मुंगेर गोलीकांड: गुस्साई भीड़ ने थाना फूंका , एसपी और डीएम को हटाने के निर्देश

Share

-अक्षत सरोत्री

बिहार मेंदो दिन पहले हुई पुलिस और मूर्ति बिसर्जन गए लोगों के बीच हुई झड़प के कारण एक व्यक्ति की मौत हो जाने से आज गुस्साए लोगों ने पूरब सराय थाने में आग लगा दी है। मुंगेर की एसपी लिपि सिंह और डीएम को चुनाव आयोग के निर्देश पर हटाया गया। पूरे मामले की जांच के आदेश, 7 दिनों में सौंपी जाएगी रिपोर्ट। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई हिंसा के विरोध में आज सैकड़ों युवा सड़क पर उतर आए थे। शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार, सैकड़ों की संख्या में युवाओं ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर प्रदर्शन किया। पुलिस कार्यालय के आगे लगे बोर्ड को भी उखाड़ फेंका। प्रदर्शन कर रहे युवा का हुजूम पूरब सराय थाने पहुंचा। थाने के सामने खड़ी गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया। इसके बाद मौके पर अतिरिक्त पुलिस फोर्स भेजा गया है। दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान गोलीकांड के विरोध में चेंबर आफ कॉमर्स ने आज मुंगेर बाजार बंद बुलाया है। चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष कृष्ण कुमार अग्रवाल समेत कई पदाधिकारी बाजार में व्यवसायियों से दुकान बंद करने की अपील करते दिखे।

क्या था मुंगेर गोलीकांड का मामला

मुंगेर के दीनदयाल चौक पर प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस और आम लोगों के बीच झड़प हो गई। बात लाठीचार्ज और गोली तक आई जिसमें गोली लगने से एक युवक की मौत और कई लोग घायल हुए। मामले का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है उसमें साफ़ दिख पुलिस लोगों पर बेरहमी से डंडे बरसा रही है।

क्या कहा पुलिस ने 

मुंगेर पुलिस ने अपनी सफाई में कहा है कि असामाजिक तत्वों की ओर से पथराव और फायरिंग की गई, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हुए। इसके बाद बेकाबू भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने कार्रवाई की। एसपी लिपि सिंह ने मामले पर पुलिस का पक्ष रखते हुए कहा है कि जो मुंगेर में हुआ उसकी जांच की जा रही है। प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस ने हथियार, कारतूस और खोखा बरामद किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *