चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाई कोर्ट से राहत नहीं

LALU

 

– कशिश राजपूत

 

 

चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद के खिलाफ डोरंडा ट्रेजरी मामले में सुनवाई शुरू हो चुकी है। सप्ताह में 2 दिन सुनवाई होगी। इस मामले में 139 करोड़ 35 लाख रुपए अवैध तरीके से निकालने का आरोप है।

 

 

चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को शुक्रवार को झारखंड हाई कोर्ट से राहत नहीं मिली | अब लालू यादव की जमानत याचिका पर 19 फरवरी को सुनवाई होगी |अगर आज लालू यादव को हाई कोर्ट से जमानत मिल जाती तो वो जेले से बाहर आ जाते |

 

 

इससे पहले पिछली सुनवाई के दौरान सीबीआई के वकील की ओर से समय देने का आग्रह किया गया था, जिसके कारण मामले की सुनवाई टल गई थी | चारा घोटाले के दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू यादव को सीबीआइ कोर्ट ने 7 साल की सजा सुनाई है |

 

 

लालू की ओर से वरीय अधिवक्ता कपिल सिब्बल व देवर्षि मंडल ने अदालत को बताया कि दुमका कोषागार मामले में लालू प्रसाद ने सजा की आधी अवधि पूरी कर ली है। उन्होंने इस मामले में 42 माह जेल में बिताए हैं। सीबीआई ने इसका विरोध किया। कहा कि लालू प्रसाद यादव 37 महीना 6 दिन ही इस मामले में जेल में रहे हैं। अदालत में कस्टडी को लेकर दोनों के दावे के अंतर को देखते हुए मामले की सुनवाई अगले हफ्ते निर्धारित की है और दोनों से कस्टडी की सत्यापित प्रति अदालत में दाखिल करने का निर्देश दिया है।

 

डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी का आरोप है। इस मामले में लालू प्रसाद समेत 110 आरोपी हैं। सीबीआई ने शुरू में 170 लोगों को आरोपी बनाया था। लालू प्रसाद समेत 147 आरोपियों के खिलाफ आरोप गठित किया गया था। सुनवाई के दौरान अब तक बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र समेत 37 आरोपियों का निधन हो चुका है।

 

 

 

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *