Rajasthan: कोरोना संक्रमण के 4108 नए केस, ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच लगेगा नाइट कर्फ्यू

राजस्थान में कोरोना संक्रमण (Rajasthan Corona) और ओमिक्रॉन के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. पिछले चौबीस घंटों में संक्रमण के 4108 मामले सामने आए हैं. बढ़ते संक्रमण के बीच गहलोत सरकार ने पाबंदियां और भी सख्त कर दी हैं. राजस्थान सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू (Corona Night Curfew) लगाने का ऐलान किया है. साथ ही 31 जनवरी के बाद बिना कोरोना वैक्सीन लगवाए सार्वजनिक जगहों पर एंट्री नहीं मिलेगी. 31 जनवरी के बाद सार्वजनिक जगहों पर जाने के लिए कोरोना वैक्सीन लगवाना अनिवार्य होगा.

गहलोत सरकार (CM Ashok Gehlot) के नए नियम के मुताबिक मॉल और दूसरे व्यावसायिक प्रतिष्ठान अब रात 10 बजे तक ही खुल सकेंगे. उसके बाद नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया जाएगा. गहलोत सरकार के आदेश के मुताबिक रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा. गहलोत कैबिनेट नकी बैठक में इन पाबंदियों पर मुहर लगा दी गई है. सीएम गहलोत ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है. सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से बचाव और जीवन रक्षा के लिए जरूरी पाबंदियां लगाने पर सहमति बनी है.

यह भी पढ़ें:चुनाव आयोग के निर्देशों का स्वागत, 111 दिन तक CM रहा, पंजाब की जतना और कांग्रेस का धन्‍यवाद- चरणजीत सिंह चन्‍नी

रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू

सीएम गहलोत ने कहा कि संक्रमण के फैलाव को देखते हुए बैठक में रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू का पालन कराने का फैसला लिया गया है. साथ ही राज्य में मास्क की अनिवार्यता और कोरोना एप्रोप्रिएट बिहेवियर का सख्ती से पालना कराए जाने पर जोर दिया जाएगा. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच जयपुर समेत दूसरे बड़े शहर जोधपुर नगर निगम के तहत आने वाले आठवीं तक के स्कूलों को 17 जनवरी तक बंद कर दिया गया है. वहीं ‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया है.

ये भी पढे़ं-PM Security Breach: किरण बेदी ने चन्‍नी सरकार से पूछा- जब पीएम पंजाब में थे उस वक्‍त DGP और DM कहां थे

शनिवार को कोरोना के 4108 नए मामले

सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्र में स्थिति कार्यालयों में सिर्फ 50 फीसदी कर्मचारी काम कर सकेंगे. सोशल डिस्टिंसिंग संभव न होने वाले ऑफिसों पर फैसला लिया जाएगा. सरकार ने कहा है कि जरूरी सेवाओं से जुड़े ऑफिसों में वर्क फ्रॉम होम नहीं होगा. वहीं स्कूलों में ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई जारी रहेगी. शिक्षण संस्थानों और कार्यालयों में मास्क और सोशल डिस्टिंसिंग का पालन करना जरूरी होगा. अगर किसी ऑफिस में कोरोना संक्रमण पाया जाता है तो ऑफिस को 72 घंटों तक बंद रखा जाएगा. प्रेग्नेंट और बुदुर्ग महिलाओं को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा मिलेगी.

राजस्थान में आज कोरोना के 4108 मामले सामने आए हैं, वहीं 2 मरीजों की मौत हो गई है. राज्य के 33 में से 32 जिलों में संक्रमण फैल गया है. जोधपुर और अलवर जिले में संक्रमण से आज एक-एक मौत हुई है. सिर्फ जालौर अकेला ऐसा जिला है जहां पर संक्रमण का एक भी मामला नहीं है.

ये भी पढे़ं-बढ़ते कोरोना पर महाराष्‍ट्र सरकार की नई पाबंदी, राज्‍य में नाइट कर्फ्यू का ऐलान