प्रधानमंत्री मोदी ने असम में 3 हजार करोड़ की योजनाओं का किया लोकार्पण

Prime Minister Modi

 

-अक्षत सरोत्री

 

 

आज प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi) असम और बंगाल दौरे पर हैं। प्रधानमंत्री का यह लगातार तीसरा दौरा बंगाल का है। गौर है कि इसी साल पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं और इस समय भाजपा ने अपने आधे से ज्यादा मंत्रियों की फौज बंगाल में लगा राखी है। आज मोदी ने इंडियन ऑयल की बोंगाईगांव रिफाइनरी में इंडमैक्स इकाई, डिब्रूगढ़ के मधुबन में ऑयल इंडिया लिमिटेड के सेकेंडरी टैंक फार्म और तिनसुकिया के मकुम के हेबड़ा गांव में एक गैस कंप्रेशर स्टेशन को राष्ट्र को समर्पित किया।

 

 

नॉर्थ ईस्ट ने संस्कृति का गौरव बढ़ानेवाले अनेक व्यक्तित्व दिये

 

 

 

 

उन्होंने कहा कि नॉर्थ ईस्ट ने असम (Prime Minister Modi) की संस्कृति का गौरव बढ़ानेवाले अनेक व्यक्तित्व दिये हैं। नॉर्थ ईस्ट में भरपूर सामर्थ्य होने के बावजूद पहले की सरकारों ने इस क्षेत्र के साथ सौतेला व्यवहार किया। यहां कि कनेक्टिविटी, अस्पताल, शिक्षण संस्थान, उद्योग पहले की सरकार की प्राथमिकता में नहीं थे। ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र पर काम कर रही हमारी सरकार ने इस भेदभाव को दूर किया है।

 

 

आयोध्या के महंत ने की शबनम को माफ़ी देने की अपील, बोले- होगी फांसी तो आएगा प्रलय

 

 

असम को तीन हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स दिए

 

 

असम को (Prime Minister Modi) तीन हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के एनर्जी और एजुकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स का नया उपहार मिल रहा है। आत्मनिर्भर बनते भारत के लिए लगातार अपने सामर्थ्य, अपनी क्षमताओं में भी वृद्धि करना आवश्यक है। बीते वर्षों में हमने भारत में ही, रिफाइनिंग और इमरजेंसी के लिए ऑयल स्टोरेज कैपेसिटी को काफी ज्यादा बढ़ाया है। इन सारे प्रोजेक्ट्स से असम और नार्थ ईस्ट में लोगों का जीवन आसान होगा और नौजवानों के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि साल 2014 तक प्रत्येक 100 परिवारों में से केवल 55 परिवारों में एलपीजी गैस कनेक्शन थे।

 

पुरानी सरकारों ने 18000 गांवों को रखा अँधेरे में

 

 

आजादी के सात (Prime Minister Modi) दशक बाद भी जिन 18,000 गांवों में बिजली नहीं थी, उनमें से ज्यादातर असम और पूर्वोत्तर के थे। इस क्षेत्र में गरीब, जरूरतमंद और मध्यम वर्ग पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले कई उर्वरक उद्योग बंद हो गये। ”नीति सही हो, नीयत साफ हो, तो नियति भी बदलती है।” नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज देश में जो गैस पाइपलाइन का नेटवर्क तैयार हो रहा है, देश के हर गांव तक ऑप्टिकल फाइबर बिछाया जा रहा है, हर घर जल पहुंचाने के लिए पाइप लगाया जा रहा है, वो भारत मां की नयी भाग्य रेखाएं हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *