Sonu Sood : बॉम्बे हाई कोर्ट से Sonu Sood को राहत, रिहायशी बिल्डिंग में होटल बनाने का था केस

 

 

 

Sonu Sood : कोरोना काल में मजदूरों की मदद करने वाले सोनू सूद इन दिनों अपनी बिल्डिंग में होटल निर्माण को लेकर सुर्खियों में हैं. दरअसल कुछ दिनों पहले ही  BMC ने सोनू सूद (Sonu Sood) की इस बिल्डिंग को लेकर एक नहीं बल्कि दो नोटिस जारी किए थे. जिसमें से एक नोटिस इस बिल्डिंग के अवैध निर्माण को लेकर था और दूसरे नोटिस में बिल्डिंग के ‘इस्तेमाल का मकसद’ (चेंज ऑफ यूजर)  बदलने को लेकर था. जिसका मतलब है कि यह बिल्डिंग व्यवसाय के लिए नहीं है इसे सिर्फ रिहायशी तौर पर यूज किया जा सकता है. जिसे लेकर सोनू ने कोर्ट में अर्जी डाली थी.

 

 

 

 

VIVO लॉन्च करेगा नया 5G स्मार्ट फोन

 

 

अब कोर्ट ने दी राहत – 

 

अब कोर्ट ने सूद़ को 13 जनवरी तक के लिए अंतरिम राहत दी है. यानि साफ है की अभी BMC सूद के खिलाफ किसी भी कारवाई को अंजाम नही दे सकती. बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा दी गई यह अंतरिम राहत सूद की बिल्डिंग पर BMC की ओर से कार्रवाई को लेकर दी गई है.

 

 

 

 

 

कंगना रनौत को बॉम्बे हाईकोर्ट की राहत, गिरफ्तारी पर 25 जनवरी तक रोक

 

 

वकील अमोघ सिंह ने भी पेश की सूद की बात – 

 

एक तरफ जहा सोनू के वकील अमोघ सिंह ने बताया कि BMC को पहले भी इस मामले में सोनू सूद आवेदन दे चुके हैं, उन्होंने कहा, ‘साल 2018 में सूद ने BMC को ‘चेंज ऑफर यूजर’ के लिए आवेदन दिया था जो कि अब तक लंबित है.

 

 

BMC भी अपने एकशन पर कायम – 

 

BMC  ने अपनी दलील पेश करते हुए कहा की ‘सोनू सूद ने छह मंजिला रिहाइशी बिल्डिंग को होटल में बदल दिया. होटल को चलाने का कोई लाइसेंस नहीं है. बिल्डिंग में 24 कमरे हैं. फ्लैट्स को होटल रूम्स में बदल दिया गया है.

 

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *