Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

जानिए कब और कैसे करें, करवाचौथ की पूजा

करवा चौथ का व्रत सुहागनों के लिए काफी विशेष महत्व रखता है। ये व्रत महिलाए अपने पति की लम्बी आयु के लिए रखती है। साथ ही इसको रखने से हर मनोकामनाएं पूर्ण होती है। कहते हैं कि अगर पूरे विधि-विधान से इस व्रत को रखा जाए तो जीवन साथी के लिए अधिक लाभदायक होता है।

Image result for karva chauth 2019

इस दिन महिलाएं दिन भर भूखी-प्‍यासी रहकर अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं. इस दिन पूरे विधि-विधान से माता पार्वती और भगवान गणेश की पूजा-अर्चना करने के बाद करवा चौथ की कथा सुनी जाती है। रात के समय चंद्रमा को अर्घ्‍य देने के बाद ही यह व्रत संपन्‍न होता है। हर साल की तरह इस बार भी करवा चौथ की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इस बार करवा चौथ पर पूरे 70 साल बाद मंगल योग बन रहा है. ज्‍योतिषियों का कहना है कि साल 2019 के करवा चौथ में रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग है, जिसे बेहद फलदाई माना जाता है। इस दिन महिलाएं दिन भर भूखी-प्‍यासी रहकर अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं. इस दिन पूरे विधि-विधान से माता पार्वती और भगवान गणेश की पूजा-अर्चना करने के बाद करवा चौथ की कथा सुनी जाती है. फिर रात के समय चंद्रमा को अर्घ्‍य देने के बाद ही यह व्रत संपन्‍न होता है. मान्‍यता है कि करवा चौथ का व्रत रखने से अखंड सौभाग्‍य का वरदान मिलता है. हर साल की तरह इस बार भी करवा चौथ की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. इस बार करवा चौथ पर पूरे 70 साल बाद मंगल योग बन रहा है. ज्‍योतिषियों का कहना है कि साल 2019 के करवा चौथ में रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग है, जिसे बेहद फलदाई माना जाता है।

Image result for karva chauth 2019

जानिए करवा चौथ की तिथि और शुभ मुहूर्त

करवा चौथ की तिथि: 17 अक्‍टूबर 2019
चतुर्थी तिथि प्रारंभ: 17 अक्‍टूबर 2019 (गुरुवार) को सुबह 06 बजकर 48 मिनट से

चतुर्थी तिथि समाप्‍त: 18 अक्‍टूबर की सुबह  सुबह 07 बजकर 29 मिनट तक।
सामग्री इस प्रकार है-

सामग्री इस प्रकार है- मिट्टी का करवा व ढक्‍कन, पानी का लोटा, गंगाजल, दीपक, रूई, अगरबत्ती, चंदन, कुमकुम, रोली, अक्षत, फूल, कच्‍चा दूध, दही, देसी घी, शहद, चीनी,  हल्‍दी, चावल, मिठाई, चीनी का बूरा, मेहंदी, महावर, सिंदूर, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, छलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलुआ और दक्षिणा के पैसे।

Image result for pooja thali

करवा चौथ की पूजा विधि?

  • करवा चौथ वाले दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्‍नान कर लें.
  • सूर्योदय से पहले सरगी ग्रहण करें और फिर दिन भर निर्जला व्रत रखें।
  • जल से भर हुआ लोट रखें।
  • रोली से करवा पर स्‍वास्तिक बनाएं।
  • अब गौरी-गणेश और चित्रित करवा की पूजा करें।
  • करवा पर 13 बिंदी रखें और गेहूं या चावल के 13 दाने हाथ में लेकर करवा चौथ की कथा कहें या सुनें।
  • कथा सुनने के बाद करवा पर हाथ घुमाकर अपने सभी बड़ों का आशीर्वाद लें और करवा उन्हें दे दें.
  • चंद्रमा को अर्घ्‍य देते वक्‍त पति की लंबी उम्र और जिंदगी भर आपका साथ बना रहे इसकी कामना करें।
  • पति को प्रणाम कर उनसे आशीर्वाद लें और उनके हाथ से जल पीएं।

 

 

 

 

 

Rate this item
(0 votes)
Last modified on Wednesday, 16 October 2019 16:14