घर आने वाली हैं मां दुर्गा, नवरात्र के दौरान मां को कैसे करें प्रसन्न

Spread the love

-नीलम रावत, संवाददाता

 

अपने भक्तों के हर दुखों को हरने और उनका जीवन खुशियों से भरने मां दुर्गा एक बार फिर आ रही है. मां दुर्गा के नवरात्र आने वाले है, इन नौ दिनों का भक्तों को इंतजार रहता है. नौ दिनों में भक्त मां के अलग-अलग रूपों की उपासना करते हैं.

 

        

इस साल 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि की शुरुआत होने वाली है. शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक चलेगी. नौ दिनों तक चलने वाले इस त्योहार को देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है.

 

शारदीय नवरात्रि का महत्व

शारदीय नवरात्र मां दुर्गा की अराधना का सबसे महत्वपूर्ण समय होता है. नवरात्र के इन पावन दिनों में हर दिन मां के अलग-अलग रूपों की पूजा होती है, जो अपने भक्तों को खुशी, शक्ति और ज्ञान प्रदान करती है. नवरात्रि का हर दिन देवी के अलग रूप को समर्पित होता है. हर देवी की कृपा से अलग-अलग तरह के मनोरथ पूर्ण होते हैं.

 

मां दुर्गा को कैसे करें प्रसन्न

 

  •  कलश स्थापना के बाद कभी घर को खाली ना छोड़े

 

  •  मां के खास इन नौ दिनों में साफ मन से सात्विक भोजन ही ग्रहण करना चाहिए

 

  • इस दौरान मांसाहार, लहसुन और प्याज का सेवन बिल्कुल न करें

 

  • नवरात्रि व्रत के दौरान दिन के समय बिलकुल नहीं सोना चाहिए

 

  •  नवरात्र के व्रत के दौरान चमड़े की वस्तुओं का इस्तेमाल ना करें

 

नवरात्र से जुड़ी पौराणिक कथा

 

पौराणिक कथा के अनुसार महिषासुर नाम का एक राक्षस था, जो ब्रह्मा जी का बड़ा भक्त था. उसने अपनी तपस्या से ब्रह्माजी को प्रसन्न करके एक वरदान प्राप्त कर लिया. वरदान में उसे कोई देव, दानव या पृथ्वी पर रहने वाला कोई मनुष्य मार न पाये. वरदान प्राप्त करते ही वह बहुत निर्दयी हो गया और तीनों लोको में आतंक माचने लगा. उसके आतंक से परेशान होकर देवी देवताओं ने ब्रह्मा, विष्णु, महेश के साथ मिलकर मां शक्ति के रूप में दुर्गा को जन्म दिया और मां दुर्गा ने महिषासुर का वध कर दिया.

 

 

चार बार आते हैं नवरात्र

 

वैसे तो पूरे साल में चार बार नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है, जिसमें चैत्र नवरात्रि, शारदीय नवरात्रि और दो गुप्त नवरात्रि है. व्रत रखने का अधिक महत्व चैत्र और शारदीय नवरात्रि का होता है. चैत्र और शारदीय नवरात्रि में व्रत करने पर मां का आशीर्वाद मिलता है और सभी मनोकामनायें पूरी हो जाती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *