IAF में शामिल हुआ राफेल, राजनाथ सिंह का दुश्मनों को कड़ा संदेश

Spread the love

फ्रांस से खरीदे गए 5 आधुनिक फाइटर जेट राफेल भारत आने के 43 दिन बाद आज अम्बाला एयरफोर्स स्टेशन पर वायुसेना में शामिल कर लिए गए. इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना पूरी दुनिया के लिए कड़ा संदेश है, खासकर उनके लिए जो हमारे हक पर नजर डाल रहे हैं. मैं वायुसेना के साथियों को बधाई देता हूं. हाल ही में एलएसी पर हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दौरान आपने जो तेजी और सतर्कता दिखाई, उससे आपके कमिटमेंट का पता चलता है.”

वहीं वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा, “सुरक्षा की मौजूदा स्थिति को देखते हुए राफेल को शामिल करने का इससे अच्छा समय कोई और नहीं हो सकता था.” इससे पहले फ्रांस की डिफेंस मिनिस्टर फ्लोरेंस पार्ले की मौजूदगी में सर्वधर्म यानी हिंदू, मुस्लिम, सिख और इसाई धर्म के अनुसार पूजा की गई. उसके बाद एयर-शो हुआ, जिसमें फाइटर प्लेन ने आसमान में ताकत दिखाई। फिर, लैंडिंग के बाद वॉटर कैनन सैल्यूट दिया गया.

इससे पहले अंबाला एयरबेस पर आयोजित समारोह के दौरान राफेल, तेजस, सुखोई और जगुआर विमान एयर शो में शानदार करतब दिखाए.

बता दें कि ये विमान वायुसेना की 17वीं स्क्वॉड्रन में शामिल होंगे, जिन्हें ‘Golden Arrows’ कहा जाता है. इस औपचारिक समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अपनी फ्रेंच समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली के साथ मौजूद रहे. पार्ली खासकर राफेल के इंडक्शन के लिए भारत आई हैं. इस मौके पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और एयरफोर्स के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया मौजूद रहे.

राफेल को बेड़े में शामिल करने से पहले 5 धर्मों के धर्मगुरुओं ने राफेल को वायुसेना में पूरे पूजा पाठ के साथ शामिल कराया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *