PAK में आतंकियों का ऐसा खौफ, चीनी वर्कर AK-47 लेकर कर रहे काम

 

पाकिस्तान का आतंक प्रेम अब उसपर भारी पड़ने लगा है। हालात एसे है की पाक में काम करने वाले चीनी नागरिक हाथों में हथियार लेकर काम कर रहे हैं। ताकी अगर आतंकी हमला हो तो वो जवाब दे सके। लेकिन चीनी नागरिकों के हाथ में एके 47 देखकर लोग इमरान खान से पूछ रहे हैं की नया पाकिस्तान बनाने के चक्कर में आपने पाकिस्तान को क्या बना दिया.

 

पाकिस्तान में खुलेआम मिल रहे हथियार

 

नया पाकिस्तान का सपना दिखाकर सत्ता में आए इमरान खान ने पाकिस्तान को कंगालिस्तान तो बनाया ही साथ ही साथ आतंकिस्तान भी बना दिया है. दुनिया जानती है की पाकिस्तान आतंकियों की फैक्ट्री चलाता है औऱ दुनिया भर में अपने आतंकियों को भेजता है. मगर अब पाक के पाले आतंकी उसके देश के लिए खतरा बन चुके हैं। पाकिस्तान में हो रहे बम धमाकों के लिए पाक ही जिम्मेदार है.मगर अब पाकिस्तान से जो अब एक तस्वीर सामने आ रही है उसने बता दिया है की पाकिस्तान के अंदर सुरक्षा के क्या हाल हैं.

 

AK 47 साथ लेकर काम कर रहे चीनी नागरिक

 

पाकिस्तान में चीन के कई मजदूर काम में लगे हुए हैं.खैबर पखतुनवा में हुए आतंकी हमले में अपने साथियो के मारे जाने के बाद उन्होंने हथियार उठा लिए हैं.चीन के इंजनियर अपने काम के साथ साथ एके 47 साथ रख रहे है ताकी अगर आतंकी हमला हुआ तो वो खुद जवाब दे सकें ना की पाक आर्मी का इंतजार करें. बता दें कि पाकिस्तान में जहां भी चीनी वर्कर काम करते हैं, उनके साथ हमेशा सुरक्षा मौजूद रहती है. इसके बावजूद भी पाकिस्तान के अलग-अलग इलाकों में चीन के लोगों का विरोध होता है क्योंकी चीन ने सीपैक के नाम पर वादा किया था की वो पाकिस्तान के स्थानीय लोगों का काम देगा. मगर हुआ उल्टा औऱ काम मिला चीनी इंजनियरों और मजदूरों को. इस बात से पाकिस्तान में काफी नाराजगी है.

 

चीन द्वारा करोड़ों रुपये खर्च कर एक स्पेशल सिक्युरिटी डिविजन बनाई गई थी, जिसका काम सिर्फ पाकिस्तान में काम कर रह चीनी नागरिकों को सुरक्षित रखना है .इतना ही नहीं पाकिस्तान ने अपनी सेना की एक डीविजन को चीनी नागरिको की सुरक्षा में लगा रखा है.मगर फिर भी पाक के पाले आंतकी चीन नागरिको को निशाना बना लेते हैं और एसा खैबर पखतुनबा में देखेने को मिल चुका है.

 

बस पर आतंकी हमले से डरे चीनी

 

दरअसल कुछ दिन पहले खैबर पखतुनबा में चीनी कामगारों से भरी बस पर आतंकी हमला हुआ था..इस हमले में 9 चीनी नागरिको की मौत हो गई थी और कई चीनी नागरिक घायल हो गए थे….उस दिन के बाद से ही चीनी नागरिक डरे हुए हैं। इतना ही नहीं जांच के लिए चीन ने पाकिस्तान के अंदर अपनी एक टीम को भेजा है ताकी सच का पताया लगाया जा सके..इतना ही नहीं चीन ने तो यहा तक कह दिया था की वो पाकिस्तान के आंतकियों पर मिसाइल से हमला कर सकता है.

 

ऐसा माना जा रहा है कि जिन हथियारों को चीनी इंजीनियर इस्तेमाल कर रहे हैं, वह हक्कानी नेटवर्क द्वारा खरीदे गए हैं. चीनी वर्कर्स के लिए ये बात जगजाहिर है कि वह अन्य देशों के नागरिकों के प्रति सख्त रुख अपनाते हैं, अफ्रीका, पाकिस्तान में ये बात सामने आई है. ऐसे में अब चीनी वर्कर्स के हाथ में हथियार आ जाने से लोगों में दहशत का माहौल है। लेकिन पाकिस्तान में हथियार लेना उतना ही आसान है जितना भारत में जुत्ते लेना.यही कारण है की पाकिस्तान आज आतंकी की पनाब बना हुआ है.

Share