पाकिस्तानी रेलवे की हालत हुई बद से बदतर, दोस्त चीन ने भी दिया धोखा

Pakistani railway

 

 

-अक्षत सरोत्री

 

वैसे तो पाकिस्तान पूरी तरह से कंगाली के (Pakistani railway) दौर में पहुँच चुका है लेकिन अब पाकिस्तान को उसके ख़ास दोस्तों ने भी धोखा देना शुरू कर दिया है। अब जो नया मामला सामने आया है उसके तहत चीन ने पाकिस्तान को धोखा दे दिया है। जानकारी के अनुसार भारत की बोगियों पर जबरन कब्‍जा करके बैठे पाकिस्‍तानी रेलवे को चीन पैसा नहीं दे रहा है जिससे इमरान खान का सपना टूटता नजर आ रहा है।

 

मी-टू मामला: एमजे अकबर के रमानी पर किए मानहानि के दावे को अदालत ने किया खारिज

 

50 साल में 1.2 ट्रिल्‍यन रुपये का घाटा हुआ रेलवे को

 

पाकिस्‍तान रेलवे (Pakistani railway) को पिछले 50 साल में 1.2 ट्रिल्‍यन रुपये का घाटा हुआ है। सत्‍ता में आने के बाद इमरान खान सरकार ने इसे फिर से जिंदा करने के लिए चीन के आगे झोली फैलाई थी। अब चीन भी पाकिस्‍तान रेलवे की खस्‍ता हालत को देखते हुए इससे किनारा कर रहा है। पाकिस्‍तानी अखबार डॉन के मुताबिक इमरान खान को उम्‍मीद थी कि चीन के 6.8 अरब डॉलर के निवेश से पेशावर से कराची के बीच मेन लाइन-1 को अपग्रेड कर दिया जाएगा जिससे यह रेलवे को फिर से जीवनदान मिलेगा।

 

चीन के भरोसे चल रहे इमरान खान को मिला धोखा

 

 

चीन के भरोसे चल रहे इमरान खान को ड्रैगन ने धोखा दे दिया है और इसके लिए पैसा ही नहीं दे रहा है। इससे इमरान खान का यह प्रॉजेक्‍ट (Pakistani railway) अधर में लटक गया है और काम में देरी हो रही है। पाकिस्‍तान के नए रेलमंत्री आजम खान स्‍वाती ने खुलासा किया है कि पाकिस्‍तान रेलवे को हुए कुल 1.2 ट्रिल्‍यन रुपये के घाटे में 90 फीसदी नुकसान पिछले दो दशक में हुआ है। हर साल करीब 35 से 40 अरब रुपये का घाटा हो रहा है।

 

 

कई महीनों से नहीं मिली है रेलवे कर्मचारियों को सैलरी

 

 

कंगाली की हालत यह है कि पाकिस्‍तान रेलवे (Pakistani railway) अपने कर्मचारियों को सैलरी नहीं दे पा रही है और उसे निजीकरण करने को मजबूर होना पड़ा है। यही नहीं इमरान खान का यह ‘नया पाकिस्‍तान’ अब भारत के डिब्‍बों से अपनी रेल दौड़ाने में जुटा हुआ है। पाकिस्‍तान समझौता एक्‍सप्रेस की 21 बोगियों का पिछले डेढ़ साल से इस्‍तेमाल कर रहा है और कई बार मांगने के बाद भी इन बोगियों को वापस नहीं कर रहा है। दरअसल, भारत और पाकिस्‍तान के बीच चलने वाली समझौता ऐक्‍सप्रेस 7 अगस्त, 2019 को अंतिम बार पाकिस्‍तान के लिए रवाना हुई थी।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *