आपसी सहयोग वैश्विक पोस्ट-कोविड रिकवरी में योगदान कर सकता है: ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी

BRICS Summit
पीएम नरेन्द्र मोदी (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को वर्चुअल मोड में आयोजित किए जा रहे 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (BRICS Summit) को संबोधित करते हुए कहा कि वैश्विक स्तर पर कोविड के बाद आर्थिक सुधार में आपसी सहयोग उपयोगी योगदान दे सकता है।

उन्होंने कहा कि ब्रिक्स सदस्य देशों का वैश्विक अर्थव्यवस्था के शासन के प्रति समान दृष्टिकोण है।

चीन द्वारा आयोजित शिखर सम्मेलन में अपने उद्घाटन भाषण के दौरान, पीएम मोदी ने कहा, “ऐसे कई क्षेत्र हैं, जिनमें ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग के माध्यम से, नागरिकों को लाभ हुआ है। ब्रिक्स युवा शिखर सम्मेलन, ब्रिक्स खेल, नागरिक समाज संगठनों और सोच के बीच संपर्क बढ़ाकर, हमने अपने लोगों से लोगों के बीच जुड़ाव को मजबूत किया है।”

यह खुशी की बात है कि न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) की सदस्यता बढ़ी है, पीएम मोदी ने कहा, सदस्य देशों के बीच सहयोग से उनके नागरिकों को लाभ हुआ है।

उन्होंने कहा, “मुझे विश्वास है कि आज हमारे विचार-विमर्श से हमारे संबंधों को और मजबूत करने के लिए सुझाव मिलेंगे।”

उन्होंने आगे कहा कि ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) समूह के सदस्य देशों ने पिछले कुछ वर्षों में संरचनात्मक परिवर्तन करने में कामयाबी हासिल की है जिससे संस्था का प्रभाव बढ़ा है।

पीएम मोदी (PM Modi) ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) के समारोह में भाग लेने वाले देशों के प्रति भी आभार व्यक्त किया।

शिखर सम्मेलन (BRICS Summit) में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (XI Jinping), रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) और ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष नेताओं ने भी भाग लिया।