सांसदों के निलंबन के विरोध में विपक्षी नेताओं ने पहनी काली पट्टी, जारी है आंदोलन

protest over MPs suspension

 

विपक्षी दलों के सदस्यों ने गुरुवार को संसद परिसर में महात्मा गांधी की एक प्रतिमा के पास अपना विरोध जारी रखा और शेष सत्र से सांसदों के निलंबन को रद्द करने की मांग की।

विरोध में विपक्षी नेता काली पट्टी बांधे नजर आए। विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वालों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी, केसी वेणुगोपाल और तृणमूल कांग्रेस सांसद डोला सेन शामिल थे।

“भारत बचाओ”, “लोकतंत्र बचाओ” के बैनर

विपक्षी सांसद बैनर और पोस्टर लिए हुए थे जिन पर लिखा था “भारत बचाओ”, “लोकतंत्र बचाओ” और “भाजपा लोकतंत्र की हत्या”।

विपक्षी दलों के सदस्यों ने गुरुवार को संसद परिसर में महात्मा गांधी की एक प्रतिमा के पास अपना विरोध जारी रखा और शेष सत्र से सांसदों के निलंबन को रद्द करने की मांग की।

विरोध में विपक्षी नेता काली पट्टी बांधे नजर आए। विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वालों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी, केसी वेणुगोपाल और तृणमूल कांग्रेस सांसद डोला सेन शामिल थे।

मॉनसून सत्र के आखिरी दिन कथित रूप से हंगामा करने के आरोप में विपक्षी दलों के 12 सांसदों को संसद के शीतकालीन सत्र से निलंबित कर दिया गया है।

निलंबित सांसदों में कांग्रेस के छह, टीएमसी और शिवसेना के दो-दो और सीपीएम और सीपीआई के एक-एक सांसद शामिल हैं। इनमें एलाराम करीम (सीपीएम), फूलो देवी नेताम, छाया वर्मा, आर बोरा, राजमणि पटेल, कांग्रेस के सैयद नासिर हुसैन और अखिलेश प्रसाद सिंह, भाकपा के बिनॉय विश्वम, तृणमूल कांग्रेस के डोला सेन और शांता छेत्री, प्रियंका चतुर्वेदी हैं और शिवसेना के अनिल देसाई।