सुप्रीम कोर्ट ने वॉट्सऐप को जारी किया नोटिस, कहा- लोगों की प्राइवेसी सबसे कीमती

WHATSAPP

 

– कशिश राजपूत

 

 

सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय यूजर्स की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर वॉट्सऐप के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया है | कोर्ट ने वॉट्सऐप से कहा कि, ये हमारा अधिकार है कि हम यूजर्स की प्राइवेसी की रक्षा करें | कोर्ट ने वॉट्सऐप से इस बात की भी जानकारी देने के लिए कहा कि, कंपनी ये भी बताए कि वो यूजर्स का कौन सा डाटा शेयर कर रही है और कौन सा नहीं |

 

 

नई प्राइवेसी पॉलिसी के अनुसार, वॉट्सऐप यूजर्स का डेटा ग्लोबली शेयर करता है |  ये सबकुछ इंटरनली शेयर होता है जिसमें फेसबुक भी शामिल है |  वहीं एक्सटर्नल पार्टनर और सर्विस प्रोवाइडर्स के साथ भी डेटा को शेयर किया जाता है |

 

 

भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद ए बोबडे ने कहा, “लोगों को निजता के नुकसान पर बहुत आशंका है।” “लोगों को लगता है कि अगर कोई किसी को मैसेज करता है तो … पूरी बात का खुलासा फेसबुक से होता है।”

 

जनवरी में, व्हाट्सएप ने अपनी सेवा और गोपनीयता नीति की शर्तों को नवीनीकृत किया, जो 8 फरवरी को लागू होने वाले थे। इसके अनुसार, उपयोगकर्ताओं को फेसबुक के साथ अपने नए डेटा साझा करने के मानदंडों पर सहमत होना चाहिए, जिसमें व्यावसायिक वार्तालाप शामिल हैं। चूंकि यह वैकल्पिक नहीं है, इसलिए उपयोगकर्ताओं को भ्रमित और गोपनीयता पर छोड़ दिया गया है।

 

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *