दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की बुरी तरह हार के बाद पार्टी के सभी नेता बहुत ही शांत नजर आ रहे है। इतना ही नहीं पार्टी के नेता भारी बहुमत से जीतने वाली आम आदमी पार्टी को बधाई देते हुई भी नजर आई। लेकिन बाहर से ये खेमा जितना शांत लग रहा है अंदर से उतना ही सभी नेताओं के बीच बवाल मचा हुआ है।

इसी कड़ी में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा एक बैठक कर हार के कारणों पर चर्चा करने जा रहे है, और साथ ही साथ इसमें प्रदेश अध्यक्ष मनोज तीवारी से दिल्ली चुनाव को लेकर जवाब भी मांगा गया है।

दिल्ली चुनाव को लेकर किए प्रचार के दौरान भारतीय जनता पार्टी के कई नेता लगातार एक ही दावा कर रहे थे जिसमें वे सभी नेता कह रहे थे कि इस बार ‘45 सीटों के पार’। इतना ही नहीं नेता मनोज तीवारी ने मतदान खत्म होने के बाद एग्जिट पोल्स के बाद भी जीत की हुंकार भरते हुए 48 सीटों पर कब्जा करने के लिए कहा था। हांलाकि चुनाव के नतीजे आते ही सभी BJP नेताओं ने मौन व्रत रख लिया।

इसके बाद मनोज तीवारी के इस्तीफा देने को लेकर खबर सामने आ रही था। हालांकि बुधवार को ही बयान देते हुए मनोज तिवारी ने कहा था कि पार्टी की ओर से उनसे इस्तीफा देने को नहीं कहा गया है और ना ही उन्होंने इस्तीफा देने को लेकर किसी भी तरह की बात रखी है। दिल्ली बीजेपी में कुछ ही समय बाद संगठन के चुनाव होने हैं, इसी वजह से इस्तीफा नहीं मांगा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here