नरसिंह जयंती 2021: 25 मई मनाई जाएगी नरसिंह जयंती, जाने शुभ मुहूर्त और पूजा विधि!

करिश्मा राय

 

हर वर्ष वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को नरसिंह जयंती के रूप में मनाया जाता है. इस दिन भगवान विष्णु जी के चौथे अवतार नरसिंह की पूजा-अर्चना की जाती है. इस साल नरसिंह जयंती 25 मई यानी कल मनाई जाएगी. कहते हैं कि इस दिन नरसिंह भगवान की अराधना करने से सभी कष्टों से मुक्ति मिल जाती है. साथ ही इस दिन व्रत रखने से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिलती है.

 

नरसिंह जयंती से जुड़ी पौराणिक कथा

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विष्णु ने दैत्य हिरण्यकश्यप से अपने भक्त प्रहलाद को बचाने के लिए वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि पर नरसिंह अवतार लिया था. दरअसल भगवान विष्णु के परम भक्त प्रहलाद को पिता हिरण्यकश्यप द्वारा केवल इसलिए यातनाएं दी जा रही थी क्योंकि वे पिता का छोड़ भगवान भगवान विष्णु का नाम जपा करते थे.

 

बता दें कि हिरण्यकश्यप को वरदान प्राप्त था कि उसे न दिन में कोई मार सकता था न रात में, न इंसान मार सकता था न जानवर. ऐसे में वह खुद को अजर-अमर भगवान समझने लगा था. भक्त प्रहलाद को बचाने के लिए भगवान विष्णु ने वैशाख शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को नरसिंह अवतार लिया. भगवान का यह अवतार आधे नर और आधे सिंह का है, जिस वजह से इसे नरसिंह अवतार कहा जाता है.

 

नरसिंह जयंती शुभ मुहूर्त

  • पूजा का समय- शाम 4:26 मिनट से शाम 7:11 मिनट तक
  • पूजा की अवधि- 2 घंटे 45 मिनट

 

नरसिंह जयंती पूजा-विधि

इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर साफ कपड़े पहनें के बाद घर के मंदिर में दीपक प्रज्वलित करें. फिर भगवान नरसिंह को पुष्प अर्पित कर उनका ध्यान करें. इस दिन भगवान नरसिंह को सिर्फ सात्विक चीजों का ही भोग लगाएं. उनके बाद भगवान नरसिंह की आरती भी करें.

Share