Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

महाराष्ट्र में राजनीतिक उठक-पठक के चलते शिवसेना के नेता संजय राउत ने महाराष्ट्र सरकार को लेकर एक बड़ा बयान दिया है । बता दें कि, संजय राउत ने बीजेपी पर निशाना साधे हुए कहा कि, बीजेपी विपक्ष में बैठने के लिए तैयार है लेकिन 50-50 पर अपना वादा निभाना नहीं चाहती है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के राजनीतिक हालात के लिए हम नहीं बीजेपी जिम्मेदार है ।

संजय राउत ने कहा कि, बीजेपी से चुनाव से पहले जो करार था बीजेपी अब उसे मानने को तैयार नहीं तो ऐसे मैं अब बीजेपी से कौन सा रिश्ता रहा'  एनसीपी सपोर्ट पर संजय राउत ने कहा, जो पार्टियों कल तक कह रही थीं कि राज्य में किसी हालात में बीजेपी का सीएम नहीं होने देंगे उनके लिए आज परीक्षा की घड़ी है ।

वहीं इस मुद्दे पर अरविंद सावंत ने कहा कि, चुनाव लोकसभा चुनाव से पहले सीटों के बंटवारे और सत्ता के बंटवारे को लेकर एक फार्मूला तय हुआ था। यह फार्मूला दोनों को स्वीकार था। अब इस फार्मूले से इनकार कर शिवसेना को झूठलाने की कोशिश की जा रही है ।

अयोध्या फैसला आने के बाद जिस तरह जनता ने इसका दिल से स्वागत किया । उसी तरह बॉलिवुड में भी सभी मशहूर कलाकारों ने इस फैसले की सराहना की । इसके अलावा बॉलिवुड कलाकारों ने लोगों से इस फैसले को स्वीकार करने की अपील भी की ।

बता दें कि, बॉलिवुड के मशहूर एक्टर फरहान अख्तर, तापसी पन्नू, मधुर भंडारकर से लेकर कई बड़े कलाकारों ने इस मामले में ट्वीट कर लोगों से अपील की । तापसी पन्नू ने ट्वीट कर लिखा कि, अयोध्या के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट की सराहना। आवश्यक कदम उठाए जाएं। अब उन मुद्दों पर काम करने की दिशा में कदम बढ़ाते हैं जो हमारे देश को रहने योग्य सबसे बेहतर जगह बनाने में मदद करेंगे ।

वहीं फरहान अख्तर ने लिखा कि, इससे संबंधित सभी से विनम्र निवेदन, आज अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करें। चाहें यह आपके पक्ष में हो या विपक्ष में, इसे गौरव के साथ स्वीकार करें। एक इंसान के तौर पर हमें इससे अब आगे बढ़ने की जरूरत है, जय हिंद। मधुर भंडारकर ने कहा कि, अयोध्या मसले पर सम्माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा लिए गए सही फैसले का स्वागत करता हूं। लंबे समय से विचाराधीन मुद्दे का अन्तत: समाधान हुआ । ऐसे ही कई कलाकारों ने ट्वीट कर लोगों से अपील की ।

चक्रवाती तूफान 'बुलबुल' (Bulbul Cyclone) ने शनिवार को पश्चिम बंगाल में दस्तक दे दी । इसके चलते पश्चिम बंगाल के कई क्षेत्रों में भारी बारिश हो रही है । जिससे कई तरह के नुकसान हो रहे हैं । इसी बीच आज पीएम मोदी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिले ।

इस मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने पश्चिम बंगाल इस आपदा की घड़ी में हर संभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया । पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि, , ‘भारत के पूर्वी हिस्सों में चक्रवात की स्थिति और भारी बारिश के मद्देनजर उत्पन्न हुई स्थिति की समीक्षा की’ ।

पीएम मोदी ने कहा कि, उन्होंने चक्रवात ‘बुलबुल’ के कारण उत्पन्न हुई स्थिति पर ममता बनर्जी से भी बातचीत की । इसके साथ ही उन्होंने कहा कि,‘ केन्द्र द्वारा हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. मैं हर किसी की सुरक्षा और तंदुरुस्ती की कामना करता हूं। बता दें कि, चक्रवात ‘बुलबुल’ ने शनिवार देर रात पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में दस्तक दी थी ।

अयोध्या मामले पर फैसला आने के बाद एआईएमआईएम (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने पलटवार किया । उन्होंने कहा कि, कुछ लोग तालिबानी मानसिकता के रोग से पीड़ित हैं ।

आपको बता दें कि, ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिप्पणी देते हुए कहा था कि, संघ परिवार अब मथुरा और काशी सहित अन्य मस्जिदों को निशाना बनाएगा। हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने आगाह किया कि देश हिंदू राष्ट्र की राह पर आगे बढ़ रहा है । तो वहीं नकवी ने उनके इस बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि, "इन लोगों को समझना चाहिए कि देश किसी भी व्यक्ति को हमारी शांति, सद्भाव और भाईचारे को बिगाड़ने की अनुमति नहीं देगा" ।

नकवी ने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किए एक वीडियो संदेश में कहा, "अयोध्या पर फैसला आ चुका है। हमें इसे किसी के लिए जीत या हार के रूप में नहीं देखना चाहिए। इस कानूनी फैसले को नुकसान के रूप में देखने से या जीत के जश्न से बचना चाहिए" ।

पीएम मोदी ने अयोध्या फैसले पर शनिवार को संबोधन कर देश को बड़ा संदेश दिया । इस दौरान पीएम मोदी ने सभी देशवासिओं से शांति बनाने की अपील की है । पीएम मोदी ने कहा कि, पूरे देश की ये इच्छा थी कि अयोध्या मामले में अदालत में हर रोज सुनवाई हो, और आज फैसला आ चुका है ।

पीएम मोदी ने कहा कि, दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया और उस प्रक्रिया का आज समापन हुआ है। पूरी दुनिया मानती है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। फैसला आने के बाद जिस तरह से हर वर्ग के लोगों ने खुले दिल से इसे स्वीकार किया है, भारत के परंपरा को दिखाता है ।

पीएम मोदी ने कहा कि, अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने सभी की बाते सुनी जिसके आधार पर आज ये फैसला लिया । उन्होंने कहा कि, ये देश की जीत है किसी जाति या धर्म की नहीं । आज 9 नवंबर है। ये वही तारीख है जब बर्लिन की दीवार गिरी थी। दो विपरीत धाराओं ने एकजुट होकर नया संकल्प लिया था। आज 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर की शुरुआत हुई है। इसमें भारत और पाकिस्तान दोनों का योगदान रहा है। ये तारीख हमें साथ रहकर आगे बढ़ने का संदेश दे रही है ।

पीएम मोदी ने कहा कि आज की तारीख ये भी संदेश देती है कटुता का कोई स्थान नहीं है। हर स्थिति में धैर्य बनाए रखना जरूरी है। कोर्ट का ये फैसला हमारे लिए नया सवेरा लेकर आया है। इस विवाद पर कई पीढ़ियों पर असर पड़ा है। लेकिन हमें ये संकल्प लेना होगा कि हम नए भारत का निर्माण करते हैं ।

अयोध्या मामले पर जहां पूरे भारत ने उसका सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकार किया । वहीं इस फैसले पर पूरे भारत में धार्मिक विरोध बढ़ाने के लिए एआईएमआईएम (AIMIM) नेता और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अयोध्या मामले पर आए फैसले को स्वीकार ना करते हुए असहमति जताई ।  

उन्होंने कहा कि, वह सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले से सहमत नहीं है। ओवैसी, 'हमारा संविधान में पूरा विश्वास है, हम अपने कानूनी हक के लिए लड़ रहे थे हमें पांच एकड़ का दान नहीं चाहिए'।  ओवैसी ने कहा कि हमें (मुस्लिमों को) पांच एकड़ जमीन ऑफर ठुकरा देना चाहिए।

बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को 70 साल से चले आ रहे विवादित जमीन अयोध्या राम जन्मभूमी पर अपना फैसला सुना दिया। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर के हित में फैसला लिया है। कोर्ट ने मुस्लिमों को अयोध्या में 5 एकड़ मस्जिद बनाने के लिए जमीन दी है ।

अयोध्या मामले में फैसला आने के बाद से लगातार सभी नेता भारत से शांत रहने की अपील कर रहे हैं । वहीं अब फैसले के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत का भी इस आयोध्या मामले पर बड़ा बयान सामने आया है ।

मोहन भागवत ने कहा है कि, आरएसएस सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करता है। कोर्ट में सभी पहलुओं पर विचार हुआ है. हमें झगड़ा विवाद समाप्त करना है। अयोध्या की सीमा के अंदर ही मस्जिद बनाए जाने के सवाल पर भागवत ने कहा कि जमीन हमें नहीं देनी है सरकार को देनी है। हम पहले कोर्ट के निर्णय का अध्ययन करेंगे। आगे का काम सरकार देखेगी ।

उन्होंने कहा कि, हम कुछ नहीं चाहते कि मस्जिद की जमीन कहां मिले। हम सिर्फ मंदिर चाहते हैं वो हमें मिल गया है। वहीं काशी और मथुरा के विवाद पर भागवत ने कहा कि, संघ किसी कार्य को नहीं करता है. संघ आंदोलन का हिस्सा बनता है। आगे हम अपने भविष्य निर्माण में लग जाएंगे ।

कई समय से चले आ रहे इस लंबे इंतजार के बाद आखिरकार सुप्रीम कोर्ट अयोध्या विवादित जमीन पर अपना फैसला सुना दिया । लेकिन इस फैसले से पहले सरकार ने पूरे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया था । जिससे किसी भी तरह का कोई बवाल ना हो । लेकिन फैसला सामने आने के बाद सभी लोगों से पीएम मोदी ने शांति बनाए रखने की अपील की है ।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि, यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा, पीएम मोदी ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील भी की है । इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि, 'देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें' ।

पीएम मोदी ने कहा, 'यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है। भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है' । बता दें कि, अयोध्या ने राम मंदिर के हित में अपना फैसला सुनाया है । इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि, मुस्लिमों को बाबरी मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन अयोध्या में दी जाएगी ।

आखिरकार इतने लंबे इंतजार के बाद राम जन्मभूमि विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया । हिंदू पक्षकारों के पेश किए गए सूबूतों के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर पर फैसला सुनाया है । सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि, मुस्लिम पक्षकार अपने सबूत बाबरी मस्जिद के नहीं पेश कर पाया ।

केंद्र सरकार ने कहा है कि, राम मंदिर मामले को लेकर एक ट्रस्ट बनाया जाए । जो कि, राम मंदिर निर्माण के कार्य की जिम्मेदारी लेंगे । यानी कोर्ट का फैसला राम मंदिर के पक्ष में गया है और अब केंद्र सरकार को आगे की रूपरेखा तय करनी है । वहीं दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट का ये भी कहना है कि, अयोध्या में ही मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ जमीन बाबरी मस्जिद बनाने के लिए दी जाएगी ।

मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि, हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन फैसले में कई विरोधाभास है, लिहाजा हम फैसले से संतुष्ट नहीं है। उन्होंने कहा कि, हम फैसले का मूल्यांकन करेंगे और आगे की कार्रवाई पर फैसला लेंगे ।

अयोध्या मामले पर फैसले की तारीख नजदीक आ रही है । ऐसे में सबकी जुबान में सिर्फ अयोध्या का जिक्र हो रहा है । 8 नवंबर से 17 नवंबर के बीच ये साफ हो जाएगा कि, आखिर अयोध्या भगवान राम की वापसी होगी या नहीं ।

बता दें कि, अयोध्या मामले में सुनवाई के दौरान यूपी सरकार ने पूरे उत्तर प्रदेश की सुरक्षा को देखते हुए धारा 144 लागू कर दी थी । वहीं अब सरकार ने अयोध्या की सुरक्षा को लेकर एक और बड़ा फैसला लिया है । बता दें कि, अयोध्या मामले में फैसला आने से पहले कड़ी सुरक्षा कर दी गई है ।

अयोध्या को लेकर स्थानीय प्रशासन ने पीस कमेटियां बनाई हैं. इन कमेटियों में शामिल लोग जिले के गांवों में जाकर लोगों से शांति और प्रेम बनाए रखने की अपील कर रहे हैं। बाहर के जिलों में दर्जनों की संख्या में अस्थाई जेल परिसरों का निर्माण किया गया है। स्कूल और प्राइवेट बिल्डिंगों के को अस्थाई जेल के लिए चिन्हित किया गया है। अयोध्या के हर इलाके में फोर्स की तैनाती की गई है ।

करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान का भारत को लेकर लगातार रूख बदलता हुआ नजर आ रहा है । कुछ दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि, करतारपुर साहिब आने के लिए किसी भी भारतीय को पासपोर्ट लाने की जरूरत नहीं है । लेकिन अब इमरान खान के इस बयान को पाकिस्तानी सेना ने झूठा साबित कर दिया है ।

दरअसल पाकिस्तानी सेना ने भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट को अनिवार्य कर दिया है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा है कि, करतारपुर कॉरिडोर आने वाले भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की जरूरत होगी ।

आपको बता दें कि, इमरान खान ने ट्वीट कर लिखा था कि, करतारपुर आने वाले भारतीयों को पासपोर्ट की जरूरत नहीं है, बस उनके पास एक वैध दस्तावेज होना चाहिए। इसके साथ ही इमरान खान ने कहा था कि श्रद्धालुओं को 10 दिन पहले रजिस्ट्रेशन कराने की बाध्यता से छूट दे दी गई है। इमरान की पासपोर्ट छूट को उनकी सेना ने ही मानने से इनकार कर दिया है ।

महाराष्ट्र में सीएम पद को लेकर मची सियासी हलचल के बीच आज केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात करेंगे । सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस बीच महाराष्‍ट्र बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष चंद्रकांत पाटिल के नेतृत्‍व में पार्टी के वरिष्‍ठ नेता राज्‍यपाल से आज दोपहर 2 बजे मुलाकात करेंगे ।

बीजेपी राज्‍यपाल की मुलाकात पर बयान देते हुए शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि, अगर वे बहुमत साबित कर पाएं तो हमारी शुभकामनाएं हैं। वैसे महाराष्‍ट्र में अगला मुख्‍यमंत्री शिवसेना का होगा। शिवसेना का अगला कदम क्‍या होगा वह आज उद्धव ठाकरे अपने विधायकों को बताएंगे ।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, खबरें सामने आ रही थी कि, शिवसेना को अपने विधायकों के टूटने का डर सताने लगा है । यही वजह है कि आज मातोश्री पर विधायक दल की मीटिंग के बाद शिवसेना के सभी विधायकों को किसी खास जगह शिफ्ट किया जाएगा । इन खबरों को खारिज करते हुए संजय राउत ने परोक्ष रूप से बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि यदि किसी में हिम्‍मत हो तो वह हमारे विधायकों को तोड़ कर दिखाए ।

पंजाब नैशनल बैंक(PNB) से जुड़े  13,500 करोड़ रुपये के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी की जमानत पर याचिका एक बार यूके की अदालत ने खारिज कर दिया है । वहीं, जमानत पर अड़ंगा अड़ाने को लेकर नीरव मोदी ने अदालत में एक नया खेल खेला ।

दरअसल नीरव मोदी ने याचिका खारिज होने पर कोर्ट में आपा खो दिया और धमकी दी कि अगर उसे भारत को प्रत्यर्पित किया गया, तो वह आत्महत्या कर लेगा । नीरव मोदी के वकील हुगो कीथ ने कहा कि नीरव को वेंड्सवर्थ जेल में दो बार पीटा गया। उन्होंने कहा कि नीरव की एक बार अप्रैल में और दूसरी बार बीते मंगलवार को पिटाई हुई। दावा किया गया कि जेल के जिम्मेदार अधिकारियों ने इस मामले में कोई कदम नहीं उठाया ।

आपको बता दें कि, नीरव मोदी ने ये पांचवी बार जमानत के लिए याचिका दायर की थी । लेकिन इन सबके बावजूद कोर्ट ने जमानत देने से साफ इंकार कर दिया। जिसके चलते नीरव मोदी ने कोर्ट में अपना आपा खो दिया । जाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने आरोप लगाया था कि नीरव मोदी और उसके चाचा मेहुल चोकसी ने कुछ बैंक कर्मचारियों की संलिप्तता के साथ 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है ।

पाकिस्तान की तरफ से बार-बार करतारपुर कॉरिडोर को लेकर रूख बदलता हुआ नजर आ रहा है । कभी पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर के जरिए ये जताता है कि, वह भारत के साथ संबंध बनाने के प्रयास कर रहा है । लेकिन, हकीकत क्या है ये सभी जानते हैं । आए दिन सीमा पर फायरिंग कर पाकिस्तान ने बवाल मचा रखा है । इसी बवाल के बीच पाक सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर एक वीडियो जारी किया है ।

बता दें कि, पाक सरकार की इस वीडियो के जरिए सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है । इस वीडियो को लेकर बवाल मचने का मुख्य कारण है कि, इसमें खालिस्तान समर्थक नेताओं जनरैल सिंह भिंडरावाला, मेजर शहबेग सिंह और अमरीक सिंह खालसा के पोस्टर नज़र आ रहे हैं ।

इसके अलावा इस वीडियो में पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू को भी दिखाया गया है। करतारपुर कॉरिडोर की ग्राउंडब्रेकिंग सेरेमनी में नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के न्योते पर वहां गए थे। तभी वह पाकिस्तानी सेना के प्रमुख कमर बाजवा से गले मिले थे, जिसपर विवाद हुआ था ।

अयोध्या मामले में अभी सुप्रीम कोर्ट की तरफ से फैसला आने में कुछ ही दिन बाकि रह गए हैं । लेकिन इस फैसले का इंतजार करने के बजाय बयानबाजी का दौर एक बार फिर से शुरू हो गया है । दरअसल, जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने इस मामले में बड़ा बयान दिया है ।

उन्होंने कहा है कि, बाबरी मस्जिद, कानून और न्याय की दृष्टि में एक मस्जिद थी। करीब 400 साल तक मस्जिद थी, इसलिए शरीयत के लिहाज आज भी वो एक मस्जिद है और कयामत तक मस्जिद ही रहेगी। अरशद मदनी ने कहा कि बाबरी मस्जिद का केस केवल भूमि का नहीं है बल्कि यह मुकदमा देश के दस्तूर और कानून का है ।

अयोध्या मामले के साथ कश्मीर मुद्दे पर भी चिंता जताते हुए अरशद मदनी ने कहा कि, सरकार को कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए बातचीत का दरवाजा खुला रखना चाहिए और कश्मीरियों के मुद्दे को हर करना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाने का मामला सुप्रीम कोर्ट में है और उम्मीद है कि कश्मीरियों को न्याय मिलेगा ।

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर अभिषेक बच्चन की काफी समय से कोई फिल्म नहीं आई है । इसी मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर एक यूजर ने उन्हें ऐसा कमेंट कर दिया जिसका उन्होंने उसे करारा जवाब दिया ।

दरअसल आए दिन सोशल मीडिया पर यूजर्स सेलिब्रिटिज को कई तरह के भद्दे कमेंट करते रहते हैं । वहीं अब इसका शिकार हुए अभिषेक बच्चन ने एक यूजर को सोशल मीडिया पर मजेदार जवाब दिया । बता दें कि, एक यूजर ने अभिषेक की एक पोस्ट पर कमेंट करते हुए उन्हें बेरोजगार कह दिया था ।

दरअसल, अभिषेक ने ट्विटर पर एक फोटो शेयर की थी। इस फोटो में लिखा था, 'एक मकसद रखो, एक लक्ष्य रखो, कुछ इतना असंभव जो तुम पूरा करना चाहते हो, फिर दुनिया को यह साबित कर के दिखाओ कि वह असंभव नहीं है' । उनका यह पोस्ट एक यूजर को पसंद नहीं आया और उन्होंने अभिषेक पर कमेंट किया, 'सोमवार को जो इंसान खुश रहता है आप उन्हें क्या कहते? बेरोजगार'।

 यूजर के इस कमेंट पर अभिषेक ने मजेदार जवाब दिया, 'मैं नहीं मानता, मेरा मानना है उसे ऐसा व्यक्त‍ि कहेंगे, जिसे हर वो काम करना पसंद है जो वह कर रहा होता है'। एक्टर के इस जवाब को अन्य यूजर्स ने सराहा है। लोगों ने अभिषेक के प्रात्साहित करने वाले पोस्ट की तारीफ की है ।  

महाराष्ट्र में सीएम पद को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई । महाराष्ट्र चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद भी अब तक महाराष्ट्र के सीएम पद को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच गहमागहमी देखने को मिल रही है । इसी मुद्दे पर चर्चा करने को लेकर शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता शरद पवार से मुलाकात की ।

पवार से मुलाकात के बाद संजय राउत ने कहा कि वह राज्य और देश के एक वरिष्ठ नेता हैं। महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति को लेकर वह चिंतित हैं। हमने इस पर एक संक्षिप्त चर्चा की है। शरद पवार से मिलने के बाद संजय राउत उद्धव ठाकरे से मिलने मातोश्री पहुंचे हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, शिवसेना, एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बना सकती है। वहीं, कांग्रेस बाहर से समर्थन कर सकती हैं। दूसरी तरफ, भाजपा अपनी सहयोगी शिवसेना को किसी भी सूरत में मुख्यमंत्री का पद नहीं देना चाहती। पार्टी शिवसेना को अधिक से अधिक डिप्टी सीएम और मंत्रिमंडल में 40 फीसदी हिस्सेदारी देने पर ही सहमत होगी।  

लेकिन बात अगर शिवसेना की करें तो शिवसेना लगातार 50-50 फॉर्मुले पर अड़ी हुई है । शिवसेना की मांग है कि, महाराष्ट्र का सीएम शिवसेना का ही हो । लेकिन शिवसेना की इस मांग को भाजपा मानने को बिलकुल तैयार नहीं है । जिसके चलते लगातार शिवसेना-भाजपा के बीच तकरार जारी है ।

दिल्ली-पुलिस के जवान जहां मंगलवार को हुए हंगामे के बाद घर वापस लौट आए हैं । तो वहीं आज रोहिणी कोर्ट के बाहर वकील सड़कों पर प्रदर्शन करने पर उतर आए हैं । आपको बता दें कि, मंगलवार को पुलिसकर्मी के पीटने पर सभी पुलिसकर्मियों का हंगामा जारी रहा ।

अब वकीलों का कहना है कि, इस हंगामे के दौरान पुलिस ने जिस तरह सभी वकीलों की पिटाई की । उस वीडियो को मीडिया ने नहीं दिखाया । बता दें कि राजधानी की सभी जिला अदालतों के वकील हड़ताल पर हैं. राजधानी की छह जिला अदालतों जिसमें तीस हजारी, कड़कड़डूमा, साकेत, द्वारका, रोहिणी और पटियाला हाउस के वकीलों ने काम का बहिष्कार किया ।

इस हड़ताल के दौरान वकीलों ने एक युवक की भी पिटाई कर दी । बता दें वकीलों और पुलिस के बीच हुए शनिवार को तीस हजारी कोर्ट में हुए विवाद के बाद हाईकोर्ट ने वकीलों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने से जुड़ा आदेश पारित किया था ।

दिल्ली में वकीलों और पुलिसकर्मियों की हुई झड़प के बाद आज पुलिसकर्मी सड़कों पर प्रदर्शन करने पर उतर आए हैं । इतना ही नहीं, बल्कि उनके साथ इस प्रदर्शन में उनके परिवार वाले भी शामिल हुए हैं। जिसके चलते सड़कों पर जाम लग गया है और यात्रियों को आने जाने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ।

प्रदर्शन में शामिल एक महिला पुलिसकर्मियों ने कहा, 'जब हम सेफ नहीं तो दूसरों का क्या सुरक्षा देंगे' प्रदर्शन में शामिल एक सब इंस्पेक्टर की पत्नी ने कहा, अगर पुलिस सड़कों पर पिटती रही तो इसका क्या असर पड़ेगा। अपराधी पुलिस से कैसे डरेंगे ।

दरअसल सोमवार को वकीलों और पुलिस के बीच हुई में वकीलों ने मिलकर एक पुलिसकर्मी की जमकर पिटाई कर दी । जिससे उस पुलिसकर्मी को कई गंभीर चोटें आई हैं । इसी के विरोध में कई पुलिसकर्मी और उनके परिवार सड़कों पर प्रदर्शन करने पर उतर आए हैं। पुलिसकर्मी ने कहा, हमारे साथियों को बुरी तरह पीटा गया, हम चाहते हैं इस मामले में इंसाफ हो और आरोपियों को सजा मिले ।

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद से लगातार आतंकी अपनी कायराना हरकत से बाज नहीं आ रहे हैं । दूसरी तरफ बात अगर उत्तर प्रदेश की करें तो जैसा कि, सभी को पता है अयोध्या रामजन्मभूमि का फैसला नजदीक है । ऐसे में अयोध्या में आतंकी हमले की आशंका जताई जा रही है ।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, 7 आतंकियों के एक बड़े ग्रुप की नेपाल के रास्ते उत्तर प्रदेश में घुसने का खुफिया विभाग को इनपुट मिला है । कहा जा रहा है कि, जब तक सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले पर फैसला नहीं लेती तब तक अयोध्या की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है।

सात आतंकियों के इस ग्रुप में से में से पांच आतंकियों की पहचान कर ली गई है। मोहम्मद याकूब, अबू हमजा, मोहम्मद शाहबाज, निसार अहमद और मोहम्मद कौमी चौधरी नाम के आतंकियों के अयोध्या और गोरखपुर में होने की मिली जानकारी है । उत्तर प्रदेश में आतंकी हमले का अलर्ट जारी होने के बाद प्रदेश के जिलों को सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम और ऐतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। इनमें खास तौर पर काशी, मथुरा, अयोध्या और पुलिस ट्रेनिंग सेंटर्स की सुरक्षा बढ़ाने को कहा गया है ।

दिल्ली-NCR में ऑड ईवन लागू होने को लेकर जहां सियासी घमासान मचा हुआ है । तो वहीं अब सुप्रीम कोर्ट भी इस स्कीम पर सवाल उठा रहा है । सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से सवाल किया है कि, ऑड-ईवन लागू करने से प्रदूषण कैसे हटेगा ? वहीं सुप्रीम कोर्ट ये भी कहना है कि, पराली जलाने वाले किसानों से कोई सहानभूति नहीं है ।

कोर्ट ने पूछा है कि, ये स्कीम प्रदूषण रोकथाम में कैसे सहायक होगी. अगर लोग ऑटो रिक्शा और टैक्सी का इस्तेमाल करते हैं फिर इस स्कीम को लागू करने का मकसद क्या है? कोर्ट ने दिल्ली वकील से कहा कि, अगर आप प्रदूषण की रोकथाम के लिए डीजल गाड़ियों पर रोक लगाते है, तो समझ में आता है तो ऑड-ईवन स्कीम लागू करने का मकसद क्या है?

कोर्ट ने पराली जलाने को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए सख्त टिप्पणी की। कहा-किसान अपनी आजीविका के लिए दूसरों को नहीं मार सकते। अगर वो पराली जलाना जारी रखते है तो हमे ऐसे लोगों से कोई सहानुभूति नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पराली जलाने पर तुरंत रोक लगनी चाहिए जिसके लिए राज्य सरकारों को कदम उठाने होंगे ।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच लगातार सियासी घमासान मचा हुआ । जहां महाराष्ट्र में शिवसेना अपनी पार्टी का मुख्यमंत्री बनाने में एड़ी चोटी का जोर लगाने में लगी है । तो वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने भी मुख्यमंत्री पद को लेकर एक नई जंग छेड़ दी है ।

सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बीजेपी के अध्यक्ष व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शिवसेना को सीएम और गृह मंत्री का पद देने से इनकार कर दिया है । खबर ये भी सामने आ रही है कि, शिवसेना की तरफ से भाजपा से किसी भी तरह की कोई बातचीत नहीं है ।

बता दें कि, दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (amit shah) से मुलाकात के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि , मैं किसी अन्य की सरकार गठन को लेकर की गई टिप्पणी कुछ नहीं कहूंगा। उन्होंने कहा, मुझे सिर्फ यही कहना है कि नई सरकार का गठन जरूर होगा, इसका मुझे विश्वास है ।

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से आतंकियों की एक और कायराना हरकत सामने आई है । दरअसल आतंकियों ने सुरक्षाबलों निशाना बनाते हुए श्रीनगर के गोनीखन इलाके मेंम में ग्रेनेड फेंका । जिससे 15 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए ।

कश्मीर में सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए ये आतंकियों की कोई पहली साजिश नहीं है । ये दूसरी बार है जो 15 दिनों में आतंकियों ने दूसरी बार ग्रेनेड अटैक किया है । फिलहाल, घटना के बाद  घायलों को समीप के अस्पताल में भर्ती कराया गया है । जहां कुछ की हालत नाजुक बताई जा रही है ।

पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि आतंकियों ने ग्रेनेड फेंका लेकिन वह सड़क के एक किनारे जाकर गिरा। ग्रेनेड विस्फोट की चपेट में आम नागरिक आ गए जिसमें 15 लोग घायल हो गए। पुलिस और सुरक्षाबल जांच-पड़ताल में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि श्रीनगर स्थित हरि सिंह स्ट्रीट भीड़भाड़ वाला इलाका है ।

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट जैसी हिंसातमक को लेकर आज वकील हड़ताल पर हैं । इस बीच कड़कड़डूमा कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच झड़प हुई । झड़प इतनी ज्यादा थी कि, उसने हाथापाई का रूप ले लिया और वकीलों ने एक पुलिसकर्मी की जमकर पिटाई कर दी ।

मिली जानकारी के मुताबिक, इस हाथापाई के बीच वकीलों ने एक महीला पत्रकार के साथ भी बदसलुकी की । बताया जा रहा है कि, पिटाई से पुलिसकर्मी को काफी गंभीर चोटें आई हैं. हालांकि कुछ लोगों के बीच-बचाव करने के बाद पुलिसकर्मी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है ।

गौरतलब है कि शनिवार को हुए वकील और पुलिस विवाद के बाद आज पहली बार तीस हजारी कोर्ट खुल रही है। हालांकि वकीलों ने आज की हड़ताल का ऐलान शनिवार को ही कर दिया था । दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि तीस हजारी कोर्ट हिंसा मामले की न्यायिक जांच 6 सप्ताह में होगी। रिटायर जज एसपी गर्ग के नेतृत्व में जांच होगी ।

दिल्ली-NCR की मेट्रो लाइन में तकनीकी खराबी के कारण यात्रियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है । दरअसल आज दिल्ली की ब्लू लाइन के लक्ष्मी नगर (Lakshmi Nagar) स्टेशन में तकनीकी खराबी के चलते मेट्रो आधे घंटे तक रूकी रही । इससे यात्रियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा ।

मेट्रो के रूकने से यात्रियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा । काफी देर तक लोगों को स्टेशन पर खड़े हो कर इंतजार करना पड़ा । बता दें सोमवार को दिल्ली मेट्रो में और दिनों से ज्यादा लोगों के सफर करने की उम्मीद है ।

ये पहली बार नहीं है, बल्कि इससे पहले भी 2 नवंबर को ब्लू लाइन में तकनीकी खराबी के कारण मेट्रो सेवा बाधित हुई थी। इंद्रप्रस्थ से प्रगति मैदान के बीच ट्रैक मेनटेनेंस के काम के चलते ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई थी ।

महाराष्ट्र में किसकी सरकार होगी इसको लेकर काफी भाजपा और शिवसेना के बीच शह और मात का खेल जारी है । इसी सियासत महाभारत के चलते आज देवेंद्र फडणवीस अमित शाह से मुलाकात करेंगे। तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आज शरद पवार से मुलाकात करेंगी। इस दौरान वह महाराष्‍ट्र में सरकार गठन को लेकर चर्चा करेंगे ।

आपको बता दें कि, शिवसेना और भाजपा के बीच 50-50 फॉर्मुले को लेकर लगातार सियासी घमासान जारी है । आपको बता दें कि, शिवसेना ने बीजेपी को साफ कर दिया है कि वह 50-50 फॉर्मूले के आधार पर ही सरकार गठन करेगी। इसका मतलब यह है कि वह ढाई साल तक मुख्‍यमंत्री पद की कुर्सी अपने लिए चाहती है। दूसरी तरफ बदलते सियासी घटनाक्रम को देखते हुए विपक्षी कांग्रेस और एनसीपी भी रणनीति बना रही हैं ।

सोनिया गांधी और शरद पवार की इस बैठक को बेहद ही अहम माना जा रहा है । माना जा रहा है कि, शिवसेना इस वक्त भाजपा से बेहद ही नाराज चल रही है । इसी के चलते शिवसेना ने पवार के समक्ष एनसीपी की अगुवाई में सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया है। इस प्रस्ताव पर विचार करने से पूर्व एनसीपी चाहती है कि शिवसेना सार्वजनिक तौर पर भाजपा से संबंध तोड़ने की घोषणा करे। शिवसेना के इस प्रस्ताव के बाद एनसीपी ने पूरे मामले में कांग्रेस से बातचीत का मन बनाया है। इसी कड़ी में सोमवार को पवार और सोनिया की अहम मुलाकात होने वाली है।

दिल्ली-NCR में छाए हुए धूंध के चलते ना ही लोगों को सांस लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है । इसके साथ ही आसमान में छाए हुए स्मॉग से तकरीबन दर्जनों फ्लाईट डायवर्ट करनी पड़ रही है । आपको बता दें कि, दिल्ली से जाने वाली सभी फ्लाइटों को ज्यादातर जयपुर, अमृतसर और लखनऊ से डायवर्ट किया जा रहा है ।

फ्लाइट डायवर्जन होने के कारण यात्रियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है । डायवर्ट की गई सभी फ्लाइटें एयर इंडिया की हैं। रविवार को दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 900 को पार कर गया है। सुबह कई इलाकों में 100 मीटर से कम विजिबिलिटी हुई ।

बता दें कि, राजधानी दिल्ली में प्रदूषण के चलते हवा बहुत ही खराब स्तर पर पहुंच गई है। एयर क्वालिटी इंडेक्स 900 के पार चला गया है। फिलहाल इससे भी खराब स्तर पर पहुंचने के आसार लगाए जा रहे हैं। इसका मतलब ये साफ है कि, दिल्ली वाले जीने के लिए जहरीली हवा अपने फेफड़े ले रहे हैं। आज सुबह बूंदाबांदी से धुएं भरी हवाओं के छंटने की थोड़ी आस भी जगी, लेकिन ऐसा कुछ न हुआ ।

महाराष्ट्र में चुनाव जीतने के बाद से भाजपा के लिए शिवसेना का लगातार रूख बदलता हुआ नज़र आ रहा है । महाराष्ट्र में किस पार्टी का सीएम तय होगा इस को लेकर BJP-शिवसेना में घमासान मचा हुआ है । शिवसेना सीएम पद को लेकर लगातार बयानबाजी दे रही है ।

अब शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर सीएम पद को लेकर बड़ा बयान दिया है इसके साथ ही भाजपा पर भी जमकर निशाना साधा है । संजय राउत ने कहा कि, अगर इन चुनावों में शिवसेना साथ नहीं होती तो भाजपा (BJP) को 75 सीटें भी नहीं मिलतीं। उन्‍होंने आगे कहा कि, शिवसेना न तो कोई जल्‍दबाजी दिखाएगी और ना ही घुटने टेकेगी ।

संजय राउत ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि, अब तक अमित शाह का आगे ना आना एक रहस्य है । शिवसेना साथ नहीं होती तो बीजेपी को 75 सीटें भी नहीं मिलती। उन्‍होंने कहा कि, देवेंद्र फडणवीस पुलिस, सीबीआई, ईडी और आईटी की मदद से सरकार बनाने में लगे हैं। इंदिरा गांधी को कटघरे में खड़ा करने वालों का खुद वैसा हो जाना हैरानी भरा है ।

दिल्ली-NCR में बढ़ते वायू प्रदुषण से पूरे एनसीआर में धुंध छाई हुई है। इसी बीच खबर ये सामने आ रही है कि, आज बारिश से लोगों को थोड़ी राहत मिल सकती है । मौसम विभाग की माने तो, अगले 2 दिन तेज हवाएं चलेगी जिसके बाद 7 नवंबर को फिर बारिश का अनुमान है ।

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्‍ली में आज न्यूनतम तापमान 19 डिग्री दर्ज किया गया और अधिकतम तापमान 29 डिग्री तक पहुंचने का अनुमान है। हालांकि दिल्‍ली-एनसीआर के कुछ इलाकों में बीते कुछ घंटों पहले बारिश हुई, लेकिन इसके बावजूद भी लोगों को वायु प्रदूषण से राहत नहीं मिल पाई ।  

मौसम विभाग की माने तो, सोमवार को प्रदूषण में कुछ कमी आ सकती है और वायु गुणवत्ता भी सुधर सकती है। रविवार को दिल्ली के चांदनी चौक में पीएम 2.5 का लेवल 388 (बहुत खराब) और पीएम 10 का लेवल 424 (गंभीर) रहा। पूसा में पीएम 2.5 का लेवल 403 (गंभीर), पीएम 10 का लेवल 397 (बहुत खराब) रहा ।

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना और भाजपा के बीच चल रहे घमासान के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है । बता दें कि, 5 नवंबर को देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं । सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुंबई के मशहूर वानखेड़े स्टेडियम शपथ ग्रहण समारोह होगा ।

आपको बता दें कि, जब से महाराष्ट्र चुनाव के नतीजे सामने आए हैं शिवसेना का भाजपा को लेकर रूख बदलता हुआ नजर आ रहा है । गुरूवार को शिवसेना की हुई बैठक के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने इस बयान पर अड़े रहे कि महाराष्ट्र का सीएम शिवसेना का ही होगा । वहीं आज संजय राउत ने भी कहा कि, भाजपा चाहे जो भी कर ले सीएम शिवसेना का ही होगा ।

संजय राउत ने कहा, 'अगर शिवसेना ने चाहे तो वह राज्य में स्थिर सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्याबल जुटा लेगी। जनता ने राज्य में 50-50 फॉर्मूले के आधार पर सरकार बनाने के लिए जनादेश दिया है, उन्हें शिवसेना से सीएम चाहिए' ।

जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद से आतंकी किस कदर बौखलाए हुए हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि, उन्होंने जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर अपनी कायराना हरकत को अंजाम दिया है।

आतंकियों ने शुक्रवार को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में 2 गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया है। हांलाकि इस हमले में किसी के हताहत होने की खबर सामने नहीं आई है। बता दें कि, ये गाड़ी भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय नेता आदिल अहमद गनी की बताई जा रही है। इसके अलावा एक और शख्स की गाड़ी में आग लगा दी गई थी। घटना के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

ये कोई पहला मौका नहीं है जब आतंकियों ने लोगों को अपना निशाना बनाया था। इससे पहले इन आतंकियों ने कुलगाम में 5 गैर कश्मीरी मजदूरों को गोलियों से भूनकर अपना निशाना बनाया था।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर से जबसे अनुच्छेद 370 हटाया गया है। तबसे पाक परस्त आतंकी पूरी तरह बौखलाए हुए हैं और पिछले 86 दिनों में 11 लोगों की हत्या कर दी है, जिनमें 10 गैर कश्मीरी और 1 व्यक्ति जम्मू का रहने वाला था।

फिल्मजगत की मशहूर अदाकारा और अपनी खूबसूरती से लोगों के दिल में राज करने वाली ऐश्वर्या राय बच्चन का आज 46वां जन्मदिन है । बता दें कि, उनकी अभिषेक बच्चन से हुई शादी को 12 साल हो चुके हैं और उनकी एक बेटी भी है, जिसका नाम आराध्या है । ऐश्वर्या अपना जन्मदिन मनाने के लिए अपने परिवार के साथ इटली के रोम पहुंची हुई है । जिसका वीडियो उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है।

" data-instgrm-version="12">

सामने आई तस्वीरों में ऐश्वर्या का ये अंदाज बेहद ही लाजवाब लग रहा है । बता दें कि, उन्होंने आइकॉनिक नीलम की अंगूठी और एक हरी घड़ी भी पहन रखी है। उन्होंने तस्वीरों से साथ लिखा, ‘DolceVita in Rome with Longines’जारी हुए एक अन्य वीडियो में ऐश्वर्या बेटी आराध्या और पति अभिषेक को मंच पर बुलाते हुए भी दिखाई दे रहीं है। वह आराध्या को गले लगाने के बाद चुमते नजर आ रही है।

View this post on Instagram

✨❤️🎊

A post shared by AishwaryaRaiBachchan (@aishwaryaraibachchan_arb) on

" data-instgrm-version="12">
 
 
 
View this post on Instagram

✨❤️?

A post shared by AishwaryaRaiBachchan (@aishwaryaraibachchan_arb) on

आपको पहले ही यह बता दिया गया था कि ऐश्वर्या अपना जन्मदिन पति अभिषेक और बेटी आराध्या के साथ इटली में मनाएंगी। आपको बता दें कि, ऐश्वर्या ने 30 अक्टूबर को इतालवी राजधानी में एक कार्यक्रम में भाग लिया। जिसमें स्विस घड़ी ब्रांड के साथ उनके 20 साल के असोशिएशन को सम्मानित किया जाएगा।

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद भी अभी तक किसकी सरकार बनेगी इसको लेकर भाजपा-शिवसेना के बीच लगातार तकरार जारी है । यही वजह है कि, महाराष्ट्र में नई सरकार अभी तक शपथ नहीं ले पाई है । बता दें कि, जब से महाराष्ट्र चुनाव के नतीजे सामने आए हैं तबसे बीजेपी और शिवसेना में 50-50 फॉर्मूले को लेकर खींचतान जारी है ।

इस घमासान के बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का सीएम पद को लेकर बड़ा सामने आया है । आपको बता दें कि, आज शिवसेना की बैठक हुई । बैठक के दौरान उद्धव ठाकरे ने कहा कि, हमारी संख्या बल अच्छी है और सीएम पद पर हमारा हक है और हमारी ज़िद्द भी। उन्होंने कहा कि सीएम का पद हमेशा एक के लिए कायम नहीं रहता। बालासाहेब ठाकरे ने जिसे जो वचन दिया उसने उसका पालन किया। हम सत्ता के भूखे नहीं हैं, लेकिन बीजेपी से जो बात हुई उसका पालन होना चाहिए ।  

उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी, एनसीपी और दूसरे दलों के विधायक उनके संपर्क में हैं। उन्‍होंने शिवसेना विधायकों से किसी भी बात को लेकर घबराने के लिये नहीं कहा। इस मीटिंग में विधायकों ने ये भी बात उठाई कि कई जगहों पर बीजेपी के बागी उम्मीदवार की वजह से शिवसेना के उम्मीदवार हारे हैं । उन्‍होंने कहा कि लोकसभा के समय 50-50 फॉर्मूला का जो तय हुआ, बीजेपी को वो नहीं मान्य है तो क्या बात करूं. नए सिरे से बात नहीं होगी जो तय हुआ है उसी से बात शुरू होगी ।

नहाय-खाय के साथ आज यानी 31 अक्टूबर से छठ पूजा जैसा चार दिवसीय महापर्व शुरू हो जाएगा । इस महापर्व को लेकर शहरों में काफी चहल-पहल देखने को मिल रही है । आज के दिन सभी जगह गानो की गूंज से पूरा माहौल छठमय नजर आ रहा है।

आपको बता दें कि, आज के दिन श्रद्धालु गंगा स्नान कर घर में सिंधा नमक, कद्दू की सब्जी और अरवा चावल पका कर प्रसाद के रूप में उसे ग्रहण करेंगे। दूसरे दिन एक नवंबर को खरना का व्रत होगा। तीसरे दिन डूबते हुए सूर्य और चौथे दिन उगते हुए सूर्य को गंगाजल और दूध से अर्घ्य दिया जाएगा।

आज से इस पर्व के लिए सभी घरों में तरह-तरह की तैयारियां होनी शुरू हो चुकी है । इस त्योहार कई लोग अलग-अलग रिवाज के साथ मनाते हैं । लेकिन ये एक ऐसा महापर्व है जो कि सबको बांधकर रखता है । लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर घर से घाट तक तैयारियां जोरों पर है। व्रती घर की साफ-सफाई के साथ व्रत के लिए पूजन सामग्री खरीदने में जुट गए हैं।

दक्षिण दिल्ली के कालकाजी इलाके में छठ घाट बनाने को लेकर AAP और BJP के बीच बवाल हो गया । आपको बता दें कि, एमसीडी पार्क में छठ घाट बनाया जा रहा था जिसको लेकर विरोध प्रदर्शन हुआ । इस मौके पर दोनों ही पार्टियों के समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की और एक-दूसरे की जमकर पिटाई की ।

बता दें कि, आज सुबह आप सांसद संजय सिंह कालकाजी पहुंचे । इस दौरान भी आप और बीजेपी कार्यकर्ताओं में झड़प हुई । जिसके बाद संजय सिंह धरने पर बैठ गए । संजय सिंह का कहना है कि बीजेपी के लोग महाराष्ट्र में पूर्वांचलियों को पीटते हैं और अब यहां गुंडागर्दी कर रहे हैं। हमें छठ घाट बनाने से रोका जा रहा है। बीजेपी वाले हम पर चूड़ियां फेंक रहे हैं। पूरी दिल्ली बीजेपी का असली चेहरा देख रही है। मै दिल्ली का सांसद हूं। जब तक बीजेपी का असली चेहरा सामने नहीं आएगा। हम यहां से नहीं जाएंगे।

वहीं दूसरी तरफ भाजपा सासंद मनोज तिवारी ने कहा कि कल दिल्ली सरकार द्वारा भाजपा पर ये आरोप लगाया गया की अधिकृत छठ घाट बनाने के काम को भाजपा के पार्षद और कार्यकर्ताओं ने रुकवा दिया था। ये जो घटना हमारे संज्ञान में आई है, ये आरडब्ल्यू और छठ घाट बनाने वालों के बीच विवाद है। अब जिसे ज़िले की परमिशन मिलेगी वो कर लेगा। इसमें राजनीति करने का क्या फ़ायदा?

आज से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश बन गया है । जिसके बाद से अब दोनों राज्यों में कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे । आपको बता दें कि, गिरीश चंद्र मुर्मू ने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के रूप में शपथ ले ली है ।  गिरीश चंद्र मुर्मू गुजरात कैडर के 1985 बैच के आईएएस अधिकारी थे और वह पीएम मोदी के सबसे भरोसेमंद लोगों  से एक है ।

बता दें कि, राधा कृष्ण माथुर (आर के माथुर) ने गुरुवार को केंद्र शासित क्षेत्र लद्दाख के पहले उपराज्यपाल के तौर पर शपथ ली। जम्मू कश्मीर के विभाजन के बाद लद्दाख अलग केंद्र शासित क्षेत्र बना है। जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल ने लेह में एक सादे समारोह में माथुर को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

बता दें कि, केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लिए कई कर्मचारियों की कमी बनी है, जिससे जम्मू-कश्मीर से कर्मचारियों को भेजा जाएगा। इसके अलावा पर्यटन, विद्युत ऊर्जा, बागवानी जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सुधार से अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का रास्ता भी साफ हो जाएगा।

आज सरदार पटेल की 144वीं जयंती के मौके पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भाजपा पर ट्वीट कर जमकर निशाना साधा । प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि, सरदार पटेल राष्ट्रीय जनता दल (RSS) के सख्त खिलाफ थे ।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि, आज भाजपा द्वारा उन्हें अपनाने की कोशिशें करते हुए और उन्हें श्रद्धांजलि देते देख के बहुत खुशी होती है । उन्होंने कहा, 'सरदार पटेल कांग्रेस के निष्ठावान नेता थे जो कांग्रेस की विचारधारा के प्रति समर्पित थे। वह जवाहरलाल नेहरू के क़रीबी साथी थे और आरएसएस के सख्त खिलाफ थे।

इसके साथ ही प्रियंका गांधी ने भाजपा पर निशाना साधते ट्वीट कर लिखा कि, 'क्योंकि भाजपा के इस ऐक्शन से दो चीजें स्पष्ट होती हैं-

  1. उनका अपना कोई स्वतंत्रता सेनानी महापुरुष नहीं है. तक़रीबन सभी कांग्रेस से जुड़े थे ।
  2. सरदार पटेल जैसे महापुरुष को एक न एक दिन उनके शत्रुओं को भी नमन करना पड़ता है ।

आपको बता दें कि, आज सरदार पटेल की 144वीं जयंती के मौके पर पीएम मोदी ने लौह पुरुष को गुजरात के केवडिया में स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी पर श्रद्धांजलि दी । इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि, टैच्‍यू ऑफ यूनिटी से ऊर्जा और शांति मिलती है. ये प्रतिमा एकता की प्रतीक है ।

31 अक्टूबर 2019 का दिन इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाएगा। जी हां ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि आज 72 साल से चले आ रहे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को मिले विशेष राज्य के दर्जे का आज अंत हो गया। बुधवार की रात 12 बजे से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो केंद्रशासित प्रदेश हो गए हैं।
जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बन जाने के बाद अब कुल राज्य 28 रह जाएंगे, जबकि कुल केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या नौ हो गई है। यह पहली बार है जब किसी राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटा गया है।
अब दोनों केंद्रशासित प्रदेशों में रणबीर कानून की जगह भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और क्रिमिनल प्रोसीजर कोड (सीआरपीसी) की धाराएं लागू होंगी। नए जम्मू-कश्मीर में पुलिस व कानून-व्यवस्था केंद्र सरकार के अधीन होगी, जबकि भूमि व्यवस्था की देखरेख का जिम्मा निर्वाचित सरकार के तहत होगी। जम्मू-कश्मीर में सरकारी कामकाज की भाषा अब ऊर्दू नहीं हिंदी हो जाएगी।
आज से जम्मू-कश्मीर में क्या बदल गया?

1. अब तक पूर्ण राज्य रहा जम्मू-कश्मीर गुरुवार यानी 31 अक्टूबर से दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों में बदल गया। जम्मू-कश्मीर का इलाका अलग और लद्दाख का इलाका अलग-अलग दो केंद्र शासित प्रदेश बन गए हैं।

2. जम्मू-कश्मीर राज्य पुनर्गठन कानून के तहत लद्दाख अब बिना विधानसभा के केंद्र शासित प्रदेश और जम्मू-कश्मीर विधानसभा सहित केंद्र शासित प्रदेश बन गया है।

3. अब तक जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल पद था लेकिन अब दोनों केंद्रशासित प्रदेशों में उप-राज्यपाल होंगे। जम्मू-कश्मीर के लिए गिरीश चंद्र मुर्मू तो लद्दाख के लिए राधा कृष्ण माथुर को उपराज्यपाल बनाया गया है।

4. अभी दोनों राज्यों का एक ही हाईकोर्ट होगा लेकिन दोनों राज्यों के एडवोकेट जनरल अलग होंगे। सरकारी कर्मचारियों के सामने दोनों केंद्र शासित राज्यों में से किसी एक को चुनने का विकल्प होगा।

5. राज्य में अधिकतर केंद्रीय कानून लागू नहीं होते थे, अब केंद्र शासित राज्य बन जाने के बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दोनों राज्यों में कम से कम 106 केंद्रीय कानून लागू हो पाएंगे।

6. इसमें केंद्र सरकार की योजनाओं के साथ केंद्रीय मानवाधिकार आयोग का कानून, सूचना अधिकार कानून, एनमी प्रॉपर्टी एक्ट और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से रोकने वाला कानून शामिल है।

7. जमीन और सरकारी नौकरी पर सिर्फ राज्य के स्थाई निवासियों के अधिकार वाले 35-ए के हटने के बाद केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर में जमीन से जुड़े कम से कम 7 कानूनों में बदलाव होगा।

8. राज्य पुनर्गठन कानून के तहत जम्मू-कश्मीर के करीब 153 ऐसे कानून खत्म हो जाएंगे, जिन्हें राज्य के स्तर पर बनाया गया था। हालांकि 166 कानून अब भी दोनों केंद्र शासित प्रदेशों में लागू रहेंगे।

आज सरदार वल्लभभाई पटेल की 144वीं जयंती है । इस मौके पर पीएम मोदी ने गुजरात के केवडिया में आज सरदार वल्लभभाई पटेल को स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी पर श्रद्धांजलि दी । श्रद्धांजलि देने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि, लगता है सरदार पटेल की प्रतिमा का एक व्यक्तित्व है...सामर्थ्य है...उतनी ही पवित्र है। किसानों के लोहे से अलग-2 मिट्टी से इस प्रतिमा का निर्णाण हुआ है। ये प्रतिमा जीवंत है और जीता जागता संदेश है ।

पीएम मोदी ने कहा कि आज रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम देश के विभिन्‍न शहरों और गांवों में मनाया जा रहा है। मैं इसमें शामिल होने वाले सभी नागरिकों के प्रति आभार प्रकट करना चाहता हूं। भारत विविधता में एकता के लिए जाना जाता है। ये हमारा गौरव और हमारी पहचान है। देश की एकता का पर्व मनाना हमारी सबसे बड़ी ताकत है।

केवडिया में मौजूद स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर देशवासियों को एकता की शपथ दिलाई। इस दौरान पीएम मोदी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर परेड का निरीक्षण किया। शपथ में पीएम ने देशवासियों को आंतरिक सुरक्षा, राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने के लिए शपथ दिलवाई ।

पाकिस्तान की कराची-रावलपिंडी तेजगाम एक्सप्रेस (Karachi-Rawalpindi Tezgam express train) में गुरूवार की सुबह एक बड़ी घटना हो गई । दरअसल ट्रेन में अचानक से भीषण आग लग गई जिसमें यात्रा के दौरान लगभग 65 यात्रियों की मौके पर मौत हो गई, और 13 यात्री गंभीर रूप से जख्मी हो गए ।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बचाव कार्य शुरू कर दिया । फिलहाल अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिल पाई है, कि ट्रेन में कैसे आग लगी । बताया जा रहा है कि, गुरुवार सुबह रहीम यार खान रेलवे स्टेशन के करीब लियाकतपुर (Liaqatpur) के पास पहुंची ही थी, कि ट्रेन की एक बोगी में अचानक आग लग गई। आग इतनी तेजी से फैली कि यात्रियों को भागने का मौका भी नहीं मिल पाया ।

बताया जा रहा है कि जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त सभी यात्री ट्रेन में सो रहे थे। आग की चपेट में आने के कारण अब तक 65 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 13 लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने EU सांसदों के कश्मीरी दौरे को लेकर निशाना साधा है । दरअसल महबूबा मुफ्ती का ट्वीटर उनकी बेटी इल्तिजा मुफ्ती हैंडल करती है । ऐसे में इल्तिजा मुफ्ती ने इस दौरे को लेकर विपक्ष से ट्विटर के जरिए गुहार लगाई है कि, वह भी घाटी का दौरा करें ।

दरअसल इल्तिजा मुफ्ती ने ट्वीट कर लिखा है कि, यूरोपीयन यूनियन के सांसदों की पिकनिक खत्म हो गई है। अब मैं अनुरोध करती हूं कि विपक्ष के राहुल गांधी, सीताराम येचुरी, शरद यादव, तेजस्वी यादव और यशवंत सिन्हा जैसे नेता घाटी का दौरा करें । इसके साथ ही इस ट्वीट में विपक्ष से अनुरोध किया गया है कि केंद्र सरकार के उस दावे को खारिज करें जिसमें कहा गया है कि कश्मीर में हर कोई जा सकता है ।

आपको बता दें कि, EU सांसदों की बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई थी । इस मौके पर उन्होंने कहा कि, वह उनके इस दौरे को राजनीतिक तौर पर देखा जा रहा है जो कि गलत है । उन्होंने कहा कि, हम सिर्फ यहां के हालातों की जानकारी लेने आए थे जिसे सभी पार्टियां भारत और पाक का अंतरिक मसला बता रहे हैं । उन्होंने कहा कि, हम आंतकवाद की इस लड़ाई में भारत के साथ हैं ।

जम्मू-कश्मीर में EU सांसदों के दौरे को लेकर उठाए गए सवालों का बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यूरोपीय सांसदों के दल ने करारा जवाब दिया । उन्होंने कहा कि, हमारे दौरे को राजनीतिक नज़र से देखा गया, जो बिल्कुल ठीक नहीं है। हम सिर्फ यहां पर हालात की जानकारी लेने आए थे।

EU सांसदों ने कहा कि, अनुच्छेद 370 को इन सांसदों ने भारत का आंतरिक मसला बताया और कहा कि भारत-पाकिस्तान को आपस में बात करनी चाहिए । इसके साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साथ हैं, आतंकवाद का मसला यूरोप के लिए भी काफी महत्वपूर्ण है। इस दौरान जब उनसे सवाल पूछा गया कि क्या वह इस दौरे की रिपोर्ट यूरोपीय संसद में जमा करेंगे, तो उन्होंने ऐसा करने से साफ इंकार कर दिया ।

अपने घाटी के दौरे के बारे में EU सांसदों ने कहा कि हमें वहां रहने का ज्यादा वक्त नहीं मिला, हम अधिक लोगों से नहीं मिला था। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि वहां ना जाने से बेहतर थोड़े समय के लिए जाना ही रहा है ।

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के चुनाव का परिणाम आए आज 5 दिन से ऊपर हो गए हैं। यहां तक कि हरियाणा में BJP-JJP की सरकार तक बन गई है, और मनोहर लाल खट्टर ने दूसरी बार सीएम पद की शपथ तक ले ली, लेकिन महाराष्ट्र की सत्ता पर किसका शासन होगा इस पर अभी तक सस्पेंस बना हुआ है।
महाराष्ट्र में जनता ने बीजेपी और शिवसेना गठबंधन को जनादेश दिया है। जनता के जनादेश आने के बाद से ही शिवसेना महाराष्ट्र में 50-50 फार्मूले (2.5 साल BJP का मुख्यमंत्री और 2.5 साल शिवसेना का सीएम) BJP पर सरकार बनाने का दबाव बना रही है। वहीं देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मैं ही मुख्यमंत्री बनूंगा। उन्होंने कहा कि हमारे पास दस निर्दलीय विधायकों का समर्थन है, जल्द ही ये संख्या 15 तक पहुंचेगी।
आपको बता दें कि महाराष्ट्र में भाजपा विधायक दल का नेता चुनने के लिए आज मुंबई में पार्टी की बैठक होनी है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने की संभावना है। वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और अमित शाह की मुलाकात की अटकलें लगाई जा रही हैं।
गौरतलब है कि राज्य में सरकार बनाने के समीकरण को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच खींचतान चल रही है। भाजपा ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पार्टी के उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना को महाराष्ट्र विधायक दल की बैठक के लिए मंगलवार को केंद्रीय पर्यवेक्षक नामित किया है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भाजपा की सहयोगी शिवसेना का चुनाव जीतने के बाद से भाजपा को लेकर लगातार रूख बदलते हुए नज़र आ रहा है । दरअसल आए दिन विपक्ष जम्मू-कश्मीर को लेकर भाजपा के खिलाफ तंज कसता रहता है । वहीं अब शिवसेना ने भी यूरोपीय संघ के सांसदों के कश्मीर दौरे को लेकर कई सवाल खड़े किए हैं ।

शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि कश्मीर देश का आंतरिक मामला, अंतरराष्ट्रीय नहीं। सबकुछ ठीक है तो यूरोपीय दल को लाने का क्या मक़सद? संपादकीय में लिखा है, 'इस दौरे से अब विरोधियों को बेकार शक का मुद्दा मिलेगा। नेहरू कश्मीर मसले को यूएन ले गए, ये आज भी बहस का मुद्दा। कश्मीर मसले पर यूएन का दख़ल आपको मंज़ूर नहीं है। फिर यूरोपीय समुदाय की फ़ौजदारी की आवश्यकता कैसे मंज़ूर? ये देश की सार्वभौमिकता और आज़ादी पर हमला नहीं है क्या?' साथ ही लिखा है, 'कश्मीर में आज भी नेताओं के प्रवेश पर पाबंदी है ।

इसके अलावा अगर बात करें विपक्ष की तो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का इस मामले में कहना है कि, भाजपा का राष्ट्रवाद अजीब है। वह यूरोपीय सांसदों को दौरा करने और कश्मीर में हस्तक्षेप करने की अनुमति देती है, जबकि भारतीय सांसदों को हवाईअड्डे से लौटा दिया जाता है ।

अक्टूबर का महीना त्योहारों से भरपूर रहा जिसके चलते सरकारी और  प्राइवेट बैंक पूरे महीने में 11 दिन बंद रहे । अब अक्टूबर का महीना खत्म होने वाला है, और नवंबर शुरू होने वाला है । इसी के साथ अब आपके लिए ये जानना भी जरूरी है कि, आने वाले नवंबर में कितने दिन बैंक बंद रहेंगे ।

आपको बता दें कि, नवंबर के महीने में बैंक 8 दिन बंद रहेंगे । जिसमें महीने का दूसरा और चौथा शनिवार भी शामिल है । बैंक की छुट्टियां अलग-अलग राज्यों के हिसाब से होगी । नवंबर की शुरुआत यानी 1 नवंबर को बेंगलुरु और इम्फाल में कन्नड़ राज्योत्सव के अवसर पर बैंकों का अवकाश रहेगा ।

2 नवंबर को रांची में छठ पूजा वाले दिन बैंक बंद रहेंगे । 8 नवंबर को शिलांग में वांग्ला फेस्टिवल के कारण वहां के स्थानीय बैंक बंद रहेंगे। 9 को महीने का दूसरा शनिवार है, इस कारण देशभर के बैंक बंद रहेंगे। इसके बाद 12 नवंबर को गुरु नानक जयंती के अवसर पर बैंकों में छुट्टियां रहेंगी । जम्मू और श्रीनगर में कनकदास जयंती और ईद-उल-मिलाद-उल-नबी के कारण बैंकों में कामकाज नहीं होगा। 23 नवंबर को महीने का चौथा शनिवार होने के कारण बैंक बंद हैं, इसलिए देशभर के बैंक बंद रहेंगे ।

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने से एक दिन पहले ही इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थी । जिसके पीछे मुख्य कारण आतंकवाद को रोकना था । अब इस पर पीएमओ में राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने बड़ा बयान दिया है । दरअसल उन्होंने कहा कि, राज्य में इंटरनेट सेवा बंद होने से कई बड़े आतंकी हमले रोके गए हैं ।

जितेंद्र सिंह ने कहा है कि, आतंकवाद में इंटरनेट का दुरुपयोग किया जा रहा था। आम लोगों की सुरक्षा को देखते हुए इंटरनेट बंद रखा गया है। इससे आतंक विरोधी अभियानों में कई बड़ी कामयाबी मिली है। उन्होंने कहा कि परिहार बंधुओं और चंद्रकांत, के हत्यारों की शिनाख्त करने में सफलता मिली, यह इंटरनेट बंद होने से मुमकिन हो पाया।

उन्होंने कहा कि इंटरनेट बंद रहने से बटोत में आतंकियों की शिनाख्त की गई थी, क्योंकि वे इंटरनेट बंद रहने से अपनी सही लोकेशन का पता नहीं लगा पाए थे। बार्डर पर घुसपैठ की कोशिशों को भी नाकाम बनाया गया है। राज्य में इंटरनेट सेवा बंद रहने से आतंकी घुसपैठ के रास्तों की लोकेशन का पता नहीं लगा पाए हैं। उन्होंने कहा कि इंटरनेट बंद रहने के बावजूद आयुष्मान भारत योजना में देश में जम्मू-कश्मीर उच्च प्रतिशत हासिल करने में पहला राज्य बना है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आ गए है। महाराष्ट्र में आए चुनावी नतीजों के बाद ये तो साफ हो गया है कि इस राज्य में बीजेपी और शिवसेना की सरकार बननी है, लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हुआ है कि राज्य का मुखिया होगा कौन ?
एक तरफ तो बीजेपी का दावा है कि उसी का मुख्यमंत्री होगा और वह शिवसेना के साथ सरकार बनाएगी, तो वहीं शिवसेना ने शुक्रवार की सुबह माया नगरी की सड़कों पर पोस्टर लगाकर ये साफ कर दिया कि महाराष्ट्र का अगला सीएम शिवसेना परिवार का ही होगा।
आपको बता दें कि गुरुवार को राज्य में चुनावी नतीजे आने के बाद से ही शिवसेना ने रुख कड़ा कर लिया है, और महाराष्ट्र में 50-50 के फार्मूले पर सरकार बनाने पर जोर दे रही है।
महाराष्ट्र की कुल 288 विधानसभा सीटों में बीजेपी को 105 पर जीत मिली है, तो वहीं सहयोगी शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने 54 सीटें जीती हैं जबकि कांग्रेस के खाते में 44 सीटें गई हैं।

हरियाणा की आदमपुर विधानसभा चुनाव से भाजपा उम्मीदवार और टिकटॉक स्टार सोनाली फोगाट को इस चुनाव के चलते बड़ी हार का सामना करना पड़ा । लेकिन उनको इस हार का इतना बड़ा सदमा लग गया है कि, जो कि उनकी इस वीडियो में साफ तौर पर नजर आ रहा है ।

दरअसल, सोनाली फोगाट की सोशल मीडिया पर तेजी से एक वीडियो वायरल हो रही है । जिसमे में फूट-फूट कर रोती हुई नज़र आ रही हैं । लेकिन ये वीडियो चुनाव से पहले की है लेकिन उनकी हार के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उनके इस पूराने वीडियो को खूब शेयर किया ।

इस वीडियो में सोनाली दुखी चेहरे के साथ सैड सॉन्ग खुशी के पल कहां ढूंढूं...गाती दिख रही हैं। यूजर इस वीडियो को उनकी विधानसभा चुनावों में मिली हार से जोड़कर देख रहे हैं। आपको बता दें कि, सोनाली टीवी कलाकार होने के साथ साथ भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष भी थीं, जिसका उन्हें लाभ मिलना तय माना जा रहा था। सोनाली को उम्मीद थी कि टिक टॉक पर उनके लगभग 1.30 लाख फॉलोअर उन्हें वोट देंगे लेकिन उन्हें टिक-टॉक की लोकप्रियता किसी काम नहीं आई ।

हरियाणा महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में नतीजे आने के बाद दोनों ही राज्यों में सरकार बनाने की कवायद तेज हो गई है। दोनों ही राज्यों में बीजेपी सबसे ज्यादा सीटों के साथ पहले नंबर पर है, लेकिन किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है।

महाराष्ट्र में बीजेपी ने ये पहले ही साफ कर रखा है कि महाराष्ट्र में सीएम भारतीय जनता पार्टी का ही उम्मीदवार होगा और वह शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाएगी। वहीं हरियाणा में बीजेपी निर्दलीय विधायकों के साथ मिलकर सरकार बनाने के जद्दो जहद में लगी हुई है।

आपको बता दें कि हरियाणा में बीजेपी को सरकार बनाने के लिए महज 6 सीटों की आवश्यकता है। जिसके लिए निर्दलीय उम्मीदवारों का साथ मिल सकता है। हरियाणा के रानिया से निर्दलीय चुनाव जीतने वाले निर्दलीय विधायक और ओमप्रकाश चौटाला के छोटे भाई रंजीत सिंह चौटाला ने कहा कि उनका समर्थन नरेंद्र मोदी के लिए है और वे मोदी के साथ विकास के रास्ते पर चलेंगे। रंजीत चौटाला 19431 वोटों से चुनाव जीते हैं।

 

 


सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बीजेपी आज राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है और मनोहर लाल खट्टर आज ही मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं।

आज धनतेरस पूजन के साथ-साथ अगले 5 दिनों तक दिवाली जैसे महापर्व की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं । सभी के घरों से लेकर बाजारों तक अच्छे से सजावट की जा रही है । आपको बता दें कि, धनतेरस की पूजा करने का सही समय शाम 6 से रात 8:34 बजे रहेगा ।

आप में से कुछ ही लोगों को इस धनतेरस जैसे महापर्व की जानकारी होगी । चलिए हम आपको बतातें कि, आखिर धनतेरस क्यों मनाया जाता है । दरअसल ये पर्व कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन आयुर्वेद के देवता भगवान धन्वंतरि का जन्म हुआ था। माना जाता है कि, समुद्र मंथन के दौरान भगवान धन्वंतरि अपने हाथ में अमृत से भरा कलश लेकर प्रकट हुए थे। इसलिए इस दिन इनकी पूजा के साथ मां लक्ष्मी, कुबेर देवता और मृत्यु के देवता यमराज की पूजा भी की जाती है।

इस दिन सभी लोग सोना या पीतल के बर्तन खरीदते हैं । व्यापारी धनतेरस के दिन नए बही-खाते खरीदते हैं जिनका पूजन दीवाली पर किया जाता है।

धनतेरस पूजन मुहूर्त

चौघड़िया के अनुसार मुहूर्त

चर : सुबह 7.32 से 8.02 और शाम 5.02 से 7.32 बजे तक ।

लाभ : सुबह 8.02 से 9.32 और रात 9.32 से 11.02 बजे तक।

अमृत : सुबह 9.32 से 11.02 और रात 2.02 से 3.32 बजे तक।

शुभ : दोपहर 12.32 से दोपहर 2.02 और रात 12.32 से रात 2.02 बजे तक।

 

स्थिर लग्न

वृश्चिक : सुबह 8.21 से 10.37 बजे तक।

कुंभ :दोपहर 2.29 से शाम 4.02 बजे तक।

वृषभ : शाम 7.13 से रात 9.12 बजे तक।

 

श्रेष्ठ समय

रात 9.32 से 11.02 बजे तक।

 

यम दीपदान

शाम 5.02 से 6.32 बजे तक।

हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कौन किस पर भारी पड़ेगा ये आज शाम तक साफ हो जाएगा । वहीं बात अगर उपचुनाव की करें तो देश के 17 राज्यों की 52 सीटों पर आज उपचुनाव की 21 अक्टूबर को वोटिंग हुई थी, जिसकी मतगणना आज हो रही है और शाम तक नतीजे सामने आ जाएंगे । आपको बता दें कि, उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटें हैं तो बिहार की 5 विधानसभा और एक लोकसभा सीट के साथ-साथ मध्य प्रदेश की एक और राजस्थान की दो विधानसभा सीटें शामिल हैं।

4:40 PM

छत्तीसगढ़ की चित्रकूट सीट से कांग्रेस के राजमन वेंजम को मिली भारी वोटों से जीत ।

04:13 PM

पंजाब की चारों सीटों के नतीजे घोषित

02:40 PM

बिहार: सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा उपचुनाव में RJD के जफर आलम को 15508 वोटों से मिली जीत ।

1:45 PM

राजस्थान विधानसभा उपचुनाव: मंडावा सीट पर कांग्रेस की जीत

01:10 PM

उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव: लखनऊ कैंट से भाजपा प्रत्याशी सुरेश तिवारी जीते ।

12:45 PM

राजस्थान उपचुनावों में कांग्रेस एक सीट पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि दूसरी सीट पर पीछे चल रही है। मंडावा में कांग्रेस लगभग 24 हजार वोटों से आगे है, जबकि नागौर में कांग्रेस लगभग 8 हजार वोटों से पीछे है ।

11:32 AM

बिहार: किशनगंज विधानसभा उपचुनाव में AIMIM को 6271वोटों की बढ़त, बीजेपी पीछे ।

11:01 AM

रामपुर उपचुनाव: आजम खान की पत्नी 14214 वोटों से आगे हैं ।

 

रामपुर में 11 राउंड की काउंटिंग पूरी हो चुकी है। आजम खान की पत्नी और सपा प्रत्याशी तजीन फात्मा को 31807, बीजेपी प्रत्याशी भारत भूषण को 17593, कांग्रेस प्रत्याशी अरशद अली खान को 1950, बसपा उम्मीदवार ज़ुबैर मसूद खान को 5392 और नोटा को 446 वोट मिले।

10:40 AM

बाराबंकी में जैदपुर से सपा आगे

अलीगढ़ में बीएसपी आगे

चित्रकूट में मानिकपुर से और बहराइट से BJP प्रत्याशी आगे चल रहे हैं।

10.23 AM


रामपुर

डॉ तजीन फातम सपा-13437

भारत भूषण गुप्ता भाजपा-5802

अरशद अली गुड्डू कांग्रेस -855

ज़ुबैर मसूद खान बसपा-214

10:11 AM

उत्तर प्रदेश के  बाराबंकी में 6 राउंड की काउंटिंग पूरी हो गई है। सामने आए नतीजों के मुताबिक, सपा प्रत्याशी को 21992, बीजेपी को 14838, कांग्रेस- 13411, बसपा -5282 और पीस पार्टी को 1481 वोट मिले हैं ।

09:45 AM

सातारा लोकसभा उपचुनाव: दूसरे राउंड की कउंटिंग पूरी,  BJP के उदयन राजे 11 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं। वहीं एनसीपी के श्रीनिवास पाटिल को बढ़त मिली हुई है।

09.21 AM

समस्तीपुर लोकसभा उपचुनाव: लोजपा प्रत्याशी प्रिंस राज 21 हजार वोटों से आगे हैं।

09.13 AM

प्रतापगढ़ में भाजपा प्रत्याशी आगे चल रहे हैं । पहले राउंड की बात करें तो सपा दूसरे नंबर थी और कांग्रेंस तीसरे नंबर पर ।

09.05 AM

रामपुर से सपा प्रत्याशी को मिली बढ़त

रामपुर से आजम खान की पत्नी सपा उम्मीदवार तंजीन फातिमा फिलहाल 1635 वोट से आगे हैं ।

08:52 AM

अलीगढ़ की इगलास विधनासभा उपचुनाव की मतगणना के शुरुआती रुझानों में बीएसपी प्रत्याशी अभय कुमार बंटी बीजेपी के प्रत्याशी राजकुमार सहयोगी से आगे चल रहे हैं। BSP को 4335 वोट, BJP को 1160, कांग्रेस को 708, लोकदल, 35 और अन्य को 259 वोट मिले । इससे ये साफ है कि, इस बार यूपी में बीजेपी अपनी जगह बरकरार नहीं रख पाई है ।

08:47 AM

सहारनपुर की गंगोह विधानसभा उपचुनाव के नतीजों के लिए मतगणना जारी है, पहले राउंड की मतगणना पूरी हो चुकी है। शुरुआती रुझानों में समाजवादी पार्टी के इंदरसेन कांग्रेस के नोमान मसूद से 74 वोट से आगे चल रहे हैं ।

शनिवार को पीएम मोदी ने फिल्म जगत से लेकर छोटे पर्दे के कई बड़े कलाकारों से मुलाकात की थी । इस मौके पर उन्होंने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने के लिए 'चेंज विदइन' थीम का एक सांस्कृतिक वीडियो भी जारी किया। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आवास पर इस वीडियो को जारी किया । पीएम मोदी की इस थीम पर कई बड़े कलाकारों ने हिस्सा लिया ।

अब इस कार्यक्रम की पूरी वीडियो फिल्म निर्देशक आनंद राय ने शेयर की थी । जिसके बाद BJP ने अपने ट्विटर हैंडल में शेयर की । इस वीडियो आप देख सकते हैं कि, पीएम मोदी ने चेंज विदइन थीम को लेकर सभी कलाकारों की राय जानी । जिसके बाद उनसे इस पर बड़ा कदम उठाने की अपील की ।

इस वीडियो में छोटे पर्दे से लेकर बड़े पर्दे तक सभी ने इस थीम में पीएम मोदी अपना संयोग दिया । चेंज विदइन शानदार प्रयास है जो गांधी जी के संदेश को आगे और प्रचारित की दिशा में गति प्रदान करेगा। इस कार्यक्रम खत्म होने के बाद सभी एक्टर्स पीएम मोदी के साथ सेल्फी लेते हुए भी नजर आए । आपको बता दें कि, ये वीडियो शेयर होने के बाद लगातार सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और फैंस इसे काफी पसंद कर रहे हैं ।

इस सप्ताह जहां पूरे देश में रोशनी से देश जगमगा उठेगा तो वहीं भगवान राम की जन्मभूमि राम मंदिर भी जगमगा उठेगी । जी हां, इस बार उत्तर प्रदेश निवासियों की दीवाली बहुत ही शानदार होगी । इस बार अयोध्या में आधिकारिक समारोह होगा और इस आयोजन का पूरा खर्च उत्तर प्रदेश यानी योगी सरकार उठाएगी ।

आपको बता दें कि, ये निर्णय राज्य मंत्रीमंडल ने लिया है । इस समारोह को लेकर प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि 'दीपोत्सव' कार्यक्रम का आयोजन पिछले दो वर्षो से पर्यटन विभाग कर रहा था, लेकिन आगे से यह एक सरकारी कार्यक्रम होगा। शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार ने इस साल के 'दीपोत्सव' के लिए 133 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है, जिसमें 26 अक्टूबर को 5.51 लाख से अधिक 'दीये' जलाए जाएंगे ।

राज्य सरकार ने इस दीपोत्सव कार्यक्रम को लेकर अभी से तैयारियां शुरू कर दी है। आपको बता दें कि, 26 अक्टूबर को सीएम योगी अयोध्या जाएगें और इस दीपोत्सव समारोह में हिस्सा लेंगे । वहीं इस समारोह के मद्देनजर कड़े सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं । इस कार्यक्रम में फिजी के संसद अध्यक्ष के मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने की संभावना हैं।

फिल्मी जगत की मस्तानी दीपिका पादुकोण और वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियन पी वी सिंधु बहुत जल्द ही एक साथ प्रधानमंत्री मोदी के अभियान भारत की लक्ष्मी में नज़र आएंगी।
दीपिका पादुकोण और पी वी सिंधु ने इस अभियान को लेकर एक वीडियो अपने सोशल मीडिया शेयर किया है। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा की इस दिवाली को हम भारत की महिलाओं के नाम करते है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अपने आस पास ऐसी महिलाओं की कहानी शेयर करें और हैशटैग 'भारत की लक्ष्मी' दें ।

 

 

 

वीडियो में, इन दोनों आइकॉन्स को इस पहल के बारे में बात करते हुए देखा जा सकता है जिसका मकसद देशभर में महिलाओं द्वारा किए गए सराहनीय कार्यो को प्रकाश में लाना है दीपिका और सिंधु के इस वीडियो को लेकर PM मोदी का रिएक्शन भी सामने आया है।

PM मोदी ने मंगलवार को ट्वीट किया, "भारत की नारी शक्ति प्रतिभा और तप, दृढ़ संकल्प और समर्पण का प्रतीक है।" उन्होंने यह भी लिखा, "हमारे लोकाचार ने हमें हमेशा महिला सशक्तिकरण के लिए प्रयास करना सिखाया है।“ इस वीडियो के माध्यम से पी वी सिंधु और दीपिका पादुकोण ने 'भारत की लक्ष्मी' का जश्न मनाने का संदेश दिया है।

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर अर्जुन कपूर अपनी गर्लफ्रेंड और बॉलीवुड हॉट एक्ट्रेस में से एक मलाइका अरोड़ा का जन्मदिन मनाने हुए नजर आए । जी हां आज मलाइका अरोड़ा का जन्मदिन है । इस खास मौके पर उन्हें बधाई देने कई बड़े कलाकार भी शामिल हुए । सभी ने खूब जमकर मस्ती की जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है और फैंस इसे काफी पसंद भी कर रहे हैं ।

आपको बता दें कि, अर्जुन कपूर मलाइका अरोड़ा को काफी रोमांटिक अंदाज में बर्थडे विश किया । वहीं मलाइका के जन्मदिन के मौके कई बड़ी हस्तियां जैसे की, करीना कपूर, करिश्मा कपूर, अनन्या पांडे, तारा सुतारिया से लेकर कई हस्तियां नजर आईं । वहीं इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि, कैसे अर्जुन कपूर अपनी गर्लफ्रेंड के बर्थडे में नाचते हुए नज़र आ रहे हैं ।

बता दें कि मलाइका अरोड़ा (Malaika Arora) भले ही इन दिनों फिल्मों से दूर हैं लेकिन सोशल मीडिया पर वह लगातार एक्टिव हैं। वह खुद से 12 साल छोटे एक्टर अर्जुन कपूर से अपने रिलेशनशिप को लेकर भी खूब चर्चा में रहती हैं। आज मलाइका अरोड़ा 46 साल की हो चुकी हैं।

कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में उनका पोस्टमार्टम होने के बाद एक बड़ा खुलासा हुआ है । पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक बताया जा रहा है कि, कमलेश तिवारी के हत्यारों ने पहले उन्हें गोली मारी फिर गला रेता और फिर 15 बार चाकू से सीने पर बार-बार वार किया ।

रिपोर्ट की माने तो, गर्दन पर 12 सेंटीमीटर लंबा और 3 सेंटीमीटर गहरा घाव हुआ है । रिपोर्ट की जांच के दौरान उनके शरीर में दो जगह चाकू के निशान मिलते हैं। इनमें से एक निशान उनकी गर्दन को रेतने का है । फिलहाल पुलिस ने इस घटना के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जिसका नाम शेख अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन पठान बताया जा रहा है । दोनों आरोपियों को गुजरात एटीएस ने मंगलवार को राजस्थान-गुजरात बॉर्डर से गिरफ्तार किया है ।

एटीएस ने कहा कि दोनों उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से नेपाल पहुंचे और वहां से राजस्थान होते हुए गुजरात में जा रहे थे। एटीएस अधिकारियों के मुताबिक शेख मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के रूप में काम करता है, जबकि पठान फूड डिलिवरी ब्यॉय का काम करता है ।

 

देश में कांग्रेस पार्टी और अन्य छोटी-बड़ी पार्टियों की गिरती स्थिति को देखते हुए उनके ही पार्टी के नेताओं ने एक-एक करके किनारा कसना शुरु कर दिया है और इन दिनों देश की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक पार्टी बीजेपी के साथ नाता जोड़ रहे हैं।
झारखंड में कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टी के 6 विधायकों ने अपनी पार्टी से नाता तोड़कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम लिया है। इन 6 विधायकों में झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायक कुणाल सारंगी, जेपी भाई पटेल, चमरा लिंडा, कांग्रेस के विधायक सुखदेव भगत और मनोज यादव, नव जवान संघर्ष मोर्चा के विधायक भानु प्रताप शाही शामिल हैं।
इन 6 विधायकों द्वारा पार्टी की सदस्यता ग्रहण करते समय प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुवर दास भी मौजूद रहे। बीजेपी में शामिल होने वाले विधायकों को संबोधित करते हुए नंद किशोर यादव ने कहा कि रघुबर दास के नेतृत्व में राज्य की सरकार आम जनता के लिए काम कर रही है। बीजेपी परिवार में शामिल होने वाले सभी लोगों का धन्यवाद।
उन्होंने कहा कि जिस झारखंड प्रदेश में हम लोग बैठे हैं उसे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने बनाया था। अब नरेंद्र मोदी इस इस प्रदेश को संवार रहे हैं। नंद किशोर ने कहा कि भाजपा परिवार के साथ शामिल होकर, आप हमारे परिवार का हिस्सा बनेंगे, हमारे सुख-दुख के साथी बनेंगे।

उत्तर प्रदेश पुलिस हमेशा से प्रदेश में हो रहे अपराध को लेकर आखिर में धोखा दे जाती है । यही वजह है कि, उत्तर प्रदेश में लगातार अपराधियों के हौसले बुलंद हो रहे हैं । ऐसा ही एक और मामला सामने आया है । ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बलिया का है, जहां दंगाई से निपटने के यूपी पुलिस की मॉक ड्रील चल रही थी।

इस मौके पर एक पुलिस कर्मी ने आंसू गैस के गोले दागने की एक्सरसाइज़ की तो बंदूक चली ही नहीं । पुलिस की तमाम कोशिशों के बाद भी आंसू गैस का गोला दगा ही नहीं। इस मौके पर जिले के पुलिसकर्मियों के साथ कप्तान भी मौजूद थे। आपको बता दें कि, मॉक ड्रील में शामिल होने के लिए कम से कम 100 पुलिस कर्मियों को बुलाया गया था ।  

आप इस वीडियो में देख सकते हैं कि, किस तरह पुलिस आंसू गैस का दागने की कोशिशों में लगा पड़ी है । लेकिन इतनी कोशिशों के बाद भी बंदूक नहीं चल रही है । एक नई कार्ट्रिज लोड करके पुलिस अधिकारी दोबारा आंसू गैस का गोला फायर करते हैं लेकिन एक बार फिर नतीजा वही रहा ।

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक इन दिनों अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं । लेकिन अब अपने बयानों को लेकर सफाई देते हुए नज़र आ रहे हैं । दरअसल उन्होंने कहा था कि, अपने बयानों पर सफाई भी देनी पड़ती है इतना कहने के 24 घंटे बाद ही उनके इस बयान पर खूब चर्चा होने लगी ।

दरअसल एक कार्यक्रम के दौरान सत्यपाल मलिक ने कहा कि, इंटेलिजेंस एजेंसी सच नहीं बताती हैं, ना यहां और ना दिल्ली को. मैंने यहां आकर इंटेलिजेंस एजेंसी नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी के बच्चों से बात की थी । उन्होंने कहा कि, मैंने आने के बाद जो इंटेलिजेंस एजेंसी हैं उनसे कोई इनपुट नहीं लिया, वो सच नहीं बताते ना दिल्ली को और ना हमको, मैंने 150-200 बच्चे, ये पता किया कि यूनिवर्सिटी में कौन राष्ट्रगान पर खड़े होते हैं। उनको बुलवाया, उनसे बात की और उन्होंने बता दिया’ ।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि, ‘सारी दिक्कत 13-30 उम्र तक के बच्चों की है, जिनके सपने तोड़े गए हैं जिनको नाराज किया गया है। उन्होंने कहा कि, ना हमें हुर्रियत चाहिए, ना दिल्ली चाहिए, हमको ये कहा जा रहा है कि जन्नत मिलेगी, शहीद होगे तो जन्नत मिलेगी’ । आपको बता दें कि, इससे पहले भी कई बार सत्यपाल मलिक अपने बयानों के चलते सुर्खियों में बने रहे हैं । इतना ही नहीं उन्होंने कई बार ऐसे भी बयान दिए हैं जिससे उनके लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं ।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से पाक परस्त आतंकी घाटी में लगातार अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन भारतीय सेना के सामने वे टिक नहीं पा रहे हैं। इसी के मद्दे नजर जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है।

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा के राजपुरा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरु हो गई। इस एनकाउंटर में सेना ने अलकायदा के जुड़े आतंकी संगठन अंसार गजवत-उल-हिंद (Ansar Ghazwat Ul Hind ) के चीफ आतंकी हमीद ललहारी समेत 2 आतंकियों को ढेर कर दिया है। 

आपको बता दें कि ललहारी को जाकिर मूसा (Zakir Musa) के मारे जाने के बाद से गजवत-उल-हिंद का प्रमुख बनाया गया था। मारे गाए आतंकी के पास से सुरक्षा बलों को AK 72 राइफल बरामद की है, जो अक्सर आतंकी कमांडरों के पास होते हैं।

दिल्ली: दिल्ली के कनॉट प्लेस में बुधवार की सुबह पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई । इस मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने 3 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया । इन तीनों बदमाशों की पहचान चेन स्नैचर के तौर पर की गई है । इस मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने 2 बदमाशों के पैरों में गोली मार दी और दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए ।

मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस को इन बदमाशों के खिलाफ खुफिया जानकारी मिली थी कि, दो बदमाश बाइक से कनॉट प्लेस के शंकर मार्केट की ओर आने वाले हैं। पुलिस ने बदमाशों का आता देख रुकने का इशारा। खुद को घिरता देख बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी और भागने लगे । जिसके बाद पुलिस ने 2 बदमाशों के पैरों पर गोली मारी और दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए ।

दोनों ओर से चली फायरिंग में दोनों बदमाशों को गोली लग गई और उन्होंने सरेंडर कर दिया। पुलिस ने घायल बदमाशों को अस्पताल में भर्ती करा दिया है। पुलिस इन बदमाशों से कई बड़ी वारदात का पता लगाने का कोशिश करेगी। बताया जाता है कि इन दोनों बदमाशों ने पिछले कुछ सालों में दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से कई बड़ी वारदातों को अंजाम दिया था ।

इकोनॉमिक्स में इस साल के नोबेल पुरस्‍कार से सम्मानित अभिजीत बनर्जी से आज पीएम मोदी ने मुलाकात की । इस दौरान पीएम मोदी ने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की । मुलाकात खत्म होने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि, अभिजीत बनर्जी को भारत की उपलब्धियों पर गर्व है ।

इस मुलाकात को इसलिए अहम माना जा रहा है, क्‍योंकि अभिजीत बनर्जी के नोबेल पुरस्‍कार पाने के बाद से सत्‍ता-पक्ष और विपक्ष के बीच इनको लेकर बहस हो रही है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने इस मामले में पिछले शुक्रवार को कहा था, "अभिजीत बनर्जी ने नोबेल पुरस्कार जीता है, मैं उन्हें बधाई देता हूं। लेकिन आप सभी जानते हैं कि उनकी सोच पूरी तरह वामपंथी है। उन्होंने न्याय योजना बनाई, लेकिन देश के लोगों ने उनकी सोच को नकार दिया" ।

वहीं पीयूष गोयल के इस बयान को लेकर अभिजीत बनर्जी जवाब देते हुए कहा कि, "मेरी आर्थिक सोच किसी पक्ष विशेष के लिए नहीं है" । इस पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल कुछ लोगों को 'धर्मांध' करार दिया । भारतीय मूल के प्रोफेसर अभिजीत बनर्जी, एस्तर डफ्लो और माइकल क्रेमर को संयुक्त रूप से अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की घोषणा पिछले दिनों की गई ।

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने एक और बड़ा फैसला लिया है । दरअसल जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में काम करने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए अमित शाह ने सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिश को मंजूरी दे दी है । इसे अमित शाह की तरफ सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए दिवाली तोहफे के तौर पर माना जा रहा है ।

आपको बता दें कि, 31 अक्टूबर से ये नया नियम लागू होगा । आपको बता दें कि, सरकार के इस बड़े फैसले से साढ़े चार लाख कर्मचारियों को सीधे तौर पर फायदा मिलेगा । गृह मंत्री ने 31 अक्‍टूबर से अस्तित्‍व में आने वाले जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख संघ क्षेत्रों के सभी सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अंगीकृत सभी भत्‍ते प्रदान करने के प्रस्‍ताव को स्‍वीकृत कर दिया है।

4.5 लाख सरकारी कर्मचरियों को सातवें वेतन आयोग की अंगीकृत सिफारिशों के अनुरूप सभी भत्‍ते जैसे चिल्‍ड्रेन एजूकेशन अलाउयन्‍स, हॉस्‍टल अलाउयन्‍स, ट्रान्‍सपोर्ट अलाउयन्‍स, लीव ट्रेवल कन्‍सेशन (LTC), फिक्‍सड मेडिकल अलाउयन्‍स आदि दिए जाने पर सालाना अनुमानित खर्च लगभग 4800 करोड़ रुपये आएगा ।

कोहली के धुरंधरों ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वो कर दिखाया जो आज तक कभी नहीं हो पाया था। क्या विशाखपट्नम, क्या पुणे, क्या रांची हर जगह भारत का ही झंडा लहराता दिखाई दिया ।

यूं तो दिवाली में अभी कुछ दिन बचे हैं लेकिन कोहली एंड कंपनी ने देशवासियों को प्री दिवाली तोहफा दे दिया है। कोहली के किंग ने पूरी सीरीज में अफ्रीका को पछाड़ दिया। पूरी सीरीज में अफ्रीकी टीम कहीं भी भारत के सामने नहीं टिक पाई है। सीरीज का पहला टेस्ट भारत 203 रनों से जीता था। दूसरे टेस्ट में एक पारी और 137 रन से जीत हासिल की थी। तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने एक कदम आगे बढ़ते हुए अफ्रीका को एक पारी और 202 रनों से हरा दिया।

इस मुकाबले में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट पर 497 रन बनाकर पारी घोषित की थी। जवाब में दक्षिण अफ्रीका अपनी पहली पारी में 162 रनों पर ऑलआउट हो गई। पहली पारी के आधार पर भारत को 335 रनों की बढ़त मिली।

अफ्रीकी टीम फॉलोऑन नहीं बचा पाई जिसके बाद उन्हें फिर से बल्लेबाजी के लिए उतरना पड़ा। दूसरी पारी में भी अफ्रीकी बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए और सिर्फ 133 रन पर टीम ढेर हो गई, और इस तरह से भारत ने सीरीज पर कब्जा कर लिया ।

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक द. अफ्रीकी टीम के 8 विकेट गिर चुके थे। चौथे दिन सिर्फ 12 गेंदों का खेल हुआ चौथे दिन के दूसरे ही ओवर में अपना डेब्यू टेस्ट खेल रहे स्पिनर शहबाज नदीम ने लगातार दो गेंदों पर दो विकेट झटकते हुए दक्षिण अफ्रीकी पारी का अंत किया ।

लाख कोशिशों के बाद आखिरकार पी.चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है । दरअसल INX मीडिया केस में सुप्रीम कोर्ट ने पी.चिदंबरम को जमानत दे दी है। लेकिन वह 24 अक्टूबर तिहाड़ जेल में बंद रहेंगे क्योंकि, वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कस्टडी में है ।

मामले की सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा था कि चिदंबरम को इस मामले में तब तक जमानत नहीं दी जानी चाहिए जब तक इस मामले का ट्रायल शुरू नहीं हो जाता और अहम गवाहों के बयान नहीं दर्ज कर लिए जाते। वहीं, चिदंबरम की ओर से वकील कपिल सिब्बल ने अदालत को भरोसा दिलाने की कोशिश की थी कि चिदंबरम देश छोड़कर नहीं भागेंगे ।

आपको बता दें कि, कोर्ट ने पूर्व मंत्री को 24 अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है. अदालत ने इसके आलावा आरोपपत्र में नामित सभी आरोपियों के खिलाफ समन जारी किया है । वहीं इससे पहले जब पी. चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट ने कार्रवाई करने से साफ इंकार कर दिया था ।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने लोगों की सुरक्षा को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है । दरअसल अब यूपी पुलिस को इमरजेंसी कॉल के लिए 100 नंबर पर नहीं बल्कि 112 नंबर पर कॉल करना होगा । ये सेवा 26 अक्टूबर से पूरे उत्तर प्रदेश में लागू की जाएगी ।

अगर आप 112 नंबर पर डायल करते हैं तो ही आपको पुलिस की सहायता मिल पाएगी । आपको बता दें कि, अब तक कई राज्यों में पुलिस ने अपना नंबर 100 से बदलकर 112 कर लिया है । जहां आम जनता उन्हें किसी भी दुर्घटना के दौरान फोन कर घटना की जानकारी दे सकते हैं । इससे पहले देश की राजधानी दिल्ली में भी पुलिस का डायल 100 भी बदलकर 112 नंबर किया गया था ।

आपको बता दें कि, दिल्ली में 25 सितंबर को 112 नंबर लागू हुआ था। सभी इमरजेंसी सेवाएं जैसे एम्बुलेंस, फायर और पुलिस की मदद के लिए 112 नंबर डायल करना होगा । वहीं अब यूपी में सीएम योगी आदित्यानाथ ये सेवा 26 अकटूबर से शुरू करने जा रहे हैं ।

 

इंदौर के विजयनगर थाना क्षेत्र स्थित गोल्डन गेट होटल ( Hotel Golden Gate)  में भयंकर आग लगी । आग इतनी भयंकर थी कि, होटल में मौजूदा लोगों को बाहर निकालना मुश्किल हो गया । आग लगने से आस-पास अफरा-तफरी का मच गई । वहीं आग को देखते हुए मौके पर फायर ब्रिगेड को बुलाया गया और होटल में फंसे सभी लोगों को बाहर निकाला गया ।

दमकल विभाग के साथ-साथ स्थानीय लोग भी आग बुझाने की कोशिशें कर रहे हैं, लेकिन आग पर अभी पूरी तरह से काबू नहीं पाया जा सका है। दमकल की टीमें मौके पर हैं , घटना के विस्तृत ब्यौरे की प्रतीक्षा है ।

महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव के लिए आज सुबह 7 बजे से सभी लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करने मतदान देने के लिए पहुंच गए हैं । इसी बीच पीएम मोदी ने सभी मतदाताओं से उनके मतदाधिकार के प्रयोग करने की अपील की है । पीएम मोदी ने ट्वीट कर सभी लोगों से वोट डालने को कहा है ।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि, मैं मतदाताओं से अपील करता हूं कि वह लोकतंत्र के इस पर्व में बढ़चढ़ कर भाग लें। मुझे उम्मीद है कि युवा वोटर्स बड़ी संख्या में वोट डालने आएंगे। पीएम  ने एक ट्वीट मराठी भाषा में भी किया और मतदाताओं से वोट डालने की अपील की ।

आपको बता दें कि, महाराष्ट्र में 288 और हरियाणा की 90 सीटों के लिए मतदान जारी हैं । वहीं इस वक्त कई बड़े नेताओं से लेकर बॉलीवुड के कई बड़े कलाकार भी मतदान देने के लिए पहुंचे हुए हैं । बात अगर हरियाणा की करें तो, हरियाणा में सत्ताधारी बीजेपी का मुकाबला विपक्षी कांग्रेस और नई पार्टी ‘जजपा’ के साथ है। वहीं इस चुनाव का नतीजा 24 अक्टूबर को सामने आ जाएगा जिसमें ये साफ हो जाएगा कि, इस बार फिर भाजपा बाजी मार जाएगी या फिर कांग्रेस अपना कब्जा जमा पाएगी ।

सोमवार यानी 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र और हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मतदान दिए जाएंगे । वहीं इस चुनाव के दोनों पार्टियों के तरफ से चुनाव प्रचार की आखिरी तारीख 19 अक्टूबर थी । इस दौरान पक्ष-विपक्ष ने एक-दूसरे जमकर निशाना साधा । वहीं आपको बता दें कि, महाराष्ट्र और हरियाणा के साथ-साथ सोमवार को उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा की सीटों पर उपचुनाव होने हैं। जहां लंबी कतारों पर कल सुबह 7 बजे सेसभी मतदाता वोट देने के लिए आएंगे । वहीं यूपी में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक 11 सीटों पर मतदान होगा । आपको बता दें कि, 11 सीटों पर लगभग 41.08 लाख मतदाता मताधिकार का प्रयोग करेंगे । 11 विधानसभा सीटों पर 109 प्रत्याशी चुनावी मैदान पर खड़े हैं । 11 जिलों में मतदान के लिए 4529 मतदेय स्थल बनाए गए हैं । इसके साथ ही मतदान के लिए 2307 मतदान केन्द्र भी बनाए गए हैं । आपको बता दें कि, यूपी में होने वाले उपचुनाव में 11 सीटों के लिए 11 सामान्य प्रेक्षक,11 व्यय प्रेक्षक तैनात रहेंगे । वहीं, 337 सेक्टर मजिस्ट्रेट,6 जोनल मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं । इसके साथ ही 471 स्टैटिक मजिस्ट्रेट, 520 माइको ऑब्जर्वर भी तैनात किए गए हैं । 11 सीटों के उपचुनाव के लिए 21584 मतदानकर्मी लगाए गए हैं । मतदान के लिए 5435 ईवीएम की कंट्रोल यूनिट और 5435 बैलट यूनिट, 5888 वीपी पैट तैयार किए गए हैं । वहीं चुनाव के दौरान मतदाताओं की सुरक्षा के मद्देनजर अर्द्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई । 11 सीटों के 429 क्रिटिकल बूथों पर वेबकास्टिंग कराई जाएगी ।

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान की बौखलाहट दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जारी है । लगातार पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है । दरअसल पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लघंन किया है । बता दें कि, जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में देर रात 10 बजे पाकिस्तान के तरफ से लगातार गोलीबारी हुई । जिसमें 2 जवान शहीद हो गए हैं जबकि एक नागरिक की मौत हुई है।

आपको बता दें कि, पाकिस्तान के तरफ से अचानक देर रात से लगातार गोलीबारी शुरू हुई जिसमें भारत के दो जवान शहीद हुए । इतना ही नहीं एक नागरिक की भी मौके पर मौत हो गई । ये फायरिंग पाकिस्तान की तरफ से सुबह 4 बजे तक लगातार जारी रही । इस फायरिंग के दौरान आसपास के कई लोगों के घरों को भी नुकसान पहुंचा । वहीं दूसरी इस फायरिंग के दौरान भारतीय सुरक्षाबलों ने भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया ।

वहीं जम्मू (Jammu) में कठुआ (Kathua) के हीरानगर सेक्टर में पाकिस्तान (Pakistan) रात से ही गोलीबारी कर रहा है। भारतीय सुरक्षा बल (Indian Security Forces) पाकिस्तान की गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं । इससे पहले 15 अक्टूबर को भी पाकिस्तान ने जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा के समीप संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। गोलीबारी की घटना पुंछ जिले के कस्बा और किरणी सेक्टरों में रिपोर्ट की गई थी ।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को सुबह 11 बजे लखनऊ स्थित अपने आवास पर मृतक हिन्दू समाज के नेता कमलेश तिवारी के परिवार से मुलाकात करेंगे । बता दें कि, कमलेश तिवारी के परिजनों ने इस शर्त पर उनका अंतिम संस्कार किया था कि आज या कल में उनकी सीएम योगी से मुलाकात कराई जाए ।

इसके लिए या तो सीएम योगी सीतापुर आएं या फिर उन्हें लखनऊ ले जाया जाए। जिसके बाद सीएम के आधिकारिक निवास स्थान 5 कालीदास मार्ग पर कमलेश तिवारी के परिजन सीएम योगी से मुलाकात करेंगे।

संभावना जताई जा रही है कि, सीएम योगी के साथ इस मुलाकात में मृतक कमलेश तिवारी के परिवार के साथ हिन्दू समाज के नेता भी मिल सकते हैं। बता दें इससे पहले सीएम योगी ने कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) पर उत्तर प्रदेश प्रशासन को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे।

दिल्ली विधानसभा के स्पीकर रामविलास गोयल पर बीजेपी के नेता मनीष घई के घर जबरन घुसने का मामला दर्ज किया गया है । जिस पर कोर्ट ने उनको 6 महीने की सजा सुनाई है । इतना ही नहीं, कोर्ट ने उनके बेटे समेत 5 लोगों को 6-6 महीनें की सजा सुनाई है । इसके साथ इन सब पर 1 हजार का जुर्माना भी लगाया गया है ।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, रामनिवास गोयल के बेटे सुमीत गोयल को पीड़ित के घर में जबरन घुसने और मारपीट करने का दोषी पाया गया है।

ये मामला 6 फरवरी 2015 का है। ये सभी लोग बीजेपी नेता मनीष घई के घर मे घुस गए थे और उनके साथ मारपीट की। हालांकि, रामनिवास गोयल ने कोर्ट में दलील दी थी कि उन्हें जानकारी मिली थी कि बीजेपी नेता ने अपने घर में कंबल और शराब छिपा रखी है, जो चुनाव से पहले गरीबों में बांटी जाएगी ।

देश के मोस्ट वांटेड आतंकियों को अपनी गोद में पालकर रखने वाले आतंकिस्तान उर्फ पाकिस्तान पर आज फिर शिकंजा कसेगा। दरअसल, फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की शुक्रवार को पैरिस में खत्म होने वाली बैठक में पाकिस्तान की ग्रे लिस्ट में शामिल हो चुका है ।
हालांकि, FATF पाकिस्तान को Black List में नहीं डाल रहा है। बता दें कि पाकिस्तान के सहयोगी मलेशिया और तुर्की ने FATF में पाकिस्तान के पक्ष में समर्थन दिया है। इसके अलावा पाकिस्तान का सबसे बड़ा हितैशी चीन ने पाक का मौन समर्थन दिया है जिसेक पास FATF का अध्यक्ष पद भी है।
 एफएटीएफ की तरफ से उसे ग्रे लिस्ट में बरकरार रखा गया है और फुल एक्शन प्लान पर काम करने के लिए फरवरी 2020 तक का समय दिया गया है ।

जिस तरह जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से हर रोज बॉर्डर से गोलीबारी की खबरें सामने आती रहती हैं । वहीं इस बार बांग्लादेश बॉर्डर से एक बूरी खबर सामने आ रही है । जहां गुरूवार को पूरे भारत में सभी औरतें अपने पति की लंबी आयू के लिए करवाचौथ का व्रत रखी हुई थी । वहीं उनमें कुछ से कुछ औरते ऐसी भी थी जिनके पति उनका व्रत तोड़ने के बजाय देश की सुरक्षा के लिए बॉर्डर पर तैनात थे ।

ऐसी ही एक खबर पश्चिम बंगाल के बहरामपुर में भारत-बांग्लादेश सीमा से सामने आई है । जहां देर रात हुई फायरिंग के दौरान  सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के हेड कांस्टेबल विजय भान सिंह शहीद हो गए । जब ये सूचना उनकी पत्नी सुनीता को दी गई तो शाम होते-होते खुशियां आंसूओं में बदल गई । वहीं इस मामले में शहीद विजय सिंह के बेटे विवेक कुमार ने कहा, 'बांग्लादेश और भारत के बॉर्डर पर फ्लाइंग मीटिंग चल रही थी, तभी यह गनबेटल हुआ और मेरे पिता को गोली लगी है। उनकी डेथ हो गई. मेरी कमांडर से बात हुई थी' ।

अचानक सीमा पर तनाव बढ़ गया कि बांग्लादेश की तरफ एक भारतीय मछुआरे को पकड़ा गया है। इसी बात पर बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश और बीएसएफ के बीच फायरिंग शुरू हो गई, जिसमें विजय भान सिंह शहीद हो गए। फायरिंग में एक कांस्टेबल और बोटमैन जख्मी भी हुआ है।

पीएमसी बैंक के लाखों खाताधरकों को इन दिनों कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है । दरअसल रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक के 15 लाख खाता धारकों का फरमान जारी किया । जिसके चलते वह 6 महीने में चालीस हजार रुपये से ज्यादा रकम नहीं निकाल सकते हैं ।

वहीं इस पर पाबंदी लगाने के लिए जब सुप्रीम कोर्ट पर अर्जी दाखिल की गई तो सुप्रीम कोर्ट ने अर्जी दाखिल करने से साफ इंकार कर दिया । सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा है कि, वह इस मामले में हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल करें ।

आपको बता दें कि बिजोन कुमार मिश्रा ने सुप्रीम में इस मामले में अर्जी दाखिल की थी।  अपनी अर्जी में 15 लाख खाताधारकों की सुरक्षा पर चिंता जताते हुए उनके लिए 100 फीसदी इंश्योरेंस कवर की मांग की थी। साथ ही कहा था कि, पीएमसी बैंक में जमा धनराशि की निकासी पर तय की गई पाबंदी खत्म की जाए। ग्राहकों को जरूरत के मुताबिक रकम निकालने की छूट मिले।

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव को लेकर लगातार पक्ष-विपक्ष चुनाव प्रचार कर रहा है । आज 2019 के इस चुनावी दंगल में दिग्गजों की जंग देखने को मिलेगी । दरअसल पीएम मोदी हरियाणा में दो रैली करेंगे तो वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी हरियाणा में चुनावी सभा करेंगे ।

आपको बता दें कि, राहुल गांधी से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी चुनावी रैली कर रही थी। लेकिन अब उनकी जगह राहुल गांधी हरियाणा के महेंद्रगढ़ में आज रैली करेंगे । बता दें कि, शनिवार को महाराष्ट्र और हरियाणा में चुनाव प्रचार का आखिरी दिन जिसके बाद 21 अक्टूबर को मतदान होगा । वहीं कांग्रेस लगातार कोशिश में जुटी हुई है उनकी सत्ता वापस आए लेकिन ये 24 अक्टूबर के बाद ही साफ हो पाएगा ।

किसकी कहां पर होगी रैली?

अमित शाह: चार रैली, महाराष्ट्र

राजनाथ सिंह: तीन रैली, हरियाणा

वीके सिंह, मनोज तिवारी, हेमा मालिनी, गौतम गंभीर, रविकिशन: हरियाणा

जेपी नड्डा, पीयूष गोयल, शरद पवार, सिद्धारमैया, ज्योतिरादित्य सिंधिया: महाराष्ट्र

आप सभी के पसंदीदा खाद्द सामग्री डोमिनोज पिज्जा वैश्विक मंदी के कारण कंपनी को काफी घाटा हुआ है । जिसके चलते ये कंपनी लगभग 4 देशों में बंद होने की कगार पहुंच चुकी है । ब्रिटेन की सबसे बड़ी कंपनी डोमिनोज ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि, कंपनी इस वक्त बहुत ज्यादा घाटे में चल रही है । इसी वजह से चार देशों में अपना कारोबार समेटने में लगी हुई है ।

अगर आप लोग भी डोमिनोज के पिज्जा खाने बेहद शौकीन हैं तो ये खबर आपको बड़ा दे सकती है । वहीं इस फैसले को लेकर डोमिनोज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड वाइल्ड ने कहा, “ हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि जिन देशों में हम घाटे में जा रहे हैं वहां के आकर्षक बाजारों का प्रतिनिधित्व हम नहीं कर पा रहें हैं”।

अगर इस फैसले को लेकर जिन भारतीयों को चिंता हो रही है वो ना घबराएं क्योंकि, ये फैसला भारत में नहीं बल्कि स्विट्जरलैंड, आइसलैंड, नॉर्वे और स्वीडन जैसे देशों में बंद किया जा सकता है । इस जगहों में डोमिनोज को लगातार घाटा हो रहा है ।

राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल ने अब बड़ा फैसला लिया है। दरअसल आम आदमी पार्टी एक बार फिर दिल्ली में ODD-EVEN स्कीम लागू करने जा रही है। इस मामले को लेकर आज सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई जानकारी दी।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि, इस बार दिल्ली में ऑड ईवन के दौरान सीएनजी वाहनों को छूट नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस दौरान नियम तोड़ने वाले को 4 हजार रुपये जुर्माना भरना होगा। गाड़ी में स्कूली बच्चे होने पर ऑड ईवन में छूट मिलेगी। इनके अलावा महिलाओं और दिव्यांगों को भी इस नियम से छूट मिलेगी ।

केजरीवाल ने कहा कि, 2 व्हीलर्स पर यह स्कीम लागू नहीं होगी। इसके साथ ही राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया, प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार के मंत्रियों पर ऑड ईवन लागू नहीं होगी। इसके साथ ही विपक्षी नेताओं, इलेक्शन कमीश्नर, सीएजी और दिल्ली हाईकोर्ट के जजों की गाड़ियों को भी इसमें छूट मिलेगी। केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली के सीएम और मंत्रियों पर यह नियम लागू रहेगा । आपको बता दें कि, इस बार दिल्ली में पिछले साल के मुताबिक, प्रदूषण का स्तर ने रिकॉर्ड तोड़ दिया ।

दिवाली के मौके पर आतंकवादी किसी बड़ी आतंकी साजिश रचने की फिराक में हैं । हाल ही में दशहरा के मौके ये खबर सामने आई थी कि, जैश के 4 आतंकी राजधानी दिल्ली में घूस आए हैं। वहीं अब खबर सामने आ रही है दिवाली से पहले आतंकी गोरखपुर में किसी बड़ी साजिश रचने की फिराक में है । दरअसल NIA के मुताबिक, गोरखपुर में 5 संदिग्ध आतंकी घूस आए हैं।

इन आतंकियों को सफ़ेद रंग की मारुति डिजायर कार में देखा गया है। जनकारी के बाद NIA ने देश अलर्ट जारी कर दिया है। जानकारी मिलने के बाद NIA ने देश में अलर्ट जारी कर दिया है। आपको बता दें कि, पूरे भारत में फिलहाल त्योहारों को लेकर जगह-जगह बाजार सज चुके हैं और दिवाली जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे ये आतंकी भी किसी बड़ी साजिश रचने की बड़ी प्लानिंग बना रहे हैं ।

NIA के मुताबिक, नेपाल के रास्ते देश में 5 आतंकी घुस आए हैं। इन सभी आतंकियों को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में 5 संदिग्ध आतंकी सफ़ेद रंग की डिजायर कार में देखे गए हैं। NIA को मुखबिर से मिली सूचना है कि, ये सभी आतंकी आज यही 17 अक्टूबर को दिल्ली में अपने साथियों से मिलेंगे। दिल्ली में जम्मू-कश्मीर से भी कुछ आतंकी पहुंचेंगे जहां, इन्हें आगे के प्लान दिए जाएंगे। मुखबिर ने NIA को बताया कि, आतंकियों ने आपस कि बातचीत में कहा “इस बार की दिवाली काफी धमाकेदार होगी”।

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले को लेकर आखिरी दिन चल रही सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्षकार के वकील राजीव धवन ने जजों के सामने हिंदू पक्षकार के वकील ने जो राम जन्मभूमि के नक्शे को सबूत के तौर पर पेश किया था, उसे सबके सामने फाड़ दिया । जिसके बाद इस मामले को लेकर लगातार बवाल मचा पड़ा है । दरअसल सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ सदस्य डॉ राम विलास वेदांती ने मुस्लिम पक्षकार के वकील राजीव धवन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने से साफ इंकार कर दिया ।

राम विलास वेदांती ने कहा कि राजीव धवन ने केवल कोर्ट का ही नहीं अपमान किया, संविधान का अपमान किया है। न्याय का अपमान किया, न्यायधीशों का अपमान किया है। न्यायधीशों के बीच में नक्शे को चार टुकड़े में फाड़कर फेंक देना ये भारतीय संस्कृति का अपमान है। उन्होंने कहा कि मैं एफआईआर दर्ज कराऊंगा। राम विलास वेदांती का कहना है कि राजीव धवन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने से अयोध्या विवाद में फैसला प्रभावित हो सकता है।

उन्होंने कहा कि मैंने इस मसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जजों से बात की, उन्होंने कहा कि इससे मुकदमा प्रभावित हो सकता है। क्योंकि जजों के समाने ऐसी हरकत की गई है तो जजों को स्वयं संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने विश्वास जताया कि फैसला राम लाला के पक्ष में ही आएगा। जब निर्णय आ जाएगा तो मैं राजीव धवन को देखूंगा ।

महाराष्ट्र और हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर पक्ष-विपक्ष ने चुनावी प्रचार में तेजी ला दी है । पीएम मोदी हरियाणा के बाद अब महाराष्ट्र के बीड, सतारा और पुणे में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। बता दें कि, महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को मतदान होंगे ।

आपको बता दें कि, प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को खुद को और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र के लिए विकास का दोहरा इंजन के रूप में बताया और लोगों से भाजपा को दूसरे कार्यकाल के लिए एक और मौका दिए जाने की अपील की। वहीं फडणवीस के समर्थन में पीएम मोदी ने कहा कि, राज्य के विकास में वह एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।

वहीं पीएम मोदी अनुच्छेद 370 हटाने के मुद्दे को लेकर कहा कि, विपक्ष कैसे कह सकते हैं कि जम्मू कश्मीर का महाराष्ट्र के साथ कोई लेना देना नहीं है। उन्हें इस तरह की सोच पर शर्म आनी चाहिए। क्या उन्हें कोई शर्म नहीं है? डूब मरो। मोदी ने अनुच्छेद 370 को निरस्त किये जाने की आड़ में अपनी विफलताओं से लोगों का ध्यान हटाने का भाजपा पर आरोप लगाने वाली कांग्रेस और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की आलोचना की।

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद को लेकर आज सुबह 10.30 बजे से लगातार सुनवाई जारी रही। इस बीच दोनों पक्षों की अपनी दलीलें पेश करने के दौरान कई बार कहा सूनी भी हुई । लेकिन तमाम अटकलों के बाद आखिरकार सुनवाई के खत्म होने के 1 घंटे पहले ही सीजेआई रंजन गोगोई ने सुनवाई को खत्म कर दिया । साथ ही उन्होंने बताया कि, 8 नवंबर के बाद और 17 नवंबर से पहले कभी भी राम मंदिर को लेकर फैसला आ सकता है ।

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद की सुनवाई खत्म हो गई है. सबसे आखिर में मुस्लिम पक्ष की ओर से दलीलें रखी गईं। अब सुप्रीम कोर्ट ने लिखित हलफनामा, मोल्डिंग ऑफ रिलीफ को लिखित में जमा करने के लिए तीन दिन का समय दिया है । अयोध्या मामले में पहले याचिकाकर्ता रहे स्वर्गीय गोपाल सिंह विशारद की तरफ से वरिष्ठ वकील रंजीत कुमार ने कहा कि इमारत में मूर्ति रखने का केस अभिराम दास पर दर्ज हुआ। वही वहां पुजारी थे। वह निर्वाणी अखाड़ा के थे। सेवादार होने का निर्मोही अखाड़ा का दावा गलत है।

जब आज सुनवाई शुरू हुई तो चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने स्‍पष्‍ट किया कि किसी नए दस्‍तावेज पर विचार नहीं किया जाएगा। दरअसल हिंदू महासभा की हस्‍तक्षेप संबंधी एप्‍लीकेशन को खारिज करते हुए मुख्‍य न्‍यायाधीश ने कहा कि हर हाल में आज शाम 5 बजे तक इस मामले में सुनवाई खत्‍म हो जाएगी । लेकिन सुप्रीम कोर्ट 1 घंटा पहले ही सुनवाई खत्म कर दी और कहा कि, 23 दिन के अंदर राम मंदिर निर्माण पर फैसला आ जाएगा ।

अयोध्या विवाद में चल रही सुनवाई का आज आखिरी दिन है । वहीं उत्तर प्रदेश में लोगों की सुरक्षा को लेकर योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है । दरअसल अयोध्या मामले के संभावित फैसले के मद्देनजर सभी पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं । बताया जा रहा है कि, योगी सरकार ने आदेश में सभी अधिकारियों को मुख्यालय में बने रहने के निर्देश दिए हैं ।

इससे पहले योगी सरकार ने अयोध्या फैसले को लेकर उत्तर प्रदेश की सुरक्षा को लेकर एक और बड़ा फैसला लिया है । दरअसल योगी सरकार ने इससे पहले यूपी में 10 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी थी । वहीं बात अगर अयोध्या मामले की करें तो आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का आज आखिरी दौर चल रहा है । आज शाम 5 बजे तक अयोध्या मामले की सुनवाई खत्म हो जाएगी जिसके बाद 17 नवंबर तक इस मामले में सुप्रीम कोर्ट फैसला घोषित करेगा ।

अयोध्या में दीपावली पर प्रस्तावित दीपोत्सव कार्यक्रम को लेकर भी तैयारियां तेज कर दी गई हैं। इस बार दीपोत्सव में पांच लाख 51 हजार दीप जगमगाएंगे। तैयारियों का जायजा लेने के लिए यूपी सरकार के मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव गृह और डीजीपी सोमवार को अयोध्या पहुंचे थे। अयोध्या फैसला और दीपोत्सव के मद्देनजर अयोध्या में अतिरिक्त पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। पीएसी के साथ ही 3 जोन से पुलिस फोर्स की डिमांड भेजी गई है।   

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष बनने के बाद भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को हर तरफ से सोशल मीडिया पर बधाइयां मिल रही हैं । इसमें सिर्फ भारतीय टीम के लोग ही नहीं बल्कि अन्य क्रिकेट टीमों से भी सौरव गांगुली को उनके अध्यक्ष बनने की शुभकामनाएं मिल रही हैं । इसी बीच बात करें मास्टर ब्लास्टर कहे जाने सचिन तेदुलकर की तो उन्होंने भी कुछ अलग अंदाज में ट्विटर के जरिए शुभकामनाएं दी हैं ।

सचिन ने अपने ट्वीट में कहा, "बीसीसीआई अध्यक्ष चुने जाने पर 'दादी' को बधाई। मुझे यकीन है कि आप जैसा हमेशा से भारतीय क्रिकेट की सेवा की है, वैसी ही जारी रखेंगे। नई टीम को शुभकामनाएं" । आपको बता दें कि, जहां पूरी क्रिकेट टीम उन्हें दादा कह कर पुकारती थी वहीं सचिन उन्हें दादी कहकर पुकारा करते थे ।

सौरव गांगुली ने हमेशा भारतीय टीम की कप्तान की भूमिका निभाकर अपनी अलग ही छवि बनाई है । इतना ही नहीं उन्होंने शानदार बल्लेबाजी के जरिए कई बड़े रिकॉर्ड बनाए हैं । वहीं बात अगर सचिन और सौरव गांगुली की करें तो दोनों के नाम वनडे में सबसे बड़ी ओपनिग पार्टनरशिप है। दोनों ने 136 पारियों में टीम इंडिया के लिए ओपनिंग की है, जिसमें उन्होंने 6609 रन बनाए हैं। इसमें 21 शतकीय और 23 फिफ्टी साझेदारियां शामिल है।

LIVE UPDATE:

 

14:30 PM

SC ने बुद्धिस्ट सभा की दलील सुनने से किया इनकार

लंच के बाद सुप्रीम कोर्ट में बुद्धिस्ट सभा की ओर से वकील रणजीत थॉमस ने दलील देने की कोशिश की जिसे कोर्ट ने सुनने से इनकार किया और कहा कि हमने आपको डीटैग कर दिया है। यानी जिन्होंने इस मामले में सिविल अपील दाखिल नहीं की है उनको किसी भी सूरत में नहीं सुना जाएगा।

13:30 PM

निर्मोही अखाड़ा की बहस हुई पूरी, अदालत में हुआ लंच...

निर्मोही अखाड़ा की तरफ से सुशील जैन ने कहा कि हमारा दावा मंदिर की भूमि, स्थाई संपत्ति पर मालिकाना अधिकार को अधिकार है। मुस्लिम पक्षकारों के इस दावे में भी दम नहीं है कि 22/23 दिसंबर 1949 की रात बैरागी साधु जबरन इमारत में घुसकर देवता को रख गए थे। उन्होंने कहा कि ये मुमकिन ही नहीं कि मुसलमानों के रहते इतनी आसानी से वो घुस गए जबकि 23 दिसंबर को शुक्रवार था। इसी के साथ निर्मोही अखाड़ा की दलील पूरी हुई।

अब शिया वक्फ बोर्ड की ओर से दलील शुरू हुई। शिया बोर्ड की ओर से कहा गया कि हमारा विवाद शिया बनाम सुन्नी बोर्ड को लेकर है, इस पर सुन्नियों का दावा नहीं बनता है। शिया वक्फ बोर्ड की ओर से एमसी धींगड़ा ने कहा कि वहां पर शिया मस्जिद थी, 1966 में आए फैसले से हमें बेदखल किया गया था। 1946 में दो जजमेंट आए थे एक हमारे पक्ष में और दूसरा सुन्नी के पक्ष में, 20 साल बाद 1966 में कोर्ट ने हमारा दावा खारिज कर दिया।

इसी के साथ अदालत लंच के लिए उठ गई है. लंच के बाद 45 मिनट पीएन मिश्रा को और उसके बाद डेढ़ घंटा मुस्लिम पक्षकारों को दिया जाएगा।

13:00 PM

निर्मोही अखाड़ा ने रामजन्मभूमि न्यास का विरोध किया..

निर्मोही अखाड़ा की ओर से सुशील जैन ने कहा कि उन्होंने 1961 का एक नक्शा दिखाया, जो गलत था। उन्होंने बिना किसी सबूत के सूट फाइल कर दिया। वहां की इमारत हमेशा से ही मंदिर थी। ऐसा कोई सबूत नहीं है कि मस्जिद बाबर ने बनाई थी।

निर्मोही अखाड़ा ने रामजन्मभूमि न्यास की दलील का विरोध किया और कहा कि उन्होंने ऐसा क्यों कहा कि बाबर ने मंदिर गिराया और मस्जिद बनाई। हमने हमेशा कहा है कि वो मंदिर ही था. हमने कभी मुस्लिमों को जमीन का हक ही नहीं दिया।

इस पर जस्टिस अशोक भूषण ने कहा कि जो सूट दायर किया गया है वह टाइटल का है, इसमें एक्सेस की कोई बात नहीं है।

12:45 PM 

सुप्रीम कोर्ट में हिंदू महासभा के वकील विकास ने कहा कि अदालत में डॉक्यूमेंट के आधार पर कब्जे की बात कही गई। जिस जमीन पर बहस हुई वहां पर जन्मस्थान है। उन्होंने इस दौरान अन्य मंदिरों का भी हवाला दिया.  इसी के साथ हिंदू महासभा की बहस खत्म हुई।

अब निर्मोही अखाड़ा की तरफ से सुशील जैन अपनी दलील रख रहे हैं। चीफ जस्टिस ने कहा कि हमारा समय मत खराब करिए और आगे की बहस शुरू करें। निर्मोही अखाड़ा ने कहा कि मुस्लिम पक्ष अपना दावा स्थापित करने में फेल रहा है, साबित उन्हें करना है हमें नहीं।

12:30 PM 

कोर्ट में मुस्लिम पक्षकारों के वकील राजीव धवन ने नक्शे का कागज़ फाड़ा, CJI हुए नाराज

 अयोध्या बाबरी विवाद के आखिरी दिन सुप्रीम कोर्ट में हिन्दू और मुस्लिम पक्षकारों में तीखी बहस हुई है। मुस्लिम पक्षकार के नक्शे का कागज फाड़ दिया, जिससे CJI रंजन गोगोई नाराज हो गए। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुनवाई के दौरान कहा कि हमारी तरफ से दोनों ओर से बहस पूरी हो चुकी है हम सिर्फ इस इसलिए सुन रहे हैं कि कोई कुछ कहना चाहता है तो कह दे। हम अभी उठ कर जा भी सकते हैं।

12:15 PM 

SC में शुरू हुई हिंदू महासभा की आखिरी दलील...

सुप्रीम कोर्ट में ऑल इंडिया हिन्दू महासभा की ओर से विकास सिंह ने एडिशनल डॉक्यूमेंट के तौर पर पूर्व आईपीएस किशोर कुणाल की किताब बेंच को दी गई। इस पर मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने ज़ोरदार आपत्ति जताई। राजीव धवन ने कहा कि इसे ऑन रिकॉर्ड ना लिया जाए, ये बिल्कुल नई चीज है। कोर्ट इसे वापस कर दें, इसपर अदालत की ओर से कहा गया कि ये किताब वो बाद में पढ़ेंगे। इसी के साथ किताब वापस दे दी गई है। हिंदू महासभा की ओर से विकास सिंह ने अब बहस शुरू कर दी है। जब विकास सिंह ने किताब दी तो चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि क्या वह इसे रख सकते हैं? मैं इसे बाद में पढ़ूंगा। राजीव धवन के विरोध पर हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह ने कहा कि कोर्ट ने किसी नए कागजातों को लाने पर मनाही की है, लेकिन कोई पार्टी किसी तरह का सबूत या किताब दे सकती है।

12:10 PM

निर्वाणी अखाड़ा की ओर से कहा गया है कि रामलला जन्मस्थान की सेवा का अधिकार उनका है। इसपर जस्टिस भूषण ने कहा कि लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने निर्मोही अखाड़ा को सेवायायी माना है। इसपर जयदीप गुप्ता ने कहा कि वो दावा गलत है। इसी के साथ जयदीप गुप्ता की दलील खत्म हो गई।

12:05 PM 

निर्वाणी अखाड़ा की ओर से महंत धर्मदास के वकील के जयदीप ने कहा...

महंत धर्मदास की ओर से वकील जयदीप गुप्ता ने कहा कि टाइटल पर हमारा विवाद नहीं है, हिंदुओं को जो रामलला का अधिकार मिलेगा उससे हम ही सेवायत होंगे। सेवायत का दावा निर्मोही अखाड़े का भी है, हमने सूट फाइल नहीं किया है हम तो डिफेंडेन्ट हैं।

12:00 PM

गोपाल सिंह विशारद की दलील पूरी, निर्वाणी अखाड़ा की ओर से रखी जा रही है दलील...

गोपाल सिंह विशारद की दलील पूरी हो गई है। उनके बाद अब महंत धर्मदास की ओर से दलील रखी जा रही है। बता दें कि निर्वाणी अखाड़ा की ओर से जयदीप गुप्ता दलील रख रहे हैं।

11:55 AM

गोपाल सिंह विशारद की ओर से SC में दलील हुई शुरू...

गोपाल सिंह विशारद की ओर से रंजीत कुमार ने कहा कि हिंदुओं की ओर से पूजा का अधिकार पहले मांगा गया था, लेकिन मुस्लिम रूल में हिंदुओं को पूजा के अधिकार मिलने में दिक्कत आई थी। हालांकि, जब ब्रिटिश रूल आया तो इस मामले में कुछ राहत जरुर मिली।

11: 50 AM

अयोध्या राम मंदिर विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो चुकी है । दोनों पक्षकारों के वकील अपनी दलीलें पेश करने में जुटे हैं । अदालत ने वकीलों के अलावा इस सुनवाई के दौरान किसी को भी बोलने से साफ मना कर दिया है । फिलहाल सभी पक्षकार अपने लिखित सबूत पेश कर रहे हैं । इस दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा है कि अब बहुत हुआ, शाम 5 बजे तक इस मामले में पूरी सुनवाई पूरी होगी ।

सुनवाई शुरू

इस सुनवाई के शुरू होते ही हिंदू पक्षकार के वकील ने कहा कि, 1885 तक हिंदू-मुस्लिम उस जमीन पर पूजा का दावा करते थे, लेकिन बाद में ब्रिटिश सरकार ने वहां पर रेलिंग करवा दी. अब मुस्लिम पक्ष बाहरी और आंतरिक आहते पर विवाद कर रहा है, वो छोटी-सी जगह को बांटना चाहते हैं ।

हिंदू पक्षकार के वकील सीएस वैद्यनाथन ने इस वक्त मुस्लिम पक्षकार के वकीलों की दलील का जवाब दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि, विवादित स्थल में 1949 तक अंदर मूर्ति नहीं थी और साप्ताहिक नमाज़ होती थी ।

हाईकोर्ट के फैसले के हवाले से सीएस वैद्यनाथन ने सुन्नी बोर्ड के दावे को काटते हुए कहा कि, जब ज़मीन की मालिक तत्कालीन हुकूमत थी और उन्हीं की देखरेख में मस्जिद बनाई गई तो सुन्नी बोर्ड ने उसे कैसे डेडिकेट किया? इस पर जस्टिस नज़ीर ने कहा कि, तभी तो उन्होंने कहा है कि ये वक्फ बाई यूजर है ।

आपको बता दें कि, हिंदू पक्षकारों को अपनी दलील पेश करने के लिए सिर्फ 45 मिनट दिए गए हैं । वहीं सीजेआई रंजन गोगोई ने हिंदू पक्ष के वकील सीएस वैद्यनाथन को कहा कि अब आपका समय पूरा हो गया है, बैठ जाइए । इसपर वैद्यनाथन ने आपत्ती जताते हुए कहा कि, सर कुछ मिनट और। तभी गोपाल सिंह विशारद के वकील रंजीत कुमार खड़े हुए तो CJI ने उन्हें कहा कि आपको सिर्फ 2 मिनट ही मिलेंगे। क्योंकि कल आपने दो ही मिनट मांगे थे. इसपर रंजीत कुमार ने कहा कि सर, वो तो कल के लिए दो मिनट थे. अब कैसे बहस पूरी होगी?

अयोध्या राम मंदिर विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो चुकी है । दोनों पक्षकारों के वकील अपनी दलीलें पेश करने में जुटे हैं । अदालत ने वकीलों के अलावा इस सुनवाई के दौरान किसी को भी बोलने से साफ मना कर दिया है । फिलहाल सभी पक्षकार अपने लिखित सबूत पेश कर रहे हैं । इस दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा है कि अब बहुत हुआ, शाम 5 बजे तक इस मामले में पूरी सुनवाई पूरी होगी ।

सुनवाई शुरू

इस सुनवाई के शुरू होते ही हिंदू पक्षकार के वकील ने कहा कि, 1885 तक हिंदू-मुस्लिम उस जमीन पर पूजा का दावा करते थे, लेकिन बाद में ब्रिटिश सरकार ने वहां पर रेलिंग करवा दी. अब मुस्लिम पक्ष बाहरी और आंतरिक आहते पर विवाद कर रहा है, वो छोटी-सी जगह को बांटना चाहते हैं ।

हिंदू पक्षकार के वकील सीएस वैद्यनाथन ने इस वक्त मुस्लिम पक्षकार के वकीलों की दलील का जवाब दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि, विवादित स्थल में 1949 तक अंदर मूर्ति नहीं थी और साप्ताहिक नमाज़ होती थी ।

हाईकोर्ट के फैसले के हवाले से सीएस वैद्यनाथन ने सुन्नी बोर्ड के दावे को काटते हुए कहा कि, जब ज़मीन की मालिक तत्कालीन हुकूमत थी और उन्हीं की देखरेख में मस्जिद बनाई गई तो सुन्नी बोर्ड ने उसे कैसे डेडिकेट किया? इस पर जस्टिस नज़ीर ने कहा कि, तभी तो उन्होंने कहा है कि ये वक्फ बाई यूजर है ।

आपको बता दें कि, पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई आखिरी तारीख 17 अक्टूबर रखी थी । लेकिन बाद में 16 अक्टूबर कर दी गई । चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के मुताबिक आज राम मंदिर जमीनी विवाद की सुनवाई की आखिरी तारीख है ।

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग के बिजबेहारा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गई है। इस मुठभेड़ में सेना ने 3 आतंकियों को मार गिराया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को बिजबेहारा में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद सुबह से ही सर्च ऑपरेशन चलाया गया। सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां बरसाई ।

इससे पहले हाल ही में जम्मू-कश्मीर के गांदरबल से दो आतंकवादी गिरफ्तार किए गए हैं। इन आतंकियों की सुरक्षाबलों को काफी लंबे समय से तलाश थी। गांदरबल में छिपे होने के इनपुट के बाद पिछले करीब दो हफ्तों से आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा था। करीब दो हफ्तों की मशक्कत के बाद सुरक्षाबलों ने सोमवार को नारंग में दो आतंकियों को पकड़ा।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में जबसे 370 हटा है तबसे घाटी में आतंकी पूरी तरह से बौखलाए हुए हैं और घाटी में अशांति फैलाने के लिए कोई न कोई हरकत कर ही रहे हैं।

अयोध्या में राम मंदिर जमीनी विवाद को लेकर 70 साल से अदालत में सुनवाई चल रही है । जिसके बाद इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया । अब सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों तमाम बहस सुनने के बाद उन्हें आज यानी 16 अक्टूबर की अंतिम तारीख दी है । आज हिंदू पक्षकार को 45 मिनट का समय और मुस्लिम पक्षकारों को अपनी दलील रखने का 1 घंटे का समय दिया जाएगा ।

आपको बता दें कि, आज अगर ये सुनवाई खत्म हो जाती है तो, कोर्ट अगले 1 महीने यानी 17 नवंबर को इस मामले फैसला घोषित करेगा । जिसका सबको बेसब्री से इंतजार है । इस फैसले के आने तक लोगों की सुरक्षा के लिए उत्तर में 10 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी गई है।

बता दें कि, हिंदू पक्ष के वकीलों की तरफ से ASI की रिपोर्ट, पुराण, ग्रंथ, भावनाओं का हवाला दिया गया, कई बार अदालत में तीखे तर्क भी रखे। वहीं दूसरी ओर मुस्लिम पक्ष की ओर से भी ASI की रिपोर्ट, मौजूदा स्थिति और इस्लामिक इतिहास का हवाला देकर अदालत का रुख अपनी ओर करने का प्रयास किया । बीते दिनों सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा था कि वह इस मामले की सुनवाई 18 अक्टूबर से पहले खत्म करना चाहते हैं, क्योंकि बाद में फैसला लिखने के लिए एक महीने तक का वक्त भी चाहिए ।

अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में हो रही सुनवाई का आखिरी दौर चल रहा है । मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के नेतृत्व वाली संवैधानिक पीठ इसकी सुनवाई कर रही है। आपको बता दें कि, 17 अक्टूबर को अयोध्या मामले में आखिरी दिन बहस होनी थी । जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट एक महीने का वक्त मांगते हुए 17 नवंबर तक फैसला सुनाने की घोषणा की थी । लेकिन अब इस मामले में सीजेआई का एक और बड़ा बयान सामने आया है ।

सीजेआई ने कहा, 'आज सुनवाई का 39वां दिन है। कल मामले की सुनवाई का 40वां और आखिरी दिन है।' इसका मतलब साफ है कि, 17 नवंबर से एक दिन पहले यानी 16 नवंबर को सभी पक्षों को अपनी बहस पूरी करनी होगी । इससे पहले 26 सितंबर को सीजेआई ने कहा था कि 18 अक्टूबर तक हर हाल में सुनवाई पूरी करनी होगी। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय पीठ ने स्पष्ट किया था कि सभी पक्ष समयसीमा में अपनी दलीलें पूरी कर लें।

अदालत ने एक महीने का समय इसलिए मांगा क्योंकि अदालत का कहना है कि, ये मामला काफी है और हमें फैसला लिखने में 4 हफ्ते लगेंगे । सीजेआई ने दोनों पक्षों को स्पष्ट कर दिया है कि जो भी करना है इसी समय सीमा में करना होगा।

महाराष्ट्र में जहां भाजपा ने आज अपना संकल्प पत्र जारी किया तो वहीं भाजपा ने अपने चुनावी प्रचार में तेजी बढ़ा दी है । बता दें कि, सोमवार पीएम मोदी ने हरियाणा के बल्लभगढ़ में रैली को संबोधित किया । वहीं आज पीएम मोदी हरियाणा के चरखा दादरी में रैली संबोधित कर रहे हैं । इस दैरान पीएम मोदी ने कहा कि, जनता ये फैसला कर लिया है कि, बीजेपी हरियाणा में दोबारा आएगी ।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं दो दिन से हरियाणा में हूं, हवा का रुख साफ-साफ पता लग रहा है। भाजपा दोबारा हरियाणा की सेवा करे, ये जनता ने फैसला कर लिया है। पीएम मोदी ने कहा कि राज्य में कभी दो तीन सीटों वाली बीजेपी आज हरियाणा में लगातार दूसरी बार सरकार बनाने की स्थिति में आप सब के आशीर्वाद और प्रेम के कारण पहुंची है। पवित्रता, परिश्रम और ईमानदारी पर आज हरियाणा की जनता मुहर लगा रही है' ।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि, 'हरियाणा में मैं चुनावी सभा के लिए नहीं आता हूं, न मैं यहां प्रचार करता हूं और न मैं यहां वोट मांगता हूं'। उन्होंन कहा, 'हरियाणा मुझे खींच के ले आता है, इतना प्यार आपने मुझे दिया हैं' । पीएम मोदी ने कहा कि, 'मैं आप लोगों से आशीर्वाद लेने और आपको नमन करने आता हूं।

देश में त्योहारों को देखते हुए और यात्रियों के सहूलियत को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके अन्तर्गत रेलवे प्रशासन  ने मंगलवार (15 अक्टूबर) से 10 नई ट्रेन सुविधा शुरू की जा रही है।

बता दें कि रेलवे द्वारा चलाए जा रहे इन ट्रेनों से हजारों यात्रियों को सहूलियत होगी। नई चलाई जाने वाली सभी ट्रेनों को 'सेवा सर्विस' नाम दिया गया है। आज दोपहर 2 बजे रेल मंत्री पीयूष गोयल, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सभी ट्रेनों को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। इन ट्रेनों के बारे में रेलवे की तरफ से ऑफिशियर ट्विटर हैंडल पर भी जानकारी दी गई है।

सेवा सर्विस के नाम से चलाई जा रही ये सभी ट्रेन पैसेंजर ट्रेन है। इन 10 ट्रेनों में से कुछ ट्रेनें हफ्ते में 6 दिन चलेगी। प्रतिदिन चलनी वाली सेवा सर्विस ट्रेन दिल्ली और शामली, भुवनेश्वर और नारायणगढ़ शहर, मुरकंगसेलेक और डिब्रूगढ़, कोटा और झालावाड़ तथा कोयंबटूर और पलानी के बीच चलेंगी। इसके अलावा जो सेवा सर्विस ट्रेन हफ्ते में छह दिन चलेंगी उनमें वडनगर और महेसाणा, असारवा और हिम्मतनगर, करूर और सलेम, यशवंतपुर और तुमुकुर और कोयंबटूर और पोल्लाची के बीच चलने वाली ट्रेनें हैं।

देश के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की आज यानी 15 अक्टूबर को जन्मदिन है । आपको बता दें कि, अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ था । अब्दुल कलाम को भारत का राष्ट्रपति होने के साथ-साथ मिसाइल मैन भी कहा जाता है । ऐसा इसलिए क्योंकि वह भारत के 11वें राष्ट्रपति के साथ जाने माने वैज्ञानिक भी थे । इसके साथ-साथ वह अच्छे लेखक भी थे ।

आपको अब्दुल कलाम जी के बारे में एक दिलचस्प बात बतातें हैं । दरअसल अब्दुल कलाम का सपना पायलट बनना था जो कि उनका पूरा नहीं हो पाया । दरअसल इसके बारे में उन्होंने अपनी पुस्तक 'माई जर्नी: ट्रांसफॉर्मिंग ड्रीम्स इन टू एक्शंस' में जिक्र किया था । जिसमें यह भी सामने आया कि, वह अपने इस सपने के काफी करीब पहुंच गए थे, लेकिन भारतीय वायुसेना में केवल 8 जगह होने के कारण उनका ये सपना अधुरा रह गया ।

कलाम ने इस किताब में लिखा था कि, "मैं हवा में ऊंची से ऊंची उड़ान के दौरान मशीन को नियंत्रित करना चाहता था, यही मेरा सबसे प्रिय सपना था।" कलाम को दो साक्षात्कारों के लिए बुलाया गया था। इनमें से एक साक्षात्कार देहरादून में भारतीय वायुसेना का और दूसरा दिल्ली में रक्षा मंत्रालय के तकनीकी विकास एवं उत्पादन निदेशालय (डीटीडीपी) का था। कलाम ने लिखा कि डीटीडीपी का साक्षात्कार 'आसान' था, लेकिन वायुसेना चयन बोर्ड के साक्षात्कार के दौरान उन्हें महसूस हुआ कि योग्यताओं और इंजीनियरिंग के ज्ञान के अलावा बोर्ड, उम्मीदवारों में खास तरह की 'होशियारी' देखना चाहता था।

हरियाणा विधान चुनाव का घोषणा पत्र जारी करने के बाद बीजेपी आज महाराष्ट्र विधान सभा चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र (संकल्प पत्र) जारी करेगी। ये संकल्प पत्र मुंबई के रंगशारदा ऑडिटोरियम में जारी होगा।

बीजेपी के इस घोषणा पत्र से मुंबई वासियों को बहुत ज्यादा आस है। बीजेपी स्वास्थ्य, रोजगार और आरक्षण जैसे कई वादों को अपने संकल्प पत्र में शामिल कर सकती है। बता दें कि शिवसेना ने शनिवार को अपना घोषणा पत्र जारी किया था जिसमें आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों की शिक्षा के लिए महाविद्यालय, हर जिले में एक महिला बचत घर, कामकाजी महिलाओं के लिए सरकारी हॉस्टल, रोजगार और स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों को दुरुस्त करने का वादा किया गया है।

सोमवार को पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (PMC) बैंक के एक खाताधरक संजय गुलाटी की हार्ट अटैक से मौत हो गई । जिसके कुल 4 खाते थे जिसमें 90 हजार रूपये जमा थे । यह घोटाला सामने आने पर आरबीआई (RBI) द्वारा पीएमसी बैंक पर लगाई गई पाबंदियों के बाद से परेशान थे ।

दरअसल ये घटना तब हुई जब संजय गुलाटी ने पीएमसी बैंक घोटाले में सोमवार को हिस्सा लिया । इस विरोध प्रदर्शन के बाद जैसे ही वह अपने घर के लिए वापस लौटने लगे तो उनको अचानक हार्ट अटैक आया जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई । संजय गुलाटी के रिश्तेदार राजेश दुआ ने बताया कि संजय बहुत ही परेशान थे।

उन्होंने बताया कि, पीएमसी बैंक में उनके चार अकॉउंट थे कुल मिलाकर 80 लाख रुपये जमा थे, वह पैसे निकाल नहीं पाने को लेकर परेशान थे, उनका बेटा स्पेशल चाइल्ड था जिसका इलाज चल रहा था ।बता दें पीएमसी बैंक में वित्तीय अनियमितता का मामला सामने आने के बाद आरबीआई ने इस बैंक के ग्राहकों के लिए नकदी निकासी की सीमा तय करने के साथ ही बैंक पर कई तरह के अन्य प्रतिबंध लगा दिए हैं ।

महाराष्ट्र और हरियाणा में होने वाले चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे सभी पार्टियां तेजी से चुनावी प्रचार करने में जुटी हैं । दरअसल महाराष्ट्र के बाद पीएम मोदी आज हरियाणा के बल्लभगढ़ में चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे । इस दौरान पीएम मोदी ने मौजूद जनता को धन्यवाद किया । साथ ही उनसे कहा कि, जब मैं आपके बीच हरियाणा में आता हूं, तो मुझे लगता है कि मैं अपने घर में आया हूं ।

पीएम मोदी ने कहा कि, आज पूरी दुनिया और दुनिया के बड़े-बड़े नेता भारत के साथ खड़े होने और उसके साथ आने के लिए बेताब हैं। जनता ने जो जनादेश दिया है उससे दुनिया में ये संदेश गया है कि अब भारत का समाज बंटा हुआ नहीं है बल्कि एकजुट होकर विकास और विश्वास की नीति के साथ खड़ा है। पीएम ने कहा कि, यह लोगों के विश्वास और उनसे मिली ऊर्जा का ही नतीजा है कि भारत आज ऐसे फैसले ले रहा है, जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता था ।

वहीं इस मौके पर पीएम मोदी ने विपक्ष पर भी जमकर हमला बोला । मैं इन लोगों को चुनौती देता हूं। अगर हिम्मत है तो साफ तौर पर हरियाणा की जनता को बताएं कि अगर ये चुनाव जीतकर आएंगे तो 370 और आर्टिकल 35ए को वापस लाएंगे। लोकसभा चुनाव तक अपने मेनिफेस्टो में लिखें कि हम 370 को वापस लाएंगे। पीएम ने आगे कहा कि, जिन्होंने जम्मू-कश्मीर में शांति के लिए अपनों को खोया है, उन्हें कांग्रेस के नेता बताएं कि इन्हें अनुच्छेद 370 से इतना मोह क्यों है? इसी के साथ राफेल मुद्दे को लेकर भी पीएम मोदी ने कांग्रेस पर तंज कसा ।

पीएम मोदी ने कहा कि, राफेल लड़ाकू विमान को लेकर विपक्षी पार्टियों ने कैसी हायतौबा मचाई थी। इन लोगों ने पूरा जोर लगाया कि राफेल सौदा रद्द हो जाए और भारत में नया लड़ाकू विमान न आ पाए। लेकिन इनकी तमाम कोशिशों के बावजूद भारत को पहला लड़ाकू विमान सौंपा जा चुका है ।

ग्रेटर नोएडा में अकेले वाले बुजुर्गों की सुरक्षा को देखते हुए नोएडा पुलिस ने एक बड़ा कदम उठाया है । दरअसल नोएडा में बढ़ते अपराध को लेकर और शहर में रह रहे बुजुर्गों के एकाकी जीवन और उनके साथ हो रही घटनाओं के बाद पुलिस एक ऐप लॉन्च करने जा रही है । इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद बुजुर्गों के आपात स्थिति में होने पर जैसे ही वह ऐप का इमरजेंसी बटन दबाएंगे पुलिस तुरंत उनकी मदद के लिए उनकी लोकेशन पर पहुंच जाएगी।

नोएडा पुलिस फिलहाल इस ऐप को तैयार करने में लगी है और जल्द इसे लॉन्च करेगी । दरअसल, शहर में रह रहे बुजुर्गों के एकाकी जीवन और उनके साथ हो रही घटनाओं के बाद पुलिस ने यह कदम उठाया है। इन बुजुर्गों का नौकरों और हेल्पर के सहारे ही काम चलता है। ऐसे में कभी बदमाश तो कभी ये हेल्पर और नौकर ही इन्हें निशाना बनाकर घटना को अंजाम देते हैं और इनकी पुलिस भी किसी तरह की मदद नहीं मांग पाती है।

आपको बता दें कि, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में एक हज़ार से अधिक रिटायर्ड आईएएस, आईपीएस और अन्य अधिकारी रह रहे हैं । जिन्हें पुलिस इस ऐप से जोड़ेगी और उनके परिजनों को भी इसकी जानकारी दी जाएगी । इससे जब वह इमरजेंसी बटन दबाएंगे तो पुलिस के साथ-साथ उनके परिजनों को भी जानकारी उनकी मिल जाएगी ।

अयोध्या मामले को लेकर लगातार सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का दौर जारी है । वहीं सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने अदालत के सामने कई सबूत भी पेश किए । सुनवाई के दौरान राजीव धवन ने कोर्ट से कहा कि, मैंने नोटिस किया है कि सुनवाई के दौरान बेंच के सारे सवाल मुस्लिम पक्ष से ही हो रहे हैं। हिंदू पक्ष से कोई सवाल नहीं पूछा गया ।

रामलला के वकील सीएस वैद्यनाथन ने इस पर ऐतराज जाहिर करते कहा- ये ग़लत, बेबुनियाद बात है। धवन ने कहा - मैं कोई बेबुनियाद बात नहीं कह रहा हूं। मेरी ज़िम्मेदारी बनती है कि मैं बेंच के सारे सवालों के जवाब दूं पर सारे सवाल मुस्लिम पक्ष से ही क्यों हो रहे हैं? दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को हुई सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन से पूछा कि, जब बाहरी हिस्से में हिंदू राम चबूतरा, सीता रसोई बना कर पूजा करते थे फिर आपका पूरा कब्ज़ा कैसे हुआ? राजीव धवन ने कहा कि सारे सवाल हमसे किए जा रहे हैं और दूसरे पक्ष से कोर्ट सवाल नहीं करता।

सुप्रीम कोर्ट के सवाल का जवाब ना देते हुए राजीव धवन ने सुब्रमण्यम स्वामी को आगे बैठा देख विरोध किया। उन्होंने कहा कि, ये जगह वकीलों की है और यहां किसी और को अधिकार नहीं है। अपने केस की खुद पैरवी करने वाले स्वामी आगे बैठते रहे हैं. राफेल केस में अरुण शौरी आगे बैठे थे ।

उत्तर प्रदेश के जिला मऊ के मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के वलीदपुर नगर पंचायत में सोमवार सुबह एक बड़ा हादसा हुआ । दरअसल अचानक सिलेंडर ब्लास्ट होने से 12 लोगों की मौत हो गई । जिसमें दर्जन से अधिक लोग मलबे में दब गए । बता दें कि, सिलेंडर के ब्लास्ट होने से तीन मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गए ।

अचानक हुई इस घटना से ना जाने कितने परिवार तबह हो गए । जब इस घटना की जानकारी लोगों ने पुलिस और अधिकारियों को दी तो पुलिस ने बचाव कार्य के लिए टीम गठित की इसके साथ ही डेढ़ दर्जन एंबुलेंस मौके पर पहुंच गई। हादसे वाले मकान की गली संकरी होने के कारण मलबा हटाने में दिक्कत आ रही है।

बताया जा रहा है कि, वलीदपुर नगर के संगत जी के पास छोटू विश्वकर्मा के घर में सोमवार की सुबह सिलिंडर में अचानक आग लग गई। आग लगने की सूचना मिलते ही आसपास के लोग आग बुझाने के लिए मौके पर पहुंचे और आग बुझाने पर जुट गए । इस बीच इतने जोरदार धमाके के साथ सिलिंडर फटा कि उस मकान के साथ आसपास के दो मकान भी मलबे में तब्दील हो गए। तीनों मकान में कुल 23 लोग रहते थे। जिनमे से 12 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई ।

मध्यप्रदेश के होशंगाबाद में सोमवार की सुबह एक बड़ा हादसा हुआ । जिसमें भारत के जाबाज और राष्ट्रीय स्तर पर खेले हॉकी प्लेयर इस हादसे का शिकार हो गए और उनकी मौके पर ही मौत हो गई । इस भीषण दुर्घटना में तीन लोग घायल हो गए हैं। बताया जा रहा है कि इन लोगों की तेज रफ्तार कार बेकाबू होकर पेड़ से टकरा गई, जिससे यह हादसा हुआ है।

बताया जा रहा है कि, ये सभी खिलाड़ी होशंगाबाद से इटारसी जा रहे थे । इस कार में कुल 7 खिलाड़ी सवार थे । कार इतनी तेज रफ्तार में थी कि, अचानक से कार बेकाबू हो गई और पेड़ जा कर टकरा गई । कार टकराने के बाद कार पलट कर सड़क के नीचे जा गिरी। इस हादसे में चार खिलाड़ियों की मौके पर ही मौत हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार होशंगाबाद में ध्यानचंद हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन चल रहा है। यह सभी उसमें ही भाग लेने के लिए आए थे। टीमों के ज्यादा होने से कुछ खिलाड़ियों के रुकने की व्यवस्था इटारसी में की गई थी। सह सभी खिलाड़ी अपने ही वाहन से इटारसी के लिए निकले थे। पुलिस के मुताबिक घायलों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है और उनका इलाज जारी है ।

कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से सभी नेटवर्क पर सरकार ने पाबंदियां लगा दी है । लेकिन आज धारा 370 हटाए हुए 70 दिन पूरे हो चुके हैं । अब इन नेटवर्क की पाबंदियों के बाद सभी नेटवर्क पर पोस्ट पेड मोबाइल फोन सेवा सोमवार दोपहर बाद बहाल हो जाएगी। इससे करीब 40 लाख पोस्टपेड मोबाइल धारकों को इस सुविधा का लाभ मिलेगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कश्मीर घाटी पर सभी लैंडलाइन फोन काम कर रहे हैं । हालाकि, नेट सुविधा पर पाबंदी अभी भी जारी है । वहीं कुपवाड़ा और हंदवाड़ा में फोन भी काम कर रहे हैं । राज्य सरकार के प्रवक्ता ने शनिवार को यह सुविधा शुरू करने की घोषणा की थी। हालांकि, 20 लाख से अधिक प्रीपेड मोबाइल फोन तथा अन्य इंटरनेट सेवाएं फिलहाल बंद रहेंगी। सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा था कि यह फैसला कश्मीर के सभी 10 जिलों के लिए है।

आपको बता दें कि, घाटी में आंशिक रूप से 17 अगस्त को लैंडलाइन सेवाएं बहाल की गई थीं और चार सितम्बर को इसे पूरी तरह बहाल कर दिया गया था। इसके साथ ही करीब 50,000 लैंडलाइन सेवाएं बहाल हो गई थीं। कहा जा रहा है कि, पहले शनिवार को इन सेवाओं को बहाल किया जा रहा था लेकिन तकनीकी दिक्कतों के कारण इन्हें रोक दिया गया ।

Page 1 of 3