Login to your account

Username *
Password *
Remember Me
अन्य बड़ी खबरें

अन्य बड़ी खबरें (794)

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ रेप के बाद हत्या की घटना के बाद चारों आरोपियों की पुलिस मुठभेड़ में मौत हो गई। इसके बाद राजनीतिक…
नागरिकता संशोधन बिल को केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है और अब इसके बाद इसे संसद में पेश करने की तैयारी की जा रही है। केंद्र सरकार की कोशिश…
आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने चिदंबरम को जमानत दे दी है।…

हैदराबाद में महिला डॉक्टर से हैवानियत और फिर हत्या के मामले को लेकर पूरे देश में गुस्सा है. संसद से लेकर सड़क तक आरोपिओं को फांसी की सजा देने की मांग की जा रही है. कैंडल मार्च करके डॉक्टर को श्रद्धांजलि दी जा रही है. हैदराबाद के अलावा प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी लगातार प्रदर्शन और न्याय की मांग के लिए आवाज उठाई जा रही है. सोशल मीडिया ट्विटर और फेसबुक पर बीते तीन दिनों से इसी मुद्दे पर चर्चा की जा रही है. लोग तमाम तरह से अपना विरोध दर्ज करवा रहे हैं.

सोमवार को संसद में भी ये मामला गूंजता रहा. महिलाओं के खिलाफ अपराधों पर राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि जो कानून बने हुए हैं उसका पालन करने के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति, प्रशासनिक कौशल और मानसिकता में  बदलाव की जरूरत है। यदि इन चीजों में बदलाव नहीं हुआ तो कानून की लाठी सबके लिए नहीं चल सकती। जागरूकता का अभाव भी इसका एक बड़ा कारण है.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि घटना ने पूरे देश को शर्मसार कर दिया है. इस वजह से ऐसे मामलों में सख्त कानून लाने की जरूरत है. यदि संसद के सभी सदस्य राजी हो तो इस तरह की घटना के लिए एक ऐसा कानून लाया जाना चाहिए जो सभी को मान्य हो और इस तरह की घटना करने वालों को इससे कठोर से कठोर सजा मिल सके. यदि इस तरह की वारदात करने वालों को कठोर सजा नहीं मिलेगी और इसका संदेश दूर तक नहीं जाएगा तो इन पर अंकुश लगाना मुश्किल होगा.

सांसद जया बच्चन ने तो संसद में यहां तक कह दिया कि ऐसे लोगों को भीड़ के हवाले कर देना चाहिए था, वो ही इनके साथ न्याय करती.

बता दें कि हैदराबाद-बेंगलुरू हाइवे पर एक महिला डॉक्‍टर की अधजली लाश मिली थी. लाश मिलने के बाद पता चहा कि 26 साल की महिला डॉक्‍टर के साथ रेप के बाद उसकी हत्‍या कर दी गई. हैवानियत की इंतहा यह थी कि आरोपियों ने डॉक्‍टर की लाश को जलाकर एक फ्लाईओवर के नीचे फेंक दिया था. असल में महिला डॉक्‍टर रात में अपना घर लौट रही थी, इसी दौरान रास्‍ते में उसकी स्कूटी खराब हो गई थी.

 

भारतीय सेना एकबार फिर अपना लोहा मनवाते हुए चीन की चिंता बढ़ा दी है. भारतीय सेना ने लद्दाख में एशिया के सबसे ऊंचे पुल का निर्माण किया है. चीन से लगती सीमा लाइन आफ एक्चुअल कंट्रोल स्थित शोक दरिया पर इस पुल का निर्माण किया गया है. इसके साथ ही लेह से दौलत बेग ओल्डी के लिए पक्की सड़क भी बन रही है...

आपको बता दें कि भारतीय सेना ने 16000 फीट की ऊंचाई पर इस पुल का निर्माण किया है. इस पुल की लंबाई 1400 फीट है. 70 टन वजन सहन करने की क्षमता रखने वाले इस पुल के निर्माण से भारतीय सेना की ताकत दोगुनी हो जाएगी.

