राहुल की पदयात्रा बोरगांव से प्रारंभ, प्रियंका भी हुई शामिल

खंडवा, 24 नवंबर (वार्ता) : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा आज सुबह मध्यप्रदेश के खंडवा जिले के बोरगांव से प्रारंभ हुयी, जिसमें पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी पहली बार शामिल हुयीं। राज्य में यात्रा के दूसरे दिन सख्त सुरक्षा प्रबंधों, वरिष्ठ नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में श्री गांधी ने सुबह निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप बोरगांव से पदयात्रा प्रारंभ की। उनके साथ कल ही यात्रा में शामिल होने आयीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी कदमताल किया। श्रीमती वाड्रा शुक्रवार और शनिवार को भी यात्रा के साथ रहेंगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, यात्रा के संयोजक दिग्विजय सिंह, वरिष्ठ नेता जयराम रमेश, पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, जीतू पटवारी और दर्जनों वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं पदाधिकारी भी यात्रा के साथ चल रहे हैं। श्री गांधी की पदयात्रा दिन में लगभग दस बजे या उसके बाद दुल्हार फाटा पहुंचेगी। पूर्वान्ह का विश्राम कार्यक्रम यहीं पर है।

इसके बाद आज ही यात्रा दिन में जनजातीय जनजानय टंट्या भील की जन्मस्थली बड़ौदा अहीर में पहुंचेगी। वहां पर आदिवासी सभा भी होगी। श्री गांधी इसके बाद पंधाना में गुरूद्वारा साहिब पहुंचेंगे। साढ़े तीन बजे वहां से पदयात्रा फिर प्रारंभ होगी और देर शाम छैगांव माखन में पदयात्रा को आज का विराम दिया जाएगा। यात्रा का रात्रि विश्राम रोशिया खेरदा नाम के स्थान पर होगा। यहां से यात्रा शुक्रवार को फिर से प्रारंभ होगी। इसके पहले श्री गांधी की भारत जोड़ो यात्रा ने महाराष्ट्र की सीमा से बुधवार को मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में प्रवेश किया था। यात्रा बोदरली से सुबह प्रारंभ हुयी थी और विभिन्न पड़ाव के बाद शाम को खंडवा जिले के बोरगांव पहुंची थी। यात्रा खंडवा के साथ ही खरगोन, इंदौर, उज्जैन, आगरमालवा जिले से होते हुए चार दिसंबर को राजस्थान की सीमा में प्रवेश कर जाएगी। इस दौरान श्री गांधी 26 नवंबर को डॉ भीमराव अंबेडकर की जन्मस्थली महू (इंदौर) में पहुंचेंगे और सभा करेंगे। वे उज्जैन में भी जनसभा करेंगे।