नवरात्रि पर बनेगी देवी मां की कृपा, नौ देवियों को चढ़ाएं उनके प्रिय पुष्प

Spread the love

 

– नीलम रावत, संवाददाता

 

17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र की शुरुआत हो रही है. शारदीय नवरात्र में लोग 9 दिन व्रत रखकर देवी मां को प्रसन्न करते हैं. नवरात्रि के अवसर पर व्रत करने से माता रानी का आशीर्वाद भक्तों को मिलता है और भक्तों पर हमेशा माता रानी की कृपा बनी रहती है.

 

माता रानी को खुश करने के लिए भक्त फल-फूल चढ़ाते है. ऐसे में नवरात्र में आप हर देवी के पसंदीदा फूल उनको अर्पित कर सकते हैं जिससे मां की कृपा सदैव आप पर बनी रहती है.

 

मां शैलपुत्री-

 

 

नवरात्र का पहला दिन मां शैलपुत्री को समर्पित होता है. मां शैलपुत्री को सफेद कनेर के फूल बेहद प्रिय हैं. मां की पूजा करते समय इन्हें सफेद कनेर के फूलों की माला पहनानी चाहिए.

 

मां ब्रह्मचारिणी

 

 

नवरात्र का दूसरा दिन मां ब्रह्माचारिणी का होता है. मां की पूजा के बाद उन्हें वटवृक्ष के पत्‍ते और वटवृक्ष के पुष्‍पों की माला अर्पित करनी चाहिए. इससे बुद्धि और ज्ञान में इजाफा होता है.

 

मां चंद्रघंटा-

 

 

नवरात्र का तीसरा दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित है. मां की पूजा के बाद उन्हें शंखपुष्‍पी के पुष्‍प अर्पित किए जाने चाहिए. इससे घर में खुशहाली और सुख-समृद्धि आती है.

 

मां कुष्‍मांडा-

 

नवरात्र का चौथा दिन मां कुष्‍मांडा को समर्पित है. इस दिन मां को पीले रंग के पुष्‍प चढ़ाए जाते हैं. इससे व्यक्ति को अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य की प्राप्ति होती है.

 

मां स्‍कंदमाता-

 

नवरात्र का पांचवा दिन मां स्‍कंदमाता को समर्पित है. मां स्‍कंदमाता को नीले रंग के पुष्‍प चढ़ाए जाते हैं. इससे संतान प्राप्ति होती है.

 

मां कात्‍यायनी-

 

 

नवरात्र का छठे दिन मां कात्‍यायनी को पूजा जाता है. मां की पूजा के बाद उन्हें बेर के पेड़ के पुष्‍प अर्पित करने चाहिए. ऐसा करने से शत्रुओं पर विजय प्राप्‍त होती है.

 

मां कालरात्रि-

 

 

नवरात्र का सातवां दिन मां कालरात्रि को समर्पित है. इन्हें गुंजामाला अर्पित करनी चाहिए.

 

मां गौरी

 

नवरात्र का आठवां दिन मां गौरी को समर्पित है. पूजा के बाद मां को कलावा की माला चढ़ानी चाहिए.

 

मां सिद्धिदात्री-

 

 

नवरात्र का नौवां दिन मां सिद्धिदात्री को समर्पित है. इनकी पूजा करने के बाद इन्हें गुड़हल के पुष्‍प चढ़ाए जाते हैं. इससे मां की कृपा भक्तों पर बनी रहती है.

 

नवरात्र में भक्तों पर मां की कृपा सदैव बनी रहती है. ऐसे में नौ दिन में माता के नवरात्र में आप उनको प्रिय पुष्प अर्पित कर प्रसन्न कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *