सीमा से पकड़े चीनी सैनिक को लेकर पीएलए का बयान, हमारे सैनिक को लौटाया जाए

Chinese soldier

 

 

-अक्षत सरोत्री

 

 

चीन अपने बेतुके बयानों के लिए जाना जाता है। भारत ने इन दिनों पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के एक जवान को हिरासत में लिया है। जिसको लेकर काफी इस समय दोनों देशों की सेनाओं के बीच गर्मागर्मी का माहौल बना हुआ है। चीन ने भारतीय सेना की हिरासत में मौजूद अपने (Chinese soldier) सैनिक की फौरन रिहाई की मांग की है। चीन की सेना यानी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के मुताबिक, यह सैनिक अंधेरे और इलाके की समझ न होने की वजह से भारतीय क्षेत्र में पहुंच गया था।

 

 

 

अक्टूबर में भी हुई थी ऐसी ही घटना

 

 

 

अक्टूबर में एक चीनी सैनिक भारतीय सीमा में (Chinese soldier) घुस गया था। दो दिन बाद उसे चीनी सेना के अफसरों को सौंप दिया गया था। लद्दाख में एलएसी पर पिछले साल जून से दोनों देशों की भारी सैन्य तैनाती है। भारत की हिरासत में मौजूद चीनी सैनिक पर वहां की सेना ने बयान जारी किया। कहा- अंधेरे और जटिल भौगोलिक स्थिति की वजह से शुक्रवार सुबह हमारा एक सैनिक रास्ता भटक गया था।

 

COVID-19 NEW STRAIN: भारत में पहली बार मिला अफ्रीकी कोरोना स्ट्रेन

 

 

 

समझौतों का दे रही है चीनी सरकार हवाला

 

 

 

हमने इस बारे में भारतीय सेना को जानकारी दे दी थी। उनसे सैनिक की खोज में मदद देने की अपील की थी। बयान में आगे कहा गया- भारतीय सेना ने दो घंटे बाद बताया कि हमारा सैनिक उनके पास है और वे आला अफसरों से बातचीत के बाद उसे रिहा कर देंगे। चीनी सेना ने कहा- दोनों देशों के बीच इस तरह के मामलों से निपटने के लिए कुछ समझौते हैं। इसलिए बिना वक्त गंवाए हमारे सैनिक को रिहा किया जाए। इससे दोनों देशों के बीच भरोसा कायम होगा और सीमा पर तनाव कम करने में मदद मिलेगी।

 

 

 

 

यह है भारतीय सेना का बयान

 

 

 

इंडियन आर्मी के मुताबिक, 8 जनवरी शुक्रवार को चीन के एक सैनिक (Chinese soldier) को भारतीय सीमा में घुसने के बाद हिरासत में ले लिया गया। घटना पैगॉन्ग त्सो लेक के दक्षिणी हिस्से की है। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के इस सैनिक को इस एरिया में तैनात भारतीय जवानों ने देख लिया था। यह पता लगाया जा रहा है कि किन हालात में इस सैनिक ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की। अक्टूबर के बाद यह दूसरा मौका है, जब PLA के किसी सैनिक ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की।

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *