Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

राज्यसभा में BJP के कुल 83 सांसद, CAB बिल पास कराने के लिए 121 का बहुमत, कैसे पास करेगी मोदी सरकार ये अग्नि परीक्षा ?

By Aniket Gupta December 11, 2019
File Photo File Photo

मोदी सरकार ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल (citizenship amendment bill) को भले ही आसानी से पास करा लिया हो, लेकिन राज्यसभा में इस बिल को पास कराने को लेकर केंद्र सरकार की असली परीक्षा आज है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज दोपहर 12 बजे राज्यसभा में इस बिल को पेश करेंगे। CAB  बिल पर बहस करने के लिए राज्यसभा में 6 घंटे का समय दिया गया है। इस दौरान राज्यसभा में कोई प्रश्नकाल नहीं होगा। भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस समेत कई पार्टियों ने अपने सांसदों के लिए तीन लाइन का व्हिप जारी किया है।

राज्यसभा में इस वक्त 240 सदस्य है। सदन में मोदी सरकार को CAB बिल को पास कराने के लिए 121 वोटों की आवश्यकता है। राज्यसभा में बीजेपी के कुल 83 सांसद हैं। ऐसे में बीजेपी को इस बिल को पास कराने के लिए सहयोगी दलों के साथ की आवश्यकता होगी। बीजेपी के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उनके पास 124 से 130 वोट हैं, वहीं विपक्ष के पास 90-93 वोट हो सकते हैं।

बीजेपी के सूत्रों के आकड़ों के लिहाज से बात करें तो बीजेपी को इस बिल को इस बिल को पास कराने में कोई खासा दिक्कत नहीं आएगी। क्योंकि भारतीय जनता पार्टी को इस बिल के समर्थन में AIADMK (11), JDU (6), SAD (3) का समर्थन प्राप्त है। इन पार्टियों के अलावा BJD (7), YSRCP (2), TDP (2) भी बिल के समर्थन में आ सकते हैं।  

वहीं अगर विपक्ष की रणनीति पर नज़र डालें तो वह इस मुद्दे पर एकजुटता दिखाने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस के राज्यसभा में 46 सांसद हैं और वह इस बिल के ख़िलाफ़ ज़्यादा से ज़्यादा मतदान कराना चाहती है। मंगलवार को कांग्रेस नेताओं ने संसद भवन में अन्य विपक्षी दलों के साथ बातचीत भी की है। नागरिकता संशोधन बिल पर राज्यसभा में डीएमके (5), RJD (4), NCP (4), KC(M)-1, PMK(1), IUML(1), MDMK (1), व अन्य 1 सांसद ख़िलाफ़ वोट करेंगे। यानि इस तरह से यूपीए का आंकड़ा 64 सांसदों का पहुंचता है, लेकिन यूपीए के साथ-साथ कई अन्य विपक्षी दल भी इस बिल के ख़िलाफ़ राज्यसभा में वोट करेंगे, जिसे लेकर समाजवादी पार्टी समेत कई दलों ने अपने सांसदों को व्हिप भी जारी किया है. TMC(13), Samajwadi Party (9), CPM(5), BSP (4), AAP (3), PDP (2), CPI (1), JDS (1), TRS (6) जैसे राजनीतिक दलों के सांसद इस बिल के ख़िलाफ़ हैं। यूपीए के अतिरिक्त कई विपक्षी दलों के 44 सांसद भी इस बिल के ख़िलाफ़ वोट कर सकते हैं।

Rate this item
(0 votes)
Last modified on Wednesday, 11 December 2019 10:44