Farmers Protest: किसान संगठनों के एलान के बाद दिल्ली की सीमा पर लगने लगे हैं बेरिकेड, बढ़ाई गई पुलिस की तैनाती

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भले ही तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान कर दिया हो लेकिन दिल्ली की सीमा पर चल रहा किसान आंदोलन फिलहाल अभी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. 26 नवंबर को इस आंदोलन का साल भर हो रहा है लिहाजा किसान संगठनों ने उसी को देखते हुए 26 नवंबर को दिल्ली की सीमा पर बड़ी संख्या में किसानों के पहुंचने का आह्वान किया है. किसान संगठनों द्वारा किए गए इस आह्वान को देखते हुए अब दिल्ली की सीमा पर एक बार फिर से बड़ी संख्या में बैरिकेड नजर आने लगे हैं और सुरक्षाबलों की तैनाती भी बढ़ गई है.

 

दिल्ली की सीमा पर जुटने का आह्वान

 

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर पिछले 1 साल से किसान नेता राकेश टिकैत बैठे हुए हैं और किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे हैं. कुछ महीनों पहले तक यहां पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात रहते थे और रास्तों पर बैरिकेड नजर आते थे लेकिन पिछले कुछ महीनों के दौरान सुरक्षाबलो की तैनाती भी कम हुई और बैरिकेड को भी उठाकर किनारे रख दिया गया था. लेकिन अब एक बार फिर से वो बैरिकेड बीच सड़क पर लग गए हैं. सुरक्षाबल की तैनाती बढ़ने और बैरिकेड के बीच हाईवे पर आने की वजह किसान संगठनों का वो ऐलान है जिसमें किसान संगठनों ने आंदोलन का 1 साल पूरा होने के मौके पर आंदोलनकारी किसानों को एक बार फिर से दिल्ली की सीमा पर जुटने का आह्वान किया है.