इस सड़क और पुल के निर्माण से सेना के जवान अब पहले के मुकाबले काफी कम समय में चीन सीमा तक पहुंच सकेंगे. साथ ही सेना के बड़े- बड़े टैंक भी इस पुल के रास्ते एलएसी तक जल्दी पहुंच सकते हैं.

पुल निर्माण से पहले चीन सीमा पर रोड कनेक्टिविटी न होने के कारण वहां की चौकियों तक सामान पहुंचाने में भी काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता था. लेकिन अब इस सड़क और पुल के निर्माण से सरहद पर सैनिकों तक जरूरी साजो-सामान और हथियार आसानी से पहुंच सकेगा.

इस कर्नल चेवांग रिनचेन ब्रिज का उद्घाटन रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने दिवाली के चार दिन पहले किया था. वह सेना प्रमुख के साथ लद्दाख पहुंचे थे और नवनिर्मित पुल पर चहलकदमी भी की थी.

गौरतलब है कि चीन ने सरहद तक खुद तो सड़कों का निर्माण कर लिया, रेल लाइन बिछा ली, हवाई पट्टी का निर्माण कर लिया, लेकिन भारत को ऐसा करने से रोकने की कोशिश करता रहा. लेकिन भारतीय सेना ने चीन की चेतावनियों को दरकिनार कर आंखों में आंखे डालकर इस पुल का निर्माण कराया. इस पुल से सेना को सरहदों की निगरानी में भी मदद मिलेगी.

 महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से ही उद्धव ठाकरे की अग्नि परीक्षा शुरु हो गई है। पहले तो विधानसभा में विश्वास मत हासिल करना था और अब दूसरी अग्निपरीक्षा विधानसभा में स्पीकर को लेकर था। हांलाकि ताजा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बीजेपी ने अपने अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया है, जिसके बाद विधानसभा में महाविकास अघाड़ी के स्पीकर को निर्विरोध चुन लिया गया है।

 

 

आपको बता दें कि महाष्ट्र विधानसभा में स्पीकर पद के लिए महाविकास अघाड़ी ने नाना पटोले का नामांकन दाखिल किया था, तो वहीं भारतीय जनता पार्टी की तरफ से किशन कथोरे ने नामांकन दाखिल किया था।

सुबह साढ़े दस बजे नामांकन वापस लेने का वक्त तय था। बीजेपी ने कहा कि अन्य पार्टियों के अनुरोध को देखते हुए स्पीकर चुनाव निर्विरोध कराए जाने का फैसला किया गया। इसके लिए सभी दलों की एक बैठक हुई जिसमें यह निर्णय हुआ।

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी की वारदातने पूरे देश को हिला कर रख दिया है. एक बार फिर से सात साल पुराने निर्भया कांड की खौफनाक वारदात को देश को याद दिला दिया. दरअसल, हैदराबाद में एक महिलावेटनरीडॉक्टर के साथ गैंगरेप कर उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी गई.हालांकि इस मामले में पुलिस ने वारदात में शामिल चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. अब इन चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा. हालांकि पुलिस का कहना है कि वो इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लेकर जाएगी.

वहीं, पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि किस तरह से इन हैवानों ने इस घटना को अंजाम दिया.साइबराबाद पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और पुष्टि की है कि महिला के साथ हत्या से पहले गैंगरेप किया गया था.हिरासत में लिए गए लोगों में एक ट्रक ड्राइवर और एक क्लीनर शामिल हैं. हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में टोंडुपल्ली टोल प्लाजा केपास महिला डॉक्टर के साथ इस घटना को अंजाम दिया गया. और उसके बाद शव को 25 किलोमीटर दूर ले जाकर रंगा रेड्डी जिले के चटनपल्ली पुल पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया.

साथ ही पुलिस ने इस मामले में बताया कि आरोपियों की पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के रूप में हुई है. पुलिस ने इस बात की भी पुष्टि की है कि आरोपियों ने अपराध को अंजाम देने के दौरान शराब पी रखी थी. इस घटना का मुख्य आरोपी आरिफ है.

कैसे बनाया घटना को अंजाम देने के लिए प्लान

साइबराबाद पुलिस के मुताबिक चारों लड़के टोल प्लाजा पर खड़े थे. तब इन हैवानों ने महिला डॉक्टर को पार्किंग के पास देखा था. उन्होंने वहां शराब पी और गैंगरेप का प्लान बनाया. नवीन नाम के लड़के ने महिला डॉक्टर की स्कूटी को पंक्चर कर दिया था. रात 9.18 बजे के करीब महिला डॉक्टर अपनी स्कूटी लेने पहुंचीं. लेकिन गाड़ी पंक्चर थी तो आरिफ ने मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया. शिवा नाम का लड़का स्कूटी लेकर गया और बताया कि दुकान बंद हो चुकी है.

बहन को दी थी जानकारी

वेटनरी डॉक्टर ने अपनी बहन को रात 9:30 बजे फोन कर जानकारी दी थी कि उसकी स्कूटी का टायर पंक्चर हो गया है. एक व्यक्ति ने मरम्मत के लिए स्कूटी ले ली है, मगर उसने दारू पी रखी है और उसके आसपास कई ट्रक ड्राइवर भी आ गए हैं. उसे डर लग रहा है.उसकी बहन ने पीड़िता को सलाह दी कि वो आउटर रिंग रोड से बाहर आए और अपने पास के टोल प्लाजा पर जाए, वहां वो सुरक्षित रहेगी. लेकिन इसके बाद पीड़िता की छोटी बहन ने उसे दोबारा फोन किया, तो उसका मोबाइल बंद था.

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के बाद अब शिवसेना की नजर बीजेपी शासित गोवा पर है. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र की राजनीति खत्म हो गई है, अब हमारी नजर गोवा की राजनीति पर है. हम पूरे देश में गैर बीजेपी मोर्चा बनाना चाहते हैं. इसकी शुरुआत महाराष्ट्र से हो गई है. अब हमारा ध्यान गोवा पर है. गोवा के बाद हम पूरे देश में फ्रंट बनाएंगे.

संजय राउत ने कहा कि तीन विधायकों के साथ गोवा फॉरवर्ड पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री विजई सरदेसाई, शिवसेना के साथ गठबंधन कर रहे हैं. एक नया राजनीतिक मोर्चा गोवा में आकार ले रहा है, ठीक वैसे ही जैसे महाराष्ट्र में हुआ था. जल्द ही गोवा में आपको एक चमत्कार दिखाई देगा।

गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजई सरदेसाई ने कहा कि घोषणा करने के बाद सरकार बदलती नहीं है. यह अचानक होता है. महाराष्ट्र में जो हुआ, वह गोवा में भी होना चाहिए. विपक्ष को साथ आना चाहिए. हम संजय राउत से मिले. 'महा विकास अगाड़ी' का गठन किया गया है, जिसे गोवा तक भी बढ़ाया जाना चाहिए.

गोवा का सियासी समीकरण

40 सदस्यीय गोवा विधानसभा का चुनाव 2017 में हुआ था. इस चुनाव में बीजेपी ने 13 और कांग्रेस ने 17 सीटों पर जीत दर्ज की थी. महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी ने 3, गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने 3 और एनसीपी ने एक सीट पर जीत दर्ज की थी. तीन सीटें निर्दलीयों के खाते में गई थी.

केंद्र सरकार के तमाम उपायों के बावजूद प्याज की कीमतें कम नहीं हो रही है. लोकल मार्केट में प्याज की कीमत 120 से 150 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई है. प्याज की आसमान छूती कीमतों के बीच गुजरात की आर्थिक राजधानी सूरत में प्याज की चोरी का सनसनीखेज मामला सामने आया है.

सूरत के पालनपुर पाटिया इलाके में स्थित सब्जी मंडी से गुरुवार दोपहर 250 किलो प्याज अचानक गायब हो गई. सब्जी बेचने वाले प्रह्लाद भाई कई साल से इसी मंडी में सब्जी का व्यापार करते हैं, लेकिन कभी भी सब्जी ऐसे गायब नहीं हुई.

यह पहली बार था कि यहां सुबह रखी गई प्याज शाम होते-होते गायब हो गई. जब आस-पास के लोगों से पूछताछ की तो पाया कि प्याज की चोरी हो गई है. प्रह्लाद भाई ने बताया कि ये पहली बार है कि इस तरह से मार्केट में रखी प्याज की एक-दो नहीं बल्कि 50-50 किलो की 5 बोरियां गायब हो गई हैं. इससे उन्हें आर्थिक नुकसान के साथ-साथ मानसिक तौर पर भी झटका लगा है.

मंडी में प्याज की चोरी की शिकायत के बाद सीसीटीवी फुटेज खंगालने से पता चला कि दुकान के सामने रखी प्याज की 50-50 किलो की 5 बोरियां चोर लेकर भागे हैं. फिलहाल पुलिस चोर का पता लगाने की कोशिश में जुटी हुई है.

सेब से दोगुने दाम में बिक रहा प्याज

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्याज सेब से दोगुने दाम में बिक रहा है. सेब जहां 40 से 60 रुपये किलो मिल रहा है वहीं प्याज की कीमत 80 से 100 रुपये हो गई है. दिल्ली के आजादपुर मंडी में पिछले साल 28 नवंबर 2018 में प्याज का थोक भाव जहां 2.50-15 रुपये प्रति किलो था वहां गुरुवार को 29-57.50 रुपये प्रति किलो था. वहीं दिल्ली-एनसीआर के बाजारों में खुदरा प्याज 70-100 रुपये प्रति किलो बिक रहा था.

भोपाल से बीजेपी सांसद और हिन्दू नेता के नाम से प्रख्यात साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकूर के जिस विवादित बयान पर प्रधानमंत्री मोदी ने ये कहा कि “मैं साध्वी को मन से कभी माफ नहीं करुंगा” एक बार फिर विवादों में आ गया है।

प्रज्ञा ने एक बार फिर संसद में नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा। साध्वी के इस बयान पर विपक्ष ने बीजेपी पर हल्ला बोल दिया है। वहीं बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञा के इस पर बयान पर कार्यवाई किया है। बीजेपी ने प्रज्ञा ठाकूर को गृहमंत्रालय कमेटी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। और प्रज्ञा सिंह ठाकुर को शीतकालीन सत्र के बाकी दिनों के लिए सभी संसदीय दल की बैठकों में भाग लेने से रोक दिया है।

बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि संसद में कल का उनका बयान निंदनीय है। बीजेपी कभी भी इस तरह के बयान या विचारधारा का समर्थन नहीं करती है।

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड के सांसद राहुल गांधी ने प्रज्ञा के विवादित बयान पर कहा कि 'मैं उस महिला के बारे में नहीं बोलना चाहता। यह RSS और बीजेपी की आत्मा में है। वह कहीं ना कहीं से निकलेगा। वह गांधी जी की कितनी भी पूजा करें। उनकी आत्मा संघ की है। मैं अपना समय खराब नहीं करना चाहता।

वहीं राज्यसभा सांसद और आप नेता संजय सिंह ने सदन में साध्वी प्रज्ञा के बयान पर चर्चा करने की अपील की थी जिसे सभापति ने यह कहते हुए नामंजूर कर दिया कि वह बयान दूसरे सदन में दिया गया था।

Page 1 of 57