इन पांच असरदार आयुर्वेदिक नुस्खों को अपनाकर कहें पीरियड्स के दर्द को अलविदा

 

 

कई महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान मासिक धर्म में ऐंठन का अनुभव होता है। आमतौर पर दर्द, सूजन और के साथ, ये मरोड़ तब होती है जब गर्भाशय महीने में एक बार अपनी परत को बहा देता है। मासिक धर्म में
मरोड़ के लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं, और इसमें सिरदर्द, दस्त भी शामिल हो सकते है।यदि आप भी दर्द और मरोड़ से जूझती हैं, तो आयुर्वेदिक विशेषज्ञ मासिक धर्म के दर्द के प्रबंधन के लिए ये सुझाव देते हैं।

 

Menstrual cramps: Symptoms, treatment, and causes

 

चाय पिए-

ये सभी गर्म और सुखदायक चाय आपके मरोड़ को कम करने में मदद करेंगी।

 

 

प्रभावित क्षेत्रों पर गर्माहट लगाएं-

गर्म पानी की बोतल लगाना सबसे प्रसिद्ध पीरियड-आराम का उपाय है जिसे कई महिलाएं नहीं करती हैं। पीरियड्स के दौरान पेट के निचले हिस्से पर गर्मी लगाने से गर्भाशय में सिकुड़ती मांसपेशियों को आराम मिलता है। यह दुनिया भर में महिलाओं द्वारा उपयोग किए जाने वाले दर्द को प्रबंधित करने का एक सदियों पुराना हैक है।

 

Period pain: self-care - MyDr.com.au

 

भरपूर धूप लें-

हम सभी सूरज की रोशनी को स्रोत के रूप में जानते हैं जिससे विटामिन डी मिलता है, जो मरोड़ पैदा करने के लिए जिम्मेदार prostaglandin के उत्पादन को कम करता है |

 

 

हाइड्रेटेड रहना-

“मासिक धर्म के दौरान पानी पीना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सूजन जैसे मुद्दों में मदद करता है। कैमोमाइल या अदरक की चाय पीएं। कैरम (अजवाइम चाय) मासिक धर्म में मरोड़ के लिए अद्भुत काम करती है। अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रहना न केवल मरोड़ के लिए अच्छा है, यह आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए अच्छा है |

 

 

योग का अभ्यास करें-

योग एक सही समाधान है क्योंकि यह श्रोणि क्षेत्र के चारों ओर परिसंचरण को बढ़ा सकता है और प्रोस्टाग्लैंडिन (हार्मोन जैसे पदार्थ जो गर्भाशय की मांसपेशियों को मासिक धर्म के दौरान अनुबंधित करने का कारण बनता है) का विरोध करने के लिए एंडोर्फिन जारी करता है।

 

7 Natural Remedies For Period Pain

 

 

 

 

 

 

– कशिश राजपूत