राजस्थान की जनता को भुगतना होगा गुर्जर आंदोलन का खामियाजा, कई इलाकों में इंटरनेट होगा बंद, प्रदर्शनकारियों पर लगेगी रासुका

Share

रवि श्रीवास्तव

 

राजस्थान में गुर्जर आंदोलन की आग पकड़ता देख राजस्थान सरकार एक्टिव मोड में आ गई है, सीएम गहलोत ने प्रशासन को चोक्कना रहने का निर्देश दिया है, सरकार ने प्रशासन से उपद्रवियों से साथ सख्ती से निपटने को भी कहा है, साथ ही कोई अफवाह ना फैले इसकों देखते हुए संवेदनशील इलाकों में इंटरनेट बंद रखने का भी निर्देश दिया है, खासकर भरतपुर और करौली में इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के आदेश जारी किए गए हैं

 

उपद्रवियों पर रासुका लगाने की तैयारी

सूत्रों के मुताबिक आंदोलन के मद्देनजर राजस्थान की गहलोत सरकार बड़ा फैसला ले सकती है. गुर्जर बाहुल्य जिलों के कलेक्टर की मांग पर राज्य सरकार रासुका लगा  सकती है. मालूम हो कि रासुका का इस्तेमाल प्रदर्शनकारियों पर लगाम लगाने के लिए किया जाता है. इसमें हिरासत में लिए व्यक्ति को अधिकमत एक साल जेल में रखा जा सकता है.

 

एसपी, डीएम के साथ-साथ गृह मंत्रालय की आंदोलन पर नजर 

गुर्जर आंदोलन के मद्देनजर प्रशासन भी अपनी तैयारियां पुख्ता कर ली है.. राजस्थान के गृहसचिव खुद डीएम, एसपी से लगातार पल-पल की अपडेट ले रहे हैं गृह सचिव एनएल मीणा ने करौली, भरतपुर , सवाई माधोपुर के जिला कलेक्टर से हालातों का फ़ीडबैक लिया है. गृह सचिव ने कानून व्यवस्था को लेकर चर्चा की. इसके साथ ही गृह सचिव ने क्लेक्टर और एसपी को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *