफिक्स और अन्य को देखने के लिए इस हैशटैग को देखें। सीएए के लिए अपना समर्थन दिखाने के लिए इस हैशटैग का प्रयोग करें।

 

जग्गी वासुदेव का वीडियो पोस्ट किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जग्गी वासुदेव के भाषण का वीडियो पोस्ट करके, नागरिकता कानून को विस्तार से बताने की कोशिश की। मोदी ने यह भी लिखा कि जग्गी वासुदेव के वीडियो में सीएए के ऐतिहासिक संदर्भ को भी समझा जा सकता है।

हिंसा करने वालों का रास्ता कितना सही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसा करने वालों से कह चुके हैं कि ऐसे लोगों को खुद से सवाल पूछना चाहिए कि क्या उनका रास्ता सही है। 25 दिसंबर को लखनऊ में एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन में जिस सार्वजनिक संपत्ति को उन्होंने तोड़ा, क्या वह उनके परिवार के काम नहीं आती? इस तरह अफवाहों पर हिंसा करने से उनका खुद का ही नुकसान है। जो इस प्रकार की हिंसा कर रहे हैं, उनको खुद से पूछना चाहिए कि क्या उनका रास्ता सही है।

 

 

महाराष्ट्र में उद्ध‌व ठाकरे सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार आज होने जा रहा है। पिछले दो सप्ताह से शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस से जुड़े महा विकास अगाड़ी नेताओं ने मंत्रिमंडल विस्तार योजनाओं को अंतिम रूप देने के लिए कई बैठकें की थीं। इसी बीच खबर है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अजित पवार उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। उनके नाम को लेकर काफी समय से चर्चा चल रही थी हालांकि किसी भी पार्टी ने स्पष्ट तौर पर उनके नाम की घोषणा नहीं की थी। इससे पहले माना जा रहा था कि अजित उद्धव ठाकरे के साथ पद एवं गोपनीयता की शपथ लेंगे मगर ऐसा नहीं हुआ। उनके अलावा 36 नए मंत्रियों को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है।

एनसीपी से ये नेता ले सकते हैं मंत्री पद की शपथ

एनसीपी से धरमराव अत्रम, राजेश टोपे, धनंजय मुंडे, नवाब मलिक, संग्राम जगतप, हसन मुशरीफ, अनिल देशमुख, अदिति तटकरे और राजू शेट्टी के मंत्री बनाए जाने की संभावना है। इससे पहले एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने यह कहकर मुद्दे को हवा देना का काम किया था कि एनसीपी कार्यकर्ता अजित पवार को राज्य के उप मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहते हैं।

शिवसेना की तरफ से ये होंगे मंत्री

सूत्रों की मानें तो शिवसेना से आदित्य ठाकरे भी आज मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। आदित्य ठाकरे ने पहली बार चुनाव लड़ा है और वर्ली से चुनाव जीतकर आए हैं। मंत्रिमंडल में शिवसेना की ओर से आदित्य ठाकरे, उदय सामंत, अब्दुल सत्तार, शंकर गडख, अनिल परब, संदीपन भूमरे, शंभुराज देसाई, येदगाउकर, संजय राठौड़, गुलाब पाटिल, दादा भूसे शामिल हो सकते हैं।

बता दें 28 नवंबर को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के दो-दो मंत्रियों ने शपथ ली थी। बाद में तीनों दलों में विभाग का बंटवारा हुआ। कांग्रेस को राजस्व, ऊर्जा, शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, वस्त्र, महिला एवं बाल कल्याण विभाग मिले। शिवसेना को सरकार में गृह, शहरी विकास मंत्रालय मिले हैं। वहीं, एनसीपी को महाराष्ट्र सरकार में वित्त, आवास, लोक स्वास्थ्य, सहकारी मंत्रालय मिले।

 

पूरे उत्तर भारत में इस वक्त कड़कड़ाती ठंड पड़ रही है। दिल्ली में भी इस वक्त सर्दी अपने चरम पर है। दिल्ली-एनसीआर समेत कई राज्यों में ज्यादातर जगहों पर तापमान शून्य से तीन डिग्री के आसपास दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक 1901 के बाद यानि पूरे 118 साल में ये दूसरा दिसंबर है जब दिल्ली में इतनी कड़ाके की ठंड पड़ रही है। मौसम विभाग ने रविवार को आठ राज्यों में रेड अलर्ट जारी कर दिया। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान और मध्यप्रदेश में भीषण सर्दी को लेकर चेतावनी जारी की गई। वहीं, उत्तर प्रदेश में ठंड से 68 लोगों की मौत हुई है।

वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर

ठंड के बावजूद दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर है। आनंद विहार में सोमवार सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स 462 रिकॉर्ड किया गया, जो खतरनाक स्तर पर है। मंदिर मार्ग पर एक्यूआई 433, जहांगीरपुरी में 333, द्वारका सेक्टर-8 में 467, जेएलएन स्टेडियम में 480, आईटीओ दिल्ली में 450, ओखला फेस-2 में 495, रोहिणी में 449 फरीदाबाद में 347 और नोएडा सेक्टर 62 में 373 रिकॉर्ड किया गया।

खराब मौसम के चलते विमान-ट्रेनें प्रभावित

दिल्ली एयरपोर्ट पर खराब मौसम के कारण विमानों और ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हो रही है। इस स्थिति में केवल कैट 3बी सिस्टम से प्रशिक्षित पायलट ही विमान लैंड करा पा रहे हैं। ऐसे में एयरपोर्ट ने यात्रियों को सलाह दी है कि वे अपनी उड़ाने के बारे में जानने के लिए एयरलाइन के संपर्क में रहें। घने कोहरे के कारण तीन फ्लाइट्स को दिल्ली से दूसरी जगह स्थानांतरित कर दिया गया है। लेकिन किसी भी फ्लाइट्स को रद्द नहीं किया गया है। वहीं, कोहरे की वजह से उत्तरी रेलवे की 30 ट्रेनें देरी से चल रही हैं।

शेल्टर में लोगों को हो रही परेशानी

उत्तर भारत के जिन शहरों में जो लोग शेल्टर में रह रहे हैं कड़ाके की ठंड के कारण उनका बाहर रहना भी मुश्किल हो रहा है। दिल्ली रेलवे स्टेशन पर सैकड़ों की संख्या में लोग कंबल के साथ रात गुजार रहे हैं, तो उत्तर प्रदेश के लखनऊ-कानपुर का भी यही हाल है। रविवार को लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने राजस्थान के कोटा में शेल्टर होम में कंबल भी बांटे।

कर्नाटक में पेजावर मठ के प्रमुख विश्वेश तीर्थ स्वामी का उडुपी स्थित श्रीकृष्ण मठ में निधन हो गया। दरअसल, लंबे समय से बीमार विश्वेश तीर्थ स्वामी को 20 दिसंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां शनिवार को उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई थी। उडुपी के कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती विश्वेश तीर्थ स्वामी को उनकी इच्छा के अनुरूप श्री कृष्णा मठ में शिफ्ट कर दिया गया था, जहां चिकित्सकों की टीम उनका इलाज कर रही थी। इलाज के बीच ही सुबह करीब 9 बजे श्री कृष्णा मठ में विश्वेश तीर्थ स्वामी का निधन हो गया। उनका पार्थिव शरीर महात्मा गांधी मैदान में रखा जाएगा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने उनके निधन पर शोक जताया है। उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। मैं उनके भक्तों के कष्टों को दूर करने के लिए भगवान से प्रार्थना करूंगा। मुख्यमंत्री ने स्वामी के निधन पर तीन दिनों का राजकीय शोक घोषित किया है।

पीएम मोदी ने जताया दुख

पीएम मोदी ने ट्वीट कर स्वामी जी के निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि मैं खुद को धन्य मानता हूं कि मुझे श्री विश्वेश तीर्थ स्वामीजी से सीखने के कई अवसर मिले। हाल ही में गुरु पूर्णिमा के पुण्य दिवस पर हुई मुलाकात भी यादगार रही। उनका त्रुटिहीन ज्ञान हमेशा बना रहा। उनके अनुयायियों के प्रति मेरी शोक संवेदना है।

गृहमंत्री अमित शाह ने भी जताया दुख

गृहमंत्री अमित शाह ने भी स्वामी जी के निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि स्वामीजी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ स्वामीजी के विचार हमेशा मार्गदर्शन करते रहेंगे। उनका निधन आध्यात्मिक दुनिया के लिए बड़ी क्षति है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती के गुरू थे विश्वेश तीर्थ स्वामी जी

विश्वेश स्वामी जी मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता उमा भारती के गुरू रहे। उमा ने कहा कि उनके गुरु एक बड़े कर्म योगी थे और उन्होंने ही मुझे कर्म योगी बनने की दीक्षा दी। वे करीब एक सप्ताह से उडुपी में ही हैं। उमा ने 1992 में स्वामी जी से संन्यास दीक्षा ली थी।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात कार्यक्रम के 60वें एपिसोड में जनता को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा है कि देश के युवाओं को अराजकता, अस्थिरता और जातिवाद से चिढ़ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज का युवा जात-पात से ऊंचा सोचता है। ये युवा परिवारवाद और जातिवाद पसंद नहीं करते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि 2019 की विदाई के पल हमारे समाने हैं, अब हम न सिर्फ नए साल में प्रवेश करेंगे, बल्कि नए दशक में प्रवेश करेंगे। इसमें देश के विकास को गति देने में वे लोग सक्रिय भूमिका निभाएंगे, जिनका जन्म 21वीं सदी में हुआ है।

पीएम मोदी ने कहा, मैंने 15 अगस्त को लाल किले से देशवासियों से एक आग्रह किया था और देशवासियों से लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने का आग्रह किया था। आज फिर से मेरा सुझाव है कि क्या हम स्थानीय स्तर पर बने उत्पादों को प्रोत्साहन दे सकते हैं। क्या उन्हें अपनी खरीदारी में स्थान दे सकते हैं। पीएम ने कहा, क्या हम संकल्प ले सकते हैं कि 2022 तक जब आजादी के 75 वर्ष पूरे होंगे, इन 2-3 साल हम स्थानीय उत्पाद खरीदने के आग्रही बनें। भारत में बना, जिसमें हमारे देशवासियों के पसीने की महक हो, ऐसी चीजों को खरीदने का हम आग्रह कर सकते हैं क्या।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में कौशल विकास कार्यक्रम 'हिमायत' के तहत पिछले दो साल में 18 हजार युवाओं को प्रशिक्षण दिया गया है। इनमें से करीब पांच हजार लोग अलग-अलग जगह नौकरी कर रहे हैं और कई स्वरोजगार की ओर बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले छह महीनों में संसद के दोनों सदन बहुत ही उत्पादक रहे हैं। लोकसभा ने 114 प्रतिशत और राज्यसभा ने 94 प्रतिशत काम किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं के आदर्श स्वामी विवेकानंद का जिक्र करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद जी कहते थे कि युवावस्था की कीमत को नहीं आंका जा सकता है। ये जीवन का सबसे मूल्यवान कालखंड होता है। पीएम ने कहा कि आपका जीवन इस पर निर्भर करता है कि आप अपनी युवावस्था का उपयोग किस प्रकार करते हैं। पीएम मोदी ने युवाओं को संबोधित करते हुए एल्युमिनी कार्यक्रम का जिक्र किया। पीएम ने कहा कि हम अलग-अलग जगह में पढ़ते हैं, लेकिन पढ़ाई पूरी होने के बाद एल्युमिनी मीट बड़ा रोचक कार्यक्रम होता है। पीएम ने कहा कि यह कार्यक्रम पुराने दोस्तों से मिलने के लिए तो होता ही है और अगर इसके साथ कोई संकल्प जुड़ जाएं तो इसमें रंग भर जाता है।


झामुमो के नेता हेमंत सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री के रूप में आज मोरहाबादी मैदान में शपथ लेंगे। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं शीर्ष नेताओं के अलावा कई बड़े उद्योगपति भी शामिल होंगे। इस बहाने विपक्ष पूरी एकजुटता दिखाते हुए शक्ति प्रदर्शन की तैयारी में है। शपथ ग्रहण समारोह में टाटा स्टील के एमडी टीवी नरेंद्रन, जेएसपीएल के सीएमडी नवीन जिंदल, डालमिया ग्रुप के एमडी पुनीत डालमिया, डालमिया ग्रुप के ईडी हरमीत सेठी, रूंगटा माइंस के एमडी सिद्धार्थ रूंगटा, इलेक्ट्रोस्टील के एमडी पंकज मलिहान और राहुल शर्मा शामिल होंगे। बीती रात से ही अतिथियों के आने का सिलसिला जारी है।

मोरहाबादी मैदान में भव्य आयोजन

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू मोरहाबादी मैदान में आयोजित भव्य शपथ ग्रहण समारेाह में हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाएंगी। इस समारोह में हेमंत सोरेन के अलावा गठबंधन में शामिल कांग्रेस और झामुमो के कुछ विधायक भी मंत्री पद की शपथ लेंगे। सूत्रों के मुताबिक 14 जनवरी को मकर संक्रांति के बाद यानी खरमास समाप्त हो जाने के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा।

उद्धव, केजरीवाल ने शपथग्रहण से किया किनारा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने रांची में हो रहे शपथग्रहण समारोह से किनारा कर लिया है। दोनों ही सीएम कार्यक्रम में शामिल नहीं हो रहे हैं। हेमंत सोरेन ने विपक्ष के कई कद्दावर नेताओं को शपथग्रहण में शामिल होने का न्यौता दिया था।

कांग्रेस के ये नेता ले सकते हैं शपथ

जेएमएम की और से जिन विधायकों का नाम कैबिनेट मंत्री पद के लिए चल रहा है, उनके नाम हैं, स्टीफन मरांडी, चंपई सोरेन, गढ़वा के विधायक मिथिलेश ठाकुर, जोबा मांजी और जगन्नाथ महतो। कांग्रेस को स्पीकर का पद मिल सकता है। अगर ऐसा नहीं होता है, तो कांग्रेस को एक और मंत्रीपद मिल सकता है। कांग्रेस को 4 मंत्रीपद मिल सकते हैं। इन विधायकों का नाम फाइनल करने के अंतिम दौर में है। इस कड़ी में आलमगीर आलम का नाम जहां पक्का है, वहीं रामेश्वर उरांव, और राजेंद्र प्रसाद सिंह का नाम तय माना जा रहा है।

.

कांग्रेस का आज 135वां स्थापना दिवस है. इस अवसर पर कांग्रेस देशभर में 'संविधान बचाओ-भारत बचाओ' संदेश के साथ मार्च कर रही है. नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर जहां देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं, वहीं विपक्ष भी भारतीय जनता पार्टी को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है. वहीं अब कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने देश के आर्मी चीफ बिपिन रावत को दो टूक कहा है.

कांग्रेस पार्टी 135वें स्थापना दिवस के मौके पर तिरुवनंतपुरम में एक रैली में पी चिदंबरम ने कहा, "डीजीपी, आर्मी जनरल को सरकार को सपोर्ट करने को कहा जा रहा है... ये शर्मनाक है... मुझे जनरल रावत से अपील करना है कि आप आर्मी के मुखिया हैं और अपने काम से काम रखिए... जो नेताओं को करना है वो नेता ही करेंगे. ये आर्मी का काम नहीं है कि वे नेताओं से कहें कि हमें क्या करना चाहिए... जैसा कि ये हमारा काम नहीं है कि हम आपको बताएं कि युद्ध कैसे लड़ा जाए? यदि आप एक जंग लड़ रहे हैं तो हम आपको नहीं कहते हैं कि युद्ध इस तरह लड़िए. आप युद्ध अपने दिमाग से लड़ते हैं. इस देश में राजनीति हम चलाएंगे."

दरअसल पी चिदंबरम बिपिन रावत के उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें उन्होंने कहा था कि नेता नेतृत्व देने वाला होता है, लोगों को गलत दिशा में ले जाने वाला नहीं. बता दें कि देश भर में नागरिकता संशोधन बिल को लेकर हो रहे प्रदर्शन पर आर्मी चीफ बिपिन रावत ने एक बयान दिया था. बिपिन रावत ने कहा था कि नेता वे नहीं हैं जो लोगों को गलत दिशा में ले जाएं. रावत ने तब कहा था, "नेता वे नहीं हैं जो लोगों को गलत दिशा में ले जाएं, जैसा कि हम देख रहे हैं कि बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय और कॉलेज के छात्रों को ले जाया जा रहा है. जहां बाद में आगजनी हुई, हिंसा हुई, ये नेतृत्व नहीं है."

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हिंसा देखने को मिली थी। अब इस मामले में योगी सरकार ने सख्त कदम उठाया है। दरअसल, उत्तरप्रदेश पुलिस ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के 10 हजार छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। शिकायत में बवाल के दौरान आरएएफ के नुकसान का उल्लेख किया है। कमांडेंट की ओर से सरकारी कार्य में बाधा, बल्वा व 144 के उल्लंघन की धाराओं में दर्ज कराए गए मुकदमे में कहा गया है कि डीएम के बुलावे पर उनकी वाहिनी ने दो कंपनी क्रमश: A / 108, D / 108 एएमयू सर्किल पर तैनात थी।

बता दें नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हुए हिंसक प्रदर्शन के खिलाफ यूपी पुलिस कार्रवाई कर रही है। 15 दिसंबर को एएमयू में बड़ी संख्या में छात्रों ने प्रदर्शन किया था। देखते ही देखते ये प्रदर्शन हिंसक हो गया था। इस दौरान एएमयू गेट को भी कुछ शराराती तत्वों ने तोड़ डाला था। इसे लेकर यूपी पुलिस और AMU छात्र संघ के बीच आरोप-प्रत्यारोप भी लगा था।

इस बवाल में एक वरुण वाहन, एक फायर टेंडर वाहन, दो वज्रा वाहन, एक टाटा बस, एक आयशर वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसके अलावा आरएएफ के जो नॉन एलेथिकल हथियार चले, खर्च हुए या क्षतिग्रस्त हुए हैं, उनका भी उल्लेख किया है। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस अमित कुमार के अनुसार एएमयू बवाल में जो दो मुकदमे दर्ज हुए हैं, उन्हीं में इसे शामिल किया गया है।


कैंडल मार्च निकालने वाले 1200 पर केस दर्ज

उधर पुलिस की कार्रवाई का शिकार हुए जामिया मिल्लिया इस्लामिया और एएमयू के छात्रों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए 25 दिसंबर को कैंपस में कैंडल मार्च निकाला गया था। इस दौरान 1200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। पुलिस ने कहा कि निषेधात्मक आदेशों के उल्लंघन के आरोप में यह मामला दर्ज किया है।

 

