India-China Dispute : LAC पर विवाद के बीच दोनों देश के विदेश मंत्रियों ने की 2 घंटे से ज्यादा की बैठक, इन पर हुआ समझौता

Spread the love

रवि श्रीवास्तव 

रूस में तनाव के बीच एक बार फिर भारत-चीन के बीच विदेशमंत्रियों की बैठक हुई, सरहद पर तनातनी के बीच हुई इस बैठक पर सबकी नजरें टिकीं थी।वहीं बैठक की जानकारी देते हुए विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया। विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा, ‘बैठक के दौरान दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि सीमा पर वर्तमान स्थिति किसी भी पक्ष के हित में नहीं है। साथ ही दोनों देशों के जवानों के बीच बातचीत जारी रखने, तुरंत पीछे हटने और तनाव कम करने को लेकर सहमति बनी।’

दोनों देशों के बीच पिछले सप्ताह हुए रक्षामंत्रियों की बैठक की तरह ही दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने करीब 2 घंटे से ज्यादा वक्त तक बातचीत की..माना गया कि इस बैठक का पूरा फोकस सरहद पर तनाव को डिप्लोमेट तरीके से सुलझाया जाए।मॉस्को में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ 2 घंटे से ज्यादा वक्त तक चली बैठक में विदेश मंत्री जयशंकर ने चीन विदेश मंत्री को कहा कि सीमा पर यथास्थिति में किसी भी तरह के बदलाव की कोशिश नहीं होनी चाहिए।

बैठक में इन बातों पर बनी सहमति
बैठक में एक सहमति ये बनी कि दोंनों ही देश बातचीत का रास्ता खुला रहेंगे। तनाव को कम करने के मकसद से बातचीत के मसौदे को तरजीह दी जाएगी। हाल ही में जिस तरह lac पर गोली चलने की खबरें आईं थी उसकों लेकर तय हुआ कि अब तक जो समझौते LAC पर हुए हैं..उन सभी का ध्यान रखा जाएगा।भारतीय विदेशमंत्री एस.जयशंकर ने इस बैठक में दो टूक में शांति की बातें समझाने की कोशिश की, जानकारी के मुताबिक एस जयशंकर ने कहा कि मजबूत द्विपक्षीय संबंधों के लिए सीमा पर शांति जरूरी है। संयुक्त बयान में इस बात का भी जिक्र है कि दोनों देश सीमावर्ती क्षेत्रों शांति के लिए विश्वास कायम करने के प्रयासों में तेजी लाएंगे और जितना हो सकें संयम बरतरेंगे ।

लद्दाख में एलएसी को लेकर करीब 3 महीने से चीन के साथ गतिरोध जारी है। जून में दोनों देशों के सैनिकों की झड़प हो गई थी, जिसमें भारत के कई जवान चीन के जवानों को मारते हुए शहीद हो गए थे..हाल ही में एक झड़प और हुई थी। इन सब के बीच बातचीत का ये चौथा है, उम्मीद है जिन समझौतों पर चीन ने हस्ताक्षर किए होंगे। इस बार तो कम से कम चीन उन बातों पर खरा उतरेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *