वैज्ञानिकों ने जारी की चेतावनी, एलन मस्क, जेफ बेजोस और चीन होंगे नए प्रदूषण के जिम्मेदार

 

VISHAL ADLAKHA 

 

दुनिया भर में फैले कोरोना संक्रमण के बीच अब एक और खतरा विश्व पर मंडरा रहा है. दुनिया के बड़े वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि एक ऐसा प्रदूषण धरती पर मंडरा रहा है जिसके चलते सका नुकसान दो तरह से होगा, पहला दिन में सूरज की रोशनी कम हो सकती है, दूसरा रात में अंधेरा ज्यादा हो सकता है.

 

वैज्ञानिकों ने दावा किया कि भविष्य में इस प्रदूषण को फैलाने में सबसे बड़ा हाथ दुनिया के टॉप अमीरों में से एक एलन मस्क, जेफ बेजोस, रिचर्ड ब्रैनसन और चीन का होगा. आइए जानते हैं कि आखिरकार यह किस तरह का प्रदूषण है, जिसके लिए ये दिग्गज जिम्मेदार होंगे.

 

बढ़ती सैटालाइट के कारण बढड रहा है खतरा 

 

गौरतलब है कि कि रिसर्च में बढ़ते हुए सैटेलाइट प्रदूषण की अहमियत बताई थी. इसके सात ही महीने बाद एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) ने पहली बार 60 स्टारलिंक सैटेलाइट्स का बड़ा हुजूम अंतरिक्ष में लॉन्च कर दिया.

 

एलन मस्क (Elon Musk) के स्टारलिंक सैटेलाइट्स का मकसद है दुनियाभर में इंटरनेट का नेटवर्क बिछाना. सर्विस अंतरिक्ष से सीधे मिलेगी. ये तो शुरुआत थी.

 

ये हो सकता है नुकसान 

 

सबसे पहले यह जान लीजिए कि अगर आसमान साफ है तो आपकी आंखें औसत 3000 तारे देख सकती हैं. अगर धरती के ऊपर लाखों सैटेलाइट्स की एक परत जमा हो जाएगी तो आप उन तारों को देख नहीं पाएंगे. अगर देख भी लेंगे तो तारों और सैटेलाइट्स के बीच अंतर समझ नहीं पाएंगे. आपको कई विचित्र प्रकार के चमकते और चलते हुए बिंदु जैसे सैटेलाइट्स अंतरिक्ष में दिखाई देंगे. ये सैटेलाइट्स धरती की निचली कक्षा में ही लॉन्च किए जाएंगे.

Share