रिपोर्ट में दावा, शुरुआती दिनों में ज्यादा खतरनाक है Omicron Variant!

 

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच देश में वैक्सीनेशन अभियान भी तेजी से चल रहा है, से में इसके अधिक संक्रामक होने को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं. जापान के वैज्ञानिकों द्वारा की गई एक स्टडी में पाया गया है कि नया वेरिएंट अपने शुरुआत दिनों में डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) के मुकाबले 4.2 गुना अधिक संक्रामक है.

 

बुधवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के सलाहकार पैनल की बैठक में प्रस्तुत किए गए अपने निष्कर्षों के हवाले से कहा, ओमीक्रॉन वेरिएंट तेजी से फैलता है और स्वाभाविक रूप से वैक्सीन के जरिए बनी इम्युनिटी से बच जाता है. निशिउरा क्योटो यूनिवर्सिटी (Kyoto University) में स्वास्थ्य और पर्यावरण विज्ञान के प्रोफेसर हैं और देश के स्वास्थ्य मंत्रालय को सलाह देते हैं.

 

डेल्टा वेरिएंट से ज्यादा खतरनाक है ओमीक्रॉन 

 

गौरतलब है कि कोरोना का यह नया वेरिएंट डेल्टा वेरिएंट की तुलना में दुनिया को ज्यादा बड़ा झटका दे सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आगाह किया है कि ये गंभीर नतीजों के साथ कोरोना मामलों में इजाफा कर सकता है. हालांकि, ऐसे लोगों की भी बड़ी संख्या है, जिनका मानना है कि इस वेरिएंट से सिर्फ हल्के लक्षण आ सकते हैं. इसकी वजह से दक्षिण अफ्रीका में मामलों में इजाफा हुआ है. इस बात का ख्याल रखते हुए लोगों ने कहा कि इसकी वजह से अभी तक अस्पतालों में लोगों की संख्या बढ़ी नहीं है.

 

वेरिएंट पर प्रभावी है बूस्टर डोज 

 

विश्व बिरादरी इस नए वेरिएंट को लेकर स्टडी करने में जुटी हुई है. ये वेरिएंट इसलिए ज्यादा खतरनाक बनकर उभरा है, क्योंकि अभी तक मिले पांच अन्य वेरिएंट के मुकाबले इसमें ज्यादा म्यूटेशन हुआ है.