सपना चौधरी बीते दिन एक हादसे का शिकार हो गई हैं। सपना चौधरी की गाड़ी का बीती रात गुरुग्राम में एक्सीडेंट हो गया है। उनकी कार को हुए डैमेज से अंदाजा लगाया जा सकता है कि टक्कर बेहद जोरदार थी। दरअसल, सपना गुरुवार देर रात शॉपिंग करके सोहना रोड से लौट रही थीं कि वाटिका चौक पर उनकी कार को तेज रफ्तार अन्य कार ने टक्कर मार दी। हालांकि उन्हें इस हादसे में कोई चोट नहीं आई है। कार में सपना अपने ड्राइवर के साथ जा रही थीं। हादसे के बाद जब तक सपना के ड्राइवर ने कार रोकी दूसरी कार का ड्राइवर फरार हो गया। कार का नंबर और ड्राइवर की पहचान नहीं हो पाई। सपना भी बिना कोई पुलिस शिकायत किए ड्राइवर के साथ निकल गईं।

गाड़ी का पिछला हिस्सा भी काफी क्षतिग्रस्त हुआ है और बैक हेडलाइट को भी नुकसान पहुंचा है। बादशाहपुर थाना प्रभारी निरीक्षक मुकेश के मुताबिक हमारे पास कोई शिकायत नहीं आई है और कोई शिकायत आती है तो जरूर इस मामले में कार्रवाई की जाएगी। 

वर्कफ्रंट की बात करें तो इन दिनों सपना चौधरी अपनी डांस परफॉर्मेंस में व्यस्त चल रही हैं। कुछ ही दिनों पहले सपना ने मुरादाबाद के विधायक की बर्थडे पार्टी में अपनी डांस परफॉर्मेंस दी थी। सपना की इस परफॉर्मेंस को देखने के लिए कई लोगों की भीड़ उमड़ आई थी। जहां कुछ लोगों ने खड़े होकर परफॉर्मेंस देखी, तो कुछ सपना के दीवाने ऐसे भी थे जिन्होंने पेड़ पर चढ़कर सपना का डांस देखा है। इस कार्यक्रम में भीड़ इतनी बेकाबू हो गई थी कि लोगों ने एक दूसरे के ऊपर कुर्सियां तक फेकनी शुरू कर दी थीं। बीजेपी विधायक की इस बर्थडे पार्टी की कुछ वीडिय़ोज़ सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही हैं।

 

अक्षय कुमार और करीना कपूर स्टारर फिल्म गुड न्यूज शुक्रवार को रिलीज हो गई है। गुड न्यूज को क्रिटिक्स से अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। टिकट खिड़की पर भी गुड न्यूज की शानदार ओपनिंग हुई है। फिल्म ने पहले दिन 17.56 करोड़ की कमाई की है। उधर सलमान खान की फिल्म दबंग 3 को रिलीज हुए एक हफ्ता पूरा हो चुका है। इस फिल्म ने उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है, जिसके कई कारण है। लेकिन सलमान के स्टारडम से लैस दबंग 3 अब भी अपनी रफ्तार से आगे बढ़ रही है। हालांकि इस फिल्म को अक्षय कुमार की गुड न्यूज झटका दे सकती है।

उधर, फिल्म गुड न्यूज के खिलाफ हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर हुई है। कर्नाटक हाई कोर्ट में यस ट्रस्ट नाम के एक गैरसरकारी संगठन ने जनहित याचिका दायर की है। एनजीओ के अनुसार ये फिल्म विट्रो फर्टिलाइजेशन तकनीक पर आधारित फिल्म है।

बता दें कि दबंग 3 की कमाई सीएए और एनआरसी के चलते प्रभावित हुई है। इसके अलावा फिल्म को क्रिटिक्स से खास रिस्पॉन्स नहीं मिला है। फिल्म समीक्षक तरण आदर्श के मुताबिक, 'दबंग 3' ने पहले दिन 24.50 करोड़ रुपये, शनिवार को 24.75 करोड़ रुपये, रविवार को 31.90 करोड़ रुपये, सोमवार को 10 करोड़, मंगलवार को 12 करोड़ और बुधवार को 15.50 करोड़ रुपये की कमाई की थी। वहीं, दबंग 3 के विपरीत गुड न्यूज को अच्छा सोशल रिएक्शन मिल रहा है। फिल्म के फर्स्ट डे सोशल मीडिया रिएक्शन देखकर दर्शकों में फिल्म के लिए एक्साइटमेंट देखी जा सकती है। आईएमडीबी पर भी फिल्म देखने वाले लोगों ने इस फिल्म को अच्छे रिएक्शन्स दिए हैं। माना जा रहा है कि अक्षय और करीना के स्टारडम और फिल्म की स्क्रिप्ट को मिल रही माउथ पब्लिसिटी के चलते ये फिल्म आगे आने वाले समय में बेहतरीन कमाई कर सकती है।

पूरे उत्तर भारत में दिल्ली समेत इस वक्त हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। दिल्ली में सर्दी ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। पहाड़ों पर बर्फबारी और शीतलहर के कारण मैदानी इलाकों में ठिठुरन बढ़ती जा रही है। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली के सफदरजंग इलाके में आज सुबह पारा 2.4 डिग्री तक लुढ़क गया। वहीं दिल्ली में कल न्यूनतम तापमान 3.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में 120 साल बाद यह सबसे ठंडा दिसंबर है, इससे पहले इतना ठंडा दिसंबर का महीना साल 1901 में था। मौसम विभाग की माने तो दिल्ली पर सर्दी का सितम अभी कुछ दिन और जारी रहने वला है।

भारतीय मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, 'दिसंबर में औसत अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से कम 1919, 1929, 1961 और 1997 में रहा है। इस साल दिसंबर माह में गुरुवार तक औसत अधिकतम तापमान 19.85 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और इसके 31 दिसंबर तक 19.15 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाने की संभावना है।'

उत्तर प्रदेश में ठंड से 20 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में 20 लोगों की मौत हो गई तो झारखंड में चार लोग काल के शिकार बन गए। कोहरे कारण हुए हादसों में कई लोगों की जान गई है। रेल, सड़क और वायु यातायात बुरी तरह प्रभावित है।उत्तर प्रदेश के कई जिलों में शुक्रवार को निकली बेजान धूप लोगों को राहत नहीं दिला सकी। शाम होते-होते हवा ने गलन और बढ़ा दी। भीषण ठंड से सुलतानपुर में दो लोगों की मौत हो गई। भदोही में चार, जौनपुर में दो, आजमगढ़, मऊ व गाजीपुर में एक-एक लोग की मौत हो गई। प्रतापगढ़ में ठंड की वजह से एक व्यक्ति की मौत हो गई। प्रयागराज में दो लोगों ने ठंड से दम तोड़ दिया। मुरादाबाद में कोहरे से रेल और सड़क यातायात प्रभावित दिखाई दिया। रामपुर में दो महिलाओं की तथा सम्भल में एक व्यक्ति की ठंड से मौत हो गई।

बर्फबारी देखने पहाड़ों पर पहुंच रहे लोग

नववर्ष मनाने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहाड़ों की तरफ रुख कर लिए हैं। श्रीनगर में डल झील में सुबह लोगों को जमे पानी की मोटी परतों को तोड़ते देखा गया। हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बड़ी संख्या में लोग बर्फबारी देखने पहुंचे हैं। सप्ताहांत की छुट्टियों के कारण मैदानी इलाकों में पयर्टन स्थलों पर रौनक रही।

पाकिस्तान की नापाक हरकत का एकबार फिर भारतीय सेना ने मुहतोड़ जवाब दिया है.पाकिस्तान की ओर से सीमापार से की जा रही गोलीबारी पर भारतीय सेना ने जवाब देते हुए पाकिस्तानी सेना की चौकियों को तबाह कर दिया है, इतना ही नहीं सेना ने कई पाकिस्तान रेंजर्स को भी मार गिराया है. लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर सीजफायर का उल्लंघन करने पर जवाबी कार्रवाई में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना की चौकियों को तबाह कर दिया है. इसके साथ ही भारतीय सेना ने 3-4 पाकिस्तानी रेंजर्स को भी ढेर कर दिया है. दरअसल, गुरुवार रात को पाकिस्तान ने पुंछ-राजौरी सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया था और मोर्टार दागे थे. इससे पहले बुधवार को जम्मू कश्मीर के उरी में सीजफायर का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तान ने मोर्टार दागे और गोलाबारी भी की. पाकिस्तानी सेना की इस कायराना हरकत के कारण भारतीय सेना का एक सूबेदार शहीद हो गया. भारत की ओर से सेना ने पाकिस्तान को आर्टिलरी और मोर्टार से जवाब दिया. इसके साथ ही पाकिस्तानी सेना ने स्वीकार किया है कि उसके दो सैनिक पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के देवा सेक्टर में मारे गए.

एक्टर कुशल पंजाबी अब इस दुनिया में नहीं रहे। कुशल पंजाबी ने मुंबई के बांद्रा स्थित अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कुशल की मौत से हर कोई सदमे में हैं। कुशल के सुसाइड करने के पीछे के कारणों का पता नहीं चल पाया है। कुशल पंजाबी की मौत पर पंजाबी सिंगर और रैपर बाबा सहगल ने शोक व्यक्त करते हुए एक इमोशनल नोट लिखा है। उन्होंने अपने सुसाइड नोट में मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है। दूसरी तरफ रिपोर्ट्स ये भी हैं कि कुशल आर्थिक तंगी झेल रहे थे। उनके पास काम नहीं था। प्रोफेशनल लाइफ की परेशानियां उनकी पर्सनल लाइफ को भी प्रभावित कर रही थी।

डीसीपी परमजीत सिंह दहिया ने कहा, हां, ये आत्महत्या का केस है। कुशल पंजाबी के माता-पिता कल दोपहर से उनसे कॉन्टेक्ट की कोशिश कर रहे थे, लेकिन उनका फोन नहीं लग रहा था। परिवार ने रात तक इंतजार किया, जब कुशल पंजाबी की तरफ से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला, तो वो लोग रात 10.30 बजे उनकी बिल्डिंग में पहुंच गए। दरवाज़ा तोड़ दिया और अंदर गए। अंदर जाकर देखा तो कुशल का शव पंखे से लटका हुआ था। फिलहाल, बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। सुसाइड का केस दर्ज कर लिया गया है।

कुशल की मौत से सदमे में सितारे

एक्टर करणवीर बोहरा ने कुशल पंजाबी की तस्वीरें शेयर कर इमोशनल पोस्ट लिखा है। उन्होंने कैप्शन में लिखा- ''तुम्हारे निधन की खबर ने मुझे चौंका दिया है। अभी भी मैं इस बात को नहीं मान पा रहा हूं। मुझे पता है तुम जहां भी होंगे खुश होंगे। जिस तरह से तुमने अपनी जिंदगी को जिया उसने मुझे कई तरह से प्रेरित किया। लेकिन मुझे क्या पता था.''

एक्ट्रेस करिश्मा तन्ना भी इस खबर को सुनकर शॉक्ड और दुखी हैं। हितेन तेजवानी ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। फिल्म डायरेक्टर आनंद कुमार भी कुशल की मौत से शॉक्ड हो गए हैं। पायल रोहतगी ने भी कुशल के निधन पर दुख जताया है। वहीं सोशल मीडिया पर भी एक यूजर ने लिखा- कुशल पंजाबी की निधन की खबर सुनकर मैं सदमे में हूं। वो बहुत ही सच्चे इंसान थे। एक ने लिखा- तुम्हारे बच्चे के साथ ये ठीक नहीं हुआ।


लड़ाकू विमान मिग-27 ने आज देश की वायुसेना को अलविदा कह दिया है। राजस्थान के जोधपुर एयरबेस में 7 लड़ाकू विमानों ने अपनी आखिरी उड़ान भरी। करीब 34 वर्ष वायुसेना का हिस्सा रहने के बाद इसने आज आखिरी उड़ान भरा। इस मौके पर जोधपुर एयरबेस पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहां इन्हें पूरे सम्मान कि साथ विदाई दी गई। इस दौरान वायुसेना के कई बड़े अधिकारी मौजूद रहे। विदाई के दौरान मिग-27 को सलामी भी दी गई। मिग-27 ने तीन दशक तक भारत की वायुसेना की सेवा की। रक्षा मंत्रालय ने कहा, ‘स्विंग-विंग फ्लीट का उन्नत संस्करण 2006 से वायुसेना के स्ट्राइक फ्लीट का गौरव रहा है। अन्य सभी संस्करण जैसे मिग-23 बीएन और मिग-23 एमएफ और विशुद्ध मिग 27 वायुसेना से पहले ही रिटायर हो चुके हैं।'

क्यों खास है मिग-27?

तीन दशक से अधिक की उल्लेखनीय सेवा के बाद, भारतीय वायु सेना का मिग-27 लड़ाकू विमान वायु सेना स्टेशन, जोधपुर से एक भव्य समारोह में डीकमीशन किया गया। भारतीय वायु सेना के बेड़े में 1985 में शामिल किया गया यह अत्यंत सक्षम लड़ाकू विमान ज़मीनी हमले की क्षमता का आधार रहा है। वायु सेना के सभी प्रमुख ऑपरेशन्स में भाग लेने के साथ मिग-27 नें 1999 के कारगिल युद्ध में भी एक अभूतपूर्व भूमिका निभाई थी।

बढ़ने लगी थीं क्रैश होने की घटनाएं

दरअसल हाल ही में मिग विमानों के क्रैश होने की घटनाएं बढ़ने लगी थीं। इसी साल 31 मार्च को जोधपुर में सिरोही के पास मिग-27 गिर गया था। 4 सितंबर को भी जोधपुर के पास ये विमान हादसे का शिकार हुआ था। बताया जाता है कि इस विमान के इंजन में कुछ तकनीकी खामी थी, जिसे दूर नहीं किया जा सका।

मिग-27 को बहादुर नाम से बुलाते हैं पायलट

बता दें कि अब कोई भी देश मिग-27 विमान का इस्तेमाल नहीं करता। इस फाइटर जेट ने 1999 की करगिल जंग में बड़ी भूमिका निभाई थी। तब से भारतीय वायुसेना के पायलट इस विमान को बहादुर नाम से बुलाते हैं।

उत्तरी भारत में इस वक्त कड़ाके की ठंड पड़ रही है। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार सहित अन्य राज्यों में पारा के लुढ़कने और बर्फीली हवा से ठिठुरन बढ़ गई है। शीतलहर की स्थिति अभी कुछ दिन और बनी रह सकती है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दिसंबर की सर्दी का यह आलम है कि यह 1901 के बाद दूसरी बार ऐसा हो सकता है जब साल का आखिरी महीना इतना सर्द रहा हो। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में तापमान और भी गिर सकता है। शुक्रवार की सुबह दिल्ली की न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजस्थान के कई जिलों में तापमान शून्य से नीचे चला गया है। सीकर में बीती रात तापमान माइनस 3 डिग्री पहुंच गया।

हरियाणा में नारनौल का न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि हिसार का न्यूनतम 3.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पंजाब में बठिंडा सबसे ठंडा स्थान रहा जहां तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। फरीदकोट, लुधियाना, पटियाला, हल्वारा, आदमपुर, पठानकोट,अमृतसर में क्रमश: 4.5, 6.6, 6.4, 5.8, 6.8, 6.4 और 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा तेलंगाना, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और कर्नाटक के कुछ इलाकों में हल्की से छिटपुट बारिश की संभावना है। जबकि अरुणाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

बीती रात श्रीनगर की सबसे ठंडी रात रही जहां तापमान शून्य से पांच डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। अधिकारी ने कहा कि शीतकालीन राजधानी जम्मू में न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस रहा जो कि मौसम के औसत तापमान से 1.8 डिग्री सेल्सियस कम था। द्रास में न्यूनतम तापमान शून्य से 30.2 डिग्री सेल्सियस कम रहा और अधिकतम तापमान शून्य से 13 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया।

नैनीताल में 22 साल बाद नए साल पर बर्फबारी के आसार बन रहे हैं। इस दौरान शहर के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी और निचले इलाकों में हिमकण गिर सकते हैं। इससे पहले 1997 में नए साल पर पर्यटकों को बर्फबारी देखने को मिली थी। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक इस बार पहली जनवरी को पारा 1-2 डिग्री तक पहुंच सकता है।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुई हिंसा के मद्देनजर जुमे की नमाज को लेकर पूरे उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है। सूबे में गाजियाबाद, मेरठ समेत करीब 14 जिलों में इंटरनेट सेवा रोकने के आदेश दिए गए हैं। इनमें अधिकांश वे जिले शामिल हैं जहां पिछले सप्ताह हिंसक प्रदर्शन हुए थे। प्रदेश में सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है और शांति सुनिश्चित करने के लिए पुलिस लगातार गश्त कर रही है। ड्रोन से निगरानी की जा रही है।

डीजीपी मुख्यालय से सभी जिलों को व्यापक कार्ययोजना बनाकर सुरक्षा प्रबंध करने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें संवेदनशील इलाकों को जोन व सेक्टरों में बांटकर मजिस्ट्रेट व पुलिस अफसरों की तैनाती करने, भीड़ एकत्र होने की संभावना वाले मार्गों पर बैरीकेडिंग कराने तथा पैदल मार्च कर लोगों से संवाद कायम करते हुए अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील करने को कहा गया है। जिलों में थाना स्तर पर पीस कमेटी की बैठकें करने और मस्जिदों के इमामों से संपर्क कर उनसे नमाज के बाद शांति बनाए रखने की अपील करवाने को भी कहा गया है। डीजीपी मुख्यालय में बनाया गया कंट्रोल रूम भी सक्रिय हो गया है। उन जिलों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं, जहां पिछले शुक्रवार को हिंसक प्रदर्शन हुए थे।

गृह सचिव अवनीश अवस्थी के मुताबिक अगर 3 दिनों से ज्यादा इंटरनेट बंद करनी है तो इसका फैसला शासन के स्तर से जाता है लेकिन 72 घंटे से कम या महज कुछ घंटों के लिए एहतियातन इंटरनेट बंद करना है तो यह अधिकार जिलाधिकारियों को दिए गए हैं कि वह संबंधित सर्विस प्रोवाइडर को आग्रह कर बंद करा सकते हैं। फिलहाल 14 जिलों में आज शाम तक के लिए इंटरनेट बंद कर दिए गए हैं।

पिछले शुक्रवार को भी हुआ था बवाल

बीते शुक्रवार को प्रदेश लखनऊ, सहारनपुर, मेरठ, शामली, मुजफरनगर, गाजियाबाद, बरेली, मऊ, संभल, आजमगढ़, आगरा, कानपुर, उन्नाव, मुरादाबाद और प्रयागराज जिले में इंटरनेट सेवाओँ पर रोक लगा दी गई थी। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक प्रवीण कुमार ने बताया था कि सीएए को लेकर हुए विरोध प्रदर्शनों में बीते शु्क्रवार तक 124 एफआईआर दर्ज किए गए। वहीं, 705 लोगों को गिरफ्तार किया गया और 4500 लोगों के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें हिरासत में लिया गया था।

 

Page 1 of